NDTV Khabar

Manas mishra


'Manas mishra' - 306 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • यूपी में राहुल गांधी के लिए अच्छे संकेत नहीं, लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कैसे बनेगा मोर्चा

    यूपी में राहुल गांधी के लिए अच्छे संकेत नहीं, लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कैसे बनेगा मोर्चा

    लोकसभा चुनाव 2019  में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सामना करने के लिए विपक्ष से भले ही एक मोर्चा बनाने की आवाज सामने आ रही हो लेकिन यह इतना आसान नहीं लग रहा है. दरअसल इस मोर्चे के लिए सबको साथ लाने की कोशिश लगी कांग्रेस के सामने बड़ी दिक्कत पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ही हैं तो दूसरी ओर एनसीपी नेता शरद पवार खुद को बड़ा नेता मानते हैं और टीएमसी की नेता ममता बनर्जी भी राहुल की अगुवाई में काम करने का मन नहीं बना पा रही हैं. यही वजह है कि अभी कुछ दिन पहले ही विपक्षी दलों की बैठक बुलाने के लिए कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को मोर्चा संभालना पड़ा. 

  • इस बार क्या कहते हैं राज्यों के समीकरण, 2014 में तो 'मोदी लहर' ने झोली भरकर दी थी सीटें

    इस बार क्या कहते हैं राज्यों के समीकरण, 2014 में तो 'मोदी लहर' ने झोली भरकर दी थी सीटें

    वित्त मंत्री अरुण जेटली  ने साफ कर दिया है कि जल्द लोकसभा चुनाव की संभावना नहीं है. लेकिन इससे पहले कयास लगाना शुरू हो गया था कि शायद बीजेपी जल्द चुनाव का फैसला ले सकती है. इसकी एक वजह यह भी थी की पीएम मोदी लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की वकालत कर रहे थे और इसी साल आखिरी में कई राज्यों में विधानसभा चुनाव भी होने थे.

  • चाय के बाद अब दिल्ली में बीजेपी की 'पकौड़े पर चर्चा', मनोज तिवारी ने कहा- छोटे कामगारों का सम्मान हो

    चाय के बाद अब दिल्ली में बीजेपी की 'पकौड़े पर चर्चा', मनोज तिवारी ने कहा- छोटे कामगारों का सम्मान हो

    चाय के बाद अब पकौड़ों पर चर्चा शुरू हो चुकी है. दिल्ली में आज मनोज तिवारी  की अगुवाई में आज बीजेपी 'पकौड़े पर चर्चा' कर रही है. इस दौरान जब एनडीटीवी ने मनोज तिवारी से बात की तो उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पर निशाना साधा.

  • कर्नाटक : अवैध खनन के आरोपी विधायक ने राहुल को भेंट की सोने-चांदी से बनी मूर्ति, कीमत 60 लाख रुपये

    कर्नाटक : अवैध खनन के आरोपी विधायक ने राहुल को भेंट की सोने-चांदी से बनी मूर्ति, कीमत 60 लाख रुपये

    कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस के प्रचार अभियान की शुरुआत करने पहुंचे राहुल गांधी के लिए एक मूर्ति विवाद का मुद्दा बन सकती है. दरसअल राहुल गांधी के होसपेट दौरे में बेल्लारी के प्रभावशाली विधायकों में से एक बी नागेंद्र कांग्रेस में शामिल हो गए जो अवैध खनन मामले से चर्चा में आए बेल्लारी के रेड्डी बंधुओं में श्रीरामलु के विश्वासपात्र हुआ करते थे.

  • इन 20 बातों से समझिए मोदी सरकार के आखिरी पूर्ण बजट में आपको क्या मिला?

    इन 20 बातों से समझिए मोदी सरकार के आखिरी पूर्ण बजट में आपको क्या मिला?

    केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2018-19 का आम बजट पेश किया. बजट की प्रमुख बातें : - बजट में भारतीय रेल के लिए 2018-19 में 1,48,528 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. सभी रेलगाड़ियों को वाई-फाई, सीसीटीवी और अन्य अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा. ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट की सुविधा सुगम बनाने के लिए पांच लाख वाई-फाई हॉटस्पॉट स्थापित किए जाएंगे. सरकार क्रिप्टोकरेंसी के इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी, जिसका इस्तेमाल अवैध लेनदेन के लिए किया जा रहा है. निजी उपक्रमों को भी यूनीक आईडी से जोड़ा जाएगा. सरकार की स्वच्छ भारत मिशन के तहत और दो करोड़ शौचालयों के निर्माण की योजना है. वित्त वर्ष 2018-19 में टेक्सटाइल क्षेत्र के लिए 7,148 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएंगे. इसके साथ ही दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू करने का ऐलान किया गया है. एक्साइज ड्यूटी घटने के साथ ही पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी हो गई है तो मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए सीमा शुल्क बढ़ा दिया है. जिससे मोबाइल-टीवी महंगे हो जाएंगे.

