NDTV Khabar

Ndtv News in Hindi


'Ndtv' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • आज दोपहर 2 बजे रवीश कुमार को मनीला में रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार से किया जाएगा सम्मानित

    आज दोपहर 2 बजे रवीश कुमार को मनीला में रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार से किया जाएगा सम्मानित

    आज दोपहर 2 बजे NDTV के मैनेजिंग एडिटर रवीश कुमार को मनीला में रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. रवीश कुमार को यह सम्मान हिन्दी टीवी पत्रकारिता में उनके योगदान के लिए मिला है.

  • हमें अपनी प्राथमिकताओं में 'शिक्षा' को शामिल करना होगा : NDTV से बोले मनीष सिसोदिया

    हमें अपनी प्राथमिकताओं में 'शिक्षा' को शामिल करना होगा : NDTV से बोले मनीष सिसोदिया

    अरविंद केजरीवाल सरकार में शिक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के कंधों पर है. उन्होंने शिक्षा के सिस्टम में किए गए बदलावों पर एक किताब लिखी है जिसका शीर्षक है 'शिक्षा'. इस किताब और दिल्ली के स्कूलों को लेकर मनीष सिसोदिया ने एनडीटीवी से खास बातचीत की.

  • रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार : रवीश कुमार ने कहा- पीएम मोदी का बधाई न देना भी बधाई है, कोई बात नहीं

    रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार : रवीश कुमार ने कहा- पीएम मोदी का बधाई न देना भी बधाई है, कोई बात नहीं

    रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार ग्रहण करने के लिए मनीला पहुंचे NDTV के रवीश कुमार से जब एक सवाल पूछा गया कि उनको पीएम मोदी ने अभी तक बधाई नहीं दी है तो इस पर उन्होंने कहा, कोई बात नहीं पीएम मोदी ने बधाई नहीं दी. उनका बधाई नहीं देना भी बधाई है.' आपको बता दें कि रवीश कुमार को 9 सितंबर को रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. इस सम्मान को पाने वाले रवीश कुमार हिंदी मीडिया के पहले पत्रकार हैं.

  • नागरिकों को दो भागों में बांट दिया गया है, राष्ट्रवादी और राष्ट्रद्रोही : रवीश कुमार

    नागरिकों को दो भागों में बांट दिया गया है, राष्ट्रवादी और राष्ट्रद्रोही : रवीश कुमार

    रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार ग्रहण करने के लिए मनीला पहुंचे NDTV के रवीश कुमार ने कहा कि नागरिकों को दो समूहों में बांट दिया गया है एक राष्ट्रवादी और दूसरी ओर राष्ट्रद्रोही. अपने भाषण में और बाद में सवाल-जवाब वाले सेशन में रवीश कुमार कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि  यह समय नागरिक होने के इम्तिहान का है.

  • अब न्यूज चैनलों के पास सिर्फ जिम जाने वाले और चॉकलेटी चेहरे वाले एंकर हैं, रिपोर्टर नहीं : रवीश कुमार

    अब न्यूज चैनलों के पास सिर्फ जिम जाने वाले और चॉकलेटी चेहरे वाले एंकर हैं, रिपोर्टर नहीं : रवीश कुमार

    रेमॉन मैगसेसे के मंच से स्पीच देने के बाद सवाल-जवाब सेशन में रवीश कुमार ने मौजूदा पत्रकारिता के स्वरूप पर भी चिंता जताई उन्होंने कहा कि आज न्यूज चैनलों से रिपोर्टर खत्म किए गए जा चुके हैं और अब कोई भी इन्विस्टिगेट करके खबर निकालने वाला नहीं है. रवीश कुमार ने कहा कि अब न्यूज चैनलों के पास जिम जाने वाले और चॉकलेटी चेहरे वाले एंकर बचे हैं जो कार्यक्रम के दौरान अपनी 'मसल पावर' दिखाते हैं.

