NDTV Khabar

Omar abdullah news


'Omar abdullah news' - 97 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कश्मीर: कर्फ्यू में बकरीद पर दी जा सकती है ढील, पर रिहा नहीं किए जाएंगे उमर और मुफ्ती

    कश्मीर: कर्फ्यू में बकरीद पर दी जा सकती है ढील, पर रिहा नहीं किए जाएंगे उमर और मुफ्ती

    अधिकारी ने बताया कि सरकार कश्मीर घाटी में लगाई गई पाबंदियों में कुछ ढील देने की योजनाओं पर काम करने की कोशिश कर रही है, ताकि लोग बकरीद मना सकें. हालांकि, ऐसी संभावना है कि सरकार नजरबंद नेताओं पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को तत्काल रिहा नहीं करेगी. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि आने वाले दिनों में कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही नेताओं को रिहा किया जा सकेगा.

  • जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 को हटाए जाने पर लाल कृष्‍ण आडवाणी ने कहा...

    जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 को हटाए जाने पर लाल कृष्‍ण आडवाणी ने कहा...

    भारतीय जनसंघ के समय से ही जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त किया जाना पार्टी का एजेंडा रहा है. जब भारतीय जनता पार्टी की स्‍थापना हुई तो उसमें भी जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍ति एक प्रमुख मुद्दा था. बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अपने भाषणों में भी धारा 370 की समाप्‍ति का वादा दोहराते रहे हैं. हाल ही में समाप्‍त हुए लोकसभा चुनाव में तत्‍कालीन बीजेपी अध्‍यक्ष जम्‍मू-कश्‍मीर में अपने चुनावी भाषण में कहा था कि सरकार बनने के 100 दिनों के अंदर कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त कर देंगे. राजसभा में जब गृहमंत्री अमित शाह ने जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त करने की घोषणा की तो देश के कई प्रमुख दनों ने इसका स्‍वागत किया.

  • जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद दिल्ली मेट्रो में हाई अलर्ट जारी, चाक-चौबंद की गई सुरक्षा व्यवस्था

    जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद दिल्ली मेट्रो में हाई अलर्ट जारी, चाक-चौबंद की गई सुरक्षा व्यवस्था

    अधिकारियों ने बताया कि कई स्टेशनों पर यात्रियों को सीआईएसएफ कर्मियों द्वारा अतिरिक्त जांच से गुजरना पड़ेगा. अधिकारियों के अनुसार इसे संसद में जम्मू-कश्मीर पर हालिया घटनाक्रम और 15 अगस्त को होने वाले स्वतंत्रता दिवस जश्न के संदर्भ में जारी किया गया है. बता दें कि दिल्ली मेट्रो रेल नेटवर्क (डीएमआरसी) के 220 से अधिक स्टेशन हैं, जिनमें रोजाना करीब 28 लाख लोग यात्रा करते हैं.

  • धारा 370 को समाप्‍त किए जाने पर कांग्रेस ने कहा- भाजपा सरकार ने देश का सिर काटा, भारत से गद्दारी की

    धारा 370 को समाप्‍त किए जाने पर कांग्रेस ने कहा- भाजपा सरकार ने देश का सिर काटा, भारत से गद्दारी की

    कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘1927 के बाद ऐसी अनहोनी संसद के द्वारा की जा रही है. जम्मू-कश्मीर को भारत के साथ बनाए रखने के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी है. जब भी आतंकवाद हुआ उसका मुकाबला कश्मीर की जनता, वहां की मुख्यधारा की पार्टियां और हमारे सुरक्षा बलों ने किया.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर को एक सूत्र में बांधकर 370 ने रखा था लेकिन भाजपा की सरकार ने सत्ता के नशे में और वोट हासिल करने के लिए राजनीति, संस्कृति और भूगोल से भिन्न तरह के राज्य जम्मू-कश्मीर में एक झटके में तीन-चार चीजों को खत्म कर दिया. यह हिंदुस्तान की तारीख में काले शब्दों में लिखा जाएगा.’’

  • जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के समर्थन में AAP तो विरोध में कांग्रेस, जानें कौन-कौन हैं मोदी सरकार के खिलाफ

    जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के समर्थन में AAP तो विरोध में कांग्रेस, जानें कौन-कौन हैं मोदी सरकार के खिलाफ

    जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त किए जाने का फैसला लिया गया है. राज्‍यसभा में भारत के गृह मंत्री अमित शाह ने इसकी घोषणा की. भारत के राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने एक संवैधानिक आदेश में जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 हटाए जाने का आदेश दिया था. जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 के खंड एक को छोड़कर सभी प्रावधानों को खत्‍म कर दिया गया है. इसकी जानकारी गृह मंत्री ने सदन को दी. इसके साथ ही लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश के रूप में जम्‍मू-कश्‍मीर से अलग किया जा रहा है. गृह मंत्री के इस बयान के बाद राज्‍यसभा में जमकर हंगामा हुआ. राज्‍यसभा में विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह असंवैधानिक है और हम इसका विरोध करते हैं. गृह मंत्री के इस घोषणा के बाद देश के कुछ दल सरकार के इस फैसले का समर्थन किया तो कुछ दलों ने इसका विरोध किया. सरकार के इस कदम का विरोध करने वालों में कांग्रेस के अलावा टीएमसी, जेडीयू, एनसी, पीडीपी आदि शामिल हैं.

