NDTV Khabar

Opposition


'Opposition' - 387 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • News Flash : भाजपा आज जो है वह अरुण जेटली की वजह से है : कपिल सिब्बल

    News Flash : भाजपा आज जो है वह अरुण जेटली की वजह से है : कपिल सिब्बल

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • आर्टिकल 370 पर संसद में निराश किया कांग्रेस ने

    आर्टिकल 370 पर संसद में निराश किया कांग्रेस ने

    जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक लोकसभा में भी पास हो गया. राज्यसभा में सोमवार को पास हो गया था. गृह मंत्रालय का विधेयक था इसलिए दोनों ही दिन अमित शाह के रहे. प्रधानमंत्री दोनों दिन मौजूद रहे मगर वे सुनते ही रहे. खबर है कि वे देश को संबोधित करेंगे. अमित शाह ने पूरी तैयारी के साथ भाषण दिया. दोनों दिनों का भाषण एक जैसा ही था फिर भी विपक्ष उन्हें प्रभावशाली तरीके से घेर नहीं सका. शशि थरूर ने सरदार पटेल को लेकर अपनी बात रखी कि धारा 370 पर नेहरू और पटेल सबके दस्तखत थे. कांग्रेस भीतर से बंटती चली गई है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ज़रूर संवैधानिक प्रक्रियाओं का सवाल उठाया है लेकिन उन्होंने भी सरकार के विधेयक का समर्थन किया है.

  • EVM के विरोध में एकजुट हुए विपक्ष के नेता, पहली बार राज ठाकरे कांग्रेस के साथ

    EVM के विरोध में एकजुट हुए विपक्ष के नेता, पहली बार राज ठाकरे कांग्रेस के साथ

    महाराष्ट्र के विपक्षी पार्टियों के सभी नेता ईवीएम के विरोध और बैलट पेपर से चुनाव कराए जाने की मांग को लेकर शुक्रवार को एक मंच पर नजर आए. इन नेताओं ने ईवीएम पर जनता का भरोसा नहीं होने के कारण बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग की. विपक्ष के नेताओं ने अपनी मांग को लेकर 21 अगस्त को एक रैली भी निकालने की बात कही. इस विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस, एनसीपी, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, स्वाभिमानी शेतकरी संघटना सहित महाराष्ट्र के करीब सभी विपक्षी दलों के नेता एकजुट दिखे.

  • तीन तलाक बिल पर सांसदों की गैरमौजूदगी को लेकर विपक्ष में ब्लेम-गेम शुरू हुआ

    तीन तलाक बिल पर सांसदों की गैरमौजूदगी को लेकर विपक्ष में ब्लेम-गेम शुरू हुआ

    भारी हंगामे और विरोध के बीच मंगलवार को ट्रिपल तलाक बिल बहुमत से पारित हो गया लेकिन अब सवाल उठ रहे हैं कि मतदान के दौरान कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और एनसीपी जैसी पार्टियों के नेता कहां नदारद हो गए. इसको लेकर विपक्षी खेमे में ब्लेम-गेम शुरू हो गया है.

  • कांग्रेस MP ने बताया राज्यसभा में तीन तलाक बिल पर वोटिंग के दौरान वे क्यों थे गैर हाजिर

    कांग्रेस MP ने बताया राज्यसभा में तीन तलाक बिल पर वोटिंग के दौरान वे क्यों थे गैर हाजिर

    सूत्रों ने बताया कि विपक्ष के सदस्य अगर सदन में मौजूद होते तो वह विधेयक को प्रवर समिति के पास भिजवा सकता था. कांग्रेस के जो पांच सदस्य गैर हाजिर रहे उनमें विवेक तनखा, प्रताप सिंह बाजवा, मुकुट मिथी और रंजीब बिस्वाल के अलावा संजय सिंह भी हैं। संजय सिंह ने इससे पहले मंगलवार को ही कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. कांग्रेस और सपा सदस्यों के अलावा राकांपा के वरिष्ठ नेता शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल भी सदन में अनुपस्थित रहे। इसके अलावा तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक, आईयूएमएल और केरल कांग्रेस के एक- एक सदस्य भी वोटिंग के दौरान गैर हाजिर रहे.

  • ...क्या राज्यसभा से गैरहाज़िर रहकर विपक्षी सांसदों ने तीन तलाक बिल पास कराने में की सरकार की मदद...?

    ...क्या राज्यसभा से गैरहाज़िर रहकर विपक्षी सांसदों ने तीन तलाक बिल पास कराने में की सरकार की मदद...?

    सूत्रों ने बताया कि विपक्ष के सदस्य अगर सदन में मौजूद होते तो वह विधेयक को प्रवर समिति के पास भिजवा सकता था. कांग्रेस के जो पांच सदस्य गैर हाजिर रहे उनमें विवेक तनखा, प्रताप सिंह बाजवा, मुकुट मिथी और रंजीब बिस्वाल के अलावा संजय सिंह भी हैं. संजय सिंह ने इससे पहले आज ही कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. कांग्रेस और सपा सदस्यों के अलावा राकांपा के वरिष्ठ नेता शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल भी सदन में अनुपस्थित रहे.

