NDTV Khabar

Rajasthan


'Rajasthan' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • दिल्ली में कोहरा, घाटी में गिरा पारा और राजस्थान में सर्दी जारी, जानिए देश भर में मौसम का हाल

    दिल्ली में कोहरा, घाटी में गिरा पारा और राजस्थान में सर्दी जारी, जानिए देश भर में मौसम का हाल

    राजधानी दिल्ली में शनिवार की सुबह घना कोहरा छाया रहा जिससे विजिबिलिटी कम होने से दिल्ली आने वाली करीब 20 ट्रेनें लेट हो गईं. कश्मीर और लद्दाख की बात की जाए तो दोनों केंद्र शासित प्रदेशों में शीत लहर का प्रकोप जारी है और पारा शून्य से नीचे चला गया है. वहीं, राजस्थान के पश्चिमी हिस्से में भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है.

  • JEE Main Result: जेईई मेन नतीजों में राजस्थान और तेलंगाना के छात्रों का दबदबा बरकरार

    JEE Main Result: जेईई मेन नतीजों में राजस्थान और तेलंगाना के छात्रों का दबदबा बरकरार

    JEE Main Result: JEE Main परीक्षा में लगातार तीसरे साल भी राजस्थान और तेलंगाना ने अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा है. जनवरी 2019 और अप्रैल 2019  में इन राज्यों से क्रमश: चार और तीन छात्रों ने परीक्षा में टॉप किया था. इस बार के रिजल्ट में शीर्ष स्थान पाने वाले छात्रों में से 2 राजस्थान और 2 तेलंगाना से हैं. जेईई मेन परीक्षा में राजस्थान के पार्थ द्विवेदी और अखिल जैन ने 100 परसेंटाइल स्कोर किया है.

  • राजस्थान में पंचायत चुनाव के पहले चरण का मतदान आज

    राजस्थान में पंचायत चुनाव के पहले चरण का मतदान आज

    राजस्थान में पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान शुक्रवार को सुबह आठ बजे शुरू हुआ. अनेक इलाकों में कड़ाके की सर्दी के बीच शुरुआती दो घंटे में मतदान बेहद धीमा रहा.

  • पाकिस्तान से आईं नीता भारत में लड़ रहीं हैं पंचायत चुनाव, 4 महीने पहले ही मिली नागरिकता

    पाकिस्तान से आईं नीता भारत में लड़ रहीं हैं पंचायत चुनाव, 4 महीने पहले ही मिली नागरिकता

    राजस्थान के नटवारा पंचायत क्षेत्र से हाल ही में भारतीय नागरिकता प्राप्त महिला उम्मीदवार नीता सोढ़ा पंचायत चुनाव लड़ने जा रही हैं.

  • मायावती ने प्रियंका गांधी पर साधा निशाना, कहा- राजस्थान में थीं लेकिन कोटा के बच्चों की मांओं के आंसू पोंछने का समय नहीं था

    मायावती ने प्रियंका गांधी पर साधा निशाना, कहा- राजस्थान में थीं लेकिन कोटा के बच्चों की मांओं के आंसू पोंछने का समय नहीं था

    बसपा प्रमुख मायावाती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की कोटा अस्पताल कांड पर ध्यान नहीं देने के लिए उनका नाम लिये बिना आलोचना की.

  • पत्नी और बच्चे की हत्या करने वाले आरोपी को जयपुर पुलिस ने दबोचा

    पत्नी और बच्चे की हत्या करने वाले आरोपी को जयपुर पुलिस ने दबोचा

    राजस्थान (Rajasthan) में पुलिस (Jaipur Police) ने शुक्रवार को दावा किया है कि एक महिला और उसके 2 साल के बच्चे की मंगलवार को हुई हत्या का मामला सुलझ गया है. पुलिस ने पुष्टि करते हुए कहा कि इंडियन ऑयल कॉर्पोरेट लिमिटेड के मैनेजर रोहित तिवारी ने अपनी पत्नी श्वेता तिवारी और बेटे श्रीयम की हत्या कर दी क्योंकि वह दोबारा शादी कर नई जिंदगी शुरू करना चाहता था. पुलिस ने श्रीयम का शव उसी सोसायटी के पीछे सुनसान स्थान से बरामद कर लिया, जिसमें परिवार रहता था. पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने कहा कि पूछताछ के बाद आरोपी ने शुक्रवार को अपना अपराध स्वीकार किया.

