NDTV Khabar

Loksabha election 2019 bihar


'Loksabha election 2019 bihar' - 80 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • NEWS FLASH: एक बार फिर पाकिस्तान के बचाव में खड़ा हुआ चीन, FATF में उसे ब्लैक लिस्ट होने से बचाया

    NEWS FLASH: एक बार फिर पाकिस्तान के बचाव में खड़ा हुआ चीन, FATF में उसे ब्लैक लिस्ट होने से बचाया

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें..

  • एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता, जीत का रास्ता दिखाती है हार : तेजस्वी यादव

    एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता, जीत का रास्ता दिखाती है हार : तेजस्वी यादव

    बिहार (Bihar) में करारी हार के बाद बुधवार को आरजेडी और उनके सहयोगी दलों के बीच दो दिवसीय समीक्षा इस बात पर समाप्त हुई कि जो पराजय हुई उसकी कल्पना या अनुमान किसी को नहीं था और हार से ही जीत का रास्ता खुलता है. तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) ने कहा कि एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता.

  • 'बिहार में महागठबंधन की हार के लिए तेजस्वी यादव नहीं, षड्यंत्र जिम्मेदार'

    'बिहार में महागठबंधन की हार के लिए तेजस्वी यादव नहीं, षड्यंत्र जिम्मेदार'

    बिहार में भले महागठबंधन को करारी हार का मुंह देखना पड़ा हो लेकिन महागठबंधन के प्रचार की कमान संभाल रहे राजद के वरिष्ठ नेता और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को इसकी ज़िम्मेदारी लेने की कोई ज़रूरत नहीं है. राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेताओं ने सभी 19 पराजित उम्मीदवारों के साथ मंगलवार को एक समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया है.

  • Election Results : नीतीश ने कहा, प्रधानमंत्री को 2014 से बड़ी जीत मिलने के बारे में पहले ही अवगत करा दिया था

    Election Results : नीतीश ने कहा, प्रधानमंत्री को 2014 से बड़ी जीत मिलने के बारे में पहले ही अवगत करा दिया था

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बृहस्पतिवार को कहा कि पूरे देश में भाजपा की ऐतिहासिक जीत (Loksabha Election Results 2019) के बारे में उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान अवगत करा दिया था. नीतीश कुमार ने चुनाव परिणाम आने के बाद मीडिया के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने तो पहले ही प्रधानमंत्री से कह दिया था कि पिछले लोकसभा चुनाव से ज़्यादा भाजपा और एनडीए को सीटें मिलने वाली हैं.

  • Results 2019 : बिहार के चुनाव परिणाम से कैसे नीतीश कुमार का राजनीतिक कद बढ़ा, यह हैं 10 कारण

    Results 2019 : बिहार के चुनाव परिणाम से कैसे नीतीश कुमार का राजनीतिक कद बढ़ा, यह हैं 10 कारण

    लोकसभा चुनाव (General Elections Results 2019) में बिहार में बीजेपी (BJP) और जेडीयू (JDU) ने मिलकर कुल 40 सीटों में से 39 पर जीत हासिल की है. आरजेडी (RJD) और कांग्रेस (Congress) के गठबंधन को सिर्फ एक सीट पर जीत मिल सकी है. लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम आने के बाद गुरुवार रात को बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की नींद उनके राजनीतिक जीवन की सबसे सुखद और आरामदायक नींद होगी.

  • Loksabha Elections : पाटलिपुत्र सीट पर मीसा भारती और रामकृपाल यादव का कड़ा मुकाबला

    Loksabha Elections : पाटलिपुत्र सीट पर मीसा भारती और रामकृपाल यादव का कड़ा मुकाबला

    Loksabha Elections : सन 2009 में पहली बार पटना लोकसभा क्षेत्र को बांटकर पटना साहिब और पाटलिपुत्र दो लोकसभा क्षेत्र बनाए गए...2009 में रंजन प्रसाद यादव जेडीयू से चुनाव जीते थे..तब उन्होंने बीजेपी के रामकृपाल यादव को 23 हजार से कुछ अधिक वोटों से हराया था. लेकिन 2014 के मोदी लहर में रामकृपाल ने यह सीट जीत ली और आरजेडी की मीसा यादव को मात दी.

  • General Elections 2019, लालू यादव की किताब में नीतीश को लेकर हुए खुलासे से बीजेपी के कान खड़े हुए : शिवानंद तिवारी

    General Elections 2019, लालू यादव की किताब में नीतीश को लेकर हुए खुलासे से बीजेपी के कान खड़े हुए : शिवानंद तिवारी

    राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता शिवानंद तिवारी (Shivanand Tivary) ने कहा है कि चुनाव (Loksabha Elections 2019) के अंतिम चरण में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पैंतरा बदलते दिखाई दे रहे हैं. लंबे मौन के बाद विशेष राज्य का मुद्दा फिर उठा रहे हैं. एक सावधानी जरूर बरत रहे हैं. लालू यादव (Lalu Yadav) पर हमले को और तीखा बनाकर यह भी जता रहे हैं कि उनके विकल्प अब लालू नहीं हैं.

