Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Northeast


'Northeast' - 67 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • नागरिकता कानून के खिलाफ बंगाल में हिंसक प्रदर्शन जारी, मुर्शिदाबाद में 5 खाली ट्रेनों में लगाई आग

    नागरिकता कानून के खिलाफ बंगाल में हिंसक प्रदर्शन जारी, मुर्शिदाबाद में 5 खाली ट्रेनों में लगाई आग

    पश्चिम बंगाल में भी नागरिकता कानून का विरोध जारी है और शनिवार को राज्‍य के मुर्शिदाबाद जिले के लालगोला रेलवे स्‍टेशन पर 5 खाली ट्रेनों में आग लगा दी गई. प्रदर्शनकारियों ने राज्‍य के विभिन्‍न हिस्‍सों में सड़क मार्ग अवरुद्ध किए और रेल सेवाओं को भी प्रभावित किया.

  • Citizenship Act: असम में रेलवे की बोगी में आग लगाना चाहती थी भीड़, सेना ने इस तरह बचाई यात्रियों की जान

    Citizenship Act: असम में रेलवे की बोगी में आग लगाना चाहती थी भीड़, सेना ने इस तरह बचाई यात्रियों की जान

    समूचे असम में बृहस्पतिवार को हजारों लोगों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ प्रदर्शनों के बीच सेना ने बताया कि उसने नहारकाटिया रेलवे स्टेशन पर एक एक्सप्रेस ट्रेन के यात्रियों को भीड़ से बचाया, जो रेल के डिब्बों को आग लगाने पर उतारू थे. सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि भीड़ ने नहारकाटिया में सिलचर-डिब्रूगढ़ ब्रह्मपुत्र एक्सप्रेस को घेर लिया और वह उसमें आग लगाने ही वाले थे कि सुरक्षा बल वहां पहुंच गए.

  • Citizenship Bill: मेघालय में इंटरनेट-एसएमएस बंद, शिलॉन्ग में बिल के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग तो लगा कर्फ्यू

    Citizenship Bill: मेघालय में इंटरनेट-एसएमएस बंद, शिलॉन्ग में बिल के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग तो लगा कर्फ्यू

    नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) कानून की शक्ल ले चुका है. इस बिल का पूर्वोत्तर राज्यों में जबरदस्त विरोध हो रहा है. असम और त्रिपुरा के बाद अब विरोध की चिंगारी मेघालय (Meghalaya) पहुंच चुकी है. वहां सरकार ने एहतियातन मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस पर रोक लगा दी है. राजधानी शिलॉन्ग (Shillong) में हो रहे प्रदर्शनों को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है.

  • Citizenship Bill: संसद से पास हुआ बिल, तो पाकिस्तान से दिल्ली आकर बसे परिवार ने बेटी को नाम दिया 'नागरिकता'

    Citizenship Bill: संसद से पास हुआ बिल, तो पाकिस्तान से दिल्ली आकर बसे परिवार ने बेटी को नाम दिया 'नागरिकता'

    नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) लोकसभा और राज्यसभा से पास हो चुका है. राष्ट्रपति के दस्तखत के बाद यह कानून की शक्ल अख्तियार कर लेगा. इस बीच पाकिस्तान से दिल्ली के मजनू का टीला इलाके में आकर बसे एक हिंदू परिवार ने कुछ इस तरह इन दिनों को याद किया है कि आप भी जानकर हैरान रह जाएगे. दंपति ने अपनी नवजात बेटी का नाम 'नागरिकता' रखा है.