  • REET 2020: 31,000 शिक्षक पदों के लिए 2 अगस्त को आयोजित की जाएगी परीक्षा

    REET 2020: 31,000 शिक्षक पदों  के लिए 2 अगस्त को आयोजित की जाएगी परीक्षा

    REET 2020: राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (Rajasthan Eligibility Exam For Teachers)  2 अगस्त को आयोजित की जाएगी. राजस्थान सरकार ने प्रस्तावित तौर पर  रीट (REET Exam) परीक्षा के जरिए सरकारी स्कूलों में 31,000 पदों पर भर्ती करनी है. इन पदों में से 6,080 पद ट्राइबल सब प्लान क्षेत्रों के लिए आरक्षित हैं. REET 2020 को लेकर 24 दिसंबर को घोषणा की गई थी. राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) ने ट्वीट किया है,  "रीट का पाठ्यक्रम तय सीमा में तय करके सभी पहलुओं की समीक्षा की जा रही है प्रक्रिया पूरी होने के बाद 2 अगस्त को परीक्षा करवाई जाएगी."

  • Hypothermia: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई बच्चों की मौत, रिपोर्ट में आया सामने, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव के तरीके

    Hypothermia: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई बच्चों की मौत, रिपोर्ट में आया सामने, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव के तरीके

    Hypothermia: राजस्थान के कोटा (Kota) स्थित जे.के.लोन सरकारी अस्पताल में एक महीने में 105 बच्चों की मौत के बाद सरकार ने जांच पैनल नियुक्त किया था. विशेषज्ञों की टीम ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि हाइपोथर्मिया (Hypothermia) के कारण बच्चों की मौत हुई है.

  • कोटा में बच्चों की मौत के मामले पर डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री गहलोत पर साधा निशाना, कहा- जिम्मेदारी तय करनी होगी

    कोटा में बच्चों की मौत के मामले पर डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री गहलोत पर साधा निशाना, कहा- जिम्मेदारी तय करनी होगी

    कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत के मामले में परोक्ष रूप से अपनी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए राज्य के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने शनिवार को कहा कि हमें और संवेदनशील होना चाहिए था. मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात के बाद यहां संवाददाताओं से बातचीत में पायलट ने कहा, “जे के लोन अस्पताल में 107 बच्चों की मौत हुई है. यह बहुत दर्दनाक है. मैं ऐसा मानता हूं कि इस मामलें को लेकर जो हम लोगो की प्रतिक्रिया रही है वो किसी हद तक संतोषजनक भी नहीं है.

  • राजस्थान के बीमार अस्पताल: कोटा, बाड़मेर और बूंदी के बाद अब जोधपुर से आया बच्चों की मौत का आंकड़ा, एक महीने में 146 ने तोड़ा दम

    राजस्थान के बीमार अस्पताल: कोटा, बाड़मेर और बूंदी के बाद अब जोधपुर से आया बच्चों की मौत का आंकड़ा, एक महीने में 146 ने तोड़ा दम

    केंद्र सरकार की तरफ से भेजी गई विशेषज्ञों की टीम ने शनिवार को अस्पताल का दौरा किया. लोकसभा स्पीकर और कोटा से सांसद ओम बिरला भी कोटा पहुंच गए हैं उन्होंने उन बच्चों के परिवारों से मुलाकात की जिनकी अस्पताल में मौत हुई.

