NDTV Khabar

Pranab mukherjee


'Pranab mukherjee' - 598 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राष्ट्रपति के दूसरे कार्यकाल के लिए तैयार थे अब्दुल कलाम, लेकिन इस वजह से हट गए थे पीछे...

    राष्ट्रपति के दूसरे कार्यकाल के लिए तैयार थे अब्दुल कलाम, लेकिन इस वजह से हट गए थे पीछे...

    पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम (APJ Abdul Kalam) 2012 में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए तैयार थे, लेकिन कांग्रेस की तरफ से समर्थन नहीं मिलने के कारण वह पीछे हट गए. एक नई किताब में यह दावा किया गया है. एक नई किताब में दावा किया गया है कि पूर्व राष्ट्रपति कलाम 2012 में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के समर्थन से राष्ट्रपति पद की रेस में दोबारा शामिल होना चाह रहे थे, लेकिन जब उन्होंने देखा कि कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियां उनका समर्थन नहीं कर रहीं तो उन्होंने इस रेस से खुद को अलग कर लिया. इसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी को भारत का 13वां राष्ट्रपति चुना गया. प्रणब ने प्रतिभा पाटिल की जगह ली थी. प्रतिभा पाटिल 2007 से 2012 तक राष्ट्रपति पद पर रहीं.

  • कठिन दौर से गुजर रहा देश, वसुधैव कुटुंबकम-सहिष्णुता की धरती, अब असहिष्णुता को लेकर खबरों में: प्रणब मुखर्जी

    कठिन दौर से गुजर रहा देश, वसुधैव कुटुंबकम-सहिष्णुता की धरती, अब असहिष्णुता को लेकर खबरों में: प्रणब मुखर्जी

    शासन और संस्थानों के कामकाज को लेकर मोहभंग की स्थिति की ओर ध्यान दिलाते हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को कहा कि संस्थान राष्ट्रीय चरित्र का आईना हैं तथा भारत के लोकतंत्र को बचाने के लिए उन्हें लोगों का विश्वास दोबारा जीतना चाहिए. प्रणब मुखर्जी यहां ‘शांति, सौहार्द्र एवं प्रसन्नता की ओर : संक्रमण से बदलाव’ विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे. उन्होंने संस्थानों और राज्य के बीच शक्ति के उचित संतुलन की आवश्यकता पर जोर दिया जैसा कि संविधान में प्रदत्त है. 

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले, फेक न्यूज सबसे बड़ा खतरा, मीडिया को सत्ता में बैठे लोगों से सवाल पूछना चाहिए

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले, फेक न्यूज सबसे बड़ा खतरा, मीडिया को सत्ता में बैठे लोगों से सवाल पूछना चाहिए

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) ने रविवार को कहा कि सत्ता में बैठे लोग जनता से सीधे संपर्क में होते हैं, ऐसे में मीडिया को उनसे सवाल पूछना चाहिए. उन्होंने कहा कि वास्तविक लोकतांत्रिक समाज की रक्षा के लिये यह जरूरी है. ‘‘भारतीय लोकतंत्र में मीडिया की भूमिका’’ विषय पर अपने संबोधन में उन्होंने ये बातें कहीं. पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि सांप्रदायिक बयानों के प्रति संवेदनशीलता बरतने की आवश्यकता है.

  • प्रणब मुखर्जी का सुझाव: सुप्रीम कोर्ट के बगैर दखल के GST पर गतिरोध को राजनीतिक रूप से नहीं सुलझाया जा सकता

    प्रणब मुखर्जी का सुझाव: सुप्रीम कोर्ट के बगैर दखल के GST पर गतिरोध को राजनीतिक रूप से नहीं सुलझाया जा सकता

    वस्तु एंव सेवा कर यानी जीएसटी पर काफी समय से जारी गतिरोध को लेकर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने एक रास्ता सुझाया है. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि जीएसटी को लेकर जो गतिरोध है उसे राजनीतिक रूप से नहीं, बल्यि न्यायिक रूप से सुलझाना होगा. दरअसल, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें लगता है कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लेकर गतिरोध राजनीतिक रूप से नहीं सुलझाया जा सकता और सुप्रीम कोर्ट को किसी बिन्दु पर इसमें शामिल होना होगा. 

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब संघ प्रमुख के साथ मंच साझा करेंगे उद्योगपति रतन टाटा

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब संघ प्रमुख के साथ मंच साझा करेंगे उद्योगपति रतन टाटा

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब अगले महीने होने वाले एक कार्यक्रम में उद्योगपति रतन टाटा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ मंच साझा करेंगे. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी पिछले महीने नागपुर में राष्ट्रीय आरएसएस के एक कार्यक्रम का हिस्सा बन चुके हैं. कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति का हिस्सा लेना चर्चा का विषय बन गया था.

  • धन्यवाद, डॉ. प्रणब दा...

    धन्यवाद, डॉ. प्रणब दा...

