NDTV Khabar

Namaz


'Namaz' - 39 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • सौहार्द और सहिष्णुता की मिसाल हैं गोंडा के वजीरगंज के ये मंदिर-मस्जिद

    सौहार्द और सहिष्णुता की मिसाल हैं गोंडा के वजीरगंज के ये मंदिर-मस्जिद

    मंदिर, मस्जिद को लेकर अयोध्या में जहां कई दशकों तक विवाद चला, वहीं वहां से महज 50 किलोमीटर दूर गोंडा जिले का वजीरगंज समाजिक सौहार्द और सहिष्णुता की मिसाल पेश कर रहा है. यहां हिन्दू-मुस्लिम एक दूसरे का सम्मान कर अपनी सहिष्णुता का परिचय देते हैं.

  • यूपी की सड़कों पर नमाज पढ़ने की मनाही, आरती करने पर भी लगी रोक

    यूपी की सड़कों पर नमाज पढ़ने की मनाही, आरती करने पर भी लगी रोक

    सिंह के अनुसार सार्वजनिक जगहों पर ऐसा कुछ नहीं करने की अनुमति दी जा सकती है जिससे यातायात और सामान्य जीवन बाधित हो. डीजीपी सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुये कहा कि धार्मिक स्थानों पर जब भी नमाज या आरती की व्यवस्था हो तो उसमें कोई भी व्यक्ति सड़कों पर नहीं आना चाहिये ताकि यातायात बाधित न हो. उन्होंने कहा कि यह निर्देश प्रदेश के सभी जनपदों में लागू होगा. 

  • सड़क पर नहीं अब छतों पर अदा की जाएगी नमाज, अलीगढ़ के मुफ्ती ने दिए आदेश

    सड़क पर नहीं अब छतों पर अदा की जाएगी नमाज, अलीगढ़ के मुफ्ती ने दिए आदेश

    मुफ्ती ने पत्रकारों से कहा कि हालांकि सड़कों पर नमाज अदा करने का कोई प्रावधान नहीं है, लेकिन कभी-कभी लोग मस्जिद के अंदर जगह की कमी के कारण ऐसा करते हैं.

  • सड़क पर नमाज अदा करने से परहेज करें- मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

    सड़क पर नमाज अदा करने से परहेज करें- मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

    मौलाना वली रहमानी ने हालांकि हनुमान चालीसा पाठ पर कहा कि भगवा चोला पहनकर, अराजकता फैलाना, मुस्लिम समाज पर धौंस मारना, कुछ लोगों की आदत बन गयी है. दूसरी ओर, मुसलमानों का मार खाने के बाद बिलबिला कर रह जाने का मिजाज बन गया है. खालिद रशीद फरंगी महली ने सड़क पर नमाज पढ़े जाने के मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखी. उन्‍होंने कहा ‘नमाज अल्‍लाह की इबादत है. किसी को तकलीफ देकर इबादत करना ठीक नहीं है.’

  • हिंदू युवा वाहिनी ने 'हनुमान चालीसा' पढ़कर किया सड़क पर 'नमाज' पढ़ने का विरोध, कहा- अगर यह बंद नहीं हुआ तो...

    हिंदू युवा वाहिनी ने 'हनुमान चालीसा' पढ़कर किया सड़क पर 'नमाज' पढ़ने का विरोध, कहा- अगर यह बंद नहीं हुआ तो...

    उत्तर प्रदेश के हाथरस में धार्मिक संगठन हिंदू युवा वाहिनी (एचवाईवी) के कार्यकर्ताओं ने सड़क पर नमाज पढ़ने का विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़क पर ही 'हनुमान चालीसा' का पाठ किया. रिपोर्ट के अनुसार, एचवाईवी कार्यकतार्ओं के एक समूह ने मंगलवार शाम को सिकंदराराऊ इलाके में एक हनुमान मंदिर के बाहर बैठकर एक घंटे तक लगातार 'हनुमान चालीसा' का पाठ किया.

  • कुरान में मर्द-औरत में फर्क नहीं, फिर महिलाओं को मस्जिद में नमाज की आजादी क्यों नहीं? याचिका दाखिल

    कुरान में मर्द-औरत में फर्क नहीं, फिर महिलाओं को मस्जिद में नमाज की आजादी क्यों नहीं? याचिका दाखिल

    मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश और सबके साथ नमाज अदा करने की आजादी के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है. सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को इस पर सुनवाई करेगा.

  • योगी आदित्यनाथ का दावा: पूजा में राहुल गांधी को बैठना भी नहीं आता, सोमनाथ मंदिर के पुजारी ने लगाई थी डांट

    योगी आदित्यनाथ का दावा: पूजा में राहुल गांधी को बैठना भी नहीं आता, सोमनाथ मंदिर के पुजारी ने लगाई थी डांट

    योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'नकल में भी अकल चाहिए. कांग्रेस के नई पीढ़ी के नेता केवल चुनाव के दौरान ही मंदिर जाते हैं.' कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन और पूर्वी उत्तर प्रदेश की पार्टी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को अयोध्या का दौरा करेंगी. बता दें, राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद केस इस चुनाव में भाजपा और आरएसएस के लिए अहम मुद्दा है. आदित्यनाथ ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, 'अगर चुनाव न हो तो उनके पास मंदिर जाने का समय नहीं है.'

