NDTV Khabar

New education policy 2020


'New education policy 2020' - 33 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- NEP को लागू कर जम्मू-कश्मीर को ज्ञान और इनोवेशन का केंद्र बनाएं

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- NEP को लागू कर जम्मू-कश्मीर को ज्ञान और इनोवेशन का केंद्र बनाएं

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कहा कि नयी शिक्षा नीति (एनईपी) को अक्षरश: लागू कर जम्मू कश्मीर को ज्ञान, नवोन्मेष और अध्ययन का केंद्र बनाने की प्रतिबद्ध कोशिश की जानी चाहिए.

  • NEP पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का बयान, कहा-पीछे ले जाने वाली है नई शिक्षा नीति

    NEP पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का बयान, कहा-पीछे ले जाने वाली है नई शिक्षा नीति

    वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बुधवार को राज्यसभा में कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) भविष्य के बदले ‘पीछे ले जाने' वाला दस्तावेज है, जबकि शिक्षा संविधान के सिद्धांतों पर आधारित होनी चाहिए. खड़गे ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि एनईपी (NEP) पीछे की ओर ले जाने वाला दस्तावेज है, जो भविष्य के लिए योजनाएं बनाने और बच्चों को तैयार करने के बदले 2000 साल पीछे की ओर देखता है.

  • गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- हिंदी भारतीय संस्कृति का अटूट अंग, देश को एकता के सूत्र में पिरोने का करती है काम

    गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- हिंदी भारतीय संस्कृति का अटूट अंग, देश को एकता के सूत्र में पिरोने का करती है काम

    Hindi Diwas 2020: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने सोमवार को कहा कि भारत की भाषायी विविधता ही उसकी मजबूती और एकता की निशानी है और नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) से हिंदी व अन्य भारतीय भाषाओं का समानांतर विकास होगा. अमित शाह ने हिंदी दिवस के मौके पर सिलसिलेवार ट्वीट कर और एक वीडियो संदेश में कहा कि हिंदी भारतीय संस्कृति का अटूट अंग है और स्वतंत्रता संग्राम के समय से यह राष्ट्रीय एकता और अस्मिता का प्रभावी व शक्तिशाली माध्यम रही है. उन्होंने कहा, ‘‘एक देश की पहचान उसकी सीमा व भूगोल से होती है, लेकिन उसकी सबसे बड़ी पहचान उसकी भाषा है. भारत की विभिन्न भाषाएं व बोलियां उसकी शक्ति भी हैं और उसकी एकता का प्रतीक भी. सांस्कृतिक व भाषाई विविधता से भरे भारत में ‘हिंदी’ सदियों से पूरे देश को एकता के सूत्र में पिरोने का काम कर रही है.’’

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर राज्यों सहित सभी पक्षकारों से चर्चा करेगी सरकार

    राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर राज्यों सहित सभी पक्षकारों से चर्चा करेगी सरकार

    नयी नीति के तहत सबसे पहले राष्ट्रीय पाठ्यचर्या ढांचे पर काम शुरू होगा और फिर राज्य पाठ्चर्या ढांचे पर काम किया जायेगा .इसके बाद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, केंद्रीय विद्यालय, जवाहर नवोदय विद्यालय में सुधार का काम किया जायेगा .

  • PM मोदी ने कहा- नई शिक्षा नीति 21वीं सदी के भारत को देगी नई दिशा

    PM मोदी ने कहा- नई शिक्षा नीति 21वीं सदी के भारत को देगी नई दिशा

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) नए भारत की, नई उम्मीदों की, नई आवश्यकताओं की पूर्ति का माध्यम है और राष्ट्रीय शिक्षा नीति की इस यात्रा के पथ-प्रदर्शक देश के शिक्षक हैं. प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 के तहत ‘21वीं सदी में स्कूली शिक्षा' विषय पर एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए शुक्रवार को यह बात कही. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति से नए युग के निर्माण के बीज पड़े हैं और यह 21वीं सदी के भारत को नई दिशा प्रदान करेगी. प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) का ऐलान होने के बाद बहुत से लोगों के मन में कई सवाल आ रहे हैं. मसलन, ये शिक्षा नीति क्या है? ये कैसे अलग है, इससे स्कूल और कॉलेजों में क्या बदलाव आएगा.

