NDTV Khabar

Ppf


'Ppf' - 39 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • PPF, NCS और अन्‍य छोटी बचत योजनाओं में ब्‍याज दर 0.4 प्रतिशत बढ़ाई

    PPF, NCS और अन्‍य छोटी बचत योजनाओं में ब्‍याज दर 0.4 प्रतिशत बढ़ाई

    वित्तमंत्री ने जारी अधिसूचना में कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही के लिए विभिन्न लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरें संशोधित की जाती हैं.

  • मोदी सरकार ने PPF, NCS और अन्‍य छोटी बचत योजनाओं में ब्‍याज दर बढ़ाई

    मोदी सरकार ने PPF, NCS और अन्‍य   छोटी बचत योजनाओं में ब्‍याज दर बढ़ाई

    लघु बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरों को तिमाही के आधार पर संशोधित किया जाता है. वित्तमंत्री ने जारी अधिसूचना में कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही के लिए विभिन्न लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरें संशोधित की जाती हैं. 

  • महिलाएं इनवेस्ट करना चाहती हैं PPF में पैसा, तो जान लें इससे जुड़ी ये 7 जरूरी बातें

    महिलाएं इनवेस्ट करना चाहती हैं PPF में पैसा, तो जान लें इससे जुड़ी ये 7 जरूरी बातें

    पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (Public Provident Fund) के बारे में जानिए सभी जरूरी बातें जिससे हर महिला इस स्कीम को पूरी तरह से समझ सकेगी.

  • EPFO ने जमा और निकासी करने के नियमों में हाल में किए ये बदलाव

    EPFO ने जमा और निकासी करने के नियमों  में हाल में किए ये बदलाव

    रिटायरमेंट से जुड़े कर्मचारियों के फंड की रखरखाव करने वाली संस्था ईपीएफओ यानी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने हाल ही में अपने कुछ नियमों में बदलाव किया. खाताधारकों को पीएफ (PF) अंशधारकों के लिए ईपीएफओ (EPFO) द्वारा समय समय पर जारी किए जाने वाले निर्देश और नियमों में बदलावों से अवगत रहना बहुत जरूरी होता है. इससे समय पड़ने पर दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ता.

  • लोक भविष्य निधि (PPF), अन्य लघु बचत योजनाओं पर ये है मौजूदा ब्याज दर

    लोक भविष्य निधि (PPF), अन्य लघु बचत योजनाओं पर ये है मौजूदा ब्याज दर

    सरकार ने राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) और लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) समेत लघु बचत योजनाओं पर जुलाई-सितंबर के लिये ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया है. लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को तिमाही आधार पर अधिसूचित किया जाता है.

  • जानें, आपका PPF खाता कब पांच साल की FD से बेहतर हो जाता है...

    जानें, आपका PPF खाता कब पांच साल की FD से बेहतर हो जाता है...

    इनकम टैक्स के नियमों के हिसाब से देखें, तो PPF आपको EEE (करमुक्त, करमुक्त, करमुक्त) का लाभ देता है, यानी PPF खाते में प्रत्येक वर्ष जमा कराई गई 1.5 लाख रुपये तक की रकम पर आपको इनकम टैक्स नहीं देना होता, इस पर मिलने वाला ब्याज भी पूरी तरह टैक्स फ्री, यानी करमुक्त होता है, और मैच्योरिटी पर मिलने वाली समूची रकम भी पूरी तरह करमुक्त, यानी टैक्स फ्री होती है...

  • जानें, आपका PPF खाता कब 5 साल की FD से बेहतर हो जाता है...

    जानें, आपका PPF खाता कब 5 साल की FD से बेहतर हो जाता है...

    इनकम टैक्स के नियमों के हिसाब से देखें, तो PPF आपको EEE (करमुक्त, करमुक्त, करमुक्त) का लाभ देता है, यानी PPF खाते में प्रत्येक वर्ष जमा कराई गई 1.5 लाख रुपये तक की रकम पर आपको इनकम टैक्स नहीं देना होता, इस पर मिलने वाला ब्याज भी पूरी तरह टैक्स फ्री, यानी करमुक्त होता है, और मैच्योरिटी पर मिलने वाली समूची रकम भी पूरी तरह करमुक्त, यानी टैक्स फ्री होती है...

  • अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ

    अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ

    पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता हर नौकरीपेशा का जरूरत है. उसे यह खाता समय रहते ही खुलवा लेना चाहिए. पीपीएफ निवेश का भी बढ़िया विकल्प माना जाता है. पीपीएफ में निवेशकों को सुनिश्चित और कर-मुक्त रुपया मिलता है. इस पर मिलने वाला ब्याज, आयकर की धारा 10 के अंतर्गत कर से छूट दिलाता है. यह बहुत कम लोगों को पता है कि PPF में निवेश के बाद भी समय से पहले जमा की निकासी, और जमा पर लोन तथा खाते को पहले बंद करने की सुविधा भी मिलती है.

  • अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ, जानें 11 बातें

    अगर आपके पास है पीपीएफ (PPF) खाता, तब आप उठा सकते हैं ये लाभ, जानें 11 बातें

    पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता हर नौकरीपेशा का जरूरत है. उसे यह खाता समय रहते ही खुलवा लेना चाहिए. पीपीएफ निवेश का भी बढ़िया विकल्प माना जाता है. पीपीएफ में निवेशकों को सुनिश्चित और कर-मुक्त रुपया मिलता है. इस पर मिलने वाला ब्याज, आयकर की धारा 10 के अंतर्गत कर से छूट दिलाता है. यह बहुत कम लोगों को पता है कि PPF में निवेश के बाद भी समय से पहले जमा की निकासी, और जमा पर लोन तथा खाते को पहले बंद करने की सुविधा भी मिलती है.

  • नौकरी पेशा को क्यों खुलवाना चाहिए PPF खाता, और उठाना चाहिए यह बड़ा लाभ

    नौकरी पेशा को क्यों खुलवाना चाहिए PPF खाता, और उठाना चाहिए यह बड़ा लाभ

    भविष्य निधि के जरिए सरकार हर नौकरीपेशा का पैसा जमा कर उस पर ब्याज देती रही है. यह पैसा हमेशा से नौकरी पेशा को समय पर एकमुश्त रकम देता है जो वह रिटायरमेंट के बाद या फिर नौकरी छोड़ने के बाद प्रयोग में लाता है. सरकार इस प्रकार के फंड में पैसा जमा कराने का एक और रास्ता उपलब्ध कराती है. यह है पीपीएफ. पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) कई दशकों से निवेशकों के लिए बचत और बचत को ब्याज के माध्यम से बढ़ाने का अच्छा माध्यम है.

  • नौकरी पेशा को क्यों खुलवाना चाहिए PPF खाता, और उठाना चाहिए यह बड़ा लाभ

    नौकरी पेशा को क्यों खुलवाना चाहिए PPF खाता, और उठाना चाहिए यह बड़ा लाभ

    भविष्य निधि के जरिए सरकार हर नौकरीपेशा का पैसा जमा कर उस पर ब्याज देती रही है. यह पैसा हमेशा से नौकरी पेशा को समय पर एकमुश्त रकम देता है जो वह रिटायरमेंट के बाद या फिर नौकरी छोड़ने के बाद प्रयोग में लाता है. सरकार इस प्रकार के फंड में पैसा जमा कराने का एक और रास्ता उपलब्ध कराती है. यह है पीपीएफ. पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) कई दशकों से निवेशकों के लिए बचत और बचत को ब्याज के माध्यम से बढ़ाने का अच्छा माध्यम है.

  • जमा पूंजी बढ़ाने के लिए FD या PPF में बेहतर कौन?

    जमा पूंजी बढ़ाने के लिए FD या PPF में बेहतर कौन?

    आम तौर पर पीपीएफ और एफडी मुनाफे या कहें लाभ देने में लगभग समान माने जाते रहे हैं. इनमें मुख्य अंतर यह होता है कि पीपीएफ की अवधि 15 साल होती है जबकि एफडी की एक महीने से लेकर एक साल या 5 साल या कुछ भी हो सकती है. टैक्स छूट की बात करें तो दोनों पर 80 सी के अनुसार छूट मिलती है, लेकिन यादे रहे, एफडी में पांच साल का लॉक-इन पीरियड होने पर ही छूट मिलती है, इससे कम अवधि की एफडी पर नहीं. एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर कर चुकाना होता है जबकि पीपीएफ में मिलने वाले पैसे पर कई टैक्स नहीं देना होता. यानि यह टैक्स से पूरी तरह मुक्त होता है.

  • किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    किसमें लगाए पैसा, FD या PPF में बेहतर कौन?

    आम तौर पर पीपीएफ और एफडी मुनाफे या कहें लाभ देने में लगभग समान माने जाते रहे हैं. इनमें मुख्य अंतर यह होता है कि पीपीएफ की अवधि 15 साल होती है जबकि एफडी की अवधि 5 साल या अलग-अलग हो सकती है. टैक्स छूट की बात करें तो दोनों पर 80 सी के अनुसार छूट मिलती है, लेकिन एफडी में पांच साल का लॉक-इन पीरड होने पर ही छूट मिलती है. एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर कर चुकाना होता है जबकि पीपीएफ में मिलने वाले पैसे पर कई टैक्स नहीं देना होता. यानि यह टैक्स से पूरी तरह मुक्त होता है.

  • जानें सरकार की छोटी बचत योजनाओं में कितना मिल रहा है ब्याज, आप भी उठाएं लाभ

    जानें सरकार की छोटी बचत योजनाओं में कितना मिल रहा है ब्याज, आप भी उठाएं लाभ

    सुरक्षित निवेश के लिए लोग अकसर सरकारी योजनाओं में निवेश करते हैं. सबसे ज्यादा इस्तेमाल पोस्ट ऑफिस का होता है. बहुत सारे लोग सरकार की छोटी बचत योजनाओं में निवेश करते हैं. इसके लिए अकसर वह यही सोचते रहते हैं कि आखिर कहां और किस योजना में निवेश किया जाए. उन्हें इस बात की जानकारी चाहिए होती है कि किस योजना में कितना ब्याज मिलेगा.

  • जल्दी करें निवेश, सरकार की छोटी बचत योजनाओं में मिल रहा है इतना ब्याज

    जल्दी करें निवेश, सरकार की छोटी बचत योजनाओं में मिल रहा है इतना ब्याज

    सरकार की स्माल सेविंग्स स्कीम (छोटी बचत योजनाोओं) पर क्या ब्याज दर चल रहा है. ऐसी ही जानकारी यहां पर दी जा रही है. गौरतलब है कि इन सभी योजनायों पर सरकार हर तिमाही ब्याज दर (इंटरेस्ट रेट) बदल सकती है. यह सरकार पर निर्भर करता है कि वह कब इसमें बदलाव करे. स्पष्ट कर दें कि यह जरूरी नहीं कि सरकार हर तिमाही में बदलाव करे.

  • अब बचत खाते जैसा हो जाएगा आपका PPF अकाउंट

    अब बचत खाते जैसा हो जाएगा आपका PPF अकाउंट

    बजट में प्रस्तावित बदलावों से लोक ​भविष्य निधि (पीपीएफ) योजना के तहत मिलने वाले लाभ खत्म होने की आशंकाओं को खारिज करते हुए आर्थिक मामलों के सचिव एस सी गर्ग ने कहा कि मौजूदा व नई पीपीएफ जमाओं को कुर्क किए जाने से सुरक्षा मिलती रहेगी.

  • बजट में बदले लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स के नियम - अब बचत के लिए यही दो योजनाएं हैं सबसे मुफीद

    बजट में बदले लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स के नियम - अब बचत के लिए यही दो योजनाएं हैं सबसे मुफीद

    वित्तवर्ष 2018-19 के आम बजट में केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स की जद में म्यूचुअल फंड भी ला दिए, और अब इनकम टैक्स कटौती के बाद हाथ आने वाली अपनी तनख्वाह में से टैक्स-फ्री निवेश के विकल्प और भी घट गए हैं...

  • PPF समेत कई छोटी बचत योजनाओं पर अब कम मिलेगा ब्याज- 10 खास बातें

    PPF समेत कई छोटी बचत योजनाओं पर अब कम मिलेगा ब्याज- 10 खास बातें

    सरकार ने राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र और लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) समेत लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर में बुधवार को 0.2 प्रतिशत की कटौती की. यह कटौती जनवरी-मार्च अवधि के लिए है. इससे बैंक जमा पर मिलने वाले ब्याज में कमी कर सकते हैं. दूसरी तरफ पांच वर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दर 8.3 प्रतिशत पर बरकरार रखी गई है. वरिष्ठ नागरिकों को ब्याज दर तिमाही आधार पर दी जाती है.