  • पटना में बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा को चिढ़ाने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का रोड शो!

    पटना में बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा को चिढ़ाने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का रोड शो!

    भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) चुनाव के दौरान शहरों में रोड शो नियमित रूप से करते हैं. बिहार की राजधानी पटना के पटना साहिब (Patna Sahib) संसदीय क्षेत्र में उनका रोड शो शनिवार को आयोजित किया जा रहा है. लेकिन इस रोड शो के लिए जो रास्ता चुना गया है उससे साफ है कि यह आयोजन जानबूझकर बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा को (Shatrughan Sinha) चुनौती देने के लिए हो रहा है. लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) में शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब सीट से कांग्रेस और महागठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार हैं.

  • गिरिराज सिंह: विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले इस नेता का कैसा है सियासी सफर, यहां जानिए

    गिरिराज सिंह: विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले इस नेता का कैसा है सियासी सफर, यहां जानिए

    2019 के लोकसभा चुनावों में वह बिहार के बेगूसराय से चुनावी ताल ठोंक रहे हैं. उनका मुकाबला जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार से है. वह इस समय बिहार के नवादा से सांसद हैं.

  • पांचवां चरण: BJP के सामने 39 सीटें तो कांग्रेस के लिए गढ़ बचाने की चुनौती, दो दर्जन सीटों पर दिग्गजों की 'अग्निपरीक्षा'

    पांचवां चरण: BJP के सामने 39 सीटें तो कांग्रेस के लिए गढ़ बचाने की चुनौती, दो दर्जन सीटों पर दिग्गजों की 'अग्निपरीक्षा'

    अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और रायबरेली से सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) चुनाव लड़ रही हैं. अमेठी में राहुल गांधी को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) एक बार फिर टक्कर दे रही हैं. स्मृति ईरानी 2014 में चुनाव हार गई थीं. वहीं रायबरेली में सोनिया गांधी के खिलाफ भाजपा ने दिनेश प्रताप सिंह को मैदान में उतारा है. दिनेश प्रताप सिंह की इससे पहले कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में गिनती होती रही है, यह एमएलसी भी रह चुके हैं.

  • कई 'कांड' और 'स्मार्ट सिटी' के ख्वाब वाले मुजफ्फरपुर की किस्मत में विकास नहीं, 'फिर एक बार निषाद उम्मीदवार'?

    कई 'कांड' और 'स्मार्ट सिटी' के ख्वाब वाले मुजफ्फरपुर की किस्मत में विकास नहीं, 'फिर एक बार निषाद उम्मीदवार'?

    लोकसभा चुनाव 2019 की बात करें तो बीजेपी ने एक बार अपने उसी योद्धा पर भरोसा जताया है, जिसने 2014 के चुनाव में मुजफ्फरपुर की सीट पर बीजेपी का खाता खुलवाया था. यानी बीजेपी की ओर से 2014 की तरह ही अजय निषाद मैदान-ए-जंग में हैं, वहीं महागठबंधन की ओर से यह सीट मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी के खाते में गई है और सियासी पिच पर बैटिंग करने आए हैं डॉ राजभूषण चौधरी निषाद.

  • शत्रुघ्न सिन्हा के पास 112.22 करोड़ की संपत्ति, जानिए- रविशंकर प्रसाद के पास क्या है?

    शत्रुघ्न सिन्हा के पास 112.22 करोड़ की संपत्ति, जानिए- रविशंकर प्रसाद के पास क्या है?

    अभिनेता से नेता बने और पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा के पास 112.22 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है. तीन दशक तक भाजपा में रहे शुत्रघ्न सिन्हा हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं. पटना साहिब सीट पर उनका सीधा मुकाबला केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद से है.

  • पीएम मोदी की कथनी और करनी में अंतर, देश को राहुल जैसा प्रधानमंत्री चाहिए : तेजस्वी यादव

    पीएम मोदी की कथनी और करनी में अंतर, देश को राहुल जैसा प्रधानमंत्री चाहिए : तेजस्वी यादव

    बिहार (Bihar) में तीन चरणों के चुनाव हो जाने के बाद शुक्रवार को कांग्रेस (Congress) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections) के प्रचार के लिए एक मंच पर आए. यह चुनावी सभा समस्तीपुर (Samastipur) में आयोजित की गई. यहां सोमवार को वोट डाले जाएंगे.

  • क्या महिला वोटर एक बार फिर बिहार में एनडीए की ‘लहर‘ का मुख्य कारण?

    क्या महिला वोटर एक बार फिर बिहार में एनडीए की ‘लहर‘ का मुख्य कारण?