  • पुरानी शिक्षा व्यवस्था को बदलना क्यों जरूरी था? PM मोदी ने बताया

    पुरानी शिक्षा व्यवस्था को बदलना क्यों जरूरी था? PM मोदी ने बताया

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 (NEP) के तहत ‘21वीं सदी में स्कूली शिक्षा' पर आयोजित एक सम्मेलन को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया. इस सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने कहा, "पुरानी शिक्षा व्यवस्था को बदलना उतना ही आवश्यक था, जितना स्कूल के खराब बोर्ड को बदलना होता है. नई राष्ट्रीय नीति नए भारत की नई उम्मीदों की, नई आवश्यकताओं की पूर्ति का माध्यम है. इसके पीछे पिछले चार-पांच वर्षों की कड़ी मेहनत है, हर क्षेत्र, हर विधा, हर भाषा के लोगों ने इस पर दिन रात काम किया है. लेकिन ये काम अभी पूरा नहीं हुआ है. अब तो काम की असली शुरुआत हुई है. अब हमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति को उतने ही प्रभावी तरीके से लागू करना है और ये काम हम सब मिलकर करेंगे. "

  • क्या हैं 21वीं सदी के स्किल? PM मोदी ने शिक्षा पर आयोजित सम्मेलन में बताया

    क्या हैं 21वीं सदी के स्किल? PM मोदी ने शिक्षा पर आयोजित सम्मेलन में बताया

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शुक्रवार यानी आज राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 (NEP) के तहत ‘21वीं सदी में स्कूली शिक्षा' पर आयोजित एक सम्मेलन को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें अपने स्टूडेंट्स को 21वीं सदी के स्क्लि्स के साथ आगे बढ़ाना है. ये 21वीं की सदी के स्किल्स क्या होंगे?  इसके बारे में बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, क्रिटिकल थिंकिंग, क्रिएटिविटी, कोलेबोरेशन, Curiosity और कम्युनिकेशन." 

  • Teachers Day 2020: इस साल नई शिक्षा नीति पर रहेगा फोकस, शिक्षा मंत्रालय और UGC ऐसे सेलिब्रेट करेंगे शिक्षक दिवस

    Teachers Day 2020: इस साल नई शिक्षा नीति पर रहेगा फोकस, शिक्षा मंत्रालय और UGC ऐसे सेलिब्रेट करेंगे शिक्षक दिवस

    Happy Teachers Day 2020: शिक्षा मंत्रालय और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने इस साल शिक्षक दिवस (Teacher's Day 2020) खास अंदाज में मनाने की तैयारी की है. इस बार शिक्षक दिवस के मौके पर 5 सितंबर को शिक्षा मंत्रालय और यूजीसी नई शिक्षा नीति (राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020) पर वेबिनार का आयोजन करेंगे. ये वेबिनार नई शिक्षा नीति से जुड़ी अलग-अलग थीम पर आयोजित किया जाएगा. इसके अलावा यूजीसी ने टीचर्स डे (Teacher's Day 2020) सेलिब्रेशन पर सोशल मीडिया कैंपेन चलाने की बात भी कही है. 

  • शिक्षा मंत्रालय ने NEP लागू करने के लिए शिक्षकों और प्रिंसिपलों से मांगे सुझाव, जानिए डिटेल

    शिक्षा मंत्रालय ने NEP लागू करने के लिए शिक्षकों और प्रिंसिपलों से मांगे सुझाव, जानिए डिटेल

    केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' ने रविवार को कहा कि शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) के क्रियान्वयन पर स्कूलों के शिक्षकों और प्राधानाध्यापकों से सुझाव मांगे हैं. केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘हम मानते हैं कि एनईपी 2020 को लागू करने में शिक्षकों की अहम भूमिका है. इसलिए हमने देशभर के सभी स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों से सुझाव मांगने का फैसला किया है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने की प्रक्रिया को किस तरह आगे बढ़ाया जाए.'' 

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत सिलेबस और किताबें कब तक होंगी तैयार, NCERT के डायरेक्टर ने बताया

    राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत सिलेबस और किताबें कब तक होंगी तैयार, NCERT के डायरेक्टर ने बताया

    राष्ट्रीय शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (NCERT) के निदेशक हृषिकेश सेनापति ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) पर अमल का सूत्र वाक्य ‘नेशन फ‌र्स्ट- करेक्टर मस्ट’ होगा और इसके अनुरूप पाठ्यक्रम ढांचा, पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तक तैयार करने की सम्पूर्ण प्रकिया वर्ष 2023-24 तक पूरी कर ली जायेगी. एनसीईआरटी (NCERT) के निदेशक हृषिकेश सेनापति ने कहा, ‘‘ नई शिक्षा नीति के अमल का सूत्रवाक्य 'नेशन फ‌र्स्ट- करेक्टर मस्ट' तय किया गया है. यानी नई पीढ़ी को अब जो भी पढ़ाया जाएगा, उसमें राष्ट्रीय हित के साथ चरित्र निर्माण पर भी फोकस रहेगा.’’