  • शिवसेना ने कहा- अखंड हिंदुस्‍तान का सपना पूरा करेंगे पीएम

    शिवसेना ने कहा- अखंड हिंदुस्‍तान का सपना पूरा करेंगे पीएम

    पार्टी की युवा सेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे ने इसे “गर्व का क्षण” बताते हुए देश के लिये “ऐतिहासिक दिन” करार दिया. दादर इलाके में स्थित शिवसेना के मख्यालय के बाहर जुटे पार्टी कार्यकर्ताओं ने सरकार के कदम का स्वागत करते हुए जश्न मनाया. आदित्य ठाकरे ने बाद में एक के बाद एक कई ट्वीट कर इस फैसले के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह को बधाई दी और इसे 'सुरक्षित, प्रगतिशील तथा मुक्त जम्मू-कश्मीर का रास्ता बताया'. उन्होंने ट्वीट किया, 'भारत के लिए ऐतिहासिक दिन. 370 खत्म और जम्मू कश्मीर अब सही मायनों में भारत का हिस्सा है...'

  • जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के समर्थन में BSP तो विरोध में JDU, जानें कौन-कौन हैं मोदी सरकार के साथ

    जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के समर्थन में BSP तो विरोध में JDU, जानें कौन-कौन हैं मोदी सरकार के साथ

    जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 के खंड एक को छोड़कर सभी प्रावधानों को खत्‍म कर दिया गया है. इसकी जानकारी गृह मंत्री ने सदन को दी. इसके साथ ही लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश के रूप में जम्‍मू-कश्‍मीर से अलग किया जा रहा है. गृह मंत्री के इस बयान के बाद राज्‍यसभा में जमकर हंगामा हुआ. राज्‍यसभा में विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह असंवैधानिक है और हम इसका विरोध करते हैं. गृह मंत्री की इस घोषणा के बाद भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव ने कहा कि आज का दिन काफी गौरवशाली है. अंतत: जम्मू-कश्मीर को भारत में पूर्ण रूप से शामिल किए जाने की श्यामा प्रसाद मुखर्जी समेत हजारों शहीदों की इच्छाओं का सम्मान हुआ.

  • धारा 370 हटने पर बोले पूर्व CM उमर अब्दुल्ला- आगे की लड़ाई लंबी और मुश्किल, हम इसके लिए तैयार

    धारा 370 हटने पर बोले पूर्व CM उमर अब्दुल्ला- आगे की लड़ाई लंबी और मुश्किल, हम इसके लिए तैयार

    पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा, भारत कश्मीर के साथ किए गए अपने वादों को पूरा करने में विफल रहा. बता दें, सरकार ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटा दिया. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो हिस्सों में बांटकर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया है.

  • जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 को खत्‍म किए जाने पर किसने क्‍या कहा?

    जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 को खत्‍म किए जाने पर किसने क्‍या कहा?

    गृह मंत्री के इस बयान के बाद राज्‍यसभा में जमकर हंगामा हुआ. कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह असंवैधानिक है और हम इसका विरोध करते हैं. गृह मंत्री की घोषणा के बाद पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के सांसद नजीर अहमद लवाय और मीर मोहम्मद फैयाज ने सदन में संविधान की प्रतियां फाड़कर अपना विरोध दर्ज कराया. इन सांसदों को राज्‍यसभा के सभापति ने सदन से जाने का आदेश दिया.

  • जम्मू में आज स्कूल और कॉलेज रहेंगे बंद, सुबह 6 बजे से धारा 144 होगी लागू

    जम्मू में आज स्कूल और कॉलेज रहेंगे बंद, सुबह 6 बजे से धारा 144 होगी लागू

    जम्मू की उपायुक्त सुषमा चौहान ने रविवार रात कहा कि सभी निजी और सरकारी स्कूलों और कॉलेजों को ऐतहियातन बंद रखने की सलाह दी गयी है.' अधिकारियों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की स्थिति के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है, जहां खतरे की आशंका के मद्देनजर सुरक्षा बलों की तैनाती कई गुना बढ़ा दी गई है.

  • News Flash: जम्‍मू कश्‍मीर : महबूबा मुफ्ती के बाद उमर अब्‍दुल्‍ला को भी किया गया गिरफ्तार

    News Flash: जम्‍मू कश्‍मीर : महबूबा मुफ्ती के बाद उमर अब्‍दुल्‍ला को भी किया गया गिरफ्तार

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें..

