NDTV Khabar

Modi government 4 years


'Modi government 4 years' - 22 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अरविंद केजरीवाल की PM मोदी को चुनौती: आपने हमारी 400 फाइलें देखीं, हमें केवल राफेल डील की फाइलें दे दो, हम जेल पहुंचा देंगे

    अरविंद केजरीवाल की PM मोदी को चुनौती: आपने हमारी 400 फाइलें देखीं, हमें केवल राफेल डील की फाइलें दे दो, हम जेल पहुंचा देंगे

    आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि लगातार जांच और निरीक्षण के जरिए मोदी ने आप सरकार को दिल्ली में ईमानदारी का सर्टिफिकेट दिया है. केजरीवाल ने कहा, "केंद्र ने अनियमितताओं का पता लगाने के लिए हमारी 400 फाइलों की जांच की, लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला. मोदी ने खुद ही हमें ईमानदारी का सर्टिफिकेट दे दिया. मैं हमेशा कहता हूं कि अगर प्रधानमंत्री मोदी अपनी चार फाइलों को दिखा देंगे तो उन्हें जेल जाना होगा."

  • सांसदों के वेतन-भत्तों पर RTI से खुलासा, सिर्फ 4 साल में ही खर्च किए गए इतने अरब रुपये

    सांसदों के वेतन-भत्तों पर RTI से खुलासा, सिर्फ 4 साल में ही खर्च किए गए इतने अरब रुपये

    इस भुगतान का हिसाब लगाने से पता चलता है कि आलोच्य अवधि में हर लोकसभा सांसद ने प्रत्येक वर्ष औसतन 71.29 लाख रुपये के वेतन-भत्ते हासिल किये, जबकि हर राज्यसभा सांसद को इस मद में प्रत्येक साल औसतन 44.33 लाख रुपये की अदायगी की गयी.

  • मोदी सरकार के DNA बिल पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा-जनता की जासूसी का है मकसद

    मोदी सरकार के DNA बिल पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा-जनता की जासूसी का है मकसद

    नरेंद्र मोदी सरकार की ओर डीएनए बिल पास कराने की तैयारी पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए हैं. डीएनए प्रोफाइलिंग की कवायद को पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी जनता की जासूसी की कवायद करार दिया है.

  • रविशंकर प्रसाद बोले- मोदी सरकार में भारत की वैश्विक प्रतिष्ठा बढ़ी है

    रविशंकर प्रसाद बोले- मोदी सरकार में भारत की वैश्विक प्रतिष्ठा बढ़ी है

    बीजेपी नेताओं और मंत्रियों की ओर से मोदी सरकार के चार साल की उपलब्धियों को गिनाने का दौरा जारी है. केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शनिवार को कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार के चार वर्षों के दौरान भारत की प्रतिष्ठा वैश्विक स्तर पर बढ़ी है. बता दें कि 26 मई को मोदी सरकार ने अपने चार साल पूरे किये हैं. 

  • जब अमित शाह से पूछा गया- क्या 'अच्छे दिन' आये? उन्होंने दिया ये जवाब

    जब अमित शाह से पूछा गया- क्या 'अच्छे दिन' आये? उन्होंने दिया ये जवाब

    अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार के चार साल के कार्यकाल में कल्याणकारी योजनाओं से 22 करोड़ गरीब परिवारों को फायदा मिला है और इसने एक उदाहरण पेश किया है कि कैसे एक जनहितैषी सरकार चलाई जाती है.कोई भी इसका सत्यापन कर सकता है.

  • अब भारत उभरती कमजोर अर्थव्यवस्था वाला देश नहीं, आकर्षक गंतव्य बना : जेटली

    अब भारत उभरती कमजोर अर्थव्यवस्था वाला देश नहीं, आकर्षक गंतव्य बना : जेटली

    केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि बीते चार साल में मोदी सरकरार ने ‘भ्रष्टाचार मुक्त’ प्रशासन दिया है और भारत आज विदेशी निवेश पर निर्भर ‘पांच उभरती अर्थव्यवस्थाओं’ की सूची से निकलकर वैश्विक मंच पर ‘आकर्षक गंतव्य’ बन गया है.

  • कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, कहा-केंद्र में झूठ की सरकार 

    कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, कहा-केंद्र में झूठ की सरकार 

    भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के 4 साल पूरे होने पर कांग्रेस ने निशाना साधा है.पार्टी ने कहा कि मोदी सरकार दलितों, कमजोरों, वंचितों के लिए काल साबित हो रही है.इनसे नफरत और घृणा के चलते ही अत्याचार बढ़ रहा है.

  • यूपीए सरकार के समय भी पेट्रोल-डीजल की यही कीमतें थीं, वे तीन दिन में ही परेशान हो गये : अमित शाह

    यूपीए सरकार के समय भी पेट्रोल-डीजल की यही कीमतें थीं, वे तीन दिन में ही परेशान हो गये : अमित शाह

    भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के 4 वर्ष पूरे होने पर शनिवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस वार्ता में सरकार की उपलब्धियां और प्राथमिकताएं गिनाईं. उन्होंने कहा कि 2014 से पहले देश के हालात ऐसे थे कि अधिकांश जनता लोकतांत्रिक सिस्टम से भरोसा खो चुकी थी. उसी समय अंधेरी रात में नरेंद्र मोदी सरकार का आना हुआ.