  • NEP 2020: शिक्षा मंत्री ने कहा- विश्वविद्यालय 300 से अधिक कॉलेजों को मान्यता नहीं दे पाएंगे

    NEP 2020: शिक्षा मंत्री ने कहा- विश्वविद्यालय 300 से अधिक कॉलेजों को मान्यता नहीं दे पाएंगे

    केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' (Union Minister Ramesh Pokhriyal ''Nishank'') ने बुधवार को कहा कि नई शिक्षा नीति (NEP) के तहत विश्वविद्यालय 300 से अधिक महाविद्यालयों को मान्यता नहीं दे पायेंगे. मानव संसाधन विकास मंत्री ने सवाल किया, ‘‘मैं हाल ही में एक विश्वविद्यालय गया था और जब मैंने कुलपति से पूछा कि कितने महाविद्यालय उस विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त हैं, उन्होंने कहा कि 800 डिग्री कॉलेज. मुझे लगा कि मैंने गलत सुन लिया. मैंने फिर पूछा और उन्होंने कहा 800. यह दीक्षांत समारोह था. मैं चकित था कि क्या कोई कुलपति 800 डिग्री महाविद्यालयों के प्राचार्यों के नाम याद रख सकता है.''

  • NEP पर मनीष सिसोदिया ने कहा- बोर्ड परीक्षा सरल बनाने से छात्रों के रट्टा लगाने की समस्या हल नहीं होगी

    NEP पर मनीष सिसोदिया ने कहा- बोर्ड परीक्षा सरल बनाने से छात्रों के रट्टा लगाने की समस्या हल नहीं होगी

    दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Delhi Deputy Chief Minister Manish Sisodia) का कहना है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) में बोर्ड परीक्षा को सरल बनाने के प्रस्ताव से रट्टा लगाने की समस्या हल नहीं होगी, क्योंकि शिक्षा प्रणाली अब भी मूल्यांकन प्रणाली का गुलाम बनी रहेगी. दिल्ली के शिक्षा मंत्री सिसोदिया ने कहा कि नीति सार्वजनिक शिक्षा प्रणाली में सुधार लाने में विफल है तथा निजी शिक्षा पर ध्यान केन्द्रित करती है और कुछ सुधार वास्तविकता पर आधारित नहीं हैं. सिसोदिया ने कहा, ‘‘हमारी शिक्षा प्रणाली हमेशा से मूल्यांकन प्रणाली का गुलाम रही है और आगे भी रहेगी. बोर्ड परीक्षाएं सरल बनाने से मूल समस्या हल नहीं होगी जो कि रट्टा लगाना है. जोर अब भी वार्षिक परीक्षाओं पर रहेगा, जरूरत सत्र के अंत में छात्रों का मूल्यांकन करने से जुड़ी अवधारणा को दूर करने की है, चाहे यह सरल हो या कठिन.''

  • नगर निगम स्कूलों में नई शिक्षा नीति के प्रावधान लागू किए जाएंगे: दिल्ली भाजपा प्रमुख

    नगर निगम स्कूलों में नई शिक्षा नीति के प्रावधान लागू किए जाएंगे: दिल्ली भाजपा प्रमुख

    दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने रविवार को कहा कि पार्टी नगर निगम के स्कूलों में प्राथमिक शिक्षा में नई शिक्षा नीति से जुड़े प्रावधानों को लागू करने की योजना बना रही है. केंद्र में मोदी सरकार ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) लागू करने की घोषणा की है. एनईपी में कहा गया है कि कक्षा पांच तक के छात्रों को उनकी मातृभाषा में पढ़ाया जाएगा.  गुप्ता ने कहा कि शहर में निगम संचालित स्कूलों में एनईपी पर आधारित नए पाठ्यक्रम को लागू करने के संबंध में विचार-विमर्श की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष ने कहा, ‘‘वर्तमान शैक्षणिक सत्र में निगम के सभी स्कूलों में नई शिक्षा नीति को लागू किया जाएगा.'' 