    अपने ही लोगों के तीव्र विरोध के बाद भी पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर प्रणब मुखर्जी संघ के कार्यक्रम में नागपुर आए और पूर्ण सहभागी हुए, इसलिए उनका विशेष अभिनंदन एवं धन्यवाद. वह डॉक्टर केशवराव बलिराम हेडगेवार के घर भी गए और वहां अपना भाव एकदम स्पष्ट शब्दों में लिखकर व्यक्त किया. स्मृति मंदिर में जाकर डॉक्टर हेडगेवार और श्री गुरुजी का स्मरण और अभिवादन किया और कार्यक्रम में अपने मन की बात खुलकर की.

  • शुजात बुखारी की हत्या : प्रणब मुखर्जी, राजनाथ, राहुल सहित इन बड़े नेताओं ने जताया गहरा शोक

    शुजात बुखारी की हत्या : प्रणब मुखर्जी, राजनाथ, राहुल सहित इन बड़े नेताओं ने जताया गहरा शोक

    पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथा सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से लेकर कई पत्र और विपक्ष के नेताओं ने गहरा शोक जताया है.

  • राहुल की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए प्रणब, 'विपक्षी एकता' की एक बार फिर दिखी झलक

    राहुल की इफ्तार पार्टी में शामिल हुए प्रणब, 'विपक्षी एकता' की एक बार फिर दिखी झलक

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मेजबानी में दिए गए इफ्तार पार्टी में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी एवं प्रतिभा पाटिल और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा विपक्षी दलों के कई नेताओं ने शिरकत की. इफ्तार पार्टी में शामिल होने वालों में पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, जेडीयू के बागी नेता शरद यादव, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी, राजद के मनोज झा, बसपा के सतीश मिश्रा, जेडीएस के दानिश अली, द्रमुक की कनिमोई, झामुमो के हेमंत सोरेन, राकांपा के डीपी त्रिपाठी और एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल प्रमुख रहे. गौरतलब है कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह के बाद एक बार फिर राहुल की इफ्तार पार्टी में विपक्षी एकता की झलक दिखाई पड़ी है. 

  • RSS के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी गांधी की शहादत से छलावा है : के के तिवारी

    RSS के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी गांधी की शहादत से छलावा है : के के तिवारी

    पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता के.के तिवारी ने कहा कि नागपुर में आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने का प्रणब मुखर्जी का निर्णय ‘‘महात्मा गांधी की शहादत से छलावा है.’’

  • प्रणब मुखर्जी होंगे 2019 में NDA के PM कैंडिडेट? शिवेसना के दावे पर शर्मिष्ठा ने दिया यह जवाब

    प्रणब मुखर्जी होंगे 2019 में NDA के PM कैंडिडेट? शिवेसना के दावे पर शर्मिष्ठा ने दिया यह जवाब

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की पुत्री और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने रविवार को कहा कि उनके पिता दोबारा राजनीति में शामिल नहीं होने जा रहे हैं. शर्मिष्ठा ने शिवसेना द्वारा प्रणव मुखर्जी के दोबारा देश की सक्रिय राजनीति में आने के कयास पर यह बयान दिया है. शिवसेना ने कहा कि 2019 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत नहीं मिलने पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रधानमंत्री पद के लिए मुखर्जी के नाम का प्रस्ताव दे सकता है.

  • कांग्रेस खत्म हो गई है, अब भी आप लोग इस पार्टी से उम्मीद करते हैं : असदुद्दीन ओवैसी

    कांग्रेस खत्म हो गई है, अब भी आप लोग इस पार्टी से उम्मीद करते हैं : असदुद्दीन ओवैसी

    हैदराबाद में एक कार्यक्रम के दौरान एआईएमआईएम के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ.प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने पर कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस खत्म हो गई'. वह यही नहीं रुके, हैदराबाद के सांसद ने कहा कि जो शख्स 50 सालों तक कांग्रेस में रहा और फिर देश का राष्ट्रपति रहा हो वह आरएसएस के मुख्यालय पहुंच गया, क्या अब भी आप लोग इस पार्टी (कांग्रेस) से उम्मीद करते हैं.

  • प्रणब के दांव से चित्त हुई कांग्रेस

    प्रणब के दांव से चित्त हुई कांग्रेस

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के संघ मुख्यालय पर कल के भाषण के बाद अब नई बहस शुरू हो गई है. क्या कांग्रेस ने तीखा विरोध कर जल्दबाजी तो नहीं की. कम से कम प्रणब दा के भाषण के बाद आई कांग्रेस और अन्य वरिष्ठ नेताओं की प्रतिक्रिया तो यही बता रही है. हालांकि एक बड़ा सवाल अब भी बना हुआ है कि प्रणब मुखर्जी आखिर संघ मुख्यालय क्यों गए.

