NDTV Khabar

Manikarnika ghat


'Manikarnika ghat' - 5 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • धधकती चिताओ के बीच सजी नगर वधुओं की महफ़िल

    धधकती चिताओ के बीच सजी नगर वधुओं की महफ़िल

    सती के वियोग में कभी भगवान शिव ने तांडव नृत्य किया था. और उस वक्त यहां सती के कान की मणि गिरी थी. जिससे इसका नाम मणिकर्णिका घाट पड़ गया. इसी मणिकर्णिका घाट पर चैत्र नवरात्री के सप्तमी को नृतकियों के पांव के घुंघरू रात भर बजते और टूटकर बिखरते रहे. जिससे महाश्मशान में अपने परिजनों के मृत शरीर को लेकर पहुंचे लोगों के मन के विराग को इन घुंघरओं की झंकार जिन्दगी के राग भर रही थी.

  • गिरिजा देवी की वाराणसी में राजकीय सम्मान संग अंत्येष्टि

    गिरिजा देवी की वाराणसी में राजकीय सम्मान संग अंत्येष्टि

    ठुमरी साम्राज्ञी शास्त्रीय गायिका पद्मभूषण गिरिजा देवी का पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनके जन्मस्थान वाराणसी में मणिकर्णिका घाट पर गुरुवार को अंतिम संस्कार किया गया.

  • 'मणिकर्णिका' के लिए कंगना रनौत ने गंगा में लगाई डुबकी, देखें फोटो

    'मणिकर्णिका' के लिए कंगना रनौत ने गंगा में लगाई डुबकी, देखें फोटो

    कंगना रनौत अक्‍सर अपने किरदार में उतरने के लिए हर संभव कोशिश करती हैं. जल्‍द ही बॉलीवुड की यह 'क्‍वीन' फिल्‍म 'मणिकर्णिका' में रानी लक्ष्‍मीबाई के किरदार में नजर आने वाली हैं.

  • वाराणसी में जारी हुआ फिल्‍म मणिकर्णिका द क़्वीन ऑफ़ झांसी का पोस्‍टर, कंगना ने लगाई गंगा में डुबकी

    वाराणसी में जारी हुआ फिल्‍म मणिकर्णिका द क़्वीन ऑफ़ झांसी का पोस्‍टर, कंगना ने लगाई गंगा में डुबकी

    बनारस में कभी गंगा के घाट पर पली बढ़ी रानी लक्ष्मीबाई गुरुवार की शाम एक बार गंगा की गोद में थी. पर ये लक्ष्मीबाई वीरांगना लक्ष्मीबाई के जीवन चरित्र पर बन रही फिल्म 'मणिकर्णिका: द क़्वीन ऑफ़ झांसी' का किरदार निभा रही कंगना रनौत थी. जो दशश्वमेघ घाट पर शाम की आरती के वक़्त रानी लक्ष्मीबाई की पोशाक में गंगा के किनारे आईं.

  • मणिकर्णिका महाश्मशान में धधकती चिताओं के बीच सजी नगर वधुओं की महफ़िल

    मणिकर्णिका महाश्मशान में धधकती चिताओं के बीच सजी नगर वधुओं की महफ़िल

    सती के वियोग में कभी भगवान शिव ने तांडव नृत्य किया था। और उस वक़्त यहां सती के कान की मणि गिरी थी। जिससे इसका नाम मणिकर्णिका घाट पड़ गया। इसी मणिकर्णिका घाट पर चैत्र नवरात्री के सप्तमी को नार्तकियों के पांव के घुंघरू रात भर बजते और टूट कर बिखरते रहे।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com