  • TOP 5 NEWS: नागरिकता संशोधन बिल पर राज्यसभा में जोरदार बहस, पूर्वोत्तर में कड़ी सुरक्षा

    TOP 5 NEWS: नागरिकता संशोधन बिल पर राज्यसभा में जोरदार बहस, पूर्वोत्तर में कड़ी सुरक्षा

    नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) आज राज्यसभा में पेश किया गया. राज्यसभा में अमित शाह ने विपक्ष से पूछा कि क्या चाहते हैं? पूरी दुनिया से मुसलमान यहां आएं और उन्हें हम नागरिक बना दें, देश कैसे चलेगा. गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि 'हम किसी भी देश से आने वाले मुस्लिमों को अपने देश की नागरिकता दे दें.' नागरिकता संशोधन बिल पर शिव सेना (Shiv Sena) के नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने सदन में कहा कि जो बिल का समर्थन करेंगे वो देश भक्‍त होंगे और जो नहीं करेंगे वे देशद्रोही होंगे. बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) ने विधेयक को लेकर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) की सलाह पर इस बिल को लाया गया है.

  • Citizenship Amendment Bill in Rajya Sabha: कपिल सिब्‍बल ने कहा - कोई मुसलमान आपसे नहीं डरता है, वो डरते हैं तो सिर्फ...

    Citizenship Amendment Bill in Rajya Sabha: कपिल सिब्‍बल ने कहा - कोई मुसलमान आपसे नहीं डरता है, वो डरते हैं तो सिर्फ...

    नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पर राज्यसभा में चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल (Kapil Sibal) ने कहा, 'कोई मुसलमान आपसे नहीं डरता है, हम डरते हैं तो सिर्फ संविधान से.' कपिल सिब्‍बल ने कहा‍ कि बिल पेश करते समय एक बात कही गई थी जिस पर मुझे सख्‍त आपत्ति है.

  • नागरिकता बिल: राज्यसभा में बोले अमित शाह- क्या चाहते हैं? पूरी दुनिया से मुसलमान यहां आएं और उन्हें हम नागरिक बना दें, देश कैसे चलेगा

    नागरिकता बिल: राज्यसभा में बोले अमित शाह- क्या चाहते हैं? पूरी दुनिया से मुसलमान यहां आएं और उन्हें हम नागरिक बना दें, देश कैसे चलेगा

    नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) को बुधवार को राज्यसभा में पेश किया जाएगा. गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सदन में बिल को लेकर अपनी बात रखी. अमित शाह ने राज्यसभा में कहा, 'जो अल्पसंख्यक बाहर से हमारे देश में आए, उन्हें राहत मिली है. तीन पड़ोसी मुल्कों से लोग हमारे देश में आए. वहां उन्हें समानता का अधिकार नहीं मिला. वो लोग अपने देश में दर-दर की ठोकरें खा रहे थे. वह लोग उम्मीद लेकर भारत आए थे. यह बिल लाखों लोगों के लिए किसी आशा की किरण जैसा है.'

  • Citizenship Bill: विरोध में जल रहे पूर्वोत्तर राज्य, 1 मासूम की मौत और दर्जनों घायल

    Citizenship Bill: विरोध में जल रहे पूर्वोत्तर राज्य, 1 मासूम की मौत और दर्जनों घायल

    नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) मोदी सरकार के गले की फांस बनता नजर आ रहा है. बुधवार को राज्यसभा में इस बिल की अग्निपरीक्षा है. दूसरी ओर पूर्वोत्तर राज्यों में इसका पुरजोर विरोध हो रहा है. विधेयक (CAB) के खिलाफ छात्र संघों और वाम-लोकतांत्रिक संगठनों ने मंगलवार को पूर्वोत्तर के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान सड़क अवरूद्ध होने के कारण अस्पताल ले जाते समय दो महीने के एक बीमार बच्चे की मौत हो गई. राज्यसभा में इस विधेयक को पेश किए जाने से एक दिन पहले असम में इस विधेयक के खिलाफ दो छात्र संगठनों के राज्यव्यापी बंद के आह्वान के बाद ब्रह्मपुत्र घाटी में जनजीवन ठप रहा.