  • Ramon Magsasay Award 2019 : रैमॉन मैगसेसे के मंच से बोले रवीश कुमार, मेरे साथ पूरी हिंदी पत्रकारिता आई है

    Ramon Magsasay Award 2019 : रैमॉन मैगसेसे के मंच से बोले रवीश कुमार, मेरे साथ पूरी हिंदी पत्रकारिता आई है

    आज NDTV और समस्त पत्रकारिता जगत के लिए बेहद गौरव का दिन है. NDTV इंडिया के मैनेजिंग एडिटर रवीश कुमार एशिया के नोबेल कहे जाने वाले रैमॉन पुरस्कार से सम्मानित होने के लिए फ़िलीपींस की राजधानी मनीला पहुंचे और वहां रैमॉन मैगसेसे के मंच से बात रखी. उन्होंने कहा कि गौरव के इस क्षण में मेरी नज़र चांद पर भी है और ज़मीन पर भी, जहां चांद से भी ज़्यादा गहरे गड्ढे हैं. दुनियाभर में सूरज की आग में जलते लोकतंत्र को चांद की ठंडक चाहिए. यह ठंडक आएगी सूचनाओं की पवित्रता और साहसिकता से, न कि नेताओं की ऊंची आवाज़ से. सूचना जितनी पवित्र होगी, नागरिकों के बीच भरोसा उतना ही गहरा होगा. देश सही सूचनाओं से बनता है. फेक न्यूज़, प्रोपेगंडा और झूठे इतिहास से भीड़ बनती है. रैमॉन मैगसेसे फाउंडेशन का शुक्रिया, मुझे हिन्दी में बोलने का मौका दिया, वरना मेरी मां समझ ही नहीं पातीं, कि क्या बोल रहा हूं. आपके पास अंग्रेज़ी में अनुवाद है और यहां सब-टाइटल हैं.

  • UPDATE: NDTV के करोड़ों दर्शकों का शुक्रिया: रैमॉन मैगसेसे अवॉर्ड पर रवीश कुमार

    UPDATE: NDTV के करोड़ों दर्शकों का शुक्रिया: रैमॉन मैगसेसे अवॉर्ड पर रवीश कुमार

    NDTV इंडिया के मैनेजिंग एडिटर रवीश कुमार रेमॉन मैगसेसे अवार्ड लेने के लिए फिलीपीन्स की राजधानी मनीला पहुंच चुके हैं. इस अवार्ड की घोषणा 2 अगस्‍त को हुई थी. NDTV के रवीश कुमार को यह सम्मान हिन्दी टीवी पत्रकारिता में उनके योगदान के लिए मिला है. 'रैमॉन मैगसेसे' को एशिया का नोबेल पुरस्कार भी कहा जाता है. यह पुरस्कार फिलीपीन्स के भूतपूर्व राष्ट्रपति रैमॉन मैगसेसे की याद में दिया जाता है.

  • रेमॉन मैगसेसे अवॉर्ड लेने मनीला पहुंचे रवीश कुमार, कुछ ही देर में सिटिज़न जर्नलिज़्म पर देंगे स्‍पीच

    रेमॉन मैगसेसे अवॉर्ड लेने मनीला पहुंचे रवीश कुमार, कुछ ही देर में सिटिज़न जर्नलिज़्म पर देंगे स्‍पीच

    NDTV के रवीश कुमार को यह सम्मान हिन्दी टीवी पत्रकारिता में उनके योगदान के लिए मिला है. 'रैमॉन मैगसेसे' को एशिया का नोबेल पुरस्कार भी कहा जाता है. यह पुरस्कार फिलीपीन्स के भूतपूर्व राष्ट्रपति रैमॉन मैगसेसे की याद में दिया जाता है. 6 सितंबर को रवीश कुमारकी स्‍पीच होगी, जिसे आप NDTV इंडिया की वेबसाइट (https://ndtv.in) और फेसबुक पेज (https://www.facebook.com/NDTVIndia/) पर सुबह 6:30 बजे से देख सकते हैं. रवीश कुमार 'लोकतंत्र को आगे बढ़ाने में सिटिज़न जर्नलिज़्म की ताकत' विषय पर अपनी बात रखेंगे.

  • फरीदाबाद में सील किए गए घर को बैंक ने खोला, मकान में कैद व्यक्ति को मिली राहत

    फरीदाबाद में सील किए गए घर को बैंक ने खोला, मकान में कैद व्यक्ति को मिली राहत

    फरीदाबाद में मंगलवार को सील किया गया घर आज खोल दिया गया. इस घर को सील किए जाने से इसमें एक व्यक्ति कैद हो गया था. इस बारे में NDTV की खबर ने असर दिखाया और 24 घंटे बाद आखिर बैंक ने घर की सील खोल दी जिससे उसमें कैद व्यक्ति मुक्त हो सका.

