NDTV Khabar

Rafale deal


'Rafale deal' - 126 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राफेल डील : रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी को कहा- बेशर्म, सुरजेवाला बोले- मोदी बाबा, चालीस चोर

    राफेल डील : रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी को कहा- बेशर्म, सुरजेवाला बोले- मोदी बाबा, चालीस चोर

    राफेल डील पर बीजेपी और कांग्रेस के बीच अब बहस 'चोर' और 'बेशर्म' तक पहुंच गई है. सोमवार को बीजेपी ने आरोप लगाया था कि यूपीए सरकार के समय डील इसलिये रोक दी गई थी क्योंकि रॉबर्ट वाड्रा के दोस्त की कंपनी को शामिल नहीं किया गया था इसलिए अब दसॉल्ट से बदला लेने के लिए कांग्रेस राफेल सौदे को रद्द करवाना चाहती है.

  • दसॉल्ट ने रिलायंस को क्यों चुना, पहाड़ी राज्यों में बारिश से आफत, पढ़ें सुबह की 5 बड़ी खबरें

    दसॉल्ट ने रिलायंस को क्यों चुना, पहाड़ी राज्यों में बारिश से आफत, पढ़ें सुबह की 5 बड़ी खबरें

    दसॉल्ट ने राफेल डील में आखिर अनिल अंबानी की कंपनी को क्यों चुना? इन सवालों का जब जवाब जानने की एनडीटीवी ने कोशिश ती दसॉल्ट के सूत्रों ने अपने तर्क दिए. कंपनी सूत्रों ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि अनिल अंबानी की फर्म को इसलिए चुना, क्योंकि यह मिनिस्ट्री ऑफ कारपोरेट अफेयर्स में रजिस्टर्ड है, साथ ही नागपुर में जमीन है, जिससे रनवे की सुविधा भी मिलेगी.

  • जानिए राफेल डील में अनिल अंबानी की फर्म को क्यों दसॉल्ट ने चुनाः सूत्र

    जानिए राफेल डील में अनिल अंबानी की फर्म को क्यों दसॉल्ट ने चुनाः सूत्र

    दुनिया में रक्षा निर्माण क्षेत्र की प्रमुख कंपनी  दसॉल्ट ने आखिर अनिल अंबानी की ही कंपनी को क्यों चुना. यह सवाल हर किसी के जेहन में उठ रहा है. इन सवालों का जब जवाब जानने की एनडीटीवी ने कोशिश ती डसॉल्ट के सूत्रों ने अपने तर्क दिए.  कंपनी सूत्रों ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि अनिल अंबानी की फर्म को इसलिए चुना,  क्योंकि यह मिनिस्ट्री ऑफ कारपोरेट अफेयर्स में रजिस्टर्ड है,

  • राफेल को लेकर लालू ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोले- जहजवा ही चुराकर खाने लगे..गजबे बा

    राफेल को लेकर लालू ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोले- जहजवा ही चुराकर खाने लगे..गजबे बा

    फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद का साक्षात्कार दुनिया के कई टीवी चैनलों पर प्रसारित होने के बाद राफेल सौदे को लेकर सरकार और विपक्ष दोनों की तरफ से प्रतिदिन आरोप-प्रत्यारोप जारी है. भ्रष्टाचार के मामले में सजायाफ्ता लालू भी अब राफेल के मुद्दे पर सरकार को घेरने वालों में शामिल हो गए हैं. लालू ने इससे पहले भी ट्वीट कर राफेल मामले को लेकर सरकार पर निशाना साधा था.  

  • राफेल विवाद पर नीतीश कुमार की राय का देश को इंतजार : शिवानंद तिवारी

    राफेल विवाद पर नीतीश कुमार की राय का देश को इंतजार : शिवानंद तिवारी

    आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि राफेल विवाद पर नीतीश जी की राय क्या है. यह जानने के लिए देश इंतजार कर रहा है.

  • 15 दिन में राफेल डील से HAL का नाम कैसे कटा?

    15 दिन में राफेल डील से HAL का नाम कैसे कटा?

    राफेल विमान पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान का अभी तक किसी ने खंडन नहीं किया है. फ्रांस सरकार ने उनके बयान पर नाख़ुशी ज़रूर ज़ाहिर की है मगर यह नहीं बताया है कि अनिल अंबानी का नाम किसकी तरफ से रखा गया था. फ्रांस्वा ओलांद ने भी अभी तक अपने बयान का खंडन नहीं किया है.

  • राफेल सौदे पर और तेज हुई सियासी लड़ाई

    राफेल सौदे पर और तेज हुई सियासी लड़ाई

    सरकार ने राफेल सौदे की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति जेपीसी के गठन की मांग ठुकरा दी है. सरकार का कहना है कि सीवीसी और सीएजी पहले से ही इस मामले को देख रहे हैं. इस बीच राफेल सौदे पर अब सियासी लड़ाई तेज़ हो गई है.