  • त्रिपुरा में नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध के चलते इंटरनेट सेवाएं बंद, SMS पर भी पाबंदी

    त्रिपुरा में नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध के चलते इंटरनेट सेवाएं बंद, SMS पर भी पाबंदी

    त्रिपुरा में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के मद्देनजर मंगलवार दोपहर दो बजे से 48 घंटों के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

  • NRC आकर रहेगा, रोहिंग्या स्वीकार नहीं, एक भी घुसपैठिया बचेगा नहीं : अमित शाह

    NRC आकर रहेगा, रोहिंग्या स्वीकार नहीं, एक भी घुसपैठिया बचेगा नहीं : अमित शाह

    लोकसभा ने नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है. निचले सदन में विधेयक पर सदन में सात घंटे से अधिक समय तक चली चर्चा का जवाब देते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि यह विधेयक लाखों करोड़ों शरणार्थियों के यातनापूर्ण नरक जैसे जीवन से मुक्ति दिलाने का साधन बनने जा रहा है.

  • नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ असम में प्रदर्शन, जानिए क्या है ILP और मणिपुर में क्यों स्थगित हुआ आंदोलन

    नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ असम में प्रदर्शन, जानिए क्या है ILP और मणिपुर में क्यों स्थगित हुआ आंदोलन

    नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ छात्र संगठनों की तरफ से संयुक्त रूप से बुलाया गया 11 घंटे का बंद मंगलवार सुबह पांच बजे शुरू हो गया है. पूर्वात्तर छात्र संगठन (एनईएसओ) ने इस विधेयक के खिलाफ शाम चार बजे तक बंद का आह्वान किया है. कई अन्य संगठनों और राजनीतिक दलों ने भी इसे अपना समर्थन दिया है.

  • World Tourism Day: Northeast India की 5 सबसे खूबसूरत जगहें, अगली बार जरूर घूमने जाएं यहां

    World Tourism Day: Northeast India की 5 सबसे खूबसूरत जगहें, अगली बार जरूर घूमने जाएं यहां

    वर्ल्ड टूरिज्म डे (World Tourism Day) के मौके पर आपको उत्तर-पूर्वी भारत (Northeast) की सबसे शानदार 5 जगहों के बारे में बता रहे हैं, जहां आप आगे आने वाली छुट्टियों में घूमने जा सकते हैं. 

  • कांग्रेस ने बनाई नई रणनीति: अनुच्छेद 371 पर पूर्वोत्तर में भाजपा को घेरेगी, जनता को करेगी लामबंद

    कांग्रेस ने बनाई नई रणनीति: अनुच्छेद 371 पर पूर्वोत्तर में भाजपा को घेरेगी, जनता को करेगी लामबंद

    इस बैठक में शामिल रहे असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया, 'भाजपा ने जो (जम्मू-कश्मीर में) विशेष दर्जा खत्म किया उसका क्या असर हुआ है? उसे मुद्दा बनाकर जनता के पास ले जाना तय हुआ है.' उन्होंने कहा, '370 और 371 में ज्यादा फर्क नहीं है. जम्मू-कश्मीर के लोगों को 370 के तहत विशेष अधिकार मिले हुए थे . उसी तरह असम और पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों को 371ए, 371बी, 371सी तथा कुछ अन्य अनुच्छेदों के तहत विशेष सुरक्षा मिली हुई है. यह पूर्वोत्तर के लिए संवैधानिक रक्षा कवच है. किसी भी हालत में इसे हटाया नहीं जाना चाहिए.'

  • सालों की मेहनत से पूर्वोत्तर में आया बदलाव : भागवत

    सालों की मेहनत से पूर्वोत्तर में आया बदलाव : भागवत

    पूर्वोत्तर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं की सराहना करते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मंगलवार को यहां कहा कि इस ‘अनवरत’ प्रयास के कारण इस क्षेत्र में राष्ट्रवादी भावना के साथ बदलाव आने वाला है. उन्होंने नंदकुमार जोशी द्वारा अरुणाचल प्रदेश में काम के दौरान हुए अनुभवों पर लिखी गई ‘शुभारंभ’ नाम की किताब के विमोचन के दौरान यह बातें कहीं.

