NDTV Khabar

Motion of trust


'Motion of trust' - 14 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • जानें, संसद में राहुल गांधी के गले मिलने के अंदाज पर पहली बार पीएम मोदी ने क्या कहा

    जानें, संसद में राहुल गांधी के गले मिलने के अंदाज पर पहली बार पीएम मोदी ने क्या कहा

    संसद के मॉनसून सत्र के दौरान जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में अपनी बात रखते हुए अचानक पीएम मोदी से गले जाकर मिले थे, तो उसके बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज कराई थी. हालांकि, उस घटना पर पीएम मोदी ने कुछ नहीं कहा था. मगर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल के गले मिलने वाली घटना पर चुप्पी तोड़ी है. समाचार एजेंसी एएनआई को दिये इंटरव्यू के दौरान एक प्रश्न के जवाब में पीएम मोदी ने राहुल के गले मिलने वाली घटना का जिक्र किया है और इसे बच्चों वाली हरकत बताया है. 

  • इतिहास के पन्नों को उलट PM मोदी ने बताया, आखिर क्यों वह कांग्रेस से नहीं मिलाना चाहते हैं आंखें

    इतिहास के पन्नों को उलट PM मोदी ने बताया, आखिर क्यों वह कांग्रेस से नहीं मिलाना चाहते हैं आंखें

    ससंद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन कई मायनों में खास और यादगार रहा. विपक्ष और सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप के बाण तो चले ही, मगर कई ऐसे नजारे देखने को मिले, जिस पर सहसा विश्वास नहीं किया जा सकता. अविस्वास प्रस्ताव के पक्ष में एक ओर जहां कांग्रेस ने पीएम मोदी और उनकी सरकार पर कई आरोप लगाए और सवालों की बौछारें कीं, वहीं पीएम मोदी और मोदी सरकार की ओर से कांग्रेस के सवालों और आरोपों पर जवाब दिये गये और कई समस्याओं को लेकर कांग्रेस को ही जिम्मेदार ठहराया गया. लोकसभा में कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी ने ताबड़तोड़ हमले किये और रोजगार से लेकर एमसएपी और राफेल पर मोदी सरकार को घेरा. मगर बाद में जब पीएम मोदी की बारी आई, तो उन्होंने भी राहुल गांधी के सवालों का जमकर जवाब दिया. इतना ही नहीं, राहुल गांधी के आंख मिलाने वाली बात पर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोला और इतिहास बोध कराते हुए कांग्रेस को ही कठघरे में ला खड़ा किया. 

  • VIDEO : जब पीएम मोदी से गले मिलने से पहले राहुल गांधी ने कहा- आपके लिए मैं 'पप्पू' हूं....

    VIDEO : जब पीएम मोदी से गले मिलने से पहले राहुल गांधी ने कहा- आपके लिए मैं 'पप्पू' हूं....

    शुक्रवार को संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान चर्चा के बीच अगर मोदी सरकार और विपक्ष में तीखे हमले देखने को मिले, तो कुछ ऐसे भी नजारे देखने को मिले जो अमूमन राजनीतिक परिदृश्य में देखने को नहीं मिलते हैं. प्रधानमंत्री मोदी अपनी मुलाकातों के दौरान अकसर सामने वाले से गले मिलने के लिए जाने जाते हैं, मगर उनसे इस तरह कोई गले मिलेगा इसकी उम्मीद उन्होंने नहीं की थी. 

  • साथियों की परीक्षा लेने के लिए अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जाना चाहिए : लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    साथियों की परीक्षा लेने के लिए अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जाना चाहिए : लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान विपक्ष द्वारा लगाए गए आरोपों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाब देते हुए कहा,

  • PM मोदी को गले लगाने पर हरसिमरत कौर-किरण खेर ने राहुल पर बोला हमला, पूछा- आज कौन सा करके आए हैं?

    PM मोदी को गले लगाने पर हरसिमरत कौर-किरण खेर ने राहुल पर बोला हमला, पूछा- आज कौन सा करके आए हैं?

