NDTV Khabar

Pranab mukherjee speech


'Pranab mukherjee speech' - 9 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नागपुर में संघ के मुख्यालय में जाने और वहां पर संघ के प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को भाषण देने के फैसले पर हर जगह चर्चा हो रही है. गुरुवार की शाम को उन्होंने जो भाषण दिया उसका हर कोई अपने-अपने हिसाब से मायने निकाल रहा है. इससे पहले पूरी कांग्रेस असहज नजर आ रही थी. यहां तक कि उनकी बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनका (डॉ.मुखर्जी) भाषण किसी को याद नहीं रहेगा हां, उनकी तस्वीर का इस्तेमाल जरूर किया जाएगा. लेकिन कुशल राजनेता मुखर्जी बिना किसी दबाव में आए संघ के कार्यक्रम में गए और अपने 'उच्चस्तरीय' भाषण के जरिये संघ को उसी के मच पर कई नसीहतें दें डालीं. प्रणब मुखर्जी अपना भाषण अंग्रेजी में दे रहे थे, मगर बीच-बीच में वह अपनी मातृभाषा बांग्ला के मुहावरों का इस्तेमाल भी कर रहे थे. इससे पहले डॉ. नुखर्जी ने संघ के संस्थापक डॉ. हेडगेवार को भारत माता का सच्चा सपूत भी कहा. यह बात उन्होंने विजिटर डायरी में लिखी है.

  • जाते-जाते मोदी सरकार को नसीहत दे गए प्रणब मुखर्जी, कहा -अध्यादेश लाने से बचें

    जाते-जाते मोदी सरकार को नसीहत दे गए प्रणब मुखर्जी, कहा -अध्यादेश लाने से बचें

    संसद भवन के केंद्रीय सभागार में आयोजित विदाई समारोह में राष्ट्रपति ने कहा, "मेरा दृढ़तापूर्वक मानना है कि अध्यादेश का इस्तेमाल सिर्फ अपरिहार्य परिस्थितियों में ही करना चाहिए और वित्त मामलों में अध्यादेश का प्रावधान नहीं होना चाहिए."

  • इस भव्य इमारत से खट्टी-मीठी यादों के साथ जा रहा हूं : विदाई समारोह में बोले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, 10 खास बातें

    इस भव्य इमारत से खट्टी-मीठी यादों के साथ जा रहा हूं : विदाई समारोह में बोले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, 10 खास बातें

    संसद के सेंट्रल हॉल में देश के सांसदों ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को औपचारिक विदाई दी. इससे पहले शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके सम्मान में विदाई भोज दिया था. रविवार को संसद भवन के सेंट्रल हॉल में आयोजित समारोह में उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संसद के दोनों सदनों के सदस्य उपस्थित थे.

  • विद्वानों, लेखकों और कलाकारों ने की राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भेंट

    विद्वानों, लेखकों और कलाकारों ने की राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भेंट

    इन-रेजिडेंस कार्यक्रम के अंतर्गत 10 नवप्रवर्तन विद्वानों, दो लेखकों और दो कलाकारों ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भेंट की. राष्ट्रपति भवन की ओर से जारी बयान के अनुसार, राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा कि इन-रेजिडेंस कलाकार, लेखक एवं नवप्रवर्तन विद्वान हमारे लिए विशेष थे, क्योंकि इनके पास नवप्रवर्तन, संवेदनशील एवं कल्पनाशील सोच है, जिसने समय, स्थान और आसपास की सीमाओं को लांघा हैं.

  • स्वस्थ लोकतंत्र के लिए सहिष्णुता जरूरी : राष्ट्र के नाम संदेश में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

    स्वस्थ लोकतंत्र के लिए सहिष्णुता जरूरी : राष्ट्र के नाम संदेश में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

    68वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रणब मुखर्जी ने कहा, 'मुझे पूरा विश्वास है कि भारत का बहुलवाद और उसकी सामाजिक, सांस्कृतिक, भाषायी और धार्मिक अनेकता हमारी सबसे बड़ी ताकत है. हमारी परंपरा ने सदैव 'असहिष्णु' भारतीय की नहीं, बल्कि 'तर्कवादी' भारतीय की सराहना की है.

  • विश्वविद्यालयों को खुली अभिव्यक्ति और वाद-विवाद का केंद्र होना चाहिए : राष्ट्रपति

    विश्वविद्यालयों को खुली अभिव्यक्ति और वाद-विवाद का केंद्र होना चाहिए : राष्ट्रपति

    राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शनिवार को कहा कि विश्वविद्यालयों और उच्च-शिक्षा संस्थाओं को खुली अभिव्यक्ति का केंद्र होना चाहिए और वहां वाद-विवाद को बढ़ावा दिया जाना चाहिए.

  • प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सौंपा अपना इस्तीफा

    प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सौंपा अपना इस्तीफा

    मनमोहन सिंह को विदा करने प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति भवन के प्रांगण तक आए। प्रांगण में दोनों एक-दूसरे से देर तक हाथ मिलाते और आपस में बातचीत करते देखे गए।

  • आर्थिक सुस्ती, महिला सुरक्षा को लेकर चिंतित है सरकार : राष्ट्रपति

    आर्थिक सुस्ती, महिला सुरक्षा को लेकर चिंतित है सरकार : राष्ट्रपति

    संसद का बजट सत्र गुरुवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अभिभाषण से शुरू हुआ। राष्ट्रपति ने कहा कि महंगाई और भ्रष्टाचार देश के सामने बड़ी समस्या है, लेकिन सरकार इस मोर्चे पर हरसंभव उपाय कर रही है।

  • आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई चौथा विश्वयुद्ध : प्रणब

    आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई चौथा विश्वयुद्ध : प्रणब

    देश के नए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई चौथा विश्वयुद्ध है और यह विश्वयुद्ध इसलिए है, क्योंकि यह बला अपना शैतानी सिर दुनिया में कहीं भी उठा सकती है।

Advertisement