NDTV Khabar

Nirmala sitharaman


'Nirmala sitharaman' - 264 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • आर्थिक मोर्चे पर सरकार को फिर लग सकता है झटका, टैक्स कलेक्शन में गिरावट के संकेत

    आर्थिक मोर्चे पर सरकार को फिर लग सकता है झटका, टैक्स कलेक्शन में गिरावट के संकेत

    5 जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जो बजट पेश किया, उसमें करीब 25 लाख करोड़ की कमाई का अनुमान दिखाया था. लेकिन अब न सिर्फ अर्थव्यवस्था की रफ्तार भी घट रही है बल्कि सरकार की कमाई भी गिरती जा रही है. बजट के मुताबिक2019-20 में टैक्स से होने वाली कुल कमाई 24.6 लाख करोड़ रहने का अनुमान था

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं- अमेरिका के साथ पूरी गति में चल रही व्यापार वार्ता, जल्द हो जाएगी डील

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं- अमेरिका के साथ पूरी गति में चल रही व्यापार वार्ता, जल्द हो जाएगी डील

    सीतारमण ने शनिवार को कहा, ‘वास्तव में मैंने वित्त मंत्री म्यूचिन के समक्ष इसका जिक्र किया, लेकिन इस मुद्दे पर भारत के वाणिज्य मंत्री और अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइजर चर्चा कर रहे हैं. मुझे जो जानकारी मिली है, वह यह कि वार्ता पूरी गति से चल रही है और उम्मीद है कि जल्दी ही समझौता हो जाएगा.’ उन्होंने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि अमेरिका के साथ सर्वाधिकार अनुबंध हमेशा वरीयता में रहा है.

  • अर्थव्यवस्था को लेकर निर्मला सीतारमण और राहुल गांधी के बीच वाक युद्ध

    अर्थव्यवस्था को लेकर निर्मला सीतारमण और राहुल गांधी के बीच वाक युद्ध

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कल मोदी सरकार के आर्थिक लक्ष्यों को असंभव करार दिया. आज जवाब देने की बारी निर्मला सीतारमण की थी. कांग्रेस कह रही है बीजेपी सच्चाई से आंखें मूंद रही है, छह महीने में और बुरा हाल होगा. शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फिर दुहराया कि मनमोहन सरकार की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को कमजोर किया. वाशिंगटन में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने एक तरह से पूर्व प्रधानमंत्री के आरोपों का जवाब दिया.

  • निर्मला सीतारमण ने कहा- किसी क्षेत्र में परेशानी है, तो सरकार को देखना होगा कि पहले क्या गलत हुआ

    निर्मला सीतारमण ने कहा- किसी क्षेत्र में परेशानी है, तो सरकार को देखना होगा कि पहले क्या गलत हुआ

    केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ, इसे याद करना बेहद जरूरी है.

  • भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर IMF के दावों के बीच निर्मला सीतारमण का आया बयान, कहा - भारत सबसे तेजी से...

    भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर IMF के दावों के बीच निर्मला सीतारमण का आया बयान, कहा - भारत सबसे तेजी से...

    उन्होंने कहा कि आईएमएफ ने (अपने हालिया अनुमान में) विश्व की सभी अर्थव्यवस्थाओं के लिए विकास दर कम कर दी है. इसने भारत के लिए विकास अनुमान कम कर दिया है. इसके बावजूद भारत अब भी सबसे तेजी से विकास करती अर्थव्यवस्था के तौर पर आगे बढ़ रहा है.

  • निर्मला सीतारमण का मनमोहन सिंह को जवाब, बोलीं- किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ, इसे याद करना बेहद जरूरी

    निर्मला सीतारमण का मनमोहन सिंह को जवाब, बोलीं- किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ, इसे याद करना बेहद जरूरी

    सीतारमण ने यह टिप्पणी मनमोहन सिंह के उस आरोप के जवाब में की है जिसमें उन्होंने कहा था कि राजग सरकार हमेशा अपने प्रतिद्वंद्वियों पर दोष मढ़ने की कोशिश करती है. मनमोहन सिंह ने अपने शासन में कुछ कमजोरियां होने की बात स्वीकार करते हुए गुरुवार को कहा कि मोदी सरकार को प्रत्येक आर्थिक संकट के लिए संप्रग सरकार को दोष देना बंद करना चाहिए क्योंकि समाधान निकालने के लिए पांच साल का समय पर्याप्त होता है.

