NDTV Khabar

Kedarnath tragedy


'Kedarnath tragedy' - 12 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • केदारनाथ त्रासदी में मां से बिछड़ गई थी चंचल, 5 साल बाद मिली अपनों से...

    केदारनाथ त्रासदी में मां से बिछड़ गई थी चंचल, 5 साल बाद मिली अपनों से...

    केदारनाथ में 2013 में आए जल प्रलय (Kedarnath Floods) में परिवार से बिछड़ गई 17 वर्षीय चंचल 5 साल बाद अपने परिवार वालों से मिली. बन्नादेवी इलाके में रहने वाले चंचल के दादा हरीश चंद और दादी शकुंतला देवी के लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं है. दादा-दादी ने बताया कि चंचल मनोरोगी है और वह माता-पिता के साथ केदारनाथ दर्शन करने गई थी. उसी समय तबाही हुई. पिता बाढ़ में बह गए, जबकि मां कुछ समय बाद घर लौट आई.

  • Kedarnath Review: सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत की दमदार एक्टिंग लेकिन कमजोर निकली 'केदारनाथ'

    Kedarnath Review: सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत की दमदार एक्टिंग लेकिन कमजोर निकली 'केदारनाथ'

    'केदारनाथ' रिव्यू: 'केदारनाथ (Kedarnath)' की कहानी उत्तराखंड के केदारनाथ धाम की है. जहां मंसूर (सुशांत सिंह राजपूत) पिट्ठू का काम करता है तो वहीं पंडितजी की बिटिया मुक्कू (सारा अली खान) है जो बहुत ही चुलबुली है.

  • केदारनाथ से नहीं सीखा सबक

    केदारनाथ से नहीं सीखा सबक

    क्या केदारनाथ की उस आपदा ने उन्हें प्रकृति के प्रति कुछ उदार, कुछ संवेदनशील बनाया है? कहीं दिल्ली, देहरादून में बैठे ये हाकिम देश-दुनिया में अपनी छवि चमकाने की ख़ातिर उस इलाके को जल्दी से जल्दी लाखों बूटों के नीचे फिर रौंदे जाने के लिए तैयार तो नहीं करवा रहे?

  • आपदा प्रभावित केदारनाथ में पुनर्निर्माण की मुहिम

    आपदा प्रभावित केदारनाथ में पुनर्निर्माण की मुहिम

    इस बेहद सर्द मौसम और बर्फ़ की सफ़ेद चादर के बीच भी जून 2013 की आपदा को झेल चुके केदारनाथ में मशीनों की घरघराहट और हथौड़ों की आवाज़। केदारनाथ में क़रीब तीन सौ लोगों की टीम एक ख़ास मुहिम में जुटी हुई है। मुहिम केदारनाथ घाटी को जल्द से जल्द उसका पुराना वैभव लौटाने की।

  • उत्तराखंड त्रासदी : केंद्र ने माना, हाइडल प्रोजेक्ट्स भी जिम्मेदार

    उत्तराखंड त्रासदी : केंद्र ने माना, हाइडल प्रोजेक्ट्स भी जिम्मेदार

    जून 2013 में आई केदारनाथ त्रासदी के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मसले पर केंद्र सरकार से पूछा था कि क्या उत्तराखंड के हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट्स ने इस त्रासदी को बढ़ाया है। इस मामले पर काफ़ी समय तक टालमटोल हुई और फिर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद आख़िरकार केंद्र सरकार ने अपना हलफनामा सुप्रीम कोर्ट में सौंप दिया है।

  • प्राइम टाइम इंट्रो : उत्तराखंड त्रासदी को एक साल

    प्राइम टाइम इंट्रो : उत्तराखंड त्रासदी को एक साल

    मैं यह बता सकने की स्थिति में नहीं हूं कि सरकार फैसले लेते वक्त वैज्ञानिक अध्ययनों का क्या करती है या संस्थाओं के बीच अध्ययनों को लेकर कितना तालमेल है। हिमालयन टेक्नालजी युनिवर्सिटी बन जाएगी तो अच्छा तो है मगर उससे हिमालय कैसे बचेगा?

  • उत्तराखंड त्रासदी को एक साल : अचानक आए सैलाब ने मचाई थी तबाही

    उत्तराखंड त्रासदी को एक साल : अचानक आए सैलाब ने मचाई थी तबाही

    पिछले साल आज ही के दिन यानी 16 जून की रात को राज्य में भारी बारिश के बीच नदी ऐसी बाढ़ लेकर आई, जिसे भूलना किसी के लिए मुमकिन नहीं।

  • उत्तराखंड त्रासदी का एक साल : 'तुम चुप क्यों रहे केदार'

    उत्तराखंड त्रासदी का एक साल : 'तुम चुप क्यों रहे केदार'

    केदारनाथ त्रासदी के एक साल बाद हिमालय के इतिहास की सबसे भयावह आपदा को लेकर एक पूरा दस्तावेज़ प्रकाशित हुआ है। इस घटना को कवर करने वाले एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार हृदयेश जोशी की नई किताब 'तुम चुप क्यों रहे केदार' में आपदा के कई पहलुओं का जिक्र है और हालात से निबटने में सरकार की ढिलाई को लेकर कई खुलासे भी हैं।

  • पुस्तक-परिचय : 'तुम चुप क्यों रहे केदार' - एक त्रासदी की याद...

    पुस्तक-परिचय : 'तुम चुप क्यों रहे केदार' - एक त्रासदी की याद...

    केदारनाथ के आध्यात्मिक अनुभव को लेखक ने अपने पांव की बेड़ी नहीं बनने दिया है। उन्होंने बहुत बारीकी से इस बात का मुआयना किया है कि त्रासदी की तात्कालिक और दूरगामी वजहें क्या-क्या रहीं और कैसे एक प्राकृतिक परिघटना एक मानवीय त्रासदी में परिवर्तित हो गई।

  • उत्तराखंड त्रासदी : केदारघाटी में चार दिनों में 160 से ज्यादा शव मिले

    उत्तराखंड त्रासदी : केदारघाटी में चार दिनों में 160 से ज्यादा शव मिले

    ये शव उन श्रद्धालुओं के माने जा रहे हैं, जो जून में आई जल प्रलय से बचने के लिए पहाड़ियों पर चढ़ गए और वहां भूख तथा ठंड से उनकी मौत हो गई।

  • उत्तराखंड त्रासदी : केदारघाटी में 64 और शव बरामद

    उत्तराखंड त्रासदी : केदारघाटी में 64 और शव बरामद

    पुलिस के मुताबिक ये शव श्रद्धालुओं के प्रतीत होते हैं, जो मध्य जून में आई आपदा के समय जान बचाने के लिए पहाड़ियों पर चढ़ गए, लेकिन वहां भीषण ठंड की वजह से उनकी मौत हो गई।

  • उत्तराखंड : लापता लोगों के परिजनों का धैर्य दे रहा है जवाब

    उत्तराखंड : लापता लोगों के परिजनों का धैर्य दे रहा है जवाब

    पिछले महीने आई भीषण बाढ़ के बाद उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में लापता एक हजार से अधिक लोगों के परिजनों का धैर्य अब जवाब दे रहा है और वे अपने दम पर उन्हें तलाशने के लिए केदारनाथ और रामबाड़ा जाने की योजना बना रहे हैं।