  • डसॉल्ट एविएशन के सीईओ का VIDEO ट्वीट कर कांग्रेस ने कहा- HAL के साथ तय हो चुकी थी डील, लेकिन....

    डसॉल्ट एविएशन के सीईओ का VIDEO ट्वीट कर कांग्रेस ने कहा- HAL के साथ तय हो चुकी थी डील, लेकिन....

    राफेल पर जारी घमासान के बीच कांग्रेस ने डसॉल्ट एविएशन (Dassault Aviation) के सीईओ का वीडियो ट्वीट किया है. डसॉल्ट वही कंपनी है जो राफेल लड़ाकू विमान बनाती है. कांग्रेस द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में राफेल बनाने वाली कंपनी डसॉल्ट के सीईओ हिंदुस्तान एयरोनाटिक्स लिमिटेड (HAL) के साथ समझौते की बात कर रहे हैं. ये वीडियो प्रधानमंत्री मोदी के फ्रांस दौरे से से 17 दिन पहले का बताया जा रहा है. इसी दौरे में डील पर दस्तख़त हुए, लेकिन एचएएल को डिल में जगह नहीं मिली. ये वीडियो 25 मार्च 2015 का है. इस कार्यक्रम में राफेल बनाने वाली कंपनी डसॉल्ट के सीईओ एरिक ट्रेपियर ने हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के चेयरमैन की मौजूदगी में उम्मीद जताई थी कि जल्द ही डसॉल्ट और एचएएल के समझौते पर मुहर लग जाएगी.

  • राफेल पर बवाल : कांग्रेस हमलावर, सरकार हड़बड़ी में

    राफेल पर बवाल : कांग्रेस हमलावर, सरकार हड़बड़ी में

    राफेल का मामला खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. रोज कुछ न कुछ ऐसे बयान आ जाते हैं जो मामले को दबने ही नहीं देते..सबसे ताजा बयान फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलंद का है..जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत सरकार ने अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप को पार्टनर के तौर पर नाम सुझाया था जिसके बाद फ्रांस की कंपनी डेसाल्ट के पास कोई विकल्प नहीं बचा था..यह एक ऐसा बयान है जो भारत में कांग्रेस के लिए एक संजीवनी से कम नहीं है.

  • राफेल : कांग्रेस ने कहा- रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद घबरा गई है बीजेपी

    राफेल : कांग्रेस ने कहा- रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद घबरा गई है बीजेपी

    कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज कहा कि राफेल घोटाले में रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद बीजेपी घबराई हुई है इसीलिए बेतुकी बातें कर रही है.

  • Exclusive: जो HAL राफेल डील से हुई बाहर, अमेरिका, इजरायल, फ्रांस सहित कई देशों की कंपनियां हैं उसकी कस्टमर

    Exclusive: जो HAL राफेल डील से हुई बाहर, अमेरिका, इजरायल, फ्रांस सहित कई देशों की कंपनियां हैं उसकी कस्टमर

    रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि क्षमता न होने के कारण एचएएल को राफेल डील नहीं मिली. जानिए इस कंपनी के अब तक किए प्रदर्शन के बारे में.

  • राफेल डील की स्वतंत्र जांच कराने की मांग को लेकर CVC से मुलाकात करेगी कांग्रेस

    राफेल डील की स्वतंत्र जांच कराने की मांग को लेकर CVC से मुलाकात करेगी कांग्रेस

    पीछले सप्ताह कांग्रेस ने देश के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) से मुलाकात की थी.

  • मोदी सरकार को एक नया मंत्रालय बनाना चाहिए, कुतर्क मंत्रालय

    मोदी सरकार को एक नया मंत्रालय बनाना चाहिए, कुतर्क मंत्रालय

    अनिल अंबानी ने प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर टाइम्स ऑफ़ इंडिया में लिखा है 17 सितंबर 2016 को. इस लेख से पहली बार पता चला कि प्र म जी सिर्फ गुफ़ाओं में तपस्या नहीं कर रहे थे. कामिक्स बुक बाल नरेंद्र की कथा के अनुसार मगरमच्छ को क़ाबू नहीं कर रहे थे बल्कि धीरू भाई अंबानी के यहां डिनर भी कर रहे थे. वैसे किस किस ने उनके यहां डिनर या लंच नहीं किया होगा. इस मामले में कांग्रेसी नेताओं की भी लिस्ट निकलेंगे. डिनर करना ग़लत बात नहीं है. मिलना जुलना चाहिए.

  • राफेल विमान सौदा इस शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला: कांग्रेस

    राफेल विमान सौदा इस शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला: कांग्रेस

    आनंद शर्मा ने इस दौरान बीजेपी के उन आरोपों का भी जवाब दिया जिसमें इस डील के तहत रिलांयस को कांग्रेस शासन में शामिल करने की बात कही थी. उन्होंने कहा कि 2007 में RFP के लिए ग्लोबल टेंडर हुआ और 2012 में राफेल L1 चुना गया कॉन्ट्रेक्ट पर दोनों सरकारों के हस्ताक्षर हो चुके थे केवल लाइफ साईकल कॉस्ट पर बात रुकी हुई थी. 