    संसद में मॉनसून सत्र में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में बोलते हुए राहुल गांधी ने पीएम मोदी को गले लगाया. राहुल ने भाषण खत्म करने से पहले पीएम मोदी गले लगाया और हाथ मिलाया. मगर अब इस पर अलग-अलग लोगों की प्रतिक्रिया आने लगी है. मोदी सरकार में मंत्री और शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाए जाने पर कहा, "यह संसद है, 'मुन्नाभाई' का 'पप्पी-झप्पी एरिया' नहीं है...'

  • ...जब सदन में पीएम मोदी से गले मिल राहुल गांधी ने दी 'जादू की झप्पी', देखें VIDEO

    ...जब सदन में पीएम मोदी से गले मिल राहुल गांधी ने दी 'जादू की झप्पी', देखें VIDEO

    लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में बोलते हुए राहुल गांधी ने एक ऐसा नजारा दिखाया, जिसे देखने वाले हैरान रह गये. राहुल गांधी अपने संबोधन के बाद पीएम मोदी से गले मिले और उनसे हाथ मिलाया. इस दौरान राहुल ने कहा कि आपके अंदर मेरे लिए गुस्सा हूं, आप मुझे गाली दे सकते हैं, आप मुझे पप्पू कह सकते हो, मगर मैं कभी घृणा नहीं करूगां. मैं आपके भीतर प्यार भर दूंगा. 

  • बीजेपी सासंद राकेश सिंह का हमला: कांग्रेस ने 'स्कैम की राजनीति' की, हमने ने 'स्कीम' की, 12 बातें

    बीजेपी सासंद राकेश सिंह का हमला: कांग्रेस ने 'स्कैम की राजनीति' की, हमने ने 'स्कीम' की, 12 बातें

    संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार और विपक्ष में बहस जारी है. लोकसभा में चर्चा होने के बाद शाम में वोटिंग होगी. मगर उससे पहले एक दूसरे के खिलाफ सदन में जुबानी जंग जारी है. अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी सरकार की ओरर से बोलते हुए बीजेपी सांसद राकेश सिंह ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ स्कैम्स की राजनीति की और सिर्फ परिवार की राजनीति की, मगर मोदी सरकार ने स्कीम्स की राजनीति की है. उन्होंने कई मुद्दों पर कांग्रेस पर बारी-बारी से हमला किया. तो चलिए जानते हैं राकेश सिन्हा के सदन में दिये गये भाषण के महत्वपूर्ण बातों को....

  • ... जब 15 साल पहले अटल सरकार के खिलाफ लाया गया था अविश्वास प्रस्ताव

    ... जब 15 साल पहले अटल सरकार के खिलाफ लाया गया था अविश्वास प्रस्ताव

    मोदी सरकार आज विपक्ष के द्वारा लाए गये अविश्वास प्रस्ताव का सामना कर रही है. संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर बहस हो रही है. यह बीते 15 सालों में ऐसा पहली बार है, जब संसद में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया हो. इससे पहले साल 2003 में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस नीत विपक्ष ने अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था और उस पर वोटिंग भी हुई थी. अगर आज विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव फेल होता है, तो मोदी सरकार भी अटल सरकार की तरह ही सरकार बचाने में कामयाब हो जाएगी. हालांकि, मोदी सरकार के पास जितनी संख्या है, उससे सरकार के ऊपर किसी तरह का खतरा नहीं है. 

  • मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर 'कभी हां, कभी ना' के बाद शिवसेना ने लिया यह 'अनोखा' फैसला

    मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर 'कभी हां, कभी ना' के बाद शिवसेना ने लिया यह 'अनोखा' फैसला

    संसद के मॉनसून सत्र में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर कभी हां, कभी ना जैसा रुख अपनाने वाली शिवसेना ने सत्र शुरू होने से महज कुछ समय पहले ही एक अनोखा फैसला लेकर सबको चौंका दिया. शिवसेना ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक के बाद यह स्पष्ट कर दिया कि वह अविश्वास प्रस्ताव पर होने वाली वोटिंग में हिस्सा नहीं लेगी.