  • Budget 2018 : मोदी सरकार ने चला सबसे बड़ा चुनावी दांव, 50 करोड़ लोगों को मिलेगी 5 लाख रुपये तक कैशलेस इलाज की सुविधा

    Budget 2018 : मोदी सरकार ने चला सबसे बड़ा चुनावी दांव, 50 करोड़ लोगों को मिलेगी 5 लाख रुपये तक कैशलेस इलाज की सुविधा

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में बजट भाषण पेश करते हुए दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का ऐलान कर दिया है. इसके तहत अब देश के 50 करोड़ लोगों को इलाज के लिए 5 लाख रुपये तक कैशलेस सुविधा दी जाएगी.

  • Budget 2018 : क्या इस बार मिलेगी कम किराए की सौगात? बिना 'डिरेल' हुए रेल दौड़ाना बड़ी चुनौती, 5 बड़ी बातें

    Budget 2018 : क्या इस बार मिलेगी कम किराए की सौगात? बिना 'डिरेल' हुए रेल दौड़ाना बड़ी चुनौती, 5 बड़ी बातें

    साल 2019 में होने वाले आम चुनाव से पहले मोदी सरकार द्वारा गुरुवार को पेश किए जाने वाले अंतिम पूर्ण बजट में रेलवे के लिए सुरक्षा चिंताओं के समाधान, यात्री सुविधाओं में बढ़ोतरी और अवसंरचना में बड़ा निवेश पर जोर दिए जाने की उम्मीद है. गौरतलब है कि मोदी सरकार ने अलग से रेल बजट पेश करने बंद कर दिया है. अब रेल बजट को आम बजट के साथ ही पेश किया जाता है. मोदी सरकार के आने के बाद से रेलवे को घाटे से उबारने के लिए कई कदम उठाए गए हैं. इसके लिए नई ट्रेनों को चलाने की घोषणा भी बहुत कम की गई है. ये बजट सरकार का आखिरी पूर्णकालिक बजट होगा इसलिए कुछ उम्मीदें जरूर जुड़ी हैं.

  • Budget 2018 : इसी बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली को करना होगा उपाय, मोदी सरकार के सामने हैं 5 चुनौतियां

    Budget 2018 : इसी बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली को करना होगा उपाय, मोदी सरकार के सामने हैं 5 चुनौतियां

    आज 11 बजे जब वित्त मंत्री अरुण जेटली बजट पेश कर रहे होंगे तो उनके दिमाग में सामने खड़ी कुछ चुनौतियां जरूर होंगी. इसी साल 8 राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं और अगले साल लोकसभा का चुनाव. लेकिन इन सबसे पहले हाल ही में जो कुछ चुनाव हुए हैं उनके नतीजे यह कहते हैं कि गांवों की जनता मोदी सरकार के कामकाज से बहुत खुश नहीं है.

  • Budget 2018 : बजट से जुड़ी इन बातों को जानना हर किसी के लिए बेहद जरूरी

    Budget 2018 :  बजट से जुड़ी इन बातों को जानना हर किसी के लिए बेहद जरूरी

    आज मोदी सरकार में वित्त मंत्री अरुण जेटली 11 बजे आम बजट पेश करेंगे. यह बजट हर लिहाज से महत्वपूर्ण है क्योंकि यह मोदी सरकार का आखिरी पूर्णकालिक बजट होगा. बजट देश के वर्ग के लोगों पर प्रभाव डालता है. लेकिन हमेशा यही दिक्कत रहती है कि बजट में इस्तेमाल की जाने वाली गूढ़ भाषा और आर्थिक विषयों से संबंधित शब्द सबके समझ नहीं आते हैं. लेकिन एक जागरुक समाज को देश के बजट के बारे में जानकारी और उसे यह पता होना चाहिए कि सरकार टैक्स के रूप में उससे जो पैसा वसूल रही है उसको लेकर क्या नीतियां बन रही हैं और कहां खर्च किया जा रहा है. इसके लिए बजट में इस्तेमाल किए जा रहे शब्दों और भाषा को समझना जरूरी है. 