  • मोदी सरकार के चार साल : कांग्रेस बोली- मोदी ने पीएम पद की गरिमा गिराई, तो अमित शाह बोले- आपके समय पाताल तक गिरी थी

    मोदी सरकार के चार साल : कांग्रेस बोली- मोदी ने पीएम पद की गरिमा गिराई, तो अमित शाह बोले- आपके समय पाताल तक गिरी थी

    आज मोदी सरकार के चार साल पूरे हो गये. मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी जश्न मना रही है और सरकार की उपलब्धियों को गिना रही है, वहीं कांग्रेस इस दिन को पूरे देश में 'विश्वासघात दिवस' के रूप में मना रही है. कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार के कार्यकाल को विफल बताने में जुटी है, वहीं भाजपा ये बताने की कोशिश कर रही है कि मोदी सरकार की योजनाओं से देश के लोगों को काफी फायदा पहुंचा है. इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार को बधाई दी है, तो वहीं कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने चुटकी लेते हुए कहा कि चार साल के कार्यकाल का सार यही है मेरा भाषण ही मेरा प्रशासन है. 

  • मोदी सरकार के चार साल पर इस नेता ने ली चुटकी, कहा- 'मेरा भाषण ही मेरा प्रशासन है'

    मोदी सरकार के चार साल पर इस नेता ने ली चुटकी, कहा- 'मेरा भाषण ही मेरा प्रशासन है'

    आज यानी 26 मई को मोदी सरकार के चार साल पूरे हो रहे हैं. एक ओर जहां मोदी सरकार के मंत्री से लेकर बीजेपी के नेता सरकार की उपलब्धियां गिनाने में जुटे हैं, वहीं कांग्रेस पार्टी सरकार की नाकामियों को लेकर हल्ला बोल रही है. मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के मौके पर कांग्रेस के नेता मनीष तिवारी ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला है और कहा है कि मोदी सरकार के चार साल का सार यही है कि 'मेरा भाषण ही मेरा प्रशासन है'. 

  • LIVE: केंद्र सरकार के 4 साल, योगी आदित्यनाथ ने कहा-कांग्रेस 2019 में एक और हार के लिए तैयार रहे 

    LIVE: केंद्र सरकार के 4 साल, योगी आदित्यनाथ ने कहा-कांग्रेस 2019 में एक और हार के लिए तैयार रहे 

    केंद्र सरकार के 4 वर्ष पूरे होने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी पूरी कैबिनेट को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि  मुझे पूरा भरोसा है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया में सुपर पावर के रूप में अपनी पहचान बनाएगा. योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान कांग्रेस पर हमला भी बोला. कहा कि कांग्रेस को 2019 में अगली हार की तैयारी कर लेनी चाहिए.

  • पीएम मोदी के 4 साल : पड़ोसी देशों ने भारत से क्यों बनाई दूरी? विदेश नीति से जुड़ी 20 बड़ी बातें

    पीएम मोदी के 4 साल : पड़ोसी देशों ने भारत से क्यों बनाई दूरी? विदेश नीति से जुड़ी 20 बड़ी बातें

    भारत में 26 मई की तिथि को नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लिये जाने के लिए याद रखा जाता है. साल वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने स्पष्ट बहुमत हासिल किया था और मोदी ने इस दिन देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी. आज से लगभग चार साल पहले जब भाजपा सत्ता में आई थी, तो सरकार ने 'पड़ोसी प्रथम' का नारा दिया था. सरकार की मंशा पड़ोसियों को अधिक तवज्जो देकर रिश्ते बेहतर करने की थी, लेकिन अब जब सरकार अपने कार्यकाल के चार साल पूरे करने जा रही है तो पलटकर देखने की जरूरत है कि हमारे पड़ोसियों ने हमसे दूरी क्यों बना ली? 

  • ओडिशा में सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे पीएम मोदी, कांग्रेस पूरे देश में मनाएगी 'विश्वासघात दिवस', 10 बड़ी बातें

    ओडिशा में सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे पीएम मोदी, कांग्रेस पूरे देश में मनाएगी 'विश्वासघात दिवस', 10 बड़ी बातें

    शनिवार यानी आज मोदी सरकार के चार साल पूरे हो रहे हैं. मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर जहां बीजेपी आज जश्न मनाएगी और अपनी उपलब्धियों को गिनाने का काम करेगी, वहीं कांग्रेस इस दिन को विश्वासघात के रूप में मना रही है और सरकार की नाकामियों को गिनाएगी. पीएम मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर ओडिशा के कटक में रहेंगे, जहां वह एक जनसभा को संबोधित करेंगे और अपनी सरकार की उपलब्धियों गिनाएंगे. बता दें कि आज ही के दिन यानी 26 मई को बीजेपी की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनी थी और पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी.