  • चालान कटने के बाद शख्स ने NDTV से कहा- मैं 23 हजार देकर अपनी 15 हजार की स्कूटी जरूर छुड़ाऊंगा

    चालान कटने के बाद शख्स ने NDTV से कहा- मैं 23 हजार देकर अपनी 15 हजार की स्कूटी जरूर छुड़ाऊंगा

    23,000 रुपए चालान वाले दिनेश मदान ने एनडीटीवी इंडिया से कहा, ''मैंने हेलमेट हाथ में लिया हुआ था इसलिए बिना हेलमेट का चालान था और डाक्यूमेंट्स नहीं थे. मैं स्कूटी में कागजात रखना भूल गया था. पुलिस वाले उस समय ज्यादा व्यस्त थे इसलिए शायद मेरी बात ठीक से सुन नहीं पा रहे थे.''

  • वीसी को सीवी चाहिए तो प्रो रोमिला थापर को दे देनी चाहिए

    वीसी को सीवी चाहिए तो प्रो रोमिला थापर को दे देनी चाहिए

    यह शुभ संकेत है. रोमिला थापर की सीवी को लेकर जिज्ञासा पैदा होना बेहद शुभ संकेत है. लक्स अंडर गार्मेंट का विज्ञापन था. जब लाइफ़ में हो आराम तो आइडिया आता है. तो आइडिया आ गया होगा. चल गुरु, एक मीटिंग में कंसल्ट करते हैं. फिर रोमिला थापर को इंसल्ट करते हैं. उनसे उनकी सीवी मांगते हैं. पता तो करें कि कोई प्रो रोमिला थापर कैसे बनता है. कितनी किताबें लिखता है. कितनी किताबें पढ़ता है. इस टॉपिक पर चर्चा भी ख़ूब होगी. बेरोज़गारी, मंदी, कश्मीर और असम सब ठिकाने लग जाएंगे. सवाल करने वालों को गूगली दे दी जाए.

  • 41 लाख लोगों की चिंता के बीच असम में कल प्रकाशित हो जाएगी अंतिम NRC सूची

    41 लाख लोगों की चिंता के बीच असम में कल प्रकाशित हो जाएगी अंतिम NRC सूची

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के दौरान जम्मू एवं कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने और उसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांट देने के बाद अंतिम NRC सूची की घोषणा सबसे बड़ा घटनाक्रम होगा. गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने NDTV को बताया, "सूची सुबह 10 बजे तक ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगी, और जिनके पास इंटरनेट नहीं है, वे राज्य सरकार द्वारा स्थापित किए गए सेवा केंद्रों में जाकर अपना स्टेटस चेक कर सकते हैं..."

  • और अब 'डॉक्टर सुनयना' स्कूल जाने लगी, आपको मदद देने के लिए शुक्रिया

    और अब 'डॉक्टर सुनयना' स्कूल जाने लगी, आपको मदद देने के लिए शुक्रिया

    डॉक्टर बनकर अपने गांव को मदद देने के लिए संकल्पित उत्तर प्रदेश की 12 साल की सुनयना रावत की सहायता करने के लिए धन्यवाद. आप जैसे सैकड़ों लोगों ने सुनयना की शिक्षा के लिए उदारता के साथ दान दिया और हमें इसके लिए 31,54,879 रुपये एकत्रित करने में मदद की. उसका परिवार, उसका गांव और कई अन्य लोग आपके सहारा बनने पर विनम्रता के साथ आपके आभारी हैं. इससे साथ उसके 11 साल के भाई आशीष को भी मदद मिल गई है जो कि सुनयना के साथ अब नए स्कूल में जाने लगा है.

