NDTV Khabar

Manish kumar


'Manish kumar' - 453 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राजद का भविष्य और बिहार की राजनीति की दिशा क्यों और कैसे तय करेंगे नीतीश कुमार...

    राजद का भविष्य और बिहार की राजनीति की दिशा क्यों और कैसे तय करेंगे नीतीश कुमार...

    लोकसभा चुनाव के बाद बिहार की राजनीति को लेकर जो भी क़यास लगाए जा रहे हैं उसके केंद्र में एक ही बात की प्रमुखता होती है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का अगला कदम क्या होगा और राजद टूटेगी या अब एक बार फिर नीतीश कुमार की शरण में जाएगी.

  • Blog: क्या बिहार में बच्चों की मौत के बहाने नीतीश कुमार की आलोचना की जगह अब न्यूज चैनल अपने राजनीतिक आकाओं का एजेंडा तो पूरा नहीं कर रहे हैं?

    Blog: क्या बिहार में बच्चों की मौत के बहाने नीतीश कुमार की आलोचना की जगह अब न्यूज चैनल अपने राजनीतिक आकाओं का एजेंडा तो पूरा नहीं कर रहे हैं?

    बिहार में चमकी बुखार (Acute Encephalitis Syndrome) से  अब तक 150 बच्चों की मौत हो गयी है. निश्चित रूप से इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार की सबसे अधिक आलोचना हो रही है. उसके बाद उप मुख्यमंत्री  सुशील मोदी जो विपक्ष के नेता के रूप में किसी भी घटना के बाद सबसे आक्रामक होके इस्तीफ़ा मांगते थे. इन सबके बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय जो अपने संवेदनहीनता के कारण मज़ाक़ के पात्र बन बैठे हैं उनकी आलोचना हो रही है. ये तीनों नेता मीडिया से परेशान हैं क्योंकि मीडिया वाले इनका पीछा करते हैं और कुछ तो इनसे इन्हीं के पूर्व के बयानो का हवाला देते हुए पूछ देते हैं कि आख़िर इस्तीफ़ा कब देंगे. मीडिया ख़ासकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कई दिन तक सुबह से शाम तक प्राइम टाइम में बच्चों की मौत, अस्पतालों की बदहाल स्थिति के बहाने सरकार की निश्चित रूप से जायज बिंदुओं  पर चैनल के पत्रकार से संपादक तक एक स्वर से आलोचना करते हैं.

  • बिहार में बच्चों की मौत के लिए ज़िम्मेदार कौन - नीतीश कुमार या सुशील मोदी...?

    बिहार में बच्चों की मौत के लिए ज़िम्मेदार कौन - नीतीश कुमार या सुशील मोदी...?

    अगर कुछ महीने छोड़ दिए जाएं, तो पिछले कुछ सालों से दोनों नेता राज्य की सता पर क़ाबिज़ हैं, लेकिन अब बिहार में कुछ ही दिनों में 130 से अधिक बच्चों की मौत ने इनकी प्रशासनिक कुशलता पर सवाल खड़े कर दिए हैं, और इसीलिए जहां नीतीश कुमार अपनी ज़िम्मेदारियों के बारे में बात करने की बजाय मीडिया से मुंह फुलाए बैठे हैं, वहीं सुशील मोदी का हमेशा की तरह इस बार भी 'लालू-राबड़ी' राग जारी है.

  • ब्लॉग : 'हिस्सेदारी' नीतीश कुमार का पीछा क्यों नहीं छोड़ती!

    ब्लॉग :  'हिस्सेदारी' नीतीश कुमार का पीछा क्यों नहीं छोड़ती!