  • कश्मीर में स्थिति तनावपूर्ण, मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद

    कश्मीर में स्थिति तनावपूर्ण, मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद

     जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा बीच में ही समाप्त करने और तीर्थयात्रियों और पर्यटकों से जल्द से जल्द घाटी छोड़ने के लिए कहे जाने के बाद परेशान स्थानीय लोग घरों में जरूरी सामानों का स्टॉक करने के लिए दुकानों और ईंधन स्टेशनों पर बड़ी-बड़ी लाइनों में खड़े नजर आए. 

  • नजरबंद हुए पूर्व CM उमर अब्दुल्ला के समर्थन में आए कांग्रेस नेता शशि थरूर, Tweet कर कही यह बात

    नजरबंद हुए पूर्व CM उमर अब्दुल्ला के समर्थन में आए कांग्रेस नेता शशि थरूर, Tweet कर कही यह बात

    जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में जारी उथल-पुथल की स्थिति के बीच पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को नजरबंद कर दिया गया है. इसके बाद कांग्रेस नेता शशि थरूर उमर अब्दुल्ला के समर्थन में आए और कहा कि आप अकेले नहीं हैं.

  • Jammu Kashmir Update: गृहमंत्री अमित शाह के ऐलान के बाद राज्यसभा में हंगामा

    Jammu Kashmir Update: गृहमंत्री अमित शाह के ऐलान के बाद राज्यसभा में हंगामा

    रविवार शाम से घाटी के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद होने की जानकारी मिल रही है. वहीं सूत्रों के मुताबिक राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री  महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को नजरबंद किया गया है.

  • जम्मू कश्मीर में जारी उथल-पुथल के बीच पूर्व CM महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को किया गया नजरबंद

    जम्मू कश्मीर में जारी उथल-पुथल के बीच पूर्व CM महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को किया गया नजरबंद

    जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में जारी असमंजस की स्थिति के बीच पूर्व मुख्यमंत्री और महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को नजरबंद कर दिया गया है.

  • जम्मू कश्मीर में पर जारी कयासों के बीच एकजुट हुए राज्य के सभी नेता, कहा- 'विशेष दर्जे से छेड़छाड़ मंजूर नहीं' 

    जम्मू कश्मीर में पर जारी कयासों के बीच एकजुट हुए राज्य के सभी नेता, कहा- 'विशेष दर्जे से छेड़छाड़ मंजूर नहीं' 

    कश्मीर में असमंजस के बीच बीजेपी को छोड़कर बाकी सियासी पार्टियों के बीच सर्वदलीय बैठक हुई. सुरक्षा कारणों के चलते होटल में बैठक की इजाज़त नहीं दी गई थी. इसके बाद नेशनल कॉन्फ़्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के घर सर्वदलीय बैठक हुई.

  • जम्मू कश्मीर पर जारी कयासों के बीच महबूबा मुफ्ती ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, पूछा- कहां गई 'कश्मीरियत और जम्हूरियत?'

    जम्मू कश्मीर पर जारी कयासों के बीच महबूबा मुफ्ती ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, पूछा- कहां गई 'कश्मीरियत और जम्हूरियत?'

    जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर चल रहे कई कयासों के बीच पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने सर्वदलीय बैटक बुलाई है. पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि हमें कोई नहीं बता रहा है कि क्या होने वाला है? ऐसे में जम्मू-कश्मीर की सियासी पार्टियों और आवाम को साथ मिलकर हालात का मुक़ाबला करना है.

  • राज्यपाल से मिलने के बाद उमर अब्दुल्ला ने कहा- जम्मू-कश्मीर के हालात पर कहीं से कोई जवाब नहीं मिल रहा है

    राज्यपाल से मिलने के बाद उमर अब्दुल्ला ने कहा- जम्मू-कश्मीर के हालात पर कहीं से कोई जवाब नहीं मिल रहा है

    जम्मू-कश्मीर में अचानक से रोकी गई अमरनाथ यात्रा, सैलानियों को वापस आने की एडवाइजरी और घाटी में 25 हजार सैनिकों की अतिरिक्त तैनातगी के बीच राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात की है. इसके साथ ही अफवाह यह भी है कि केंद्र सरकार राज्य में अनुच्छेद 35A हटाने का विचार कर रही है. राज्यपाल से मुलाकात के बाद मीडिया से बाहर आकर उमर अब्दुल्ला ने कहा, हमें पता नहीं पता कि क्या हो रहा है. इसलिए एक प्रतिनिधिमंडल जिसमें में भी शामिल हूं, राज्यपाल से मिलकर पूछा कि यह सब कुछ क्यों हो रहा है. हमने अनुच्छेद 35A और अनुच्छेद 370 को हटाने की खबरों के बारे में भी पूछा है, जिस पर उन्होंने आश्वासन दिया है कि ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा है.'