NDTV Khabar

Pranab Mukherjee Health News in Hindi


'Pranab mukherjee health' - 16 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अंतिम सफर पर निकले प्रणब दा, हमेशा याद आएगी उनकी एक तस्वीर

    अंतिम सफर पर निकले प्रणब दा, हमेशा याद आएगी उनकी एक तस्वीर

    भारत रत्न, पूर्व राष्ट्रपति और कई बार देश के वित्त मंत्री रहे प्रणब मुखर्जी का अंतिम संस्कार कर दिया गया है. थोड़ी देर पहले ही उनके पार्थिव शरीर को लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर पहुंचा गया है. प्रणब दा जब अंतिम सफर हैं तो उनकी एक तस्वीर हमेशा याद आएगी जिसमें वह बजट पेश करने से पहले हमेशा अपनी टीम के साथ एक फोटो खिंचाते हैं. देश की एक पूरी पीढ़ी ने देखा है. कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले मुखर्जी ने कई प्रधानमंत्रियों का साथ काम किया है. उनके बारे में कहा जाता है कि प्रणब मुखर्जी एक ऐसे प्रधानमंत्री रहे हैं जो भारत को कभी नहीं मिले. कहा जाता है कि उनके मन में हमेशा एक टीस रही कि वह देश के प्रधानमंत्री नहीं बन पाए. वह देश के 13वें राष्ट्रपति बने. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के खास लोगों में से एक रहे कांग्रेस की सरकारों में कई अहम जिम्मेदारियां संभाली हैं, जिनमें वित्त मंत्रालय सहित कई अहम पद शामिल हैं. उनका संसदीय करियर करीब पांच दशक पुराना था. 

  • प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा ने उस दिन क्यों कहा था- जिसका डर था, वही हुआ

    प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा ने उस दिन क्यों कहा था- जिसका डर था, वही हुआ

    साल 2018 में जब पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नागपुर में आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लिया तो कांग्रेस में हलचल मच गई. कई नेताओं जैसे पी. चिदंबरम, केके तिवारी, सलमान खुर्शीद ने प्रणब मुखर्जी से वहां न जाने की अपील की. वैचारिक रूप से एकदम अलग आरएसएस के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी जी जैसे कांग्रेसी नेता का जाना अपने आप में एक अद्भुत घटना थी. अब सबकी नजरें इस बात पर थीं कि प्रणब मुखर्जी वहां आरएसएस के कार्यक्रम में वहां क्या बोलेंगे. प्रणब मुखर्जी ने नागपुर जाकर आरएसएस के संस्थापक डॉ. हेडगेवार को भारत का मां बेटा बताया. उनके इस बयान पर आलोचना भी हुई. अपने भाषण में प्रणब मुखर्जी ने कहा कि राष्ट्र की आत्मा बहुलवाद और पंथनिरपेक्षवाद में बसती है. प्रणब मुखर्जी ने प्रतिस्पर्धी हितों में संतुलन बनाने के लिए बातचीत का मार्ग अपनाने की जरूरत बताई. उन्होंने साफतौर पर कहा कि घृणा से राष्ट्रवाद कमजोर होता है और असहिष्णुता से राष्ट्र की पहचान क्षीण पड़ जाएगी. 

  • नेहरू-मनमोहन को हर बात पर दोष देने वालों को प्रणब मुखर्जी ने बीते साल दी थी तगड़ी नसीहत

    नेहरू-मनमोहन को हर बात पर दोष देने वालों को प्रणब मुखर्जी ने बीते साल दी थी तगड़ी नसीहत

    बीजेपी नेता अक्सर हर बात पर पिछली कांग्रेस की सरकारों को दोष देते रहते हैं. लेकिन बीते साल ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे और पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी ने तगड़ी नसीहत दी थी.  उन्होंने कहा कि जो लोग कांग्रेस के 55 सालों के शासनकाल की हमेशा आलोचना करते रहे हैं वो यह भूल जाते हैं कि आजादी के समय देश कहां था और अब कितना आगे जा चुका है. हालांकि डॉ. प्रणब मुखर्जी ने कहा कि इसमें कांग्रेस के अलावा अन्य लोगों का भी योगदान था.  लेकिन आधुनिक भारत की नींव हमारे उन संस्थापकों ने रखी थी, जिन्हें योजनाबद्ध अर्थव्यवस्था में मज़बूती से भरोसा था, जबकि आज ऐसा नहीं है,