    राजनीति में चीज़ें जितनी बदलती है उतनी ही अपने मूल स्वरूप में भी रह जाती हैं. ये सच बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार से बेहतर कोई नहीं जानता जो पिछले 5 दिनों से केंद्र के सरकार में हिस्सेदारी को लेकर सुर्ख़ियों में हैं. हालांकि वह हर दिन एक बात की दुहाई देते हैं की NDA में है और अगर केंद्र के सरकार में हिस्सेदारी को लेकर उनकी बात नहीं बनी तो इसका मतलब बिहार में BJP के साथ सरकार पर कोई प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा और साथ ही वह केन्द्र और बिहार में एनडीए में ही रहेंगे. लेकिन वर्तमान विवाद और संकट का क्या समाधान होगा उसके लिए नीतीश कुमार की राजनीति को 25 साल पहले से देखना होगा. उस समय क्या हुआ था यह बिहार बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं जैसे सुशील मोदी और नंद किशोर यादव को अच्छी तरह से याद होगा. सत्ता में हिस्सेदारी का ही मामला था कि जब नीतीश कुमार ने लालू यादव से अलग होकर लोक समता पार्टी बनायी थी.

  • Lok Sabha Election 2019: प्रशांत किशोर ने वाईएसआर कांग्रेस की धमाकेदार जीत के साथ की शानदार वापसी

    Lok Sabha Election 2019: प्रशांत किशोर ने वाईएसआर कांग्रेस की धमाकेदार जीत के साथ की शानदार वापसी

    वीरवार को जगमोहन रेड्डी  ने हैदराबाद स्थित अपने निवास पर रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ अपने निवास पर ही लगातार आ रहे परिणामों को देखा. उनकी पार्टी ने राज्य में 25 लोकसभा और 175 में से 150 से भी ज्यादा विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था.

  • बिहार में बोले PM मोदी- जिन्हें भारत माता की जय और वंदे मातरम बोलने से दिक्कत उनकी जमानत हो जब्त

    बिहार में बोले PM मोदी- जिन्हें भारत माता की जय और वंदे मातरम बोलने से दिक्कत उनकी जमानत हो जब्त

    इस सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान और बिहार BJP के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी भी उपस्थित थे.

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार की लालटेन युग खत्म करने पर जमकर की तारीफ

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार की लालटेन युग खत्म करने पर जमकर की तारीफ

    बल्कि बिहार विधानसभा का पूरा चुनाव के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी हर सभा में लोगों से यही पूछते थे बिजली आयी बिजली आयी.

  • IPL 2019: एमएस धोनी ने चिढ़ाया रैना की बेटी को तो डरकर छिपने लगी, किया फिर ऐसा... देखें VIDEO

    IPL 2019: एमएस धोनी ने चिढ़ाया रैना की बेटी को तो डरकर छिपने लगी, किया फिर ऐसा... देखें VIDEO

    IPL 2019 CSK vs SRH: सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन (Shane Watson) शतक से चूक गए लेकिन उनकी तूफानी पारी की बदौलत चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2019) में मंगलवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को छह विकेट से हराकर फिर अंक तालिका के शीर्ष पर जगह बनाकर प्ले आफ की ओर मजबूत कदम बढ़ाए.

  • IPL 2019: MS Dhoni से पूछा- क्या है जीत का सीक्रेट? मिला ऐसा मजेदार जवाब, देखें VIDEO

    IPL 2019: MS Dhoni से पूछा- क्या है जीत का सीक्रेट? मिला ऐसा मजेदार जवाब, देखें VIDEO

    IPL 2019 CSK vs SRH: एमएस धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) इस साल फिर प्ले ऑफ में पहुंच चुका है. जीत के बाद प्रेजेंटेशन में हर्षा भोगले (Harsha Bhogle) ने धोनी (MS Dhoni) से पूछा- जीत का सीक्रेट क्या है? तो धोनी (MS Dhoni) ने बड़े ही मजेदार जवाब दिया.