    बिहार में तीन चरण के चुनाव संपन्न हो चुके हैं. इन तीन चरणों के बाद जहां महागठबंधन के नेता अधिकांश सीटों पर जीत का दावा कर रहे हैं वहीं एनडीए नेताओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एक साथ आने के बाद पूरे राज्य में ‘लहर‘ की स्थिति बनी हुई है.

  • बेगूसराय : कन्हैया के समर्थन में उम्मीदवारी छोड़ने की जावेद अख्तर की अपील पर भड़की RJD, दिया यह जवाब

    बेगूसराय : कन्हैया के समर्थन में उम्मीदवारी छोड़ने की जावेद अख्तर की अपील पर भड़की RJD, दिया यह जवाब

    बिहार (Bihar) में चौथे चरण का प्रचार खत्म होने में बस दो दिन बचे हैं. प्रचार जोरशोर से चल रहा है. सबकी निगाहें बेगूसराय (Begusarai) सीट पर हैं, जहां वामपंथी दलों के नेताओं और फिल्म जगत की मशहूर हस्ती जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने आरजेडी उम्मीदवार तनवीर हसन (Tanvir Hasan) को कन्हैया (Kanhaiya Kumar) के समर्थन में बैठाने की अपील की थी. लेकिन राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने इस मांग को खारिज कर दिया है.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : बिहार में कौन किस पर पड़ रहा है भारी - 10 बातें

    लोकसभा चुनाव 2019 : बिहार में कौन किस पर पड़ रहा है भारी - 10 बातें

    बिहार में मतदान के दो चरण हो चुके हैं. इन दोनों चरणों के मतदान के रुझान के बाद NDA हो या फिर महागठबंधन दोनों पक्षों के नेताओं ने अपने-अपने गठबंधन के बेहतर प्रदर्शन का दावा किया है. हालांकि इस बार साल 2014 के चुनाव की तुलना में राजनीतिक गणित बिल्कुल अलग है. इस बार नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाईटेड बीजेपी के साथ गठबंधन में है और पिछली बार के बीजेपी के साथी अब लालू यादव की आरजेडी के साथ हैं. बिल्कुल अलहदा बात यह भी है कि बीजेपी इस बार बिहार में उतनी ही सीटों पर चुनाव लड़ रही है जितनी सीटों पर जेडीयू चुनाव मैदान में है. जहां तक प्रचार अभियान की बात है तो जमीन पर एक ही मुद्दा हावी है. जहां मोदी समर्थकों के लिए मोदी को फिर वापस लाना है, वहीं मोदी विरोधियों के लिए मोदी को किसी भी हाल में रोकना है. लेकिन 2014 में एक ही मुद्दा था एक बार मोदी को आजमाकर देखो. बिहार में एनडीए और महागठबंधन के नेता हों या कार्यकर्ता दोनों अपने-अपने पक्ष में जीत की उम्मीद में पीठ थपथपा रहे हैं. हालांकि किसका दावा सही है, इसका पता 23 मई को ही चल पाएगा.

  • लालू यादव परिवार में 'कलह': सर्वनाश की धमकी देते हुए किसे 'दुर्योधन' बता रहे हैं तेज प्रताप?

    लालू यादव परिवार में 'कलह': सर्वनाश की धमकी देते हुए किसे 'दुर्योधन' बता रहे हैं तेज प्रताप?

    बिहार (Bihar) की शिवहर लोकसभा सीट से तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के करीबी को टिकट नहीं मिलने के बाद तेज प्रताप ने दो ट्वीट किए हैं. इन दोनों ट्वीट को देखकर लगता है कि लालू परिवार में सब कुछ सही नहीं चल रहा है. पहले ट्वीट में उन्होंने किसी को 'दुर्योधन' कहकर संबोधित किया है तो वहीं दूसरी ट्वीट में लिखा है कि हमारे परिवार के बीच कोई भी आएगा, उसका सर्वनाश होगा. बता दें, शिवहर लोकसभा सीट (Sheohar Lok Sabha Seat) से आरजेडी ने सैयद फैसल अली को टिकट दिया गया है.

  • बिहार : नीतीश कुमार सभाओं में कह रहे, मुझे 13 साल के काम की मजदूरी दीजिए

    बिहार : नीतीश कुमार सभाओं में कह रहे, मुझे 13 साल के काम की मजदूरी दीजिए

    'हम काम करते हैं और करते रहेंगे, लेकिन आपको देखना है, हम तेरह साल से आपकी सेवा कर रहे हैं. काम जो किया है उसकी मज़दूरी मांगने आए हैं और हमारे लिए मज़दूरी है, जो वोट होने वाला है, तीर का बटन दबा दीजिएगा. यही हमारे लिए मज़दूरी होगी. मजदूरी दीजिएगा या नहीं तो हाथ उठाके दिखाएं.' कुछ इस अंदाज में आजकल बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (JDU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अपने प्रत्याशियों के लिए वोट मांग रहे हैं.

Advertisement