  • राफेल पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद के खुलासे पर बोले अरुण जेटली- वह अपनी ही बात काट रहे हैं

    राफेल पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद के खुलासे पर बोले अरुण जेटली- वह अपनी ही बात काट रहे हैं

    राफेल सौदे में रिलायंस के लिए लॉबिंग करने के आरोप में घिरी मोदी सरकार के बचाव में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फेसबुक पर पोस्ट लिखा है.

  • राफेल पर बवाल: राहुल पर अरुण जेटली का पलटवार- पब्लिक डिस्कोर्स लाफ्टर चैलेंज नहीं कि आप किसी को गले लगाओ या आंख मारो

    राफेल पर बवाल: राहुल पर अरुण जेटली का पलटवार- पब्लिक डिस्कोर्स लाफ्टर चैलेंज नहीं कि आप किसी को गले लगाओ या आंख मारो

    राफेल सौदे पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के दावे के बाद  बैकफुट पर आ रही मोदी सरकार के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार किया है और सीधा हमला बोला है. राफेल पर मचे बवाल के बाद अरुण जेटली ने राहुल गांधी के गले लगने और आंख मारने वाली घटना पर तंज कसा है और उनकी भाषा को लेकर भी उनकी बुद्धि पर सवाल उठाया है.  दरअसल, फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के ने राफेल सौदे को लेकर खुलासा किया कि करीब 58,000 करोड़ रुपए के राफेल करार में दसाल्ट एविएशन के लिए साझेदार के तौर पर रिलायंस डिफेंस के नाम का प्रस्ताव भारत सरकार ने ही रखा था और फ्रांस के पास कोई अन्य विकल्प नहीं था. 

  • फ्रांस्वा ओलांद अपने बयान पर कायम, कहा- मोदी सरकार में नए फॉर्मूले के तहत रिलायंस का नाम तय हुआ

    फ्रांस्वा ओलांद अपने बयान पर कायम, कहा- मोदी सरकार में नए फॉर्मूले के तहत रिलायंस का नाम तय हुआ

    Rafale Deal: फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद (François Hollande) ने एनडीटीवी से इस बात की पुष्टि की है कि अनिल अंबानी के रिलायंस समूह को भारत सरकार के कहने पर चुना गया .ओलांद के दफ्तर की तरफ से एनडीटीवी को फ्रांस में दी गई सूचना में साफ किया गया है कि ऑफसेट पार्टनर के तौर पर रिलायंस को लेकर हमारे पास कोई विकल्प नहीं था.

  • राफेल पर तकरार: फ्रांस्वा ओलांद के खुलासे के बाद कांग्रेस और मोदी सरकार के बीच जुबानी जंग शुरू, 15 प्वाइंट्स में जानें पूरा विवाद

    राफेल पर तकरार: फ्रांस्वा ओलांद के खुलासे के बाद कांग्रेस और मोदी सरकार के बीच जुबानी जंग शुरू, 15 प्वाइंट्स में जानें पूरा विवाद

    राफेल सौदे पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के दावे के बाद भारत में सियासी घमासान जारी है. राफेल सौदे को लेकर भारी राजनीतिक विवाद पैदा होने पर सरकार ने शनिवार को कहा कि दसाल्ट के लिए साझेदार के तौर पर रिलायंस डिफेंस का चयन करने में उसकी ‘कोई भूमिका’ नहीं थी. फ्रांस ने भी कहा कि इस सौदे के लिए किसी भारतीय औद्योगिक सहयोगी के चयन में वह किसी भी तरह शामिल नहीं था. उधर, राफेल विनिर्माता दसाल्ट एविएशन ने स्पष्ट किया है कि ऑफसेट की शर्तों को पूरा करने के लिए रिलायंस डिफेंस लिमिटेड से साझेदारी का फैसला उसका अपना था. हालांकि, फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद जहां एक ओर कांग्रेस मोदी सरकार पर आरोप लगा रही है, वहीं मोदी सरकार इस मामले में अपनी भूमिका से इनकार कर रही है. राफेल सौदे पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान को लेकर सरकार पर राहुल गांधी के वार पर पलटवार करते हुए भाजपा ने कांग्रेस को ‘‘भ्रष्टाचार की जननी’’ करार दिया और आरोप लगाया कि संप्रग शासन के दौरान बाहरी कारणों से राफेल सौदे को अंतिम रूप नहीं देने का दबाव था. वहीं राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि फ्रांस्वा ओलांद जो कह रहे हैं उसका मतलब यह है कि भारत के प्रधानमंत्री चोर हैं.

Advertisement