  • BJP के उम्मीदवार बोले, जब तक मैं जिंदा हूं, नागरिकता संशोधन बिल लागू नहीं होने दूंगा

    BJP के उम्मीदवार बोले, जब तक मैं जिंदा हूं, नागरिकता संशोधन बिल लागू नहीं होने दूंगा

    शिलॉन्ग सीट से BJP के उम्मीदवार सनबोर शुल्लई ने कहा, 'जब तक मैं जिंदा हूं तब तक नागरिकता संशोधन विधेयक (सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल) लागू नहीं हो सकता है'. सनबोर शुल्लई ने कहा कि, 'मैं अपनी जान दे दूंगा. पीएम नरेंद्र मोदी के सामने आत्महत्या कर लूंगा, लेकिन मैं इस विधेयक को किसी भी सूरत में लागू नहीं होने दूंगा.

  • लोकसभा चुनाव से पहले BJP को बड़ा झटका: पूर्वोत्तर में एक सप्ताह में 25 ने छोड़ा साथ, कई मंत्री और विधायक भी शामिल

    लोकसभा चुनाव से पहले BJP को बड़ा झटका: पूर्वोत्तर में एक सप्ताह में 25 ने छोड़ा साथ, कई मंत्री और विधायक भी शामिल

    केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता किरण रिजिजू ने बताया कि टिकट बांटने का फैसला केंद्रीय चुनाव समिति की ओर से लिया गया है. उन्होंने कहा, 'टिकट का मुद्दा पार्टी का अंदरूनी मामला है. राज्य चुनाव समिति की सिफारिशों पर आखिरी फैसला केंद्रीय चुनाव समिति लेती है. हां, मौजूदा मंत्रियों को टिकट देने से मना कर दिया गया, लेकिन संसदीय बोर्ड द्वारा जमीनी स्थिति का आकलन किए जाने के बाद यह फैसला लिया गया.'

  • सांसदों का टिकट काटने पर अखिलेश यादव का BJP पर तंज- यह फॉर्मूला टीम के कप्तान पर भी लागू हो

    सांसदों का टिकट काटने पर अखिलेश यादव का BJP पर तंज- यह फॉर्मूला टीम के कप्तान पर भी लागू हो

    मंगलवार को भाजपा (BJP) ने कहा था कि इस बार राज्य में किसी भी मौजूदा सांसद को टिकट नहीं दिया जाएगा, उनकी जगह नए चेहरों को उतारा जाएगा. दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक (CEC) के बाद अनिल जैन ने यह जानकारी दी. बताया जा रहा है कि हालिया विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है. केंद्रीय समिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अन्य शीर्ष नेता शामिल हुए.

  • पूर्व CM का दावा- NDA सरकार ने मुझ पर ‘गुप्त हत्याएं’ जारी रखने का बनाया था दबाव

    पूर्व CM का दावा- NDA सरकार ने मुझ पर ‘गुप्त हत्याएं’ जारी रखने का बनाया था दबाव

    साल 2001 से 2016 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे गोगोई ने दावा किया कि तत्कालीन गृह मंत्री लालकृष्ण आडवाणी पूर्वोत्तर में उग्रवाद को मिटाने के लिए पंजाब पुलिस के पूर्व प्रमुख केपीएस गिल को असम का राज्यपाल बनाना चाहते थे. पंजाब में आतंकवाद को कुचलने का श्रेय गिल को दिया जाता है. गोगोई ने कहा, ‘हम पर गुप्त हत्याएं जारी रखने का दबाव था लेकिन हमने ऐसा नहीं किया. जब मैं 2001 में मुख्यमंत्री बना तो भाजपा चाहती थी कि गुप्त हत्याएं जारी रहें और आडवाणी चाहते थे कि इसके लिए केपीएस गिल को राज्यपाल के तौर पर भेजा जाए.’

Advertisement