  • महाराष्ट्र में विपक्ष निकालेगा मार्च, नारा दिया 'ईवीएम भारत छोड़ो'

    महाराष्ट्र में विपक्ष निकालेगा मार्च, नारा दिया 'ईवीएम भारत छोड़ो'

    महाराष्ट्र में विपक्षी दलों की मांग है कि विधानसभा का चुनाव ईवीएम के बदले बैलेट पेपर से हो. इस मुद्दे को लेकर राज्य के सभी विपक्षी दलों ने पत्रकार परिषद का आयोजन किया. विपक्षी दलों ने ईवीएम के खिलाफ नौ अगस्त क्रांति दिवस के अवसर पर लांग मार्च निकालने की घोषणा की है. नौ अगस्त 1942 को महात्मा गांधी ने "अंग्रेजो भारत छोड़ो" के नारे के साथ क्रांति की शुरुआत की थी. विपक्षी दल उसी दिन आंदोलन करेंगे. वे लांग मार्च कर ''ईवीएम भारत छोड़ो'' का नारा देंगे.

  • लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी तीन तलाक बिल पास, सरकार ने 'ऐतिहासिक दिन' बताया

    लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी तीन तलाक बिल पास, सरकार ने 'ऐतिहासिक दिन' बताया

    Triple Talaq Bill: विपक्ष के कड़े ऐतराज और बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग के बीच तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) राज्यसभा से पास हो गया. राज्यसभा में बिल के समर्थन में 99, जबकि विरोध में 84 वोट पड़े.

  • NDA में सहयोगी पार्टी जदयू ने बताया वह क्यों कर रही है तीन तलाक बिल का विरोध

    NDA में सहयोगी पार्टी जदयू ने बताया वह क्यों कर रही है तीन तलाक बिल का विरोध

    कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को कहा कि तीन तलाक संबंधी विधेयक मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के मकसद से लाया गया है और उसे किसी राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिये. उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा एक फैसले में इस प्रथा पर रोक लगाने के बावजूद तीन तलाक की प्रथा जारी है. इस विधेयक को लोकसभा से पिछले सप्ताह पारित किया जा चुका है.

  • आज राज्यसभा में आ सकता है तीन तलाक बिल, बीजेपी ने व्हिप जारी किया

    आज राज्यसभा में आ सकता है तीन तलाक बिल, बीजेपी ने व्हिप जारी किया

    राज्यसभा में मंगलवार को तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) आने की संभावना है. बीजेपी ने अपने सांसदों के लिए व्हिप जारी कर दिया है. तीन तलाक बिल को राज्यसभा में संशोधित कार्यसूची में डाला गया है. राज्यसभा में एनडीए (NDA) को बहुमत नहीं है. इसके अलावा जनता दल यूनाईटेड (JDU) बिल के खिलाफ है. सरकार को बीजेडी (BJD) के समर्थन की उम्मीद है. तीन तलाक बिल 25 जुलाई को लोकसभा में विपक्ष के भारी विरोध के बीच पारित हो चुका है. कांग्रेस (Congress) ने तीन तलाक को निषेध करने वाले विधेयक को स्थायी समिति को भेजने की मांग करते हुए कहा है कि तीन तलाक को फौजदारी का मामला बनाना उचित नहीं है. अब मोदी सरकार के सामने तीन तलाक बिल को राज्यसभा में पारित कराने की चुनौती है.

  • विपक्ष ने की RTI संशोधन विधेयक को प्रवर समिति में भेजने की मांग

    विपक्ष ने की RTI संशोधन विधेयक को प्रवर समिति में भेजने की मांग

    राज्यसभा में सोमवार को विपक्ष ने सूचना का अधिकार (संशोधन) विधेयक को प्रवर समिति में भेजने की मांग करते हुए कहा कि वर्तमान संसदीय सत्र में उच्च सदन में अभी तक जो 14 विधेयक पारित किये गये हैं उनमें से किसी को भी स्थायी समिति या प्रवर समिति में नहीं भेजा गया है. नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने भोजनावकाश के बाद बैठक शुरू होने पर यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि सदन के आज के एजेंडे में आरटीआई संशोधन विधेयक को चर्चा एवं पारित करने के लिए रखा गया है.

  • मध्य प्रदेश विधानसभा में BJP नेता गोपाल भार्गव बोले- हमारे नंबर-1 और नंबर-2 कह देंगे तो एक दिन भी नहीं चलेगी ये सरकार

    मध्य प्रदेश विधानसभा में BJP नेता गोपाल भार्गव बोले- हमारे नंबर-1 और नंबर-2 कह देंगे तो एक दिन भी नहीं चलेगी ये सरकार

    भाजपा नेताओं पर सदन के बाहर बार-बार कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत मध्य प्रदेश सरकार के गिरने का बयान देने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि यदि भाजपा में हिम्मत है तो वह विधानसभा के मौजूदा मानसून सत्र में साबित करे कि कमलनाथ सरकार के पास पर्याप्त संख्या बल नहीं है. कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने मीडिया को बताया था, ‘भाजपा नेता सदन के बाहर मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरने के बयान देते हैं. बजट के दौरान मौके होते हैं. भाजपा ने सदन में मत-विभाजन क्यों नहीं मांगा?’’