  • PM मोदी को चुनौती देने के बाद पहली बार संसद में बोलेंगे राहुल गांधी, क्या सच में आएगा भूकंप?

    PM मोदी को चुनौती देने के बाद पहली बार संसद में बोलेंगे राहुल गांधी, क्या सच में आएगा भूकंप?

    संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बहस को लेकर अब सब कुछ तय हो गया है. लोकसभा स्पीकर की ओर से सभी पार्टियों को उनकी संख्या के आधार पर समय बांट दिये गये हैं. वहीं, बीजेपी ने भी अपनी ओर से लोकसभा में पार्टी की ओर से बोलने वाले वक्ताओं की लिस्ट जारी कर दी है. मगर आज लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान सबकी नजरें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण पर होगी. क्योंकि जब से उन्होंने मोदी सरकार से संसद में 15 मिनट बोलने का समय मांगा है, तब से यह पहली बार होगा जब राहुल गांधी लोकसभा में बोलेंगे. यानी पीएम मोदी को चुनौती देने के बाद यह पहला मौका होगा, जब राहुल गांधी संसद में बोलेंगे. राहुल गांधी का लोकसभा में संबोधन इसलिए भी अहम है क्योंकि उन्होंने सार्वजनिक मंचों से बार-बार कहा था कि जब वह संसद में 15 मिनट बोलेंगे तो भूकंप आ जाएगा. 

  • मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में लाया गया पहला अविश्वास प्रस्ताव गिरा

    मोदी सरकार के खिलाफ चार साल में लाया गया पहला अविश्वास प्रस्ताव गिरा

    मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के पहला अविश्वास प्रस्ताव (No-confidence motion) गिर गया है. अविश्वास प्रस्ताव पर आज लगभग 12 घंटे की चर्चा के बाद हुए मत-विभाजन में 451 सदस्यों ने हिस्सा लिया जिसमें अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 126 वोट पड़े जबकि विरोध में 325 मत पड़े.

  • अविश्वास प्रस्ताव पर बहस से पहले बोले PM मोदी : लोकतंत्र के लिए आज का दिन अहम, भारत हमें करीब से देख रहा है

    अविश्वास प्रस्ताव पर बहस से पहले बोले PM मोदी : लोकतंत्र के लिए आज का दिन अहम, भारत हमें करीब से देख रहा है

    संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन काफी अहम है. आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर बहस होगी. पूरे देश की निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि आज लोकसभा में क्या होगा और कांग्रेस और सरकार को जो समय दिये गये हैं, उनमें किस तरह की बातों को उठाया जाएगा. हालांकि, अविश्वास प्रस्ताव पर बहस से पहले पीएम मोदी ने रचनात्मक और व्यवधान मुक्त बहस की उम्मीद जताई है. 

  • मनोहर पर्रिकर दो दिन के लिए गोवा के मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं तो बनें : कांग्रेस

    मनोहर पर्रिकर दो दिन के लिए गोवा के मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं तो बनें : कांग्रेस

    सुप्रीम कोर्ट ने 16 मार्च को गोवा में विश्वास मत साबित कराने का आदेश दिया है. मनोहर पर्रिकर को सरकार बनाने के लिए गवर्नर के न्यौते के खिलाफ कांग्रेस की याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को यह निर्देश जारी किया. इस पर कांग्रेस के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट ने विश्वास मत हासिल करने के लिए गवर्नर द्वारा दिए गए 15 दिन को घटाकर सिर्फ दो दिन कर दिया...अगर पर्रिकर दो दिन के लिए मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं तो बनें."

  • कांग्रेस ने आप सरकार को समर्थन के प्रति किया आश्वस्त

    कांग्रेस ने आप सरकार को समर्थन के प्रति किया आश्वस्त

    सारी अटकलों पर विराम लगाते हुए कांग्रेस ने गुरुवार को आप को आश्वस्त किया कि जनहित में दिल्ली में नई सरकार को वह समर्थन देगी।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com