  • इरफान खान के निधन पर Pranab Mukherjee ने शेयर की थी यह फोटो, और कही थी यह बात

    इरफान खान के निधन पर Pranab Mukherjee ने शेयर की थी यह फोटो, और कही थी यह बात

    इरफान खान (Irrfan Khan) के निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया था, 'श्री इरफान खान की त्रासदपूर्ण और असमय निधन को लेकर मेरी संवेदनाएं. हम सब यही चाहते थे कि वह वह बीमारी को सफलतापूर्वक मात दें, उनके जाने से सिनेमा और परफॉर्मिंग आर्ट की दुनिया की भारी क्षति हुई है. मैंने 2013 में उन्हें 'पान सिंह तोमर' फिल्म के लिए बेस्ट एक्टर के राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा था.'

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तबीयत हुई और खराब, फेफड़ों में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक की स्थिति में - सेना अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की तबीयत हुई और खराब, फेफड़ों में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक की स्थिति में - सेना अस्पताल

    देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) की तबीयत और बिगड़ गई है. वह दिल्ली स्थित सेना के अस्पताल में भर्ती हैं. अस्पताल की ओर से बताया गया है कि फेफड़ों में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक की स्थिति पैदा हो गई है.

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं : सैन्य अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं : सैन्य अस्पताल

    Pranab Mukherjee : पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है और वह अभी वेंटिलेटर पर ही हैं. सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने रविवार को यह जानकारी दी. 84 वर्षीय मुखर्जी का उपचार कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि उनकी हालत स्थिर है.

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर, अब भी वेंटिलेटर पर: अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर, अब भी वेंटिलेटर पर: अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति की जांच में कोरोना वायरस संक्रमण की भी पुष्टि हुई थी. इसके बाद उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया था.

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में गिरावट, फेफड़ों में संक्रमण के लक्षण दिखे : सेना अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में गिरावट, फेफड़ों में संक्रमण के लक्षण दिखे : सेना अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में बीते दिनों सुधार देखे जाने के बाद बुधवार को फिर उनकी हालत में चिंताजनक गिरावट आई है. अस्पताल की ओर से जानकारी आई है कि उनके फेफड़ों में संक्रमण के लक्षण दिखे हैं.

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर : आर्मी अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर : आर्मी अस्पताल

    वहीं प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने समाचार एजेंसी एनएऩआई को बताया, 'वह पिछले दिनों की तुलना में बहुत बेहतर और स्थिर है. उनके सभी महत्वपूर्ण पैरामीटर स्थिर हैं और वह इलाज पर बेहतर प्रतिक्रिया दे रहे हैं. हमें दृढ़ता से विश्वास है कि वह जल्द ही हमारे बीच वापस आ जाएंगे.'

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में कोई सुधार नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर : आर्मी अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में कोई सुधार नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर : आर्मी अस्पताल

    14 अगस्त को प्रणब मुखर्जी के मेडिकल बुलेटिन के बाद उनकी बेटी ने ट्विटर पर जानकारी दी कि उनकी हालत में गिरावट नहीं आई है. उन्होंने कहा, ‘‘चिकित्सा की विशिष्ट भाषा की गहराई में नहीं जाते हुए, बीते दो दिन में मुझे जो बात समझ में आई है वह यह है कि मेरे पिता की हालत बहुत नाजुक बनी हुई है लेकिन उसमें गिरावट नहीं आई है. रोशनी के प्रति उनकी आंख की प्रतिक्रिया में थोड़ा सुधार आया है.’’ प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 तक भारत के 13वें राष्ट्रपति रहे हैं.

