NDTV Khabar

Parliament


'Parliament' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • नए संसद भवन में हर सांसद के लिए होगा डिजिटल सुविधाओं से लैस अलग ऑफिस : लोकसभा सचिवालय

    नए संसद भवन में हर सांसद के लिए होगा डिजिटल सुविधाओं से लैस अलग ऑफिस : लोकसभा सचिवालय

    लोकसभा सचिवालय के मुताबिक नए संसद भवन में कॉन्स्टिट्यूशन हॉल, सांसद लाउंज, पुस्तकालय, समितियों के कक्ष, भोजन क्षेत्र, पर्याप्त पार्किंग क्षेत्र होगा. सचिवालय ने यह भी बताया कि निर्माण की अवधि के दौरान संसद सत्र, अन्य कार्यकम मौजूदा भवन में निर्बाध रूप से जारी रहेंगे.

  • संसदीय समिति के सदस्यों ने फेसबुक की पॉलिसी हेड अंखी दास से डेटा सुरक्षा पर सवाल-जवाब किए : सूत्र

    संसदीय समिति के सदस्यों ने फेसबुक की पॉलिसी हेड अंखी दास से डेटा सुरक्षा पर सवाल-जवाब किए : सूत्र

    Facebook India : फेसबुक के अधिकारी संयुक्त संसदीय समिति के समक्ष इस मसले पर पेश हुए. बैठक में फेसबुक इंडिया का प्रतिनिधित्व पॉलिसी हेड अंखी दास और बिजनेस हेड अजित मोहन ने किया

  • डेटा प्रोटेक्शन बिल से जुड़ी संसदीय समिति के समक्ष अमेजन के अधिकारी पेश न हुए तो कार्रवाई संभव

    डेटा प्रोटेक्शन बिल से जुड़ी संसदीय समिति के समक्ष अमेजन के अधिकारी पेश न हुए तो कार्रवाई संभव

    Data Protection Bill : संसदीय समिति ने एकमत से यह राय बनाई कि अगर अमेजन के प्रतिनिधि 26 अक्टूबर को पेश नहीं होते हैं तो उनकी गैरमौजूदगी को गंभीरता से लिया जाएगा.

  • संयुक्त संसदीय समिति ने फेसबुक और ट्विटर को डेटा संरक्षण बिल पर चर्चा के लिए भेजा समन

    संयुक्त संसदीय समिति ने फेसबुक और  ट्विटर को डेटा संरक्षण बिल पर चर्चा के लिए भेजा समन

    सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और ट्विटर के वरिष्ठ अधिकारियों को डेटा संरक्षण और गोपनीयता के मुद्दों के बारे में एक संयुक्त संसदीय समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया है. कांग्रेस द्वारा व्यक्त की गई चिंताओं के बाद, सभी हितधारकों को फीडबैक लेने के लिए बुलाया गया है. 

  • UP-उत्तराखंड की 11 राज्यसभा सीटों पर चुनाव का ऐलान, 9 नवंबर को होगी वोटिंग 

    UP-उत्तराखंड की 11 राज्यसभा सीटों पर चुनाव का ऐलान, 9 नवंबर को होगी वोटिंग 

    चुनाव आयोग ने आधिकारिक बयान में कहा गया है कि "दो राज्यों में पर्यवेक्षक के रूप में मुख्य निर्वाचन अधिकारियों" को नियुक्त किया गया है. दोनों राज्यों के मुख्य सचिवों को निर्देश दिया गया है कि चुनाव के आयोजन की व्यवस्था करते समय COVID-19 रोकथाम उपायों के बारे में निर्देशों को सुनिश्चित करने के लिए एक वरिष्ठ अधिकारी की तैनाती की जाए." 

  • मॉनसून सत्र के दौरान 167% रही उत्पादकता, 37 घंटे की जगह 60 घंटे चला सदन : लोक सभा स्पीकर

    मॉनसून सत्र के दौरान 167% रही उत्पादकता, 37 घंटे की जगह 60 घंटे चला सदन : लोक सभा स्पीकर

    लोकसभा स्पीकर ने आगे कहा, 'संसद के 100 साल हो रहे हैं, बहुत शीघ्र ही हम नया भवन बनाने जा रहे हैं. टेंडर हो चुका है, 892 करोड़ के बजट का अनुमान था. 21 महीने में नई बिल्डिंग का निर्माण पूरा होगा. 2022 में पार सेशन नए भवन में होगा इसकी संभावना है.'

  • दिशाहीन हो गई है विपक्ष की राजनीति : जावड़ेकर

    दिशाहीन हो गई है विपक्ष की राजनीति : जावड़ेकर

    केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने विपक्षी दलों की राजनीति को ‘‘दिशाहीन’’ ठहराते हुए संसद में पारित कुछ अहम विधेयकों को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से शिकायत करने पर उन्हें आड़े हाथों लिया. पार्टी ने कहा कि संसद में बोलने के अपने अधिकार को छोड़कर विपक्षी दल बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं और शिकायतें कर रहे हैं.

