NDTV Khabar

Muslims


'Muslims' - 853 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • नाबालिग मुस्लिम लड़की की शादी का मामला : कौन सा इस्लामिक कानून कब, कहां और कैसे लागू होगा, सुप्रीम कोर्ट में हो सकता है साफ

    नाबालिग मुस्लिम लड़की की शादी का मामला :  कौन सा इस्लामिक कानून कब, कहां और कैसे लागू होगा, सुप्रीम कोर्ट में हो सकता है साफ

    नाबालिग मुस्लिम लड़की का अपनी मर्जी से विवाह के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के गृह सचिव को तलब किया है.  सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी भरे लहजे में कहा है कि सरकार को ऐसे मामले में फर्क नहीं पड़ता है इसलिए गृह सचिव 23 सितंबर को हाजिर हों. दरअसल एक मुस्लिम नाबालिग लड़की ने अपनी मर्जी से विवाह किया था जिसे हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया और लड़की को नारी निकेतन भेज दिया. लड़की ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा है कि रजोस्वला ( प्यूबर्टी) होने के बाद मुस्लिम लड़की को शादी का अधिकार मिल जाता है.

  • अयोध्या केस: सुप्रीम कोर्ट की इस बात पर तेज आवाज में बोले मुस्लिम पक्षकार- यह सिर्फ माई लॉर्ड्स का अनुमान है

    अयोध्या केस: सुप्रीम कोर्ट की इस बात पर तेज आवाज में बोले मुस्लिम पक्षकार- यह सिर्फ माई लॉर्ड्स का अनुमान है

    प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ मुस्लिम पक्षकारों की उन दलीलों का गहनता से पड़ताल कर रही थी कि हिंदू उपासकों की कभी भी मध्य गुंबद तक पहुंच नहीं थी और वे रेलिंग पर पूजा करते थे.

  • CJI रंजन गोगोई को उम्‍मीद- 17 नवंबर तक तय हो जाएगा अयोध्‍या में राम मंदिर बनेगा या नहीं

    CJI रंजन गोगोई को उम्‍मीद- 17 नवंबर तक तय हो जाएगा अयोध्‍या में राम मंदिर बनेगा या नहीं

    इस केस की सुनवाई 18 अक्टूबर तक पूरी होने की उम्मीद भी जताई. 27 सितंबर तक मुस्लिम पक्षकार अपनी बहस पूरी कर लेंगे. मुस्लिम पक्षकारों की तरफ से राजीव धवन ने कहा, ''अगले हफ़्ते तक हम अपनी बहस पूरी कर लेंगे.''

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- ईश्वर निराकार हो सकता है लेकिन देवता का एक रूप होना चाहिए

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- ईश्वर निराकार हो सकता है लेकिन देवता का एक रूप होना चाहिए

    अयोध्या मामले में 24 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने बहस की शुरुआत की. राजीव धवन ने संविधान पीठ के समक्ष फिर एक मुद्दा उठाया. राजीव धवन ने कहा कि सोशल मीडिया में एक व्यक्ति ये कह रहे हैं कि उन्होंने एक पत्र लिखा है CJI को, जिसमें उन्हींने कहा है कि कोर्ट को ये मामला नही सुनना चहिए. CJI ने कहा कि हमें इस मामले में कोई जानकारी नहीं. इसके बाद मुख्य मामले की सुनवाई शुरू हुई.

  • कर्नाटक के मंत्री बोले- देशभक्त मुसलमान BJP को देंगे वोट और पाकिस्तान समर्थक राष्ट्रद्रोही...

    कर्नाटक के मंत्री बोले- देशभक्त मुसलमान BJP को देंगे वोट और पाकिस्तान समर्थक राष्ट्रद्रोही...

    ईश्वरप्पा ने कहा, 'अखंड भारत हर किसी की तमन्ना है. ऐसा इसलिये नहीं हो पा रहा है क्योंकि उन्हें (राजनीतिक नेताओं का एक वर्ग को) डर है कि उन्हें मुसलमानों का वोट नहीं मिल पाएगा. भाजपा के सत्ता में आने से पहले मैं कांग्रेस के कुछ विधायकों से मिला जो भाजपा में शामिल होना चाहते थे, लेकिन उनका दावा था कि उनके पास उनकी विधानसभाओं में 50 हजार से ज्यादा मुस्लिम वोट हैं और अगर वे उन्हें खो देंगे तो उन्हें हार का सामना करना पड़ सकता है.'