  • अस्‍पताल में भर्ती प्रणब मुखर्जी को लेकर बेटे ने किया पोस्‍ट, 'मेरे पिता ने हमेशा कहा है..'

    अस्‍पताल में भर्ती प्रणब मुखर्जी को लेकर बेटे ने किया पोस्‍ट, 'मेरे पिता ने हमेशा कहा है..'

    अपने ट्वीट में अभिजीत मुखर्जी (Abhijit Mukherjee) ने पिता की लाइन को भी कोट किया. उन्‍होंने लिखा, '96 घंटों का ऑब्‍जर्वेशन पीरियड आज समाप्‍त हो रहा है मेरे पिता के प्रमुख पैरामीटर अभी स्थिर बने हुए हैं और उपचार का उन पर असर हो रहा है. मेरे पिता ने हमेशा कहा है, 'मुझे भारत के लोगों से उससे बहुत अधिक मिला है जो मैंने उन्‍हें दिया है.कृपया उनके लिए प्रार्थना कीजिए.'

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं, अभी वेंटिलेटर पर ही रहेंगे

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं, अभी वेंटिलेटर पर ही रहेंगे

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) की हालत स्थिर बताई जा रही है. सेना के अस्पताल (Army Hospital) ने बयान जारी कर बताया कि मुखर्जी की हालत अभी स्थिर है और अभी उन्हें वेंटिलेटर पर ही रखा जा रहा है.

  • प्रणब मुखर्जी की हालत 'हेमोडाइनेमिकली स्थिर', बेटे ने सभी से की प्रार्थनाएं जारी रखने की गुजारिश

    प्रणब मुखर्जी की हालत 'हेमोडाइनेमिकली स्थिर', बेटे ने सभी से की प्रार्थनाएं जारी रखने की गुजारिश

    Pranab Mukherjee Health: प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने अपने ट्वीट में लिखा- "आप सबकी प्रार्थनाओं से अब मेरे पिता हेमोडाइनेमिकली स्थिर हैं. मैं आप सबसे गुजारिश करता हूं कि अपनी प्रार्थनाएं जारी रखें और मेरे पिता के जल्दी ठीक होने के लिए दुआएं कीजिए." 

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत और बिगड़ी, अब भी वेंटिलेटर पर : अस्पताल

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत और बिगड़ी, अब भी वेंटिलेटर पर : अस्पताल

    Pranab Mukherjee Health: आर्मी अस्पताल में बयान में कहा, "ब्रेन क्लॉट के लिए 10 अगस्त 2020 को पूर्व राष्ट्रपति की इमरजेंसी सर्जरी की गई. उनकी हालत में कोई सुधार नहीं दिख रहा है. उनका स्वास्थ्य और खराब हो गया है. वह अब भी वेंटिलेटर पर हैं." 

  • ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर पर हैं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक  

    ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर पर हैं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक  

    Pranab Mukherjee Health: पूर्व राष्ट्रपति ने कल अपने ट्वीट में कहा, "वह एक अलग प्रक्रिया के तहत अस्पताल आए हैं और उनका कोरोना टेस्ट पॉज़िटिव आया है. उन्होंने पिछले हफ्ते में उनके संपर्क में आए लोगों से खुद को आइसोलेट करने और COVID-19 टेस्ट करने का आग्रह किया." मुखर्जी 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे हैं. 

  • सिर्फ ऊंची जीडीपी दर पर्याप्त नहीं, सभी को मिले आधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएं : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

    सिर्फ ऊंची जीडीपी दर पर्याप्त नहीं, सभी को मिले आधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएं : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

    राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने रविवार को कहा कि भारत के लिए आवश्यक है कि वह अपने सभी नागरिकों के लिए आधुनिक स्वास्थ्य प्रणाली उपलब्ध कराए, ताकि दुनिया में उचित स्थान हासिल कर सके.

Advertisement

Pranab mukherjee health वीडियो

Pranab mukherjee health से जुड़े अन्य वीडियो »

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com