  • कोटा में बच्चों की मौत पर बोले उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट- 13 महीने हो गए शासन करते अब पुरानी सरकार....

    कोटा में बच्चों की मौत पर बोले उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट- 13 महीने हो गए शासन करते अब पुरानी सरकार....

    राजस्थान के कोटा में बच्चों की लगातार हो रही मौत पर सचिन पायलट ने कहा है कि मुझे लगता है कि हमें इस मुद्दे और ज्यादा संवेदनशील होने की जरूरत है. सचिन पायलत ने कहा कि सत्ता में आए हमें 13 महीनों का वक्त हो चुका है और मुझे नहीं लगता है कि अब पुरानी सरकार पर दोष डालने का कोई मतलब नहीं है. जवाबदेही तय होनी चाहिए.

  • कोटा, बाड़मेर के बाद अब बूंदी में चौंकाने वाला मामला आया सामने, एक महीने में हुई 10 बच्चों की मौत

    कोटा, बाड़मेर के बाद अब बूंदी में चौंकाने वाला मामला आया सामने, एक महीने में हुई 10 बच्चों की मौत

    जिले में एक महीने में 10 बच्चों की मौत हो गई, लेकिन इन आंकड़ों को अस्पताल प्रशासन छुपाए बैठा था. वहीं, शुक्रवार को जब अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने जैसे ही अस्पताल का दौरा किया और आंकड़ें जाने तो एक महीने में 10 बच्चों की मौत अस्पताल में होने की बात सामने आई, यह सभी मौतें एसएनसीयू वार्ड में हुई है.

  • बाड़मेर में 200 बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन? NDTV की पड़ताल में सामने आई अस्पताल की दुर्दशा

    बाड़मेर में 200 बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन? NDTV की पड़ताल में सामने आई अस्पताल की दुर्दशा

    राजस्थान के कोटा के बाद बाड़मेर ज़िले से भी नवज़ातों की ज़िन्दगी से खिलवाड़ किए जाने का मामला सामने आया है. बाड़मेर के सरकारी अस्पताल में नवज़ातों के वार्ड में भारी लापरवाही है और यहां 2019 में 6 फ़ीसदी बच्चों की मौत हुई है जो आंकड़ा कोटा से ज़्यादा है. कुल 2966 बच्चों में से 202 बच्चों ने अस्पताल में भर्ती होने के बाद दम तोड़ दिया. जब NDTV की बाड़मेर जिला मुख्यालय पर सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में जाकर जब बच्चों के वार्ड की सुध ली तो हमारी टीम की आंखें खुल गई एक तरफ तो बाड़मेर में सर्दी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ रखे है वहीं अस्पताल की तीसरी मंजिल पर बच्चों को भर्ती किया गया है जहां पर खिड़किया खुली थीं और बच्चों के परिजनों ने ठंडी हवाओं से बचने के लिए खिड़कियों पर चादर लगा रखे थे.

  • कोटा : बच्चों की मौत पर बोलीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी- राजस्थान सरकार ने नहीं की कार्रवाई क्योंकि...

    कोटा : बच्चों की मौत पर बोलीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी- राजस्थान सरकार ने नहीं की कार्रवाई क्योंकि...

    महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि यह मामला स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़ा हुआ है और राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग इसकी रिपोर्ट मंत्रालय को सौंपेगा. उन्होंने कहा कि इस मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की टिप्पणी से वह आहत हैं. ईरानी ने कहा, 'वर्तमान में राजस्थान के मुख्यमंत्री की ओर से जिस तरह के वाक्य मैं सुन रही हूं, उससे एक मां और भारतीय होने के कारण दुखी हूं.'