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- चीन मानसरोवर जाने से रोक दे तो क्या पूजा का अधिकार होगा?

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- चीन मानसरोवर जाने से रोक दे तो क्या पूजा का अधिकार होगा?

    अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद (Ayodhya Case) मामले में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ में शुक्रवार को 23वें दिन की सुनवाई हुई. कोर्ट में मुस्लिम पक्षकारों ने कहा कि जन्मस्थान के लिए अदालत में याचिका दाखिल नहीं हो सकती. जन्मस्थान कोई कानूनी व्यक्ति नहीं है. नदियों, पहाड़ों, कुओं के लिए प्रार्थना की जाती है और यह एक वैदिक अभ्यास है. अगर कल को चीन मानसरोवर में जाने से मना कर देता है तो क्या कोई पूजा के अधिकार का दावा कर सकता है? मुस्लिम पक्ष की तरफ से सबसे पहले वरिष्ठ वकील जफरयाब जिलानी ने बहस की शुरुआत की. जिलानी ने कहा कि 1885 में निर्मोही अखाड़े ने जब कोर्ट में याचिका दायर की थी तो उन्होंने अपनी याचिका में विवादित जमीन की पश्चिमी सीमा पर मस्जिद होने की बात कही थी. यह हिस्सा अब विवादित जमीन के भीतरी आंगन के नाम से जाना जाता है.

  • छात्रों की चेतावनी, मुस्लिम लड़कियां बुर्का पहनेंगी तो हम भगवा पहनकर कॉलेज आएंगे

    छात्रों की चेतावनी, मुस्लिम लड़कियां बुर्का पहनेंगी तो हम भगवा पहनकर कॉलेज आएंगे

    अलीगढ़ के डीएस डिग्री कॉलेज में आज दक्षिणपंथी छात्रों ने प्रदर्शन कर कॉलेज में बुर्का बैन करने की मांग की. और यह वार्निंग भी दी कि अगर बुर्का बैन नहीं हुआ तो सभी हिन्दू छात्र भगवा वस्त्र धारण करके कॉलेज आएंगे. इन छात्रों का आरोप है कि लड़कियां बुर्का पहनकर इस्लाम का प्रचार कर रही हैं और अलगाववाद पैदा कर रही हैं. चंद रोज़ पहले ही फ़िरोज़ाबाद के एसआरके डिग्री कॉलेज के वीडियो सामने आए थे जिनमें कॉलेज के प्रिंसिपल बुर्कापोश छात्राओं को छड़ी लेकर दौड़ते और दुत्कारते हुए कॉलेज से भगाते नज़र आई हैं.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा-यूपी के मंत्री कह रहे अयोध्या हिंदुओं की, सुप्रीम कोर्ट भी उनका; CJI ने की निंदा

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा-यूपी के मंत्री कह रहे अयोध्या हिंदुओं की, सुप्रीम कोर्ट भी उनका; CJI ने की निंदा

    अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले (Ayodhya Case) में 22 वें दिन मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने पक्ष रखा. राजीव धवन ने मुख्य मामले की सुनवाई से पहले अपनी कानूनी टीम के क्लर्क को धमकी दिए जाने की जानकारी कोर्ट को दी और कहा कि ऐसे गैर-अनुकूल माहौल में बहस करना मुश्किल हो गया है. राजीव धवन ने कोर्ट को बताया कि यूपी में एक मंत्री ने कहा है कि अयोध्या हिंदुओं की है, मंदिर उनका है और सुप्रीम कोर्ट भी उनका है. उन्होंने कहा कि 'मैं अवमानना के बाद अवमानना दायर नहीं कर सकता.' उन्होंने पहले ही 88 साल के व्यक्ति के खिलाफ अवमानना दायर की है.

  • वरिष्ठ आरएसएस नेता ने पूछा- देश में मुसलमान 15-16 करोड़, फिर भी क्यों डरे हुए हैं?

    वरिष्ठ आरएसएस नेता ने पूछा- देश में मुसलमान 15-16 करोड़, फिर भी क्यों डरे हुए हैं?