  • Budget 2018 : चुनाव, सुस्त अर्थव्यवस्था, खेती का बिगड़ा हाल और बेरोजगारी, कई उम्मीदें और चुनौतियां हैं मोदी सरकार के सामने, 10 बड़ी बातें

    Budget 2018 : चुनाव, सुस्त अर्थव्यवस्था, खेती का बिगड़ा हाल और बेरोजगारी, कई उम्मीदें और चुनौतियां हैं मोदी सरकार के सामने, 10 बड़ी बातें

    वित्त मंत्री अरुण जेटली आज 11 बजे आम बजट पेश करेंगे. यह मोदी सरकार का आखिरी पूर्णकालिक बजट होगा क्योंकि 2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं. इस लिहाज से यह बजट काफी उम्मीदों भरा है. वहीं देश में नई कर प्रणाली सेवा एवं वस्तु कर यानी जीएसटी लागू होने के बाद भी यह पहला बजट होगा इसका असर भी इस बार साफ दिखाई देगा. आपको बता दें कि बजट सत्र का पहला भाग 29 जनवरी से शुरू होकर 9 फरवरी तक चलेगा इसके बाद दूसरा भाग 5 मार्च से शुरू होकर 6 अप्रैल तक चलेगा. इससे पहले सोमवार को सदन में पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत की अर्थव्यवस्था अब ठीक हो रही है और साल 2018-19 में देश की विकास दर यानी जीडीपी 7-7.5 फीसदी तक होने का अनुमान लगाया गया है. लेकिन कच्चे तेल की बढ़ची कीमत सरकार के लिए परेशानी की वजह बन सकती है. वहीं इस बार के बजट के बारे में चर्चा करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इस बार के बजट में कृषि क्षेत्र के लिए पहली प्राथमिकता में होगा.

  • क्या रोजगार और शिक्षा के मुद्दों पर पास हो गई मोदी सरकार? राष्ट्रपति कोविंद ने अभिभाषण में कहीं ये 12 खास बातें

    क्या रोजगार और शिक्षा के मुद्दों पर पास हो गई मोदी सरकार? राष्ट्रपति कोविंद ने अभिभाषण में कहीं ये 12 खास बातें

    विपक्षी दल मोदी सरकार पर बेरोजगारी को लेकर निशाना साधते रहते हैं. हाल ही में पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि अगर कोई शख्स पकोड़े बेचकर रोज 200 रुपये कमाता है तो क्या उसे रोजगार नहीं कहा जाएगा. इस बयान पर उनकी काफी आलोचना की गई. पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि अगर पकौड़े बेचना भी नौकरी है तो फिर भीख मांगने को रोजगार के विकल्प के तौर पर देखना चाहिए. हालांकि इस पर बीजेपी ने भी पलटवार किया और कहा कि कांग्रेस ने ईमानदार और मेहनतकश लोगों का अपमान किया है. वहीं इन बातों के बीच बजट सत्र की शुरुआत करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोदी सरकार के अब तक के कामकाम का ब्यौरा देते हुए कहा कि सरकार ने युवाओं के रोजगार और शिक्षा के लिए कई बड़े काम किए हैं.

  • क्या राष्ट्रपति कोविंद के अभिभाषण ने तय कर दिया है मोदी सरकार के 2019 के लोकसभा चुनाव का एजेंडा? 8 बड़ी बातें

    क्या राष्ट्रपति कोविंद के अभिभाषण ने तय कर दिया है मोदी सरकार के 2019 के लोकसभा चुनाव का एजेंडा? 8 बड़ी बातें

    जैसा की पहले से ही तय है कि राष्ट्रपति का अभिभाषण सरकार की उपलब्धियों को ही गिनाता है. ये बजट मोदी सरकार का आखिरी पूर्णकालिक बजट होगा और इस बार का अभिभाषण 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के एजेंडे की नींव भी तय कर सकता है. राष्ट्रपति के अभिभाषण साफ जाहिर है कि मोदी सरकार मुस्लिम महिलाओं के बीच ट्रिपल तलाक के मुद्दे को जोर-शोर से भुनाने की तैयारी कर रही है और पूरी कोशिश होगी कि इसे इसी सत्र में पास कर लिया जाए. कोई बड़ी बात नहीं होगी कि इस बिल को लेकर कुछ मुद्दों पर सरकार विपक्ष की बात मान ले. इसके अलावा राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि सरकार ने मुस्लिम महिलाओं के लिए अब बिना पुरुषों के साथ भी हज जाने की सुविधा शुरू की है. कुल मिलाकर मोदी सरकार का एजेंडा साफ है कि वह इस चुनाव में महिलाओं के लिए किए गए कामों को जोरदार प्रचार करेगी. राष्ट्रपति कोविंद ने केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गई योजनाओं के बारे में बताते हुए 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' जैसी योजनाओं का जिक्र किया है.

