NDTV Khabar

Ncrb


'Ncrb' - 21 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • इस वजह से लोग करते हैं भारत में सुसाइड, NCRB डाटा से हुआ खुलासा

    इस वजह से लोग करते हैं भारत में सुसाइड, NCRB डाटा से हुआ खुलासा

    भारतीयों के आत्महत्या करने की सबसे बड़ी वजहों में शादी से इतर पारिवारिक समस्याएं और बीमारी हैं. यहां शुक्रवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों से यह बात सामने आयी है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 2015 के मुकाबले 2016 में राष्ट्रीय स्तर पर खुदकुशी की दर में कमी आई है. वर्ष 2015 में प्रति एक लाख आबादी पर आत्महत्या की दर 10.6 थी जो 2016 में घटकर 10.3 प्रति एक लाख आबादी पर आ गई है. हालांकि, राष्ट्रीय दर 10.3 के मुकाबले 2016 में शहरों में खुदकुशी की दर 13.0 दर्ज की गई.

  • देश भर में अपहरण की घटनाएं बढ़ी, हत्या के मामलों में आई गिरावट: NCRB

    देश भर में अपहरण की घटनाएं बढ़ी, हत्या के मामलों में आई गिरावट: NCRB

    रिपोर्ट में कहा गया कि हत्या के अधिकतर मामले में ‘विवाद’ (7898) एक बड़ा कारण था. इसके बाद ‘निजी रंजिश’ या ‘दुश्मनी’ (4660) और ‘फायदे’ (2103) के लिए भी हत्याएं हुईं. वर्ष 2017 में अपहरण के मामलों में नौ प्रतिशत की बढोतरी दर्ज की गई. उससे पिछले साल 88008 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि 2017 में अपहरण के 95893 मामले दर्ज किए गए थे. 

  • देश में अपहरण की वारदातें बढ़ीं, हत्या के मामलों में कमी आई, एनसीआरबी ने जारी किए आंकड़े

    देश में अपहरण की वारदातें बढ़ीं, हत्या के मामलों में कमी आई, एनसीआरबी ने जारी किए आंकड़े

    राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के नए आंकड़े के मुताबिक 2017 में देश भर में संज्ञेय अपराध के 50 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए. इस तरह 2016 में 48 लाख दर्ज प्राथमिकी की तुलना में 2017 में 3.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई. करीब एक साल की देरी के बाद 2017 के लिए वार्षिक अपराध का आंकड़ा जारी किया गया है.

  • लिंचिंग के खिलाफ श्याम बेनेगल, अनुराग कश्यप, रामचंद्र गुहा समेत 49 हस्तियों ने PM को लिखा खत

    लिंचिंग के खिलाफ श्याम बेनेगल, अनुराग कश्यप, रामचंद्र गुहा समेत 49 हस्तियों ने PM को लिखा खत

    फिल्मकार श्याम बेनेगल, केतन मेहता, अनुराग कश्यप व मणिरत्नम, अभिनेत्री कोंकणा सेनशर्मा व अपर्णा सेन तथा इतिहासकार रामचंद्र गुहा सहित बहुत-सी जानी-मानी हस्तियों द्वारा हस्ताक्षरित पत्र में कहा गया है, "प्रिय प्रधानमंत्री... मुस्लिमों, दलितों तथा अन्य अल्पसंख्यकों की लिंचिंग तुरंत रोकी जानी चाहिए... हम NCRB (नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो) की रिपोर्टों से यह जानकर स्तब्ध हैं कि वर्ष 2016 में दलितों के प्रति अत्याचार की कम से कम 840 वारदात दर्ज हुईं, और इनमें दोषी करार दिए जाने में निश्चित रूप से इस दौरान कमी आई..."

  • आधार की बायोमेट्रिक जानकारी का इस्तेमाल आपराधिक जांच में नहीं किया जा सकता: UIDAI

    आधार की बायोमेट्रिक जानकारी का इस्तेमाल आपराधिक जांच में नहीं किया जा सकता: UIDAI

    भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने शुक्रवार को कहा कि आधार अधिनियम के तहत आधार की बायोमेट्रिक जानकारी (डेटा) का इस्तेमाल आपराधिक जांच में नहीं किया जा सकता है. प्राधिकरण का यह बयान ऐसे समय आया है जब एक दिन पहले राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने अपराध पकड़ने के लिए पुलिस को आधार की सूचनाओं की सीमित उपलब्धता की बातें की थी.