  • कश्मीर के हालातों से दुखी कन्नन गोपीनाथन बोले, 'सर्विस में रहते हुए आवाज उठाना ठीक नहीं लगा, इसलिए छोड़ी नौकरी'

    कश्मीर के हालातों से दुखी कन्नन गोपीनाथन बोले, 'सर्विस में रहते हुए आवाज उठाना ठीक नहीं लगा, इसलिए छोड़ी नौकरी'

    कन्नन गोपीनाथन ने NDTV से खास के दौरान उन्होंने कहा कि मैंने सिर्फ इसलिए इस्तीफा दिया क्योंकि सरकार लोकतंत्र में लोगों को उनके मौलिक अधिकार से वंचित कर रही है.

  • NDTV से बोले गायब लड़की के पिता- मिल रही धमकी, 'पूर्व BJP सांसद चिन्मयानंद के खिलाफ केस को...'

    NDTV से बोले गायब लड़की के पिता- मिल रही धमकी, 'पूर्व BJP सांसद चिन्मयानंद के खिलाफ केस को...'

    पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Chinmayanand) के लॉ कॉलेज की एक छात्रा का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वो रो-रोकर इल्ज़ाम लगा रही हैं कि संत समाज के एक बहुत बड़े नेता ने कई लड़कियों की ज़िंदगी बर्बाद की है...और अब उसकी हत्या कराना चाहते हैं. इसके बाद से लड़की ग़ायब है. लड़की के पिता ने पुलिस को दी तहरीर में चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है.

  • सवालों में अर्थव्यवस्था और स्वदेशी पर विचार

    सवालों में अर्थव्यवस्था और स्वदेशी पर विचार

    सौ साल के विकास के बाद आज जब हर दिन बाजार में मंदी की खबरें हमें डराती हैं, हर दिन नौकरी जाने की खबरें अखबार के पन्नों पर अंदर डर-डरकर, छिपा-छिपाकर छापी जाती हों, शेयर बाजार के उठती-गिरती रेखाओं से धड़कनें सामान्य गति से नहीं चल रही हों, उन परिस्थितियों में क्या केवल सरकार के राहत पैकेज भर को एक उचित इलाज माना जाना चाहिए, जैसा वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने दो दिन पहले प्रस्तुत किया और गिरते बाजार को राहत देने की कोशिश की. निश्चित ही आज की परिस्थितियों में सौ साल पहले की गांधी की बातें आपको अप्रासंगिक लग सकती हैं, लेकिन पूंजीवाद को अपनाकर भी यदि आप आज अपनी अर्थव्यवस्था मजबूत होने के बारे में आश्वस्त नहीं हैं, तो एक बार यह भी जरूर सोचिएगा कि गांधी सौ साल पहले क्या कुछ कह रहे थे.

  • अरुण जेटली और सुषमा स्वराज के साथ 'दिल और दिमाग' से काम करने वाले नेताओं का दौर भी गया...

    अरुण जेटली और सुषमा स्वराज के साथ 'दिल और दिमाग' से काम करने वाले नेताओं का दौर भी गया...

    . नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली पिछली सरकार में जब जेटली (Arun Jaitley) मंत्री थे, तो वे अक्सर सरकार के संकटमोचक की भूमिका में नजर आते. मसला कोई भी हो, जेटली के पास जवाब जरूर होता. राफेल जैसे पेचीदा मामले पर जब विपक्ष ने मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा किया, तो रक्षामंत्री से पहले अरुण जेटली (Arun Jaitley) इन हमलों का जवाब देने के लिए मैदान में खड़े दिखाई दिये.

  • ये हैं वे ख़बरें, जो जनता देखना चाहती है...

    ये हैं वे ख़बरें, जो जनता देखना चाहती है...

    जनता ने अपनी न्यूज़ लिस्ट भेजी है. जम्मू एवं कश्मीर, गुजरात, पंजाब, बंगाल, ओडिशा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और बिहार से. आपको यह बोरिंग लगेगा, लेकिन देखिए, इतनी तकलीफों के बाद भी नेशनल सिलेबस का ज़ोर है. उसका कारण भी समझिए. कहीं कोई सुना नहीं जा रहा है. इन समस्याओं से प्रभावित लोगों की संख्या लाखों में होगी. फिर भी कहूंगा कि आप हर मैसेज को पढ़ें.

«12345678»

Advertisement

 

Ndtv फोटो

Ndtv से जुड़े अन्य फोटो »

Ndtv वीडियो

Ndtv से जुड़े अन्य वीडियो »