NDTV Khabar

Personal finance


'Personal finance' - 5 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Happy New Year 2019: अगर चाहते हैं भविष्य में ना हो पैसों की कमी, तो 2019 से ही लें ये 6 फैसले

    Happy New Year 2019: अगर चाहते हैं भविष्य में ना हो पैसों की कमी, तो 2019 से ही लें ये 6 फैसले

    2019 आने वाला है. इस साल भी हर बार की तरह हम खुद से कई वादे करेंगे, जैसे सेहत पर ज्यादा ध्यान देना, आर्थिक मामलों में अनुशासन और पैसों के मामलों में स्ट्रॉन्ग रहने के लिए सही निवेश करना.

  • ... तो इसलिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) में हाथ आजमाएं इस बार, 27 फरवरी से बिक्री शुरू

    ... तो इसलिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) में हाथ आजमाएं इस बार, 27 फरवरी से बिक्री शुरू

    नोटबंदी के बाद से यदि आपके भीतर भी बचत योजनाओं में घटते ब्याज को लेकर चिंता पैदा हुई है तो आप इस बार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bonds) यानी सरकारी स्वर्ण बॉन्ड में हाथ आजमा सकते हैं. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 'ग्राम्स ऑफ़ गोल्ड' में मूल्यांकित सरकारी प्रतिभूतियां हैं. ये फिज़िकल गोल्ड अपने पास रखने के विकल्प हैं. फिजिकल गोल्ड यानी जूलरी, गोल्ड बार, गोल्ड कॉइन (सिक्का) आदि को हतोत्साहित करने और पेपर गोल्ड को प्रोत्साहित करना भी स्कीम का मकसद है. इसकी बिक्री का सातंवा दौर 27 फरवरी यानी सोमवार से शुरू होगा.

  • नरेंद्र मोदी सरकार में देश में प्रति व्यक्ति ऋण तेजी से बढ़ा, जेटली ने दिया बयान

    नरेंद्र मोदी सरकार में देश में प्रति व्यक्ति ऋण तेजी से बढ़ा, जेटली ने दिया बयान

    पिछले कुछ दशकों से भारत सरकार कर्ज लेकर अपना खर्चा पूरा कर रही हैं. हर साल सरकार सरकार तमाम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों से कर्ज लेती हैं. सरकारों की मंशा होती है कि कर्ज कम किया जाए. लेकिन पिछले पांच सालों के आंकड़े बताते हैं कि हर साल प्रति व्यक्ति ऋण बढ़ता ही गया है. यानि सरकारों ने लगातार ऋण बढ़ा ही लिया है.

  • वित्तमंत्री अरुण जेटली की संपत्ति एक साल में 2.83 करोड़ रुपए घटी

    वित्तमंत्री अरुण जेटली की संपत्ति एक साल में 2.83 करोड़ रुपए घटी

    वित्त मंत्री अरुण जेटली की संपत्ति वित्त वर्ष 2015-16 में 2.83 करोड़ रुपये कम हो गई है। बैंक खाते में नकदी कम होने से उनकी संपत्ति 68.41 करोड़ रुपये रह गई है।

  • फ्लैशबैक 1991: मनमोहन सिंह को कैसे मिली थी वित्तमंत्री बनाए जाने की खबर

    फ्लैशबैक 1991: मनमोहन सिंह को कैसे मिली थी वित्तमंत्री बनाए जाने की खबर

    साल 1991 की एक सुबह पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सो ही रहे थे कि उन्हें पीवी नरसिंह राव की सरकार में वित्तमंत्री बनाए जाने का प्रस्ताव मिला और तत्कालीन प्रधानमंत्री राव ने तब उनसे मजाक में कहा था कि अगर 'उन्होंने अच्छा नहीं किया' तो उन्हें बर्खास्त कर दिया जाएगा।