  • नोएडा नमाज विवाद: पुलिस के विवादित नोटिस के बाद सामने आया वीडियो, मुस्लिमों से पूछा- यहां मस्जिद बनाओगे?

    नोएडा नमाज विवाद: पुलिस के विवादित नोटिस के बाद सामने आया वीडियो, मुस्लिमों से पूछा- यहां मस्जिद बनाओगे?

    इस वीडियो में दक्षिणपंथी संगठन का एक कार्यकर्ता पार्क में कुछ मुस्लिमों को धमकाता हुआ दिख रहा है. अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस वीडियो की वजह से ही पुलिस की ओर से यह नोटिस जारी किया गया है. वीडियो में देखा जा सकता है कि दक्षिणपंथी संगठन का एक युवक मुस्लिम नमाजियों से पूछा रहा है कि 'क्या वे बिहार के किशनपढ़ से यहां मस्जिद बनाने आए हैं.'

  • पार्कों में नमाज़ और उद्धत बहुसंख्यकवाद

    पार्कों में नमाज़ और उद्धत बहुसंख्यकवाद

    अगर आप वह वीडियो देखेंगे और सुनेंगे, तो हैरान रह जाएंगे. नोएडा सेक्टर 58 के पार्क में पांच-छह दाढ़ी-टोपी वाले लोग गोल घेरे में बैठकर कुछ पैसा जुटा रहे हैं, कुछ चटाइयां बिछी हुई हैं, एक कर्कश आवाज़ उनसे लगभग बदतमीज़ी से जवाब तलब कर रही है - कहां से आए हो, यहां क्यों आए हो, किससे पूछकर यहां बैठ गए, पुलिस से परमिशन ली है, क्या गड़बड़ करना चाहते हो...?

  • नोएडा नमाज विवाद: ओवैसी बोले- कांवड़ियों पर फूल बरसाती है यूपी पुलिस, पर सप्ताह में एक बार नमाज पढ़ने से सौहार्द बिगड़ जाता है

    नोएडा नमाज विवाद: ओवैसी बोले- कांवड़ियों पर फूल बरसाती है यूपी पुलिस, पर सप्ताह में एक बार नमाज पढ़ने से सौहार्द बिगड़ जाता है

    नोएडा पुलिस (Noida Police) ने कंपनियों को एक विवादित नोटिस भेजा है. जिसमें कंपनियों से कहा गया है कि वे यह सुनिश्चित करें कि उनके मुस्लिम कर्मचारी पार्क में नमाज न पढ़ें. नोएडा सेक्टर-58 के थाना प्रभारी की ओर से यह नोटिस जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि कंपनी अपने कर्मचारियों को इस बारे में अवगत कराए कि पार्क में इकट्ठे होकर मुस्लिम कर्मचारी नमाज न पढ़ें.

  • नोएडा पुलिस का विवादित नोटिस: अगर पार्क में कर्मचारियों ने पढ़ी नमाज तो कंपनी होगी जिम्मेदार

    नोएडा पुलिस का विवादित नोटिस: अगर पार्क में कर्मचारियों ने पढ़ी नमाज तो कंपनी होगी जिम्मेदार

    नोटिस में कंपनियों से कहा गया है कि वे यह सुनिश्चित करें कि उनके मुस्लिम कर्मचारी पार्क में नमाज न पढ़ें. नोएडा सेक्टर-58 के थाना प्रभारी की ओर से यह नोटिस जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि कंपनी अपने कर्मचारियों को इस बारे में अवगत कराए कि पार्क में इकट्ठे होकर मुस्लिम कर्मचारी नमाज न पढ़ें.

  • अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का ताजा फैसला 2019 के मद्देनजर बेहद अहम

    अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का ताजा फैसला 2019 के मद्देनजर बेहद अहम

    दशकों से लटके राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद की सुप्रीम कोर्ट में जल्द सुनवाई का रास्ता साफ हो गया है. सुप्रीम कोर्ट में अब 29 अक्टूबर से इस मामले की सुनवाई शुरू हो जाएगी. आज एक महत्वपूर्ण फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मस्जिद में नमाज़ पढ़ना इस्लाम का अभिन्न अंग है या नहीं, इस सवाल को बड़ी पीठ को भेजने की जरूरत नहीं है.