  • राजस्थान में नया कानून पास, 12 साल तक की लड़कियों से रेप करने पर सजा-ए-मौत

    राजस्थान में नया कानून पास, 12 साल तक की लड़कियों से रेप करने पर सजा-ए-मौत

    महिलाओं और बच्चियों से हो रही रेप की घटनाओं को देखते हुए राजस्थान सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. राजस्थान विधानसभा ने शुक्रवार को सर्वसम्मति से एक विधेयक पारित किया जिसके तहत 12 साल या उससे कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के अभियुक्तों को मृत्युदंड का प्रावधान है. दरअसल, राजस्थान विधानसभा में शुक्रवार को दण्ड विधियां (राजस्थान संशोधन) विधेयक, 2018 ध्वनिमत से पारित कर दिया गया. विधेयक को कानूनी अमलीजामा पहनाने के बाद राजस्थान मध्यप्रदेश के बाद दूसरा राज्य होगा जहां 12 साल या उससे कम उम्र की लड़कियों से दुष्कर्म के लिए प्राणदंड का प्रावधान होगा. 

  • मध्‍य प्रदेश में बलात्‍कारियों को फांसी की सजा देने वाले विधेयक को मिली मंजूरी

    मध्‍य प्रदेश में बलात्‍कारियों को फांसी की सजा देने वाले विधेयक को मिली मंजूरी

    मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र में 12 साल या उससे कम उम्र की लड़कियों से बलात्कार या किसी भी उम्र की महिला से गैंगरेप के दोषी को फांसी की सज़ा देने को मंजूरी दे दी है.

  • बलात्कार की संख्या के मामले में मध्यप्रदेश फिर से देश के सभी राज्यों में अव्वल

    बलात्कार की संख्या के मामले में मध्यप्रदेश फिर से देश के सभी राज्यों में अव्वल

    महिलाओं के साथ बलात्कार के मामले में 4,882 की संख्या के साथ मध्यप्रदेश एक दफा फिर से देश के सभी राज्यों में सबसे पहले स्थान पर दर्ज किया गया है. राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (नसीआरबी) के मुताबिक मध्यप्रदेश इस मामले में गत वर्ष भी देश में पहले स्थान पर ही था.

  • क्राइम कैपिटल : 2016 में अपराध के मामले में देश के प्रमुख 19 शहरों में टॉप पर रही दिल्ली

    क्राइम कैपिटल : 2016 में अपराध के मामले में देश के प्रमुख 19 शहरों में टॉप पर रही दिल्ली

    देश की राजधानी दिल्ली जरा भी सुरक्षित नहीं है. अपराध के मामले में दिल्ली टॉप पर है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक 2016 में दिल्ली में देश के 19 प्रमुख शहरों के मुकाबले सबसे अधिक अपराध के साथ बलात्कार के भी सर्वाधिक मामले दर्ज किये गए. राष्ट्रीय राजधानी हत्या, अपहरण, किशोरों की संलिप्तता वाले संघर्ष एवं आर्थिक अपराधों के मामले में भी पहले स्थान पर रहा.

  • नीतीश कुमार के लिए खुशखबरी, बिहार में अपराधों में आई कमी

    नीतीश कुमार के लिए खुशखबरी, बिहार में अपराधों में आई कमी

    नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आकड़ों में पूरे देश में बिहार 22 वें स्थान पर है. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के साल 2016 के आंकड़ों के अनुसार बिहार में अपराध में कमी आई है. वर्ष 2015 के आकड़ों के अनुसार बिहार में एक लाख 76 हजार 965 आपराधिक घटनाएं हुई थीं जबकि 2016 में एक लाख 64 हजार 173 आपराधिक घटनाएं दर्ज की गईं.

  • यह हैं देश के वह पांच शहर जहां होती हैं सबसे ज्यादा आपराधिक घटनाएं, लिस्ट में कई चौकाने वाले नाम

    यह हैं देश के वह पांच शहर जहां होती हैं सबसे ज्यादा आपराधिक घटनाएं, लिस्ट में कई चौकाने वाले नाम

    नेशनल क्राइम रिकॉर्ड के अनुसार देश में होने वाला हर चौथा अपराध दिल्ली में होता है. बीते साल भर में दिल्ली में दो लाख करीब कुल वारदातें सामने आई हैं.