  • कुमार विश्वास ने 'आप' और कांग्रेस के बीच गठबंधन की कोशिशों को लेकर कही ये बात, वायरल हो गया Tweet

    कुमार विश्वास ने 'आप' और कांग्रेस के बीच गठबंधन की कोशिशों को लेकर कही ये बात, वायरल हो गया Tweet

    दिल्ली में आम आदमी पार्टी  (AAP) और कांग्रेस (Congress) के बीच गठबंधन की संभावनाएं लगभग खत्म हो गई है. इस बीच मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने ट्वीट करते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि अभी भी वक़्त है, अगर कांग्रेस (Congress) चाहे तो मोदी और शाह की जोड़ी को 18 सीटों (हरियाणा, दिल्ली और चंडीगढ़) पर हराया जा सकता है. कुमार विश्वास के ट्ववीट को मनीष सिसोदिया के इसी बयान से जोड़ कर देखा जा रहा है. 

  • नरेंद्र मोदी को सत्ता से हटाने के लिए हमें लोहिया जैसे नेता की जरूरत - शिवानंद तिवारी

    नरेंद्र मोदी को सत्ता से हटाने के लिए हमें लोहिया जैसे नेता की जरूरत - शिवानंद तिवारी

    जनसंघ के पंडित दीनदयाल उपाध्याय और कम्युनिस्ट पार्टी के कामरेड भुपेश गुप्त उनके गैर-कांग्रेसवाद की रणनीति के सक्रिय सहयोगी थे. तब के संदर्भ में वह एक सफल रणनीति थी. उस रणनीति का परिणाम था कि आज़ादी के बाद पहली मर्तबा आधा दर्जन से ज्यादा राज्यों में गैर-कांग्रेसी सरकारें बनीं. कांग्रेस की अपराजयता की धारणा टूटी. शिवानंद ने आगे लिखा कि जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, किसी भी रणनीति का मकसद तात्कालिक होता है.

  • यूपी में भाजपा के लोग सुबह-शाम मोदी नाम केवलम क्यों कर रहे?

    यूपी में भाजपा के लोग सुबह-शाम मोदी नाम केवलम क्यों कर रहे?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में वापस आने की संभावना चुनाव घोषित होने के पहले हफ़्ते में प्रबल दिख रही है. जबकि ये भी सच है कि इस बार उत्तर प्रदेश में भाजपा के शीर्ष नेता से कार्यकर्ता तक मानकर चल रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में सीटों को संख्य कम होगी. वह पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में आधी भी हो सकती है. लेकिन इसके बावजूद एक महीने या 45 दिन पहले तक जो भाजपा उत्तर प्रदेश में हाशिये पर डबल डिजिट के लिए संघर्ष कर रही थी वह अब खेल में वापसी कर चुकी है.

  • एनडीए की पटना रैली के बाद नीतीश के चेहरे पर मुस्कराहट और भाजपा में बेचैनी क्यों?

    एनडीए की पटना रैली के बाद नीतीश के चेहरे पर मुस्कराहट और भाजपा में बेचैनी क्यों?

    बिहार की राजनीति में रविवार तीन मार्च का दिन कई कारणों से याद किया जाएगा. इस दिन सुबह कश्मीर में शहीद हुए सब इंस्पेक्टर पिंटू सिंह का पार्थिव शरीर पटना आया था. तब न तो नीतीश कुमार समेत उनके मंत्रिमंडल के किसी सदस्य ने, न ही मोदी मंत्रिमंडल में शामिल बिहार के किसी मंत्री ने पटना में मौजूद रहने के बावजूद पटना एयरपोर्ट पर जाकर सिंह को श्रद्धांजलि देने की जरूरत समझी. इससे साफ है कि पुलवामा हो या अन्य घटना, इन नेताओं के लिए मीडिया में प्रचार पाने के अलावा कुछ नहीं.

  • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड: गवाह समेत लापता 7 लड़कियों में से पुलिस ने 6 को ढूंढ़ निकाला

    मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड: गवाह समेत लापता 7 लड़कियों में से पुलिस ने 6 को ढूंढ़ निकाला

    विपक्षी दलों ने बिहार में राजग सरकार की आलोचना करते हुए कहा आरोप लगाया कि ये पांचों लड़कियां उच्चतम न्यायालय की निगरानी में सीबीआई द्वारा यौन उत्पीड़न कांड की जांच में गवाह हैं. उन्होंने दावा किया कि उनका गायब होना एक ‘‘साजिश’’ है जिसे सत्तारूढ़ पार्टी ने ‘‘सत्ताधारियों’’ को बचाने के लिये रचा है. समाज कल्याण विभाग के निदेशक राज कुमार ने बताया कि मोकामा स्थित आश्रय गृह से शनिवार तड़के तीन बजे से साढ़े तीन बजे के बीच सात नाबालिग लड़कियां एक खिड़की की ग्रिल तोड़कर भाग गईं. यहां उनके हिंसक व्यवहार को सुधारने की कवायद चल रही थी.

  • क्या भाजपा अब 'सहयोगी शरणम् गच्छामि' हो गई है?

    क्या भाजपा अब 'सहयोगी शरणम् गच्छामि' हो गई है?

    लोकसभा चुनाव सिर पर है और हर दल अपने-अपने हिसाब से राजनीतिक दांव खेलने में व्यस्त हैं. जहां एक ओर राष्ट्रीय दल भाजपा और कांग्रेस के बीच सहयोगियों को जोड़ने की होड़ लगी है. वहीं, क्षेत्रीय दल भी अपने-अपने हिसाब से यानी कांग्रेस या BJP के साथ अब तालमेल को अंतिम रूप दे रहे हैं. कांग्रेस अगर सहयोगी या क्षेत्रीय दलों से समझौता कर रही है तो उसकी मजबूरी समझ में आती है लेकिन अचानक बीजेपी जिस तरह से महत्वपूर्ण राज्यों में अपने पुराने स्टैंड से 360 डिग्री घुमकर समझौते कर रही है, उससे तो यही लगता है कि भाजपा को अब सहयोगियों का महत्व समझ में आ रहा है. इतना ही नहीं, बीजेपी को शायद उनके बिना चुनाव में जाना आत्मघाती लग रहा है. इसलिए भाजपा एक बार फिर 'सहयोगी शरणम् गच्छामी' के मुद्रा में है. 

  • बंगाल में मर्यादाएं लांघकर सीबीआई और पुलिस को किया जा रहा बर्बाद

    बंगाल में मर्यादाएं लांघकर सीबीआई और पुलिस को किया जा रहा बर्बाद

    पश्चिम बंगाल में पिछले रविवार से लेकर अभी तक जो कुछ चल रहा है वह चिंताजनक है. बंगाल में सत्ता पर काबिज तृणमूल को भाजपा धूल चटाना चाहती है और सारी लड़ाई की जड़ में यही है. भाजपा का आकलन है जब तक तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी को सारदा घोटाले में फंसाया नहीं जाता तब तक बंगाल पर विजय का परचम फहराने का उनका कई दशक का सपना पूरा नहीं हो पाएगा.

  • बिहारः रालोसपा के आक्रोश मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज, अस्पताल में भर्ती हुए घायल उपेंद्र कुशवाहा

    बिहारः रालोसपा के आक्रोश मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज, अस्पताल में भर्ती हुए घायल उपेंद्र कुशवाहा

    राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) की तरफ से शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर यहां शनिवार को निकाले गए आक्रोश मार्च में पुलिस ने लाठीचार्ज किया. जिससे पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा घायल हो गए

  • जॉर्ज को श्रद्धांजलि और नीतीश के आंसुओं पर सवाल

    जॉर्ज को श्रद्धांजलि और नीतीश के आंसुओं पर सवाल

    प्रख्यात समाजवादी और पूर्व केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का शुक्रवार को अंतिम संस्कार क्रिश्चियन विधि से किया गया. इससे पूर्व बृहस्पतिवार को उनके शव को हिंदू तरीके से अंतिम विदाई दी गई. बिहार में जहां से वे आठ बार लोकसभा के लिए चुने गए और एक बार राज्यसभा भी गए थे वहां उनकी मौत की ख़बर के बाद दो दिनों का राजकीय शोक भी रहा है.