  • बहुमत से अलग जस्टिस नजीर बोले- व्यापक परीक्षण के बिना लिया गया फैसला, धार्मिक आस्था को ध्यान में रखकर विचार की ज़रूरत

    बहुमत से अलग जस्टिस नजीर बोले- व्यापक परीक्षण के बिना लिया गया फैसला, धार्मिक आस्था को ध्यान में रखकर विचार की ज़रूरत

    सुप्रीम कोर्ट ने ‘मस्जिद इस्लाम का अभिन्न अंग है या नहीं’ के बारे में शीर्ष अदालत के 1994 के फैसले को फिर से विचार के लिए पांच सदस्यीय संविधान पीठ के पास भेजने से गुरुवार को इनकार कर दिया. सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच में से 2-1 की बहुमत से यह फैसला लिया गया कि इस मामले को बड़ी बेंच के पास नहीं भेजा जाएगा. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि यह मामला अयोध्या जमीन विवाद से अलग है. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर तीन जजों में से एक जस्टिस अब्दुल नजीर ने अन्य जजों की राय से अपनी असहमति जताई है. जस्टिस एस अब्दुल नजीर का कहना है कि बड़ी बेंच को भेजा जाना चाहिए था मामला.

  • सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- मस्जिद में नमाज का मामला बड़ी बेंच को नहीं, अयोध्या जमीन विवाद से अलग है यह मामला

    सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- मस्जिद में नमाज का मामला बड़ी बेंच को नहीं, अयोध्या जमीन विवाद से अलग है यह मामला

    राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद विवाद से जुड़े एक अहम मामले मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है, पर सुप्रीम कोर्ट का आज अहम फैसला आ गया. आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 1994 के संविघान पीठ के फैसले पर पुनर्विचार की जरूरत नहीं है और यह मामला अब बडी़ बेंच में नहीं भेजा जाएगा. बता दें कि पिछले फैसले में कहा गया था कि मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया कि मस्जिद में नमाज का मामला अयोध्या जमीन विवाद मामले से पूरी तरह अलग है.  दरअसल, 20 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला सुरक्षित रखा कि संविधान पीठ के 1994 के फैसले पर फिर विचार करने की जरूरत है या नहीं. सुप्रीम कोर्ट टाइटल सूट से पहले अब वो इस पहलू पर सुनवाई कर रहा था कि मस्जिद में नमाज पढना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं. कोर्ट ने ये कहा था पहले ये तय होगा कि संविधान पीठ के 1994 के उस फैसले पर फिर से विचार करने की जरूरत है या नहीं कि मस्जिद में नमाज पढना इस्लाम का इंट्रीगल पार्ट नहीं है. इसके बाद ही टाइटल सूट पर विचार होगा.

  • अयोध्या मामला: क्या मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है? सुप्रीम कोर्ट आज करेगा तय, 10 अहम बातें

    अयोध्या मामला: क्या मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है? सुप्रीम कोर्ट आज करेगा तय, 10 अहम बातें

    आज राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद से संबंधित एक मामले पर सुप्रीम कोर्ट आज गुरुवार को अहम फैसला सुनाएगा. राम जन्म भूमि - बाबरी मस्जिद मालिकाना हक विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के 1994 के फैसले पर बड़ी पीठ द्वारा पुनर्विचार करने की मांग करने वाली मुस्लिम समूह की याचिकाओं पर आज सुप्रीम कोर्ट के अपना फैसला सुनाने की संभावना है. सुप्रीम कोर्ट आज तय करेगा कि 1994 के संविधान पीठ के फैसले पर पुनर्विचार की जरूरत है या नहीं? दरअसल 1994 के फैसले में उस वक्त कहा था कि मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है.

  • राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला गुरुवार को

    राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला गुरुवार को

    राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को अहम फैसला सुनाएगा. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि 1994 के संविधान पीठ के फैसले पर पुनर्विचार की जरूरत है या नहीं. फैसले में कहा गया था कि मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है.

  • अयोध्या विवाद : मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट 28 को सुना सकता है फैसला

    अयोध्या विवाद : मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट 28 को सुना सकता है फैसला

    मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट इस पर 28 सितंबर को अपना फैसला सुना सकता है. कोर्ट की एडवांस लिस्ट के मुताबिक 28 सितंबर को फैसला सूचीबद्ध है. आपको बता दें कि यह मामला अयोध्या विवाद से जुड़ा है. 20 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला सुरक्षित रखा था कि संविधान पीठ के 1994 के फैसले पर फिर विचार करने की जरूरत है या नहीं.

  • गुरुद्वारे में शख्स ने अदा की नमाज, Facebook पर वायरल हो रहा है VIDEO

    गुरुद्वारे में शख्स ने अदा की नमाज, Facebook पर वायरल हो रहा है VIDEO

    एक शख्स गुरुद्वारे में नमाज अदा कर रहा है. देखा जा सकता है कि गुर्बानी का पाठ हो रहा था वो पीछे एक शख्स नमाज अदा कर रहा था.

Advertisement