  • यह हैं देश के पांच ऐसे शहर जहां होते हैं महिलाओं के साथ सबसे ज्यादा अपराध,लिस्ट में शामिल हैं कई बड़े शहर

    यह हैं देश के पांच ऐसे शहर जहां होते हैं महिलाओं के साथ सबसे ज्यादा अपराध,लिस्ट में शामिल हैं कई बड़े शहर

    नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरों (NCRB)के अनुसान छोटे और दूर-दराज के इलाकों में बसे शहरों की तुलना में बड़े और जाने-मानें शहरों में ऐसे अपराध का आंकड़ा ज्यादा है.

  • देश में होने वाले चोरी- डकैती जैसे कुल अपराधों में 40% होते हैं मुंबई समेत महाराष्ट्र में- NCRB

    देश में होने वाले चोरी- डकैती जैसे कुल अपराधों में 40% होते हैं मुंबई समेत महाराष्ट्र में- NCRB

    घर में चोरी, सड़क पर छीना-झपटी, डकैती जैसे अपराध में मुंबई और महाराष्ट्र का हिस्सा पूरे देश में 40 फीसदी से भी ज्यादा है. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े कहते हैं कि पिछले तीन सालों में अकेले महाराष्ट्र में इस तरह के अपराधों में 11,794 करोड़ रुपये की लूट हुई है.

  • देश में महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित मध्य प्रदेश, रेप के मामलों में रहा अव्वल : NCRB

    देश में महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित मध्य प्रदेश, रेप के मामलों में रहा अव्वल : NCRB

    बालिका हितैषी योजनाओं के कारण देश और दुनिया में पहचान बना चुके मध्य प्रदेश में बालिकाएं और महिलाएं देश में सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं. इस बात का खुलासा नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की वर्ष 2015 की ताजा रिपोर्ट करती है.

  • एनसीआरबी के आंकड़े : देश में अपराधों में दिल्ली सबसे आगे, मुंबई दूसरे नंबर पर

    एनसीआरबी के आंकड़े : देश में अपराधों में दिल्ली सबसे आगे, मुंबई दूसरे नंबर पर

    देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में क्राइम का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है. बुजुर्ग, महिलाओं और बच्चों को अपराधी निशाना बना रहे हैं. इसके अलावा सायबर क्राइम से जुड़े अपराध 50 फीसदी बढ़े हैं. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े इस बात की तस्दीक कर रहे हैं. अपराधों में राजधानी दिल्ली जहां पहले नंबर पर है वहीं दूसरे नंबर पर मुंबई है.

  • महिलाओं के विरुद्ध अपराध... जारी है कहानी...

    महिलाओं के विरुद्ध अपराध... जारी है कहानी...

    लंबित 10.80 लाख मामलों में महिलाओं को न्याय कब तक मिलेगा? और क्या समाज अपनी कोई ऐसी न्याय व्यवस्था बनाएगा, जिसमें महिलाएं सुरक्षित और सम्मानित हों? महिलाओं की अस्मिता के मुद्दे पर अब राजनीतिक व्यवस्था सक्रिय है, किन्तु फिर भी चरित्र में बदलाव का नहीं आना चिंता का विषय है.

  • आसपास पर हो रहे अत्याचार पर यह चुप्पी कैसी, कब तक?

    आसपास पर हो रहे अत्याचार पर यह चुप्पी कैसी, कब तक?

    NCRB आंकड़े के अनुसार 2014 में करीब 47,000 औरतें हिंसा की शिकार हुई हैं। रोज़ दलितों के साथ ऐसी घटनाएं होती रहती हैं। समाज के सामने ऐसी घटनाएं होती रहती हैं लेकिन सब चुप रहते हैं। यह चुप्पी कब तक?

  • दिल्ली : तेजाब हमले के शिकार को 12 लाख का मुआवज़ा देने का फैसला

    दिल्ली : तेजाब हमले के शिकार को 12 लाख का मुआवज़ा देने का फैसला

    चचेरे भाई के किए तेजाब हमले से पीडि़त युवक को दिल्ली की एक अदालत ने 12 लाख रुपए के मुआवज़ा दिए जाने का आदेश दिया है।