  • आडवाणी ने प्रणब मुखर्जी की तारीफ में पढ़े कसीदे, बोले- उनका RSS मुख्यालय जाना इतिहास की महत्वपूर्ण घटना

    आडवाणी ने प्रणब मुखर्जी की तारीफ में पढ़े कसीदे, बोले- उनका RSS मुख्यालय जाना इतिहास की महत्वपूर्ण घटना

    आरएसएस के आजीवन स्वयंसेवक आडवाणी ने कहा कि उनका मानना है कि प्रणब मुखर्जी और भागवत ने विचारधाराओं एवं मतभेदों से परे संवाद का सही अर्थो में सराहनीय उदाहरण पेश किया है.

  • प्रणब मुखर्जी की Fake फोटो पर RSS ने कहा, ‘यह संघ को बदनाम करने की घटिया चाल’

    प्रणब मुखर्जी की Fake फोटो पर RSS ने कहा, ‘यह संघ को बदनाम करने की घटिया चाल’

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सर कार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने एक बयान में कहा कि कुछ विभाजनकारी राजनीतिक तत्वों ने नागपुर में कल आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक समारोह से जुड़ी एक झूठी तस्वीर पोस्ट की जिसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को प्रार्थना की मुद्रा में दिखाया गया है. 

  • 'प्रणब के नागपुर दौरे से बढ़ी RSS की स्वीकार्यता, आगबबूला हुई कांग्रेस'

    'प्रणब के नागपुर दौरे से बढ़ी RSS की स्वीकार्यता, आगबबूला हुई कांग्रेस'

    पूर्व राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी के गुरुवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, यानी RSS के तृतीय वर्ष प्रशिक्षण शिविर के नागपुर में आयोजित समापन समारोह में शिरकत करने और उनके दिए भाषण से ज़्यादा चर्चा में फिलहाल कुछ नहीं है, और अलग-अलग राजनैतिक वर्गों द्वारा उसे लेकर अलग-अलग अर्थ निकाले जा रहे हैं. इन्हीं विभिन्न तर्कों के बीच यह भी कहा जा रहा है कि डॉ मुखर्जी के कार्यक्रम में शामिल होने तथा उनके दिए भाषण से RSS को लाभ होगा, भारतीय जनता पार्टी (BJP) को खुशी हो रही है, और कांग्रेस गुस्से से आगबबूला हो रही है.

  • संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के भाषण के बाद कांग्रेस नेताओं ने ली राहत की सांस, आनंद शर्मा के भी बदले सुर

    संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के भाषण के बाद कांग्रेस नेताओं ने ली राहत की सांस, आनंद शर्मा के भी बदले सुर

    बुधवार को नागपुर में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के मुख्यालय में टीवी चैनलों पर जैसे ही पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लाइव दिखें, उसके तुरंत बाद कांग्रेस के सीनियर नेता आनंद शर्मा ने ट्वीट कर कहा कि संघ मुख्यालय में ‘वरिष्ठ नेता और विचारक’ की तस्वीरें देखकर कांग्रेस पार्टी के लाखों कायकर्ताओं और भारतीय गणराज्य के बहुलवाद, विविधता एवं बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वालों को दुख हुआ है. बता दें कि प्रणब मुखर्जी के भाषण से पहले कांग्रेस नेता काफी अस्मंजस में थे कि संघ के कार्यक्रम में आखिर वह क्या बोलेंगे, मगर भाषण के बाद कांग्रेस नेता राहत की सांस लेते नजर आए. 

  • प्रणब मुखर्जी के RSS मुख्‍यालय में भाषण के बाद बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा- जिसका डर था, वही हुआ

    प्रणब मुखर्जी के RSS मुख्‍यालय में भाषण के बाद बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा- जिसका डर था, वही हुआ

    कांग्रेस ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तस्वीरें देखकर पार्टी के लाखों कायकर्ताओं और भारत के बहुलवाद, विविधता एवं बुनियादी मूल्यों में विश्वास करने वालों को दुख हुआ है.

  • प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नागपुर में संघ के मुख्यालय में जाने और वहां पर संघ के प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को भाषण देने के फैसले पर हर जगह चर्चा हो रही है. गुरुवार की शाम को उन्होंने जो भाषण दिया उसका हर कोई अपने-अपने हिसाब से मायने निकाल रहा है. इससे पहले पूरी कांग्रेस असहज नजर आ रही थी. यहां तक कि उनकी बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनका (डॉ.मुखर्जी) भाषण किसी को याद नहीं रहेगा हां, उनकी तस्वीर का इस्तेमाल जरूर किया जाएगा. लेकिन कुशल राजनेता मुखर्जी बिना किसी दबाव में आए संघ के कार्यक्रम में गए और अपने 'उच्चस्तरीय' भाषण के जरिये संघ को उसी के मच पर कई नसीहतें दें डालीं. प्रणब मुखर्जी अपना भाषण अंग्रेजी में दे रहे थे, मगर बीच-बीच में वह अपनी मातृभाषा बांग्ला के मुहावरों का इस्तेमाल भी कर रहे थे. इससे पहले डॉ. नुखर्जी ने संघ के संस्थापक डॉ. हेडगेवार को भारत माता का सच्चा सपूत भी कहा. यह बात उन्होंने विजिटर डायरी में लिखी है.

Advertisement