Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Patna flood


'Patna flood' - 62 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • RJD नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना, बोले- बेशर्मों की धूर्तता देखिये...

    RJD नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना, बोले- बेशर्मों की धूर्तता देखिये...

    आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने नीतीश कुमार सरकार पर निशाना साधा है. तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा, 'भ्रष्टाचार में मस्त, छल-कपट में व्यस्त बेशर्मों की धूर्तता और नग्नता देखिए. जिन भ्रष्ट नेताओं ने सीवर, ड्रेनेज सिस्टम, स्मार्ट सिटी, नमामि गंगे के हज़ारों करोड़ बिना डकार लिए हज़म कर लिए वही नीतीश-सुशील मोदी के लोग इसकी जांच करेंगे. वाह सुशासन बाबू! वाह..'

  • पटना जल जमाव के जांच के लिए समिति के गठन का मामला : सुशील मोदी ने नीतीश सरकार की लाज बचाई

    पटना जल जमाव के जांच के लिए समिति के गठन का मामला : सुशील मोदी ने नीतीश सरकार की लाज बचाई

    पटना में जलजमाव क्यों हुआ इसकी जांच के लिए बनाई गई समिति को लेकर उठे विवाद के बाद अब खबर आ रही है कि उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को जैसे ही इस आदेश के बारे में पता चला उन्होंने नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव से जानकारी ली और साफ़ कहा कि कि ये जांच दल काम शुरू नहीं करेगा.

  • नीतीश सरकार का 'अजीब' फैसला, पटना की दुर्दशा के 'जिम्मेदार' ही करेंगे जांच

    नीतीश सरकार का 'अजीब' फैसला, पटना की दुर्दशा के 'जिम्मेदार' ही करेंगे जांच

    बिहार की राजधानी पटना में जलजमाव (Patna Flood) से राज्य के नगर विकास विभाग की पोल खुल गई है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने 14 वर्षों के शासनकाल में किस प्रकार से अर्बन प्लानिंग की उपेक्षा की है इसका भी नजारा इस बाढ़ में दिखा है. लेकिन राज्य सरकार ने इस अभूतपूर्व जलजमाव से कुछ ना सीखा और न ही कुछ सबक़ लेना चाहती है.

  • पटना में जल जमाव : नेताओं के एक वर्ग ने लोगों की सेवा की, दूसरे वर्ग ने वोट पाने की रणनीति बनाई

    पटना में जल जमाव : नेताओं के एक वर्ग ने लोगों की सेवा की, दूसरे वर्ग ने वोट पाने की रणनीति बनाई

    बिहार की राजधानी पटना में जल जमाव से दो तरह के नेता जनता के सामने आए हैं. एक जिन्होंने इस जल जमाव के बहाने वोट मिले या नहीं, इसकी परवाह किए बिना जनता की ख़ूब सेवा की और वाहवाही भी बटोरी. इन नेताओं में पूर्व सांसद पप्पू यादव, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद रहे. दूसरे वे नेता जो पानी में तो जनता के बीच नहीं दिखे लेकिन पानी के बहाने सरकार, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी. ऐसे नेताओं में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जयसवाल और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव प्रमुख थे.

  • राजद नेता जगदानंद सिंह ने अब नीतीश कुमार से सवाल पूछे

    राजद नेता जगदानंद सिंह ने अब नीतीश कुमार से सवाल पूछे

    राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने बाढ़ और जलजमाव से जूझते बिहार को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल किए हैं. 'पटना और बिहार में आई बाढ़ की त्रासदी का सच' शीर्षकयुक्त एक बयान में कहा, 'नीतीश जी, पटना में जलजमाव या जलभराव पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर आपको आश्चर्यजनक जवाब देते सुना था, लेकिन इंतज़ार करना बेहतर समझा, ताकि आप कष्ट में पड़ी आबादी को समस्या से निजात दिलवा सकें... पटना के लोग अब भी कष्ट में हैं, हालांकि पानी अधिकांश इलाकों से निकाला जा चुका है या निकासी के अंतिम चरण में है... सो, मैं आपसे या आपके माध्यम से निम्न बातें जानना चाहता हूं, जिनके जवाब यदि आप दे सकें, तो लोगों को सच्चाई मालूम होगी...'

