NDTV Khabar

Madhya pradesh assembly


'Madhya pradesh assembly' - 413 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अब शिवराज सरकार के 'टारगेटों' का ऑडिट कराएगी कमलनाथ सरकार, बीजेपी ने कहा- कोई फिक्र नहीं

    अब शिवराज सरकार के 'टारगेटों' का ऑडिट कराएगी कमलनाथ सरकार, बीजेपी ने कहा- कोई फिक्र नहीं

    शिवराज सरकार के वक्त हुए कामों की अब परीक्षा होगी. मध्यप्रदेश में छह महीने कुर्सी पर बैठने के बाद कमलनाथ सरकार ने विधानसभा चुनाव के ऐन पहले कई कार्यों के लक्ष्य पूरे घोषित होने का ऑडिट करने का मन बनाया है, फिर चाहे मामला खुले में शौच से मुक्ति का हो, हर घर बिजली का या फिर पीएम आवास का.

  • मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर टिकी नजरें, उपचुनाव से जुड़ा बड़ा सियासी गणित

    मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर टिकी नजरें, उपचुनाव से जुड़ा बड़ा सियासी गणित

    झाबुआ-रतलाम लोकसभा सीट से चुनाव जीते बीजेपी के जीएस डामोर सांसद बने रहेंगे. उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा देने का फैसला किया है. डामोर झाबुआ सीट से विधायक थे. उनके इस ऐलान के साथ ही मध्यप्रदेश में अब झाबुआ विधानसभा सीट पर उप चुनाव होना तय है.

  • लोकसभा चुनाव में भोपाल सीट मिलने से खुश नहीं हैं दिग्विजय सिंह? जानें कौन सीट थी उनकी पहली पसंद

    लोकसभा चुनाव में भोपाल सीट मिलने से खुश नहीं हैं दिग्विजय सिंह? जानें कौन सीट थी उनकी पहली पसंद

    लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने औपचारिक तौर पर शनिवार को ऐलान कर दिया है कि भोपाल सीट से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चुनाव लड़ेंगे.

  • भोपाल सीट: 1989 के बाद 8 चुनाव, मगर कांग्रेस को जीत नसीब नहीं, 'सबसे कठिन राह' पर दिग्विजय सिंह

    भोपाल सीट: 1989 के बाद 8 चुनाव, मगर कांग्रेस को जीत नसीब नहीं, 'सबसे कठिन राह' पर दिग्विजय सिंह

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Polls 2019) के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची जारी करती जा रही है. कांग्रेस ने शनिवार को अपनी जो आठवीं सूची जारी की है और उसमें कांग्रेस के दिग्विजय सिंह का नाम भी शामिल है.

  • मध्यप्रदेश में विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी बीजेपी

    मध्यप्रदेश में विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी बीजेपी

    मध्यप्रदेश की 15वीं विधानसभा में सत्ता से बाहर हुई बीजेपी ने सदन के अध्यक्ष के बाद उपाध्यक्ष का पद भी गंवा दिया. बीजेपी ने इसे मध्यप्रदेश के लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन बताया.पार्टी ने ऐलान किया कि वह अब सत्ता पक्ष के खिलाफ राष्ट्रपति के पास जाएगी और विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी. बीजेपी ने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा है.

  • मध्यप्रदेश में कांग्रेस के प्रजापति विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए, बीजेपी ने किया मार्च

    मध्यप्रदेश में कांग्रेस के प्रजापति विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए, बीजेपी ने किया मार्च

    कांग्रेस विधायक नर्मदा प्रसाद प्रजापति मंगलवार को मध्यप्रदेश की 15वीं विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए. विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए अपनी पार्टी के उम्मीदवार के नाम का प्रस्ताव पेश न करने को लेकर मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने संदन से वॉकआउट कर दिया. बीजेपी के सारे विधायक पैदल मार्च करते हुए राजभवन गए, इस मांग के साथ कि अध्यक्ष का निर्वाचन दुबारा हो. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया.

  • मध्यप्रदेश में बीजेपी के सबसे वरिष्ठ विधायक गोपाल भार्गव बने नेता प्रतिपक्ष

    मध्यप्रदेश में बीजेपी के सबसे वरिष्ठ विधायक गोपाल भार्गव बने नेता प्रतिपक्ष

    मध्यप्रदेश के बीजेपी के दिग्गज नेता गोपाल भार्गव विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चुन लिए गए. भोपाल में केद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में हुई बीजेपी विधायक दल की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गोपाल भार्गव के नाम का प्रस्ताव रखा. इसका नरोत्तम मिश्रा और कुंवर सिंह ने समर्थन किया.