  • निवेशकों को पूरी दुनिया में भारत से बेहतर कोई जगह नहीं मिलेगी : निर्मला सीतारमण

    निवेशकों को पूरी दुनिया में भारत से बेहतर कोई जगह नहीं मिलेगी : निर्मला सीतारमण

    केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि निवेशकों को पूरी दुनिया में भारत से बेहतर कोई जगह नहीं मिलेगी जहां लोकतंत्र में यकीन करने के साथ ही पूंजीवाद का सम्मान किया जाता है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) मुख्यालय में बातचीत के एक सत्र में सीतारमण ने दुनिया भर के निवेशकों को आश्वासन दिया कि सरकार नये सुधार लाने पर निरंतर काम कर रही है. उन्होंने बुधवार को कहा, 'यह (भारत) आज भी सबसे तेजी से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था है. इसके पास उत्कृष्ट कुशलता वाली श्रमशक्ति और ऐसी सरकार है जो सुधार के नाम पर जरूरी चीजों और इन सबसे ऊपर लोकतंत्र एवं विधि के शासन पर लगातार काम कर रही है.' 

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- निवेशकों को पूरी दुनिया में भारत से बेहतर नहीं मिलेगी कोई जगह

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- निवेशकों को पूरी दुनिया में भारत से बेहतर नहीं मिलेगी कोई जगह

    अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) मुख्यालय में बातचीत के एक सत्र में सीतारमण ने दुनिया भर के निवेशकों को आश्वासन दिया कि सरकार नये सुधार लाने पर निरंतर काम कर रही है. उन्होंने बुधवार को कहा, “यह (भारत) आज भी सबसे तेजी से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था है. इसके पास उत्कृष्ट कुशलता वाली श्रमशक्ति और ऐसी सरकार है जो सुधार के नाम पर जरूरी चीजों और इन सबसे ऊपर लोकतंत्र एवं विधि के शासन पर लगातार काम कर रही है.”

  • बैंकों की खस्ता हालात का ज़िम्मेदार बताए जाने पर बोले मनमोहन सिंह- किसी के सिर दोष मढ़ने का जुनून सवार है सरकार पर

    बैंकों की खस्ता हालात का ज़िम्मेदार बताए जाने पर बोले मनमोहन सिंह- किसी के सिर दोष मढ़ने का जुनून सवार है सरकार पर

    उन्होंने कहा कि आर्थिक सुस्ती, सरकार की उदासीनता से भारतीयों के भविष्य और आकांक्षाओं पर असर पड़ रहा है. निचली मुद्रास्फीति की सनक से किसानों पर संकट, सरकार की आयात-निर्यात नीति से भी समस्यायें खड़ी हो रही हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र भर मे कारोबारी धारणा काफी कमजोर, कई इकाइयां बंद हुईं.

  • मनमोहन-राजन के काल में सरकारी बैंकों ने देखा था 'सबसे बुरा वक्त' : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

    मनमोहन-राजन के काल में सरकारी बैंकों ने देखा था 'सबसे बुरा वक्त' : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

    समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया के मुताबिक, कोलम्बिया यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ इंटरनेशनल एंड पब्लिक अफेयर्स में मंगलवार को वित्तमंत्री ने कहा, "मुझे इस बात में कोई संदेह नहीं है कि राजन जो कुछ भी कहते हैं, वही महसूस करते हैं... और आज, मैं यहां उन्हें पूरा सम्मान देते हुए यह सच्चाई आप सबके सामने रखना चाहती हूं कि भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने उससे ज़्यादा बुरा वक्त कभी नहीं देखा, जब सिंह और राजन की जोड़ी प्रधानमंत्री और RBI गवर्नर के रूप में काम कर रही थी... उस वक्त, हममें से किसी को भी उस बारे में पता नहीं था..."

  • BJP नेता ने नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी और वित्त मंत्री के पति पर साधा निशाना, कहा- 'इको सिस्टम' काम पर लग गया

    BJP नेता ने नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी और वित्त मंत्री के पति पर साधा निशाना, कहा- 'इको सिस्टम' काम पर लग गया

    हाल ही में एक अंग्रेजी दैनिक में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के पति और आर्थिक मामलों के जानकार पराकला प्रभाकर ने एक लेख लिखकर देश की अर्थव्यवस्था को खराब बताया था. उन्होंने केंद्र सरकार को नसीहत देते हुए लिखा था, "सरकार भले इससे इनकार करे, लेकिन आंकड़ों से पता चलता है कि कई सेक्टर संकट का सामना कर रहे हैं." उन्होंने यह भी कहा था कि भाजपा नेहरूवादी मॉडल को कोसती है, मगर इसका कोई ठोस विकल्प नहीं पेश कर पाई है.

  • पति ने की अर्थव्यवस्था की आलोचना और दी सलाह तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का आया यह Reaction

    पति ने की अर्थव्यवस्था की आलोचना और दी सलाह तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का आया यह Reaction

    देश की सुस्त अर्थव्यवस्था (Indian Economy) मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है. इसे लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार हमलावर है. आर्थिक मंदी से देश को उबारने के लिए वित्त मंत्रालय की तरफ से कई तरह की घोषणाएं भी की जा चुकी हैं. इस बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) के पति और नामी राजनीतिक अर्थशास्त्री परकला प्रभाकर (Parakala Prabhakar) ने सरकार को पीवी नरसिम्‍हा राव-मनमोहन सिंह के आर्थिक मॉडल (PV Narasimha Rao-Manmohan Singh Economic Model) को अपनाने की सलाह दी है.