  • जलजमाव मामले पर आलोचनाओं का सामना कर रहे CM नीतीश कुमार को लेकर क्या बिहार BJP बंट गई?

    जलजमाव मामले पर आलोचनाओं का सामना कर रहे CM नीतीश कुमार को लेकर क्या बिहार BJP बंट गई?

    नीतीश की आलोचना के बहाने कई नेताओं ने अपना राजनीतिक एजेंडा भी खुल कर सामने रख दिया. जहां नीतीश कुमार के समर्थन में बिहार भाजपा के दो वरिष्ठ नेता सुशील मोदी और नंद किशोर यादव एक बार फिर खड़े दिखे. वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने नीतीश कुमार का खुलकर विरोध किया, जो राजनीतिक ताना बाना पिछले एक महीने से बुनना शुरू किया था. उन्होंने अपने विरोध के पत्ते सरकार की आलोचना के नाम पर एक बार फिर खुल कर खेले. इसमें उन्हें बिहार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा और बिहार भाजपा के नव नियुक्त अध्यक्ष संजय जयसवाल का भी साथ मिला.

  • पटना में बाढ़ हुई कम, लेकिन बीजेपी-जेडीयू के बीच 'पानी सिर के ऊपर'

    पटना में बाढ़ हुई कम, लेकिन बीजेपी-जेडीयू के बीच 'पानी सिर के ऊपर'

    बिहार की राजधानी पटना में बाढ़ के बाद बीजेपी और जेडीयू  में ही आपसी टकराव बढ़ता जा रहा है. बीजेपी की ओर से केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह जहां मोर्चा संभाले हुए वहीं अभी तक जेडीयू ने चुप्पी साध रखी थी लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि संजय कुमार झा ने मोर्चा संभाल लिया है.

  • गिरिराज सिंह और तेजस्वी यादव के 'सुर और ताल' में इतनी समानता क्यों हैं?

    गिरिराज सिंह और तेजस्वी यादव के 'सुर और ताल' में इतनी समानता क्यों हैं?

    बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव भले ही शनिवार शाम को गोवा, दिल्ली प्रवास के बाद पटना पहुंचे लेकिन रविवार को भी उन्होंने जल जमाव से परेशान पटनावासियों की सुध लेने की ज़रूरत नहीं समझी. तेजस्वी के कट्टर समर्थक और उनके पार्टी के नेता उनके ऐसे राजनीतिक क़दम से हैरान और परेशान हैं.

  • Patna जल जमाव पर सियासत: दो महीने पहले जिस पूर्व कमिश्नर के काम की मंत्री कर रहे थे तारीफ, अब उसी को बताया जिम्मेदार

    Patna जल जमाव पर सियासत: दो महीने पहले जिस पूर्व कमिश्नर के काम की मंत्री कर रहे थे तारीफ, अब उसी को बताया जिम्मेदार

    वीडियो में मंत्री कह रहे है कि पिछले दो साल का वर्क रिकॉर्ड अच्छा रहा है. मैं मेयर से अपील करता हूं कि नगर निगम के कमिश्नर अनुपम सुमन के अच्छे काम के लिए तालियां बजाएं. जब मैं शहरी विकास मंत्री बना तो पटना बहुत खराब था. मैं इसके स्मार्ट सिटी बनने के बारे में सोच भी नहीं सकता था. लेकिन मेयर और पटना नगर निगम कमिश्नर ने शहर को बदल दिया.