  • साल 4 लेकिन सवाल सिर्फ एक...

    साल 4 लेकिन सवाल सिर्फ एक...

    हां, चार साल हो गए. करीब 1460 दिन. चार साल पहले 2014 में एक लहर चली थी. नाम था 'मोदी लहर'. न जाने ये लहर कैसी थी और किसके लिए थी ? चार साल पहले लोकसभा चुनाव में भारत की जनता ने इस लहर को जनादेश दिया था. जीत तो भारतीय जनता पार्टी (BJP) की हुई थी लेकिन वोट 'मोदी लहर' के नाम पर दिया गया था. इस उम्मीद में की 'अच्छे दिन' आएंगे.

  • चार साल पूरे कर रही मोदी सरकार पर उपचुनावों की चिंता की छाया

    चार साल पूरे कर रही मोदी सरकार पर उपचुनावों की चिंता की छाया

    मोदी सरकार कल चार साल पूरे कर रही है. लेकिन चार साल के जश्न पर पेट्रोल-डीज़ल के बढ़े दामों का साया है तो वहीं लोकसभा के तीन महत्वपूर्ण उपचुनावों को लेकर चिंता की छाया भी है.

  • कर्नाटक में कुमारस्वामी का फ्लोर टेस्ट आज, ऐसे राहुल से पहले बाजी मार गये तेजस्वी, अब तक की 5 बड़ी खबरें

    कर्नाटक में कुमारस्वामी का फ्लोर टेस्ट आज, ऐसे राहुल से पहले बाजी मार गये तेजस्वी, अब तक की 5 बड़ी खबरें

    कर्नाटक में आज कुमारस्वामी का बहुमत परीक्षण है. वहीं, निपाह वायरस पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी की और एहतियाक बरतने को कहा है. 2019 चुनाव को लेकर बीजेपी चुनावी मोड में आ गई है और उसने एक नया नारा दिया है. वहीं, फिटनेस चैलेंज को लेकर पीएम मोदी को चैलेंज करने के मामले में राहुल से आगे निकल गये हैं तेजस्वी यादव. उधर, भारत-पाकिस्तान के मुद्दे पर पाकिस्तानी गायक राहत फतह अली खान ने कहा है कि वह दोनों देश के बीच शांति चाहते हैं. 

  • नये स्लोगन के साथ चुनावी मोड में बीजेपी, 2014 की तर्ज पर 2019 के लिए दिया यह नया नारा

    नये स्लोगन के साथ चुनावी मोड में बीजेपी, 2014 की तर्ज पर 2019 के लिए दिया यह नया नारा

    मोदी सरकार के चार साल पूरे होते ही बीजेपी एक बार फिर से 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चुनावी मोड में आ गई है. अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी ने अब तैयारियां शुरू कर दी और मोदी सरकार के अब तक की उपलब्धियों को जनता के बीच प्रचार करने का काम भी शुरू कर चुकी है. बता दें कि 26 मई को मोदी सरकार के चार साल पूरे हो रहे हैं. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी उपलब्धियों की लिस्ट के साथ-साथ एक नए स्लोगन के साथ मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है. बीजेपी ने 2019 के लिए अपना चुनावी अभियान शुरू कर दिया है. बीजेपी ने सरकार की चार साल की उपलब्धियों पर एक वीडियो जारी किया है, जिसमें विभिन्न योजनाओं और उनसे मिले लोगों को फायदे के बारे में दिखाया गया है. 

  • मोदी सरकार के चार साल : 10 नाकामियां, जो बीजेपी सरकार की उपलब्धियों की चमक फीकी करती हैं

    मोदी सरकार के चार साल : 10 नाकामियां, जो बीजेपी सरकार की उपलब्धियों की चमक फीकी करती हैं

    मोदी सरकार 26 मई को चार साल पूरे कर रही है. इस मौके पर जहां मोदी सरकार अपनी उपलब्धियां गिनाने में जुटी है, वहीं कांग्रेस मोदी सरकार की नाकामियों को उजागर करने की कोशिश कर रही है. यही वजह है कि 26 मई को जहां बीजेपी और मोदी सरकार अपने 4 साल के कार्यकाल का सफलतापूर्वक जश्न मनाएगी, वहीं कांग्रेस इस दिन को 'विश्वासघात दिवस' के रूप में मनाएगी. यानी इस मौके पर सरकार और विपक्ष के बीच आरोप-प्रत्यारोप का खेल चलेगा. मगर इसके इतर बात करें तो मोदी सरकार ने भले ही कई सारे काम किये हों, योजनाओं की शुरुआत की हो, मगर उनकी नाकामियों को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. मोदी सरकार की उपलब्धियों में अगर एक से बढ़कर एक फैसले और योजनाएं शामिल हैं, तो उनकी नाकामियों की फेहरिस्त भी छोटी नहीं है.