  • एक्शन मोड में कमलनाथ सरकार, मध्य प्रदेश विधानसभा में हंगामा करना विधायकों को पड़ेगा भारी

    एक्शन मोड में कमलनाथ सरकार, मध्य प्रदेश विधानसभा में हंगामा करना विधायकों को पड़ेगा भारी

    मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद विधानसभा में विधायकों के हंगामे पर लगाम लगाने के प्रयास सत्र शुरू होने से पहले तेज हो गए है. कांग्रेस ने विधानसभा में होने वाले हंगामे को रोकने के लिए विधायकों का वेतन-भत्ता काटने पर मन बनाया है. राज्य के संसदीय कार्यमंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा है कि विधानसभा चर्चा और सहमति से चलेगी न कि हंगामे से. हंगामे के लिए सड़क है. लिहाजा विधानसभा में हंगामा न हो इसके लिए हंगामा करने वाले विधायकों के वेतन-भत्तों को काटा जाएगा, इसके लिए प्रस्ताव लाया जा रहा है.

  • MP कांग्रेस में ऑल इज़ नॉट वेल! विभागों को लेकर कमलनाथ सरकार में जारी है 'सिर फुटौव्वल'

    MP कांग्रेस में ऑल इज़ नॉट वेल! विभागों को लेकर कमलनाथ सरकार में जारी है 'सिर फुटौव्वल'

    मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री कमलनाथ के मंत्रिमंडल (Kamal Nath Cabinet) में शामिल न किए जाने के बाद कांग्रेस पार्टी (Congress) में बगावत शुरू हो गई है. मंत्रिमंडल के गठन के बाद नाराज़गी का सिलसिला घटने के बजाए बढ़ने लगा है. कांग्रेस के कई नेताओं के साथ 3 निर्दलीय सपा, बसपा के विधायक भी सरकार से नाराज़ बताए जा रहे हैं. उधर कैबिनेट गठन के दो दिन बाद भी अब तक मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है. मंत्रियों के विभागों को लेकर कांग्रेस में गुटबाजी की खबरें सामने आने लगी हैं. मुरैना में कांग्रेस विधायक ऐदल सिंह कंसाना (Aidal Singh Kansana) के समर्थक उन्हें शामिल नहीं किए जाने की वजह से पार्टी से नाराज चल रहे हैं. मुरैना में उनके समर्थकों का गुस्सा सड़क और गाड़ियों पर निकला. उनके समर्थन में सुमावली विधानसभा के ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मदन शर्मा ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया.

  • मध्यप्रदेश: CM कमलनाथ ने किया कैबिनेट विस्तार, 28 मंत्रियों ने ली शपथ, जातिगत और श्रेत्रीय संतुलन का रखा गया ख्याल

    मध्यप्रदेश: CM कमलनाथ ने किया कैबिनेट विस्तार, 28 मंत्रियों ने ली शपथ, जातिगत और श्रेत्रीय संतुलन का रखा गया ख्याल

    मध्यप्रदेश में कमलनाथ (Kamal Nath) सरकार का आज विस्तार किया गया (Kamal Nath Cabinet Expands). आज 28 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. 17 दिसंबर को अकेले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ ली थी. कांग्रेस हाईकमान से चर्चा के बाद मंत्रियों की लिस्ट फ़ाइनल हुई और आज राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें शपथ दिलाई. मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय और जातिगत संतुलन का पूरा ख्याल रखा गया है. साथ ही तीनों बड़े नेता कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह दी गई है. मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री कमल नाथ के 11, दिग्विजय सिंह के 9, ज्योतिरादित्य सिंधिया के 7 और अरुण यादव के एक मंत्री शामिल किए गए हैं. मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय संतुलन बनाने की कोशिश भी कई गई है. 

  • नितिन गडकरी के एक और बयान से मचा सियासी घमासान, बोले- अगर MP-MLA हारे तो जिम्मेदार कौन?

    नितिन गडकरी के एक और बयान से मचा सियासी घमासान, बोले- अगर MP-MLA हारे तो जिम्मेदार कौन?

    गडकरी के इस बयान को अप्रत्यक्ष तौर पर भारतीय जनता पार्टी आलाकमान के नेतृत्व पर निशाना माना जा रहा है. नितिन गडकरी ने इससे पहले भी एक बयान दिया था, जिसमें कहा था कि नेतृत्व को हार और विफलता की भी जिम्मेदारी स्वीकार करनी चाहिए. इशारों-इशारों में गडकरी ने कहा था कि कोई भी सफलता की तरह विफलता की जिम्मेदारी नहीं लेना चाहता है.

  • शिवराज सिंह चौहान के 'टाइगर अभी जिंदा है' पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- हम संरक्षण करेंगे...

    शिवराज सिंह चौहान के 'टाइगर अभी जिंदा है' पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- हम संरक्षण करेंगे...

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) के बयान पर तंज कसते हुए कहा है कि राज्य में 'टाइगर' का संरक्षण किया जाएगा. दिग्विजय ने कहा, 'टाइगर का संरक्षण किया जाएगा. यह दुर्लभ प्राणी होता जा रहा है.'