  • Bihar: बाढ़ के बाद महामारी की आशंकाओं के बीच अस्पताल अलर्ट पर, जारी किए टोल फ्री नंबर

    Bihar: बाढ़ के बाद महामारी की आशंकाओं के बीच अस्पताल अलर्ट पर, जारी किए टोल फ्री नंबर

    पूरे प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनया से प्रभावित लोगों की संख्या 900 के पार पहुंच गई है. जिसमें अकेले पटना में क़रीब 520 मामले हैं. शनिवार को डेंगू के 120 मामले पॉजिटिव पाए गए. जबकि चिकनगुनिया के भी 70 से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं. महामारी की आशंकाओं के बीच बिहार सरकार ने सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखते हुए सभी सुविधाओं को जनता के लिए उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं.

  • बिहार में बीजेपी-आरजेडी को लेकर 'दो दिल मिल रहे हैं मगर चुपके-चुपके' वाली अटकलें, नीतीश पर गिरिराज के हमले जारी

    बिहार में बीजेपी-आरजेडी को लेकर 'दो दिल मिल रहे हैं मगर चुपके-चुपके' वाली अटकलें, नीतीश पर गिरिराज के हमले जारी

    पटना में जल जमाव से कई तरह की महामारी भी हो रही है. इस बीच केंद्रीय मंत्री  गिरिराज सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को 'पानी-पानी करने' का एक नया अभियान शुरू किया है. जिसमें उनके अपनी पार्टी के कई नेता यहां तक कि नीतीश मंत्रिमंडल के सदस्य जैसे नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा भी सार्वजनिक रूप से कह रहे हैं कि अधिकारी उनकी नहीं सुनते थे. इस बीच आरजेडी के कई नेताओं ने गिरिराज के बयानो का समर्थन किया है. जिससे राजनीतिक गलियारे में नीतीश को घेरने के लिए भाजपा के इस गुट और राजद के बीच एक अलिखित सहमति के ऊपर अटकलों को बल मिला है.

  • बिहार में बाढ़ और बारिश के बाद अब डेंगू-चिकनगुनिया की मार, मरीजों की संख्या 900 के पार पहुंची

    बिहार में बाढ़ और बारिश के बाद अब डेंगू-चिकनगुनिया की मार, मरीजों की संख्या 900 के पार पहुंची

    बिहार में बाढ़, बारिश और जल जमाव से बुरे हालात हैं. राज्य में 160 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि अब महामारी का ख़तरा मंडरा रहा है. पूरे प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनया से प्रभावित लोगों की संख्या 900 के पार पहुंच गई है. जिसमें अकेले पटना में क़रीब 520 मामले हैं. शनिवार को डेंगू के 120 मामले पॉजिटिव पाए गए. जबकि चिकनगुनिया के भी 70 से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं. वहीं पटना में हुई बाढ़ से दुदर्शा के बाद चारो ओर से घिरे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान का साथ मिला है.  हालांकि पासवान ने पटना का जल जमाव का कोई ज़िक्र तो नहीं किया लेकिन उन्होंने शनिवार को एक ट्वीट कर ज़रूर कहा कि राज्य के मुखिया के तौर पर आपने सुशासन की नयी परिभाषा लिखी है.   

  • भाजपा जलजमाव के बहाने आख़िर नीतीश कुमार को निशाने पर क्यों रख रही है?

    भाजपा जलजमाव के बहाने आख़िर नीतीश कुमार को निशाने पर क्यों रख रही है?

    बिहार की राजधानी पटना में जलजमाव के बहाने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जितना विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की आलोचना का सामना नहीं करना पड़ रहा है उससे कहीं अधिक आलोचना उनको अपने सहयोगी भाजपा के नेताओं की झेलनी पड़ रही है जिसका नेतृत्व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कर रहे हैं.

