NDTV Khabar

Pranab mukherjee


'Pranab mukherjee' - 594 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब संघ प्रमुख के साथ मंच साझा करेंगे उद्योगपति रतन टाटा

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब संघ प्रमुख के साथ मंच साझा करेंगे उद्योगपति रतन टाटा

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब अगले महीने होने वाले एक कार्यक्रम में उद्योगपति रतन टाटा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ मंच साझा करेंगे. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी पिछले महीने नागपुर में राष्ट्रीय आरएसएस के एक कार्यक्रम का हिस्सा बन चुके हैं. कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति का हिस्सा लेना चर्चा का विषय बन गया था.

  • धन्यवाद, डॉ. प्रणब दा...

    धन्यवाद, डॉ. प्रणब दा...

    अपने ही लोगों के तीव्र विरोध के बाद भी पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर प्रणब मुखर्जी संघ के कार्यक्रम में नागपुर आए और पूर्ण सहभागी हुए, इसलिए उनका विशेष अभिनंदन एवं धन्यवाद. वह डॉक्टर केशवराव बलिराम हेडगेवार के घर भी गए और वहां अपना भाव एकदम स्पष्ट शब्दों में लिखकर व्यक्त किया. स्मृति मंदिर में जाकर डॉक्टर हेडगेवार और श्री गुरुजी का स्मरण और अभिवादन किया और कार्यक्रम में अपने मन की बात खुलकर की.

  • शुजात बुखारी की हत्या : प्रणब मुखर्जी, राजनाथ, राहुल सहित इन बड़े नेताओं ने जताया गहरा शोक

    शुजात बुखारी की हत्या : प्रणब मुखर्जी, राजनाथ, राहुल सहित इन बड़े नेताओं ने जताया गहरा शोक

    पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथा सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से लेकर कई पत्र और विपक्ष के नेताओं ने गहरा शोक जताया है.

  • राहुल की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए प्रणब, 'विपक्षी एकता' की एक बार फिर दिखी झलक

    राहुल की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए प्रणब, 'विपक्षी एकता' की एक बार फिर दिखी झलक

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मेजबानी में दिए गए इफ्तार पार्टी में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी एवं प्रतिभा पाटिल और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा विपक्षी दलों के कई नेताओं ने शिरकत की. इफ्तार पार्टी में शामिल होने वालों में पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, जेडीयू के बागी नेता शरद यादव, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी, राजद के मनोज झा, बसपा के सतीश मिश्रा, जेडीएस के दानिश अली, द्रमुक की कनिमोई, झामुमो के हेमंत सोरेन, राकांपा के डीपी त्रिपाठी और एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल प्रमुख रहे. गौरतलब है कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह के बाद एक बार फिर राहुल की इफ्तार पार्टी में विपक्षी एकता की झलक दिखाई पड़ी है. 

  • RSS के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी गांधी की शहादत से छलावा है : के के तिवारी

    RSS के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी गांधी की शहादत से छलावा है : के के तिवारी

    पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता के.के तिवारी ने कहा कि नागपुर में आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने का प्रणब मुखर्जी का निर्णय ‘‘महात्मा गांधी की शहादत से छलावा है.’’

  • प्रणब मुखर्जी होंगे 2019 में NDA के PM कैंडिडेट? शिवेसना के दावे पर शर्मिष्ठा ने दिया यह जवाब

    प्रणब मुखर्जी होंगे 2019 में NDA के PM कैंडिडेट? शिवेसना के दावे पर शर्मिष्ठा ने दिया यह जवाब

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की पुत्री और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने रविवार को कहा कि उनके पिता दोबारा राजनीति में शामिल नहीं होने जा रहे हैं. शर्मिष्ठा ने शिवसेना द्वारा प्रणव मुखर्जी के दोबारा देश की सक्रिय राजनीति में आने के कयास पर यह बयान दिया है. शिवसेना ने कहा कि 2019 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत नहीं मिलने पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रधानमंत्री पद के लिए मुखर्जी के नाम का प्रस्ताव दे सकता है.

  • कांग्रेस खत्म हो गई है, अब भी आप लोग इस पार्टी से उम्मीद करते हैं : असदुद्दीन ओवैसी

    कांग्रेस खत्म हो गई है, अब भी आप लोग इस पार्टी से उम्मीद करते हैं : असदुद्दीन ओवैसी

    हैदराबाद में एक कार्यक्रम के दौरान एआईएमआईएम के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ.प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने पर कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस खत्म हो गई'. वह यही नहीं रुके, हैदराबाद के सांसद ने कहा कि जो शख्स 50 सालों तक कांग्रेस में रहा और फिर देश का राष्ट्रपति रहा हो वह आरएसएस के मुख्यालय पहुंच गया, क्या अब भी आप लोग इस पार्टी (कांग्रेस) से उम्मीद करते हैं.