  • गोवा विधानसभा में कांग्रेस के पास बचे सिर्फ 5 विधायक, कांग्रेस किसे बनाएगी विपक्ष का नेता

    गोवा विधानसभा में कांग्रेस के पास बचे सिर्फ 5 विधायक, कांग्रेस किसे बनाएगी विपक्ष का नेता

    कांग्रेस विधायक दिगंबर कामत ने मंगलवार को कहा कि गोवा विधानसभा में विपक्ष का नेता कौन होगा, इसका फैसला पार्टी आलाकमान करेगा.  पिछले सप्ताह नेता प्रतिपक्ष चन्द्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस के 10 विधायकों ने भाजपा में विलय कर लिया था जिससे पार्टी को बड़ा झटका लगा है. राज्य में 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सामने आयी कांग्रेस के पास अब महज पांच विधायक बचे हैं.

  • राज्यसभा में चर्चा के दौरान पीएम मोदी के निशाने पर रही कांग्रेस, विपक्ष ने कहा- सवालों के जवाब नहीं दिए

    राज्यसभा में चर्चा के दौरान पीएम मोदी के निशाने पर रही कांग्रेस, विपक्ष ने कहा- सवालों के जवाब नहीं दिए

    राज्यसभा में प्रधानमंत्री ने बुधवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब दिया. उन्होंने चुनावी नतीजों को देश की हार बताने को लेकर कांग्रेस और विपक्ष को पूरी तरह घेरा. ईवीएम पर विपक्ष के एतराज़ का भी जवाब दिया. उन्होंने यह भी अपील कर डाली कि राज्यसभा लोकसभा में पास हुए बिल न रोके.

  • पीएम मोदी के भाषण से विपक्ष असंतुष्ट, टीएमसी ने कहा- धर्म के नाम पर जो हो रहा, वह संविधान में नहीं

    पीएम मोदी के भाषण से विपक्ष असंतुष्ट,  टीएमसी ने कहा- धर्म के नाम पर जो हो रहा, वह संविधान में नहीं

    संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के जवाब को लेकर तृणमूल कांग्रेस (TMC) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने NDTV से बातचीत में तीखी प्रतिक्रिया जताई है, वहीं बीजेपी (BJP) ने बचाव किया है. टीएमसी की सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा कि धर्म के नाम पर जो कुछ हो रहा है वह संविधान में नहीं है. सपा के सांसद आजम खान ने कहा है कि चुटकी भर लोगों के सवाल को अल्पसंख्यकों का सवाल नहीं माना जाएगा. बीजेपी की सांसद लॉकेट चटर्जी ने विपक्ष पर बंगाल को पाकिस्तान बनाने का आरोप लगाया है.

  • TOP 5 NEWS: पीएम मोदी ने विपक्ष से कहा नंबरों की चिंता न करें, ममता की तृणमूल कांग्रेस को एक और झटका

    TOP 5 NEWS: पीएम मोदी ने विपक्ष से कहा नंबरों की चिंता न करें, ममता की तृणमूल कांग्रेस को एक और झटका

    नई लोकसभा के पहले सत्र से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष से कहा कि नंबरों की चिंता छोड़ दीजिए. पीएम ने कहा कि लोगों ने हमें देश की सेवा करने का फिर अवसर दिया है. मैं सभी पार्टियों से अनुरोध करता हूं कि उन निर्णयों का समर्थन करें, जो जनहित में हों. संसद में पीएम मोदी के शपथ लेने के बाद मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने कांग्रेस से पूछा कि कहां हैं राहुल गांधी?

  • मध्यप्रदेश में 165 दिन में 450 आईएएस-आईपीएस अफसरों के ट्रांसफर, बीजेपी ने कहा- यह तबादला उद्योग

    मध्यप्रदेश में 165 दिन में 450 आईएएस-आईपीएस अफसरों के ट्रांसफर, बीजेपी ने कहा- यह तबादला उद्योग

    मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद एक बार फिर तबादलों का दौर शुरू हो गया है. शनिवार को भी 60 से ज्यादा आईएएस-आईपीएएस अधिकारियों के तबादले हुए हैं. विपक्ष एक बार फिर सरकार पर तबादला उद्योग चलाने का आरोप लगाने लगा है, वहीं सरकार का कहना है कि बीजेपी के राज में इससे ज्यादा तबादले होते थे.

  • कांग्रेस ने शुक्रवार को बुलाई विपक्षी दलों की बैठक, हार के कारणों पर होगा मंथन

    कांग्रेस ने शुक्रवार को बुलाई विपक्षी दलों की बैठक, हार के कारणों पर होगा मंथन

    लोकसभा चुनावों में हार का सामना करने के बाद कांग्रेस ने अपनी हार के संभावित कारणों पर चर्चा करने के लिए 31 मई को संसद में विपक्षी पार्टियों की एक बैठक बुलाई है.

Advertisement