  • कौन होगा राजस्थान का राष्ट्रपति? पूछा गया ये सवाल तो देखें क्या दिया युवाओं ने जवाब

    कौन होगा राजस्थान का राष्ट्रपति? पूछा गया ये सवाल तो देखें क्या दिया युवाओं ने जवाब

    अगर आपसे कोई पूछे कि राजस्थान का राष्ट्रपति कौन होगा? तो आप भी कंफ्यूज हो जाएंगे और मजाक में हंस पड़ेंगे. लेकिन जब युवाओं से ये सवाल पूछा गया. तो हैरान करने वाले जवाब मिले. जिसको सुनकर आप भी हंसने पर मजबूर हो जाएंगे.

  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी उम्मीदवार ने कहा 'गद्दारों की सिर्फ एक सजा है और वह है सजा-ए-मौत'

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी उम्मीदवार ने कहा 'गद्दारों की सिर्फ एक सजा है और वह है सजा-ए-मौत'

    मध्यप्रदेश में 15 साल के बाद बीजेपी को विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. 11 दिसंबर को आए चुनाव परिणाम के बाद उस समय के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. बीजेपी को इस बार चुनाव में 109 सीटें मिली है जबकि कांग्रेस के खाते में 114 सीटें रहीं थी. कांग्रेस ने बीसपा और सपा के समर्थन से राज्य में सरकार बनाई है.

  • राहुल गांधी बोले- किसानों की कर्ज माफी तक PM मोदी को सोने नहीं देंगे

    राहुल गांधी बोले- किसानों की कर्ज माफी तक PM मोदी को सोने नहीं देंगे

    राहुल ने कहा, 'हिंदुस्तान में एक तरफ मजदूर किसान हैं तो दूसरी तरफ 15 -20 अमीर है. मोदी जी ने साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए 15-20 लोगों के जेब में डाला है. हमारी चुनाव में जीत हिंदुस्तान के गरीब जनता की है. मोदी जी के दो हिंदुस्तान हैं. एक हिंदुस्तान 15-20 लोगों का कर्ज माफी का, दूसरा गरीब लोगों का और किसानों का है. हमनें वादा किया किया था दस दिन के अंदर किसानों का कर्जा माफ करेंगे. दो राज्यों में छह घंटे भी नहीं लगे और तीसरे राज्यों में भी जल्द कर्ज माफ होगा. मोदी जी चार साल से पीएम हैं, किसान का एक रुपया माफ नहीं किया.

  • मध्यप्रदेश के बाद छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ, CM भूपेश बघेल ने की घोषणा

    मध्यप्रदेश के बाद छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ, CM भूपेश बघेल ने की घोषणा

    मध्यप्रदेश के बाद छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ किया गया है. शपथ लेने के कुछ घंटों के भीतर ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कर्जमाफी (Loan Waiver) की घोषणा कर दी. भूपेश बघेल ने पहली कैबिनेट बैठक में तीन अहम फैसले लिए. इनमें 16 लाख 65 हजार से अधिक किसानों का 6100 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया गया. दूसरे फैसले में धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपये प्रति क्विंटल करने की बात कही गई. वहीं झीरम हमले के शहीदों को न्याय दिलाने के लिए SIT का गठन किया गया.

  • दफ्तर संभालते ही कमलनाथ ने राहुल गांधी के कर्ज माफी के वायदे पर किया दस्तखत, 5 खास बातें... 

    दफ्तर संभालते ही कमलनाथ ने राहुल गांधी के कर्ज माफी के वायदे पर किया दस्तखत, 5 खास बातें... 

    कमलनाथ (Kamal Nath) मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री बन गए हैं. पद और गोपनियता की शपथ (Kamal Nath Oath Ceremony) लेने के तुरंत बाद ही उन्होंने अपने वादे के मुताबिक किसानों के कर्ज़ माफ (Loan Waiver) करने वाली फाइल पर दस्तखत कर दिए. बता दें कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ लेने से पहले ही कहा कि था कि वे 10 दिनों से पहले ही किसानों का कर्ज माफ करेंगे. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दस्तखत के बाद किसानों के दो लाख रुपये तक के ऋण माफ हो गए. मध्यप्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. राजेश राजोरा ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा कर्जमाफी की फाइल पर हस्ताक्षर करने के बाद इस संबंध में आदेश जारी कर दिये गए हैं. उन्होंने कहा, 'सोमवार शाम जारी आदेश में कहा गया है कि मध्यप्रदेश शासन एतद् द्वारा निर्णय लिया जाता है कि मध्यप्रदेश राज्य में स्थित राष्ट्रीयकृत तथा सहकारी बैंकों में अल्पकालीन फसल ऋण के रूप में शासन द्वारा पात्रता अनुसार पात्र पाए गए किसानों के दो लाख रुपये की सीमा तक का 31 मार्च 2018 की स्थिति में बकाया फसल ऋण माफ किया जाता है.'

  • कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में दिखा दिलचस्प नजारा, देखें VIDEO

    कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में दिखा दिलचस्प नजारा, देखें VIDEO

    कमलनाथ (Kamal Nath) मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कमलनाथ को पद और गोपनियता की शपथ (Kamal Nath Oath Ceremony) दिलाई. कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह के दौरान एक दिलचस्प तस्वीर भी देखने को मिली.