  • प्रणब के दांव से चित्त हुई कांग्रेस

    प्रणब के दांव से चित्त हुई कांग्रेस

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के संघ मुख्यालय पर कल के भाषण के बाद अब नई बहस शुरू हो गई है. क्या कांग्रेस ने तीखा विरोध कर जल्दबाजी तो नहीं की. कम से कम प्रणब दा के भाषण के बाद आई कांग्रेस और अन्य वरिष्ठ नेताओं की प्रतिक्रिया तो यही बता रही है. हालांकि एक बड़ा सवाल अब भी बना हुआ है कि प्रणब मुखर्जी आखिर संघ मुख्यालय क्यों गए.

  • आडवाणी ने प्रणब मुखर्जी की तारीफ में पढ़े कसीदे, बोले- उनका RSS मुख्यालय जाना इतिहास की महत्वपूर्ण घटना

    आडवाणी ने प्रणब मुखर्जी की तारीफ में पढ़े कसीदे, बोले- उनका RSS मुख्यालय जाना इतिहास की महत्वपूर्ण घटना

    आरएसएस के आजीवन स्वयंसेवक आडवाणी ने कहा कि उनका मानना है कि प्रणब मुखर्जी और भागवत ने विचारधाराओं एवं मतभेदों से परे संवाद का सही अर्थो में सराहनीय उदाहरण पेश किया है.

  • प्रणब मुखर्जी की Fake फोटो पर RSS ने कहा, ‘यह संघ को बदनाम करने की घटिया चाल’

    प्रणब मुखर्जी की Fake फोटो पर RSS ने कहा, ‘यह संघ को बदनाम करने की घटिया चाल’

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सर कार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने एक बयान में कहा कि कुछ विभाजनकारी राजनीतिक तत्वों ने नागपुर में कल आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक समारोह से जुड़ी एक झूठी तस्वीर पोस्ट की जिसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को प्रार्थना की मुद्रा में दिखाया गया है. 

  • 'प्रणब के नागपुर दौरे से बढ़ी RSS की स्वीकार्यता, आगबबूला हुई कांग्रेस'

    'प्रणब के नागपुर दौरे से बढ़ी RSS की स्वीकार्यता, आगबबूला हुई कांग्रेस'

    पूर्व राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी के गुरुवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, यानी RSS के तृतीय वर्ष प्रशिक्षण शिविर के नागपुर में आयोजित समापन समारोह में शिरकत करने और उनके दिए भाषण से ज़्यादा चर्चा में फिलहाल कुछ नहीं है, और अलग-अलग राजनैतिक वर्गों द्वारा उसे लेकर अलग-अलग अर्थ निकाले जा रहे हैं. इन्हीं विभिन्न तर्कों के बीच यह भी कहा जा रहा है कि डॉ मुखर्जी के कार्यक्रम में शामिल होने तथा उनके दिए भाषण से RSS को लाभ होगा, भारतीय जनता पार्टी (BJP) को खुशी हो रही है, और कांग्रेस गुस्से से आगबबूला हो रही है.

  • संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के भाषण के बाद कांग्रेस नेताओं ने ली राहत की सांस, आनंद शर्मा के भी बदले सुर

    संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के भाषण के बाद कांग्रेस नेताओं ने ली राहत की सांस, आनंद शर्मा के भी बदले सुर

    बुधवार को नागपुर में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के मुख्यालय में टीवी चैनलों पर जैसे ही पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लाइव दिखें, उसके तुरंत बाद कांग्रेस के सीनियर नेता आनंद शर्मा ने ट्वीट कर कहा कि संघ मुख्यालय में ‘वरिष्ठ नेता और विचारक’ की तस्वीरें देखकर कांग्रेस पार्टी के लाखों कायकर्ताओं और भारतीय गणराज्य के बहुलवाद, विविधता एवं बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वालों को दुख हुआ है. बता दें कि प्रणब मुखर्जी के भाषण से पहले कांग्रेस नेता काफी अस्मंजस में थे कि संघ के कार्यक्रम में आखिर वह क्या बोलेंगे, मगर भाषण के बाद कांग्रेस नेता राहत की सांस लेते नजर आए. 

  • प्रणब मुखर्जी के RSS मुख्‍यालय में भाषण के बाद बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा- जिसका डर था, वही हुआ

    प्रणब मुखर्जी के RSS मुख्‍यालय में भाषण के बाद बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा- जिसका डर था, वही हुआ

    कांग्रेस ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तस्वीरें देखकर पार्टी के लाखों कायकर्ताओं और भारत के बहुलवाद, विविधता एवं बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वालों को दुख हुआ है.