  • पटना की मेयर जलजमाव के मुद्दे पर संवाददाता सम्मेलन में क्यों पानी पानी हो गयीं? देखें VIDEO

    पटना की मेयर जलजमाव के मुद्दे पर संवाददाता सम्मेलन में क्यों पानी पानी हो गयीं? देखें VIDEO

    पटना शहर में जल जमाव को लेकर प्रभावित इलाकों में सभी जनप्रतिनिधियों के खिलाफ गुस्‍सा है फिर चाहे वो मंत्री हों, विधायक या मेयर. इसका अंदाज़ा इन सबों को है लेकिन अब अपनी गलतियों को स्वीकार करने की बजाय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सारा ठीकरा फ़ोड़ने की एक रणनीति के तहत ये लोग बारी-बारी से संवादाता सम्मेलन कर रहे हैं.

  • Bihar Floods: पटना में अब भी कई जगह जलजमाव, अब डेंगू और चिकनगुनिया का बढ़ा खतरा

    Bihar Floods: पटना में अब भी कई जगह जलजमाव, अब डेंगू और चिकनगुनिया का बढ़ा खतरा

    राजधानी पटना में बारिश थमने के बाद भी कई इलाकों में अभी भी पानी जमा है. कुछ इलाकों में पानी निकाला गया है जहां अब महामारी का ख़तरा बन गया है.

  • सड़कों पर पानी भरने से पटना की जनता परेशान, JDU और BJP के नेता एक-दूसरे पर डाल रहे जिम्मेदारी

    सड़कों पर पानी भरने से पटना की जनता परेशान, JDU और BJP के नेता एक-दूसरे पर डाल रहे जिम्मेदारी

    इस बात में कोई संदेह नहीं कि बिहार की राजधानी पटना अगर पिछले 7 दिन से जल जमाव से परेशान और तबाह है तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी समेत सभी लोग जिम्मेदार हैं. लेकिन दोनो दलों के नेताओं के बीच अब बयानों के माध्यम से जो हो रहा है, उससे तो लगता है कि जनता के बीच एक दूसरे को विलेन घोषित करने के लिए ये कोई मौका नहीं गंवाना चाहते. सबसे पहले जल जमाव के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहराने का सिलसिला भाजपा की तरफ से शुरू हुआ और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसकी शुरुआत की.

  • पटना में जलजमाव को लेकर बोले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह- जो बाढ़ आया उसके लिए जनता नहीं हम जिम्मेदार

    पटना में जलजमाव को लेकर बोले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह- जो बाढ़ आया उसके लिए जनता नहीं हम जिम्मेदार

    बेगूसराय में बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए गिरिराज ने कहा ''मैं बेगूसराय से जनप्रतिनिध हूं अगर यहां कुछ नहीं होता है तो कमियों को हम स्वीकारेंगे और जनता से क्षमा याचना करेंगे. राजग का हिस्सा होने के साथ पटना में भी भाजपा के कई सांसद हैं और वहां की जनता ने हमपर भरोसा किया. जो बाढ़ आया उसके लिए जनता नहीं हम जिम्मेदार हैं.

  • नीतीश ने माना कि पंपिंग हाउसों के काम न करने से जल जमाव था, कहा- अब पटना को सुधार देंगे

    नीतीश ने माना कि पंपिंग हाउसों के काम न करने से जल जमाव था, कहा- अब पटना को सुधार देंगे

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को माना कि पटना के पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे, लेकिन साथ ही उन्होंने वादा किया कि अब पटना को सुधार देंगे. बिहार की राजधानी पटना पिछले पांच दिनों से रिकॉर्ड बरसात के कारण जल जमाव की समस्या झेल रही है. इसके कारण पटना साहिब में रहने वाले लाखों लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. जल जमाव का एक बड़ा कारण शहर में जल निकासी के पंपिंग स्टेशन का काम नहीं करना बताया जा रहा है. ख़ुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को स्वीकार किया कि सभी पंपिंग हाउस काम नहीं कर रहे थे. मंगलवार देर शाम से ही अधिकांश ने काम करना शुरू किया जिससे कि जल निकासी का काम भी आखिरकार प्रारंभ हो पाया.

Advertisement