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी की खामियों को दूर करने के लिए कर विशेषज्ञों से  मांगी सलाह

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी की खामियों को दूर करने के लिए कर विशेषज्ञों से  मांगी सलाह

    सीतारमण ने सवाल उठाने वाले एक व्यक्ति पर आपत्ति भी जताई और उससे कहा कि संसद और सभी राज्य विधानसभाओं द्वारा पारित कानून की आलोचना नहीं करें.

  • वित्त मंत्री ने की PMC के नाराज ग्राहकों से मुलाकात, कांग्रेस ने कुछ यूं कसा तंज

    वित्त मंत्री ने की PMC के नाराज ग्राहकों से मुलाकात, कांग्रेस ने कुछ यूं कसा तंज

    सीतारमण ने यहां पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक के खाताधारों के गुस्से का सामना कर करने के बाद निर्मला बाद में संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि समिति गठित जाएगी जो इस बात पर विचार करेगी कि क्या इस क्षेत्र का प्रबंधन करने वाले कानूनों में बदलाव की जरूरत है. 

  • TOP 5 NEWS: वित्त मंत्री ने PMC बैंक के नाराज ग्राहकों से की मुलाकात, बजरंग दल कार्यकर्ता को गौ तस्करों ने मारी गोली

    TOP 5 NEWS: वित्त मंत्री ने PMC बैंक के नाराज ग्राहकों से की मुलाकात, बजरंग दल कार्यकर्ता को गौ तस्करों ने मारी गोली

    TOP 5 NEWS: वित्त मंत्री ने कहा कि मैंने पीएमसी बैंक के उपभोक्ताओं से कहा, रिजर्व बैंक मामले को देख रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय के अधिकारी सहकारी बैंकों के नियमन की खामियों पर चर्चा करने वाले हैं.

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने PMC बैंक के नाराज ग्राहकों से की मुलाकात, कहा- RBI गवर्नर से करूंगी बातचीत

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने PMC बैंक के नाराज ग्राहकों से की मुलाकात, कहा- RBI गवर्नर से करूंगी बातचीत

    वित्त मंत्री ने कहा कि मैंने पीएमसी बैंक के उपभोक्ताओं से कहा, रिजर्व बैंक मामले को देख रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय के अधिकारी सहकारी बैंकों के नियमन की खामियों पर चर्चा करने वाले हैं. इसके अलावा उनका कहना है कि बहुराज्यीय सहकारी बैंकों का संचालन बेहतर बनाने के लिये संसद के शीतकालीन सत्र में लाया जाएगा विधेयक. वित्त मंत्री ने आर्थिक नरमी पर कहा, हम उन सभी क्षेत्रों को राहत दे रहे हैं जिन्हें मदद की जरूरत है.

  • घोर आर्थिक असफलता के बाद भी मोदी सरकार की राजनीतिक सफलता शानदार

    घोर आर्थिक असफलता के बाद भी मोदी सरकार की राजनीतिक सफलता शानदार

    भारतीय खाद्य निगम के चरमराने की ख़बरें आने लगी हैं. इसी के ज़रिए भारत सरकार किसानों से अनाज ख़रीदती है. सरकार उसके बदले में निगम को पैसे देती है जिसे हम सब्सिडी बिल के रूप में जानते हैं. 2016 तक तो भारतीय खाद्य निगम को सब्सिडी सरप्लस में मिलती थी. जितना चाहिए होता था उससे अधिक. लेकिन 2016-17 में जब उसे चाहिए था एक लाख 10 हज़ार करोड़ तो मिला 78000 करोड़. बाकी का 32,000 करोड़ नेशनल स्मॉल सेविंग्स फंड (NSSF) से कर्ज़ लिया. जिस तरह से भारत सरकार रिज़र्व बैंक की बचत से पैसे लेने लगी है उसी तरह से निगम यह काम पहले से कर रहा था. जैसे-जैसे ज़रुरत पड़ी NSSF कर्ज़ लेने लगा. नतीजा 2016-17 का वित्त वर्ष समाप्त होते ही NSSF से लिया गया कर्ज़ा 70,000 करोड़ का हो गया.

  • केंद्रीय उपक्रमों को मिला ठेकेदारों, आपूर्तिकर्ताओं का बकाया 15 अक्टूबर तक निपटाने का निर्देश

    केंद्रीय उपक्रमों को मिला ठेकेदारों, आपूर्तिकर्ताओं का बकाया 15 अक्टूबर तक निपटाने का निर्देश

    वित्त मंत्री ने कहा कि सार्वजनिक कंपनियों को 15 अक्टूबर तक एक पोर्टल बनाने के लिये कहा गया है जहां सेवा प्रदाता, आपूर्तिकर्ता और ठेकेदार अपने बिलों तथा भुगतान की स्थिति को देख सकेंगे.