  • प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नागपुर में संघ के मुख्यालय में जाने और वहां पर संघ के प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को भाषण देने के फैसले पर हर जगह चर्चा हो रही है. गुरुवार की शाम को उन्होंने जो भाषण दिया उसका हर कोई अपने-अपने हिसाब से मायने निकाल रहा है. इससे पहले पूरी कांग्रेस असहज नजर आ रही थी. यहां तक कि उनकी बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनका (डॉ.मुखर्जी) भाषण किसी को याद नहीं रहेगा हां, उनकी तस्वीर का इस्तेमाल जरूर किया जाएगा. लेकिन कुशल राजनेता मुखर्जी बिना किसी दबाव में आए संघ के कार्यक्रम में गए और अपने 'उच्चस्तरीय' भाषण के जरिये संघ को उसी के मच पर कई नसीहतें दें डालीं. प्रणब मुखर्जी अपना भाषण अंग्रेजी में दे रहे थे, मगर बीच-बीच में वह अपनी मातृभाषा बांग्ला के मुहावरों का इस्तेमाल भी कर रहे थे. इससे पहले डॉ. नुखर्जी ने संघ के संस्थापक डॉ. हेडगेवार को भारत माता का सच्चा सपूत भी कहा. यह बात उन्होंने विजिटर डायरी में लिखी है.

  • प्रणब के आरएसएस समारोह में शामिल होने पर बहस की जरूरत नहीं : मोहन भागवत

    प्रणब के आरएसएस समारोह में शामिल होने पर बहस की जरूरत नहीं : मोहन भागवत

    राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर में संघ के मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के शामिल होने पर सभी आलोचनाओं को खारिज कर दिया और कहा कि यहां उनकी (प्रणब की) उपस्थिति बहस का मुद्दा नहीं होना चाहिए.

  • बहुलतावाद और सहिष्णुता है भारत की आत्मा : संघ मुख्‍यालय में प्रणब मुखर्जी के भाषण की 10 बड़ी बातें

    बहुलतावाद और सहिष्णुता है भारत की आत्मा : संघ मुख्‍यालय में प्रणब मुखर्जी के भाषण की 10 बड़ी बातें

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बहुलतावाद एवं सहिष्णुता को भारत की 'आत्मा’ करार देते हुए गुरुवार को आरएसएस को परोक्ष तौर पर आगाह किया कि ‘धार्मिक मत और असहिष्णुता’ के माध्यम से भारत को परिभाषित करने का कोई भी प्रयास देश के अस्तित्व को कमजोर करेगा. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे मुखर्जी ने कांग्रेस के तमाम नेताओं के विरोध के बावजूद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयं सेवकों के प्रशिक्षण वर्ग के समापन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात नागपुर में रेशमबाग स्थित आरएसएस मुख्यालय में कही.

  • असहिष्णुता केवल हमारी राष्ट्रीय पहचान को कमजोर करेगी : संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी

    असहिष्णुता केवल हमारी राष्ट्रीय पहचान को कमजोर करेगी : संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी

    राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के तृतीय वर्ष के समारोह में पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि हम पूरी दुनिया को एक परिवार की तरह देखते हैं और सबों की भलाई के लिए प्रार्थना करते हैं. उन्‍होंने कहा कि विविधता में एकता हमारी ताकत है.

  • वो तीन फैसले, जिनके लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल को हमेशा याद किया जाएगा

    वो तीन फैसले, जिनके लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल को हमेशा याद किया जाएगा

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज नागपुर में आरएसएस यानी राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के मुख्यालय में एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे. यहां वह संघ शिक्षा वर्ग के तीसरे वर्ष के दिक्षांत समारोह में अपना भाषण देंगे. हालांकि, इस पर घमासाम अभी भी जारी है. कल तक कांग्रेस के नेता प्रणब मुखर्जी के इस फैसले की आलोचना कर रहे थे, मगर बुधवार को उनकी बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी उनके फैसले को सही नहीं ठहराया. हालांकि, अब प्रणब मुखर्जी के कार्यक्रम में किसी तरह के बदलाव के आसार नहीं दिख रहे हैं. वह नागपुर पहुंच चुके हैं और शाम को करीब 6 बजे संघ के मुख्यालय में अपना भाषण देंगे. सबकी नजरें सिर्फ इस बात पर होगी कि आखिर कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी क्या बोलते हैं, जो अपने राजनीतिक जीवन में संघ के विरोधी रहे हैं. मगर इन सबसे इतर आज हम पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के उन बड़े फैसलों की बात करेंगे, जिन्होंने राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान उऩ्होंने ली और उसकी वजह से उन्हें आज भी याद किया जाता है. पूर्व राष्ट्रपतियों की तुलना में अक्सर प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल को बेहतर माना जाता है क्योंकि इन्होंने अपने कार्यकाल में करीब 37 दया याचिकाएं खारिज की और कसाब और अफजल गुरु जैसे खूंखार आतंकियों को भी फांसी की सजा को मंजूरी दी.  

Advertisement