  • श्रम सुधार विधेयक मजदूरों का हित सुनिश्चित करेंगे, आर्थिक विकास को मजबूती देंगे: मोदी

    श्रम सुधार विधेयक मजदूरों का हित सुनिश्चित करेंगे, आर्थिक विकास को मजबूती देंगे: मोदी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रमिकों के कल्‍याण और सुरक्षा के लिए श्रम संहिता संबंधी तीन विधेयकों के संसद से पारित होने पर कहा कि ये सुधार परिश्रमी मजदूरों का हित सुनिश्चित करेंगे और आर्थिक विकास को मजबूती देंगे.

  • लोकसभा का मानसून सत्र समाप्त, असाधारण हालात में बने कई रिकॉर्ड

    लोकसभा का मानसून सत्र समाप्त, असाधारण हालात में बने कई रिकॉर्ड

    संसद (Parliament) का मॉनसून सत्र (Monsoon session) इसकी तय अवधि से पहले समाप्त हो गया. बुधवार को दोपहर में राज्यसभा (Rajya Sabha) का सत्रावसान हो गया और शाम को लोकसभा (Lok Sabha) को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया. इस बार कोविड-19 (Covid-19) की छाया के बीच चले संसद के मानसून सत्र में लोकसभा ने इतिहास रच दिया. मानसून सत्र में लोकसभा की कार्य उत्पादकता 167 प्रतिशत रही जो लोकसभा के किसी भी सत्र में सर्वाधिक है. दस दिन चले सत्र में 25 विधेयक पारित किए गए तथा कई अन्य रिकॉर्ड भी बने.

  • राष्ट्रपति से मिले विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, कहा- कृषि विधेयक वापस लिए जाएं

    राष्ट्रपति से मिले विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, कहा- कृषि विधेयक वापस लिए जाएं

    कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) से मुलाकात की. विपक्षी दल विवादास्पद कृषि विधेयकों (Farm bills) के खिलाफ विरोध जारी रखे हैं. इन विधेयकों को संसद में मंजूरी दे दी गई है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता आज़ाद और राष्ट्रपति के बीच बैठक विपक्षी दलों द्वारा संसद की र्कायवाही  का बहिष्कार शुरू करने के एक दिन बाद हुई है. कांग्रेस (Congress) नेता गुलाम नबी आजाद ने राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद कहा कि सरकार को कृषि संबंधी विधेयक लाने से पहले सभी दलों, किसान नेताओं के साथ विचार-विमर्श करना चाहिए था. 

  • किसान बिलों के विरोध में आज राष्ट्रपति से मिलने की तैयारी में विपक्ष, पढ़ें- अब तक की 10 बड़ी बातें

    किसान बिलों के विरोध में आज राष्ट्रपति से मिलने की तैयारी में विपक्ष, पढ़ें- अब तक की 10 बड़ी बातें

    केंद्र की एनडीए सरकार के तीन किसान बिलों पर जबरदस्त हंगामा मचा हुआ है. ये तीनों बिल संसद के दौनों सदनों में पास किए जा चुके हैं. अब इनके कानून बनने में बस राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के एक हस्ताक्षर भर की जरूरत है. इन बिलों के विरोध में विपक्षी पार्टियां पूरी तरह से लामबंद हैं. विपक्ष ने मंगलवार को विरोध में राज्यसभा का बहिष्कार करने का ऐलान किया था. अब इसके बाद वो राष्ट्रपति से मुलाकात करने की तैयारी कर रहे हैं. विपक्ष चाहता है कि राष्ट्रपति इन बिलों पर हस्ताक्षर न करके इन्हें लौटा दें. बस विपक्ष ही नहीं, देश के कई राज्यों में किसानों और किसान संघों का भी इन विधेयकों के खिलाफ गुस्सा दिख रहा है. विपक्ष के नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आज़ाद आज शाम पांच बजे राष्ट्रपति से मुलाकात करने वाले हैं.

  • विपक्ष के बहिष्कार के बीच राज्यसभा में 3 लेबर कोड बिल पारित, अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया सदन

    विपक्ष के बहिष्कार के बीच राज्यसभा में 3 लेबर कोड बिल पारित, अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया सदन

    संसद का मानसून सत्र (Monsoon Session of Parliament) जारी है. कृषि व अन्य विधेयकों को लेकर विपक्षी दल केंद्र सरकार पर हमलावर हैं और सभी दल सदन की कार्यवाही का बहिष्कार कर रहे हैं. विपक्षी दलों के सदन की कार्यवाही के बॉयकॉट के बावजूद राज्यसभा (Rajya Sabha) में आज (बुधवार) तीन लेबर कोड बिलों (Labour Code Bills) को पारित कर दिया गया है.