  • अखिलेश यादव का दावा: गोरखपुर में 12 महीनों में एक हजार से ज्यादा बच्चों की हुई मौत

    अखिलेश यादव का दावा: गोरखपुर में 12 महीनों में एक हजार से ज्यादा बच्चों की हुई मौत

    अखिलेश यादव ने शुक्रवार को यहां प्रेस कांफ्रेंस में एक सवाल पर कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोटा के अस्पताल में बच्चों की मौत की तो फिक्र है लेकिन गोरखपुर में पिछले 12 महीने में एक हजार से ज्यादा बच्चों की जान जा चुकी है. मुख्यमंत्री उसकी फिक्र कब करेंगे. सपा अध्यक्ष ने गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि डॉक्टरों की जानकारी में था कि उन बच्चों को कौन सी बीमारी है लेकिन इंसेफेलाइटिस से मौतों के आंकड़े ठीक रखने के लिये उन्हें उस बीमारी की दवा नहीं दी गयी.

  • BSP ने मांगा CM अशोक गहलोत का इस्तीफा, आखिर कांग्रेस पर क्यों इतना भन्नाई हैं 'बहनजी'

    BSP ने मांगा CM अशोक गहलोत का इस्तीफा, आखिर कांग्रेस पर क्यों इतना भन्नाई हैं 'बहनजी'

    ऐसा लग रहा है बीएसपी सुप्रीमो मायावती और कांग्रेस के बीच तल्खी बढ़ती जा रही है. बीएसपी सुप्रीमो मायावती को उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी की अति सक्रियता अच्छी नहीं लग रही है दूसरी ओर आज राजस्थान में बीएसपी के 6 विधायक जो सितंबर 2019 में कांग्रेस में शामिल हो गए थे वे आज दिल्ली में सोनिया गांधी से मिलकर पार्टी की औपचारिक सदस्यता ले ली है.

  • गहलोत सरकार का फ़ोकस BJP पर निशाना साधने में ही है, अपनी ज़िम्मेदारी निभाने में कम है

    गहलोत सरकार का फ़ोकस BJP पर निशाना साधने में ही है, अपनी ज़िम्मेदारी निभाने में कम है

    ऐसा लगता है कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार का फ़ोकस बीजेपी पर निशाना साधने में ही है. अपनी ज़िम्मेदारी निभाने में कम है. कोटा के जे के लोन अस्पताल का मामला एक हफ़्ते से पब्लिक में है. इसके बाद भी एक्सप्रेस के रिपोर्टर दीप ने पाया है कि इंटेंसिव यूनिट में खुला डस्टबिन है. उसमें कचरा बाहर तक छलक रहा है. क़ायदे से तो दूसरे दिन वहां की सारी व्यवस्था ठीक हो जानी चाहिए थी. लेकिन मीडिया रिपोर्ट से पता चल रहा है कि वहां गंदगी से लेकर ख़राब उपकरणों की स्थिति जस की तस है. जबकि मुख्यमंत्री की बनाई कमेटी ही लौट कर ये सब बता रही है. सवाल है कि क्या एक सरकार एक हफ़्ते के भीतर इन चीजों को ठीक नहीं कर सकती थी?

  • कोटा अस्पताल में 100 नवजातों की मौत: राज्य सरकार की जांच टीम ने पाया, कई इनक्यूबेटर सही ढंग से काम नहीं कर रहे थे

    कोटा अस्पताल में 100 नवजातों की मौत: राज्य सरकार की जांच टीम ने पाया, कई इनक्यूबेटर सही ढंग से काम नहीं कर रहे थे

    राजस्थान के कोटा में जेके लोन अस्पताल में हुए नवजात शिशुओं के मौत को लेकर राजनीति भी गरमा रही है. इस मामले में राज्य सरकार की जांच टीम ने पाया है कि इनक्यूबेटर (Incubator) जैसे उपकरणों में कमी थी और कई सही ढंग से काम नहीं कर रहे थे. इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुराने आंकड़ों को उठाते हुए दावा किया कि पिछले कई सालों के मुक़ाबले इस साल बच्चों की मौतें कम हुई हैं. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस मामले में चिंता व्यक्त की और इस पर जानकारी मांगी है.

Advertisement