NDTV Khabar

Mayawati akash anand


'Mayawati akash anand' - 4 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मायावती के भाई पर आयकर विभाग का शिकंजा, 400 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

    मायावती के भाई पर आयकर विभाग का शिकंजा, 400 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

    लोकसभा चुनाव के बाद बसपा (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर कई बड़ी घोषणाएं की थी. मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार (Anand Kumar) को बसपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था, वहीं भतीजे आकाश आनंद (Akash Anand) को नेशनल कॉर्डिनेटर की जिम्मेदारी दी थी.

  • BSP प्रमुख मायावती ने भाई और भतीजे को पार्टी में दी बड़ी जिम्मेदारी

    BSP प्रमुख मायावती ने भाई और भतीजे को पार्टी में दी बड़ी जिम्मेदारी

    लोकसभा चुनाव के बाद बसपा (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर कई बड़ी घोषणाएं की. मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार (Anand Kumar) को बसपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया, वहीं भतीजे आकाश आनंद (Akash Anand) को नेशनल कॉर्डिनेटर बनाया है. इसके अलावा दानिश अली को लोकसभा में बहुजन समाजवादी पार्टी का नेता बनाया गया है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, देश के सभी राज्यों में पार्टी को मजबूत करने के लिए आकाश आनंद को अहम जिम्मेदारी दी गई है. 

  • मायावती की जगह भतीजे आकाश ने रैली को किया संबोधित, कहा- बुआ ने भेजा है तो....

    मायावती की जगह भतीजे आकाश ने रैली को किया संबोधित, कहा- बुआ ने भेजा है तो....

    उन्होंने कहा कि वे गठबंधन की ओर से आगरा, मथुरा और फतेहपुर सीकरी सीटों पर खड़े किये गये प्रत्याशियों को वोट दें. अपना संक्षिप्त भाषण पार्टी के नारे 'जय भीम' और 'जय भारत' के उद्घोष से समाप्त किया. बता दें कि आनंद मायावती के छोटे भाई आनंद कुमार के बेटे हैं. वह मायावती के साथ पार्टी की बैठकों में नजर आते रहते हैं. बसपा की ओर से चुनाव प्रचार के लिए जारी स्टार प्रचारकों की सूची में आनंद भी शामिल हैं.

  • मीडिया पर भड़कीं BSP प्रमुख मायावती, भतीजे आकाश को पार्टी में सौंपेंगी यह जिम्मेदारी...

    मीडिया पर भड़कीं BSP प्रमुख मायावती, भतीजे आकाश को पार्टी में सौंपेंगी यह जिम्मेदारी...

    बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती (Mayawati) ने कहा कि BSP की लोकप्रियता में बढ़ोतरी और समाजवादी पार्टी (SP) से उसका गठबंधन हो जाने से वे पार्टियां और नेता परेशान हो गए हैं, जो दलित-विरोधी तथा जातिवादी हैं.