  • PM मोदी बोले - जहां तक संभव हो, 5वीं कक्षा के बच्चों को उनकी मातृभाषा में पढ़ाया जाना चाहिए

    PM मोदी बोले - जहां तक संभव हो, 5वीं कक्षा के बच्चों को उनकी मातृभाषा में पढ़ाया जाना चाहिए

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) पर आयोजित एक ई-कॉन्क्लेव को संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कहा है कि जहां तक संभव हो, पांचवीं कक्षा के बच्चों को उनकी मातृभाषा में पढ़ाया जाना चाहिए.

  • नई शिक्षा नीति: PM मोदी ने कहा- एक ही प्रोफेशन पर अब नहीं टिका रहेगा पूरा जीवन

    नई शिक्षा नीति: PM मोदी ने कहा- एक ही प्रोफेशन पर अब नहीं टिका रहेगा पूरा जीवन

    NEP 2020: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) पर आयोजित एक ई-कॉन्क्लेव को संबोधित किया और शिक्षा के क्षेत्र में इस बड़े बदलाव के फायदे बताए. पीएम मोदी ने इस दौरान बताया कि उच्च शिक्षा को स्ट्रीम्स से मुक्त करने पर फोकस किया गया है. मल्टीपल एंट्री, एग्जिट, क्रेडिट बैंक के पीछे यही सोच है. इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हम उस दौर की तरफ बढ़ रहे हैं जहां कोई व्यक्ति जीवन भर किसी एक प्रोफेशन में ही नहीं टिका रहेगा. इसके लिए उसे निरंतर खुद को Re-Skills और Up-Skills करते रहना होगा.

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 21वीं सदी के नए भारत की नींव रखेगी, PM मोदी ने कहीं 10 बड़ी बातें

    राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 21वीं सदी के नए भारत की नींव रखेगी, PM मोदी ने कहीं 10 बड़ी बातें

    नई शिक्षा नीति पर आयोजित एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बीते अनेक वर्षों से हमारे शिक्षा व्यवस्था में बड़े बदलाव नहीं हुए थे. परिणाम ये हुआ कि हमारे समाज में उत्सुकता और कल्पनाशीलता को बढ़ावा देने के बजाए भेड़ चाल को प्रोत्साहन मिलने लगा था. पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के संदर्भ में आज का ये इवेंट बहुत महत्वपूर्ण है. इस कॉन्क्लेव से भारत के शिक्षा जगत को राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विभिन्न पहलुओं के बारे में विस्तृत जानकारी मिलेगी. नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के संदर्भ में आज का ये कार्यक्रम बहुत महत्वपूर्ण है. इस कार्यक्रम से भारत के शिक्षा जगत को नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के बारे में विस्तृत जानकारी मिलेगी. जितनी जानकारी स्पष्ट होगी, उतनी ही आसानी से इसका क्रियान्वयन भी होगा. राष्ट्रीय शिक्षा नीति आने के बाद देश के किसी भी क्षेत्र से, किसी भी वर्ग से ये बात नहीं उठी कि इसमें किसी तरह का भेदभाव है, या किसी एक ओर झुकी हुई है. पीएम मोदी ने कहा कि नई शिक्षा नीति को अमल में लाने के लिए हम सभी को एकसाथ संकल्पबद्ध होकर काम करना है. हम उस युग की तरफ बढ़ रहे हैं, जहां कोई व्यक्ति जीवन भर किसी एक प्रोफेशन में ही नहीं टिका रहेगा.

  • NEP 2020: पीएम मोदी ने कहा- अब 'What To Think' नहीं, 'How To Think' पर दिया जाएगा ज़ोर

    NEP 2020: पीएम मोदी ने कहा- अब 'What To Think' नहीं,  'How To Think' पर दिया जाएगा ज़ोर

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) पर एक ई-कॉन्क्लेव को आज संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई शिक्षा नीति पर विस्तार से जानकारी दी और बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में ये बहुत बड़ा बदलाव है. राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) पर आयोजित ई-कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अब मकसद के साथ एजुकेशन की जरूरत है. साथ ही उन्होंने कहा कि अब तक एजुकेशन सिस्टम वॉट टू थिंक (What To Think) पर आधारित था, जबकि नई व्यवस्था में हाउ टू थिंक (How To Think) पर जोर दिया गया है. 

  • NEP पर PM मोदी: नई शिक्षा नीति का फोकस 'What To Think' पर नहीं, 'How To Think' पर

    NEP पर PM मोदी: नई शिक्षा नीति का फोकस 'What To Think' पर नहीं, 'How To Think' पर

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के कॉन्क्लेव को संबोधित किया. अभी हाल ही में नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में बड़े बदलाव किए गए हैं, जिसके बाद पीएम ने देश को इस मुद्दे पर संबोधित किया.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com