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सह सरकार्यवाह कृष्ण गोपाल ने आज पूछा कि मुसलमान क्यों भय में हैं, क्यों डरे हुए हैं? उन्होंने कहा कि मुसलमानों की संख्या 15-16 करोड़ होने पर भी वे क्यों डरे हुए हैं? कृष्णगोपाल दारा शिकोह पर आयोजित एक सेमिनार में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि 40-45 लाख की संख्या वाले जैनियों ने तो कभी नहीं कहा कि वे डरे हुए हैं. 50 हजार की संख्या वाले पारसियों ने कभी नहीं कहा कि वे भयभीत हैं. 80-90 लाख बौद्धों ने कभी नहीं कहा कि वे डरे हुए है. 5000 की संख्या वाले यहूदी भी नहीं डरते. लेकिन जिन्होंने 600 साल तक हुकूमत की, वे क्यों भयभीत हैं?

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष का सवाल- क्या रामलला विराजमान कह सकते हैं कि जमीन पर मालिकाना हक उनका?

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष का सवाल- क्या रामलला विराजमान कह सकते हैं कि जमीन पर मालिकाना हक उनका?

    अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में 21 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने पक्ष रखा. राजीव धवन ने कहा कि संविधान पीठ को दो मुख्य बिन्दुओं पर ही विचार करना है. पहला विवादित स्थल पर मालिकाना हक किसका है और दूसरा क्या गलत परम्परा को जारी रखा जा सकता है. राजीव धवन ने सन 1962 में दिए गए सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले का हवाला देते हुए हाईकोर्ट के फैसले पर सवाल उठाया और कहा कि जो गलती हुई उसे जारी नहीं रखा जा सकता, यही कानून के तहत होना चाहिए.

  • हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे की अनूठी मिसाल: BJP विधायक की शिकायत पर मजार तोड़ने पहुंचे थे अधिकारी, पर...

    हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे की अनूठी मिसाल: BJP विधायक की शिकायत पर मजार तोड़ने पहुंचे थे अधिकारी, पर...

    डीएफओ ने बताया कि निरीक्षण में पाया गया कि गांव के सभी वर्ग के लोगों ने चंदा जुटाकर दो या तीन साल पहले वन विभाग की जमीन पर मजार की दीवार और गुम्बद का निर्माण करवाया है, जिसके तोड़ने का विरोध हिन्दू ज्यादा कर रहे हैं. बकौल डीएफओ, मजार हटाने से गांव में कायम सामाजिक सौहार्द्र के बिगड़ने का खतरा है और मुस्लिम कम, हिन्दू ज्यादा विरोध करेंगे.

  • बिहार का एक गांव, जहां नहीं है एक भी मुस्लिम, पर मस्जिद में रोज होती है अजान और पांच वक्त की नमाज

    बिहार का एक गांव, जहां नहीं है एक भी मुस्लिम, पर मस्जिद में रोज होती है अजान और पांच वक्त की नमाज

    नालंदा जिले के बेन प्रखंड के माड़ी गांव में सिर्फ हिन्दू समुदाय के लोग रहते हैं. लेकिन यहां एक मस्जिद भी है. और यह मस्जिद मुसलमानों की अनुपस्थिति में उपेक्षित नहीं है, बल्कि हिंदू समुदाय इसकी बाकायदा देख-रेख करता है, यहां पांचों वक्त नमाज अदा करने की व्यवस्था करता है. मस्जिद का रख-रखाव, रंगाई-पुताई का जिम्मा भी हिंदुओं ने उठा रखी है.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- रामलला के अंतरंग सखा को सिर्फ पूजा का अधिकार, जमीन पर दावा नहीं

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- रामलला के अंतरंग सखा को सिर्फ पूजा का अधिकार, जमीन पर दावा नहीं

    Ayodhya Case : अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 20 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने बहस की शुरुआत की. राजीव धवन ने कहा कि निर्मोही अखाड़ा 1734 से अस्तित्व का दावा कर रहा है. मैं कह सकता हूं कि निर्मोही अखाड़ा 1885 में बाहरी आंगन में था और वह वहां रहा है. धवन ने कहा कि राम चबूतरा बाहरी आंगन में है जिसे राम जन्म स्थल के रूप में जाना जाता है और मस्जिद को विवादित स्थल माना जाता है.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- जिस ढांचे को तोड़ा गया, वहां पहले मन्दिर होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- जिस ढांचे को तोड़ा गया, वहां पहले मन्दिर होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं

    अयोध्या (Ayodhya) के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में 19 वें दिन की सुनवाई हुई. कोर्ट में मुस्लिम पक्षकारों की ओर से कहा गया कि बाहरी अहाता तो शुरू से निर्मोही अखाड़े के कब्जे में रहा है. इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के आधार पर दलीलें दी जा रही हैं. झगड़ा तो आंतरिक अहाते को लेकर है जिस पर जबरन कब्ज़ा किया गया. जिस ढांचे को तोड़ा गया, वहां पहले मन्दिर होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले. एडवर्स पोजिशन को लेकर भी विवाद खड़ा किया गया है. हाईकोर्ट के फैसले के हवाले से वकील राजीव धवन बोले- बीच वाले गुम्बद के नीचे जबरन रामलला की मूर्ति रखकर विवाद खड़ा किया गया. क्योंकि उन्होंने इस बारे में एक कहानी भी गढ़ ली.

  • अयोध्या मामला : मुस्लिम पक्ष ने कहा- भूमि विवाद का निपटारा कानून से हो, पुराण और वेद के जरिए नहीं

    अयोध्या मामला : मुस्लिम पक्ष ने कहा- भूमि विवाद का निपटारा कानून से हो, पुराण और वेद के जरिए नहीं

    अयोध्या के राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले में सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम पक्षकार की ओर से वकील राजीव धवन ने कहा मेरे मित्र वैद्यनाथन ने अयोध्या में लोगों द्वारा परिक्रमा करने संबंधी एक दलील दी, लेकिन कोर्ट को मैं बताना चाहता हूं कि पूजा के लिए की जाने वाली भगवान की परिक्रमा सबूत नहीं हो सकती. यहां इसे लेकर इतनी दलीलें दी गईं लेकिन इन्हें सुनने के बाद भी मैं यह नहीं दिखा सकता कि परिक्रमा कहां है. इसलिए यह सबूत नहीं है. हम सिर्फ इसलिए इस पक्ष को मजबूती से देख रहे हैं क्योंकि वहां की शिला पर एक मोर या कमल था. इसका मतलब यह नहीं है कि मस्जिद से पहले एक विशाल संरचना थी.

  • मैरिज सर्टिफिकेट से हटेगा 'वर्जिन', कुंवारी लड़कियों के लिए लिखा जाएगा अब ये शब्द

    मैरिज सर्टिफिकेट से हटेगा 'वर्जिन', कुंवारी लड़कियों के लिए लिखा जाएगा अब ये शब्द

    दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों में मौजूद मुस्लिस मैरिज लॉ सर्टिफिकेट में दुल्हन को खुद की पहचान बताने के लिए तीन ऑप्शन दिए जाते हैं. इन तीन ऑप्शन्स में वर्जिन (Virgin), विडो (Widow) या डायवॉर्स (Divorce) शामिल हैं. यानी दुल्हन को शादी के सर्टिफिकेट पर यह बताना पड़ता है कि वह वर्जिन है या नहीं.

  • शिनजियांग डायरी 2: उइघर मुस्लिम कितने मुक्त

    शिनजियांग डायरी 2: उइघर मुस्लिम कितने मुक्त

    इससे उन्हें डीरैडिकलाज़ करने में आसानी होती है और वो कोई ना कोई काम सीख कर सरकार की दी आर्थिक मदद के ज़रिए एक सामान्य चीनी नागरिक के तौर पर जीवनयापन कर सकते हैं. सुनने में बुरा नहीं लगता, जब तक कि आप जाकर खुद इन सेंटरों में रह रहे लोगों से बात नहीं करते. बात करने के बाद अधिकारियों की बात सिर्फ दलील लगने लगती है. कम से कम मुझे यही लगा.

  • शिनजियांग डायरी 1 : उइघर मुस्लिम कितने मुक्त

    शिनजियांग डायरी 1 : उइघर मुस्लिम कितने मुक्त

    मैं 16 अगस्त की शाम चीन के उइघर मुस्लिमों के सबसे बड़ी आबादी वाले प्रदेश उइघर ऑटोनोमस प्रोवंस की राजधानी उरमुची शहर पहुंची. यह खुद चीन की सरकार के आमंत्रण पर था. मकसद था पश्चिमी मीडिया में उइघरों के बारे में चीन की दमनकारी नीतियों की 'सच्चाई' दिखाना. मैं भी लगातार इस तरह की खबरें देख-सुन और पढ़ रही थी. मन में कई सवाल थे और खुद पड़ताल करने की इच्छा.

Advertisement