  • Parliament Monsoon Session Live Update: अनिश्चित काल के लिए राज्यसभा स्थगित

    Parliament Monsoon Session Live Update: अनिश्चित काल के लिए राज्यसभा स्थगित

    Parliament Monsoon Session Live Update:  कोरोना वायरस महामारी के साये में आयोजित राज्यसभा का ‘‘ऐतिहासिक’’ मानसून सत्र बुधवार को अपने निर्धारित समय से करीब आठ दिन पहले अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गया. छोटी सी अवधि होने के बावजूद सत्र के दौरान 25 विधेयकों को पारित किया जबकि हंगामे के कारण आठ विपक्षी सदस्यों को रविवार को शेष सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया. सभापति एम वेंकैया नायडू ने सत्र को अनिश्चित काल के लिए स्थगित करने से पहले अपने पारंपरिक संबोधन में कहा कि यह सत्र कुछ मामलों में ऐतिहासिक रहा क्योंकि इस दौरान उच्च सदन के सदस्यों को बैठने की नयी व्यवस्था के तहत पांच अन्य स्थानों पर बैठाया गया. ऐसा उच्च सदन के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ. इसके अलावा सदन ने लगातार दस दिनों तक काम किया. शनिवार और रविवार को सदन में अवकाश नहीं रहा. 

  • विपक्षी दलों पर बरसीं मायावती, बोलीं- संसद में उनका बर्ताव लोकतंत्र को शर्मसार करनेवाला

    विपक्षी दलों पर बरसीं मायावती, बोलीं- संसद में उनका बर्ताव लोकतंत्र को शर्मसार करनेवाला

    रविवार (20 सितंबर) को राज्यसभा में किसान बिल पारित कराने के दौरान विपक्षी सांसदों ने काफी शोर-शराबा और हंगामा किया था. टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने तो उप सभापति के आसान के पास जाकर रूल बुक तक फाड़ दी थी.

  • कोरोना संकट की वजह से आज खत्म हो सकता है संसद का मानसून सत्र

    कोरोना संकट की वजह से आज खत्म हो सकता है संसद का मानसून सत्र

    कोरोनावायरस (Coronavirus) संकट की वजह से करीब पांच महीने बाद 14 सितंबर से संसद (Parliament Session) का मानसून सत्र (Monsoon Session) शुरू हुआ था. यह सत्र 18 दिनों का था. इसे 1 अक्टूबर को खत्म होना था लेकिन कोरोना काल में मुसीबतें कम नहीं हुईं, लिहाजा आज (बुधवार) मानसून सत्र खत्म हो सकता है. सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया जा सकता है. विपक्ष ने किसान बिलों (Farm Bills) को लेकर दोनों सदनों की कार्यवाही का बॉयकॉट किया है.

  • डिप्टी स्पीकर की 'चाय डिप्लोमेसी', कृषि सुधार के तीसरे बिल समेत सात विधेयक पारित

    डिप्टी स्पीकर की 'चाय डिप्लोमेसी', कृषि सुधार के तीसरे बिल समेत सात विधेयक पारित

    कृषि सुधार (Agricultural Reform) से जुड़े विधेयकों के खिलाफ राज्यसभा (Rajya Sabha) में अपना विरोध जताने आठ निलंबित सांसद रात भर संसद (Parliament) परिसर में ही रहे. सुबह-सुबह राज्यसभा के उप सभापति चाय लेकर उनके पास पहुंचे. लेकिन उनकी चाय डिप्लोमेसी निलंबित सांसदों की नाराजगी दूर नहीं कर सकी. सदन की कार्रवाई शुरू हुई तो विपक्ष की ओर से सासंदों का निलंबन वापस लेने की मांग उठी. सरकार की ओर से बिना शर्त माफी मांगने पर निलंबन खत्म करने की पेशकश की गई जिस पर विपक्ष राजी नहीं है. इसी दौरान सरकार ने कृषि सुधार से जुड़े तीसरे बिल सहित सात विधेयक पारित करा लिए.

  • लोकसभा में 'डिफेंसिव मोड' में सरकार, कृषि मंत्री बोले- कांग्रेस के दांत खाने के और, दिखाने के और

    लोकसभा में 'डिफेंसिव मोड' में सरकार, कृषि मंत्री बोले- कांग्रेस के दांत खाने के और, दिखाने के और

    मोदी सरकार की ओर से लाए गए तीन किसान विधेयकों (Farm Bills) ने संसद में घमासान मचा रखा है. इनमें से दो बिल संसद के दोनों सदनों में पास किए जा चुके हैं. पहले दो बिलों पर कई विपक्षी पार्टियों का जबरदस्त विरोध-प्रदर्शन झेल रही सरकार लोकसभा में विपक्ष के हो-हल्ले के बीच कांग्रेस पर हमला करते और अपना बचाव करते नजर आई.

  • केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद बोले- निलंबित राज्यसभा MPs मांफी मांगें, तब होगा सस्पेंशन रद्द करने पर विचार

    केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद बोले- निलंबित राज्यसभा MPs मांफी मांगें, तब होगा सस्पेंशन रद्द करने पर विचार

    केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘ हमें उम्मीद थी कि कांग्रेस राज्यसभा में विपक्षी सदस्यों के ‘‘अमर्यादित’’ आचरण का विरोध करेगी.’’उन्होंने कहा, ‘‘ राज्यसभा के निलंबित सदस्यों द्वारा अपने आचरण के लिए माफी मांगे जाने के बाद ही उनका निलंबन रद्द करने पर विचार किया जाएगा .’’

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com