  • गणतंत्र दिवस समारोह में दिखेगी पीएम मोदी की 'लुक ईस्ट नीति' की झलक, इन 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष हैं मुख्य अतिथि

    गणतंत्र दिवस समारोह में दिखेगी पीएम मोदी की 'लुक ईस्ट नीति' की झलक, इन 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष हैं मुख्य अतिथि

    आज भारत का 69वां गणतंत्र दिवस समारोह राजपथ पर मनाया जाएगा. भारत के प्रजातंत्र की ताकत के गवाह 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी होंगे. आसियान में शामिल इन सभी विश्व नेताओं को इस बार भारत सरकार ने मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया है.  उनमें ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं. इस समारोह में इन नेताओं के बुलाने के पीछे पीएम मोदी की 'लुक ईस्ट नीति' भी है. 

  • आसियान देशों का झंडा लेकर निकलेगी इस बार की परेड, 69वें गणतंत्र दिवस की 10 खास बातें

    आसियान देशों का झंडा लेकर निकलेगी इस बार की परेड, 69वें गणतंत्र दिवस की 10 खास बातें

    आसियान देशों के नेता गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि होंगे. राष्ट्रीय राजधानी में आज 69वें गणतंत्र दिवस समारोहों के लिए सुरक्षा के अभूतपूर्व प्रबंध किये गए हैं. हजारों सुरक्षाकर्मियों को किसी भी आतंकी हमले या अप्रिय घटना को रोकने के लिए तैनात किया गया है. राजपथ से लाल किला तक आठ किलोमीटर लंबे परेड मार्ग पर नजर रखने के लिए मोबाइल हिट टीम, विमान-रोधी प्रणालियों और शार्पशूटर्स को तैयार रखा गया है. ऊंची इमारतों पर शूटरों को तैनात किया गया है, वहीं बड़ी संख्या में सीसीटीवी कैमरों की मदद से परेड मार्ग पर आवाजाही कर लोगों पर नजर रखी जा रही हैय. हवाई क्षेत्र को सुरक्षित बनाने के लिए विमान-रोधी बंदूकों सहित हवाई सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गए हैं.

  • दावोस : वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम भारत के लिए क्यों है महत्वपूर्ण, 8 बड़ी बातें

    दावोस : वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम भारत के लिए क्यों है महत्वपूर्ण, 8 बड़ी बातें

    दावोस में आयोजित वर्ल्ड इकोनमिक फोरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब 3.15 बजे उद्घाटन भाषण देंगे. इसके बाद से चार दिन तक चलने वाला दावोस सम्मेलन शुरू हो जाएगा. इस अंतरराष्ट्रीय सम्मलेन की खास बात यह है कि इस बार यहां पर भारत का डंका बज रहा है. योग से लेकर भारतीय खाने तक की धूम मची है. पीएम मोदी के साथ कार्यक्रम में 6 केंद्रीय मंंत्रियों, 2 मुख्यमंत्री और कई बिजनेस लीडर गए हैं. चार दिन तक चलने वाले इस फोरम में पीएम मोदी के अलावा भारत के मंत्री,कई बिजनेस लीडर और शाहरुख खान भी अलग-अलग विषयों पर अपनी बात रखेंगे.

  • गणतंत्र दिवस पर पहली बार 10 देशों के नेता होंगे मुख्य अतिथि, जानें- किन्हें भेजा गया है निमंत्रण

    गणतंत्र दिवस पर पहली बार 10 देशों के नेता होंगे मुख्य अतिथि, जानें- किन्हें भेजा गया है निमंत्रण

    इस साल भारत का गणतंत्र दिवस समारोह बेहद खास होने जा रहा है. ऐसा पहली बार है जब इस समारोह में 10 देशों के प्रतिनिधियों निमंत्रण भेजा गया है.

  • दावोस गए शाहरुख खान की एक फोटो वायरल तो करण जौहर को इंडियन पार्टी जैसा क्यों हो रहा है महसूस, 5 बड़ी खबरें

    दावोस गए शाहरुख खान की एक फोटो वायरल तो करण जौहर को इंडियन पार्टी जैसा क्यों हो रहा है महसूस, 5 बड़ी खबरें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दावोस में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. वहीं कुमार विश्वास ने एक बार फिर से हमला बोला है तो टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने खिलाड़ियों को खरी-खरी सुनाई है.

  • दावोस में बैठकों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया बर्फबारी का आनंद

    दावोस में बैठकों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया बर्फबारी का आनंद

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  स्विटजरलैंड के खूबसूरत शहर दावोस में आयोजित वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में हिस्सा ले रहे हैं. उनके साथ 6 केंद्रीय मंत्री और 2 मुख्यमंत्री सहित देश के कई बिजनेस लीडर भी गए हैं.

Advertisement