NDTV Khabar

Rajasthan news today


'Rajasthan news today' - 30 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बिहार में बाढ़ तो गुजरात में बारिश ने मचाई तबाही, जानें आपके राज्य के मौसम का हाल

    बिहार में बाढ़ तो गुजरात में बारिश ने मचाई तबाही, जानें आपके राज्य के मौसम का हाल

    Weather News Today: देश के कई हिस्से इस वक्त भयंकर बारिश और बाढ़ जैसी आपदाओं का सामना कर रहे हैं. लगातार होने वाली बारिश ने लोगों की जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है. गुजरात में लगातार बारिश की वजह से नदिया उफान पर हैं, बांधों के किनारे बसे इलाकों को रेड अलर्ट कर दिया गया है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश और बिहार में भी कई नदियां खतरे के निशान से से ऊपर बह रही है, कई इलाके बाढ़ की जद में आ चुके हैं तो कुछ पर इसकी चपेट में आने की संभावना नजर आ रही है.

  • सचिन पायलट ने इशारों-इशारों में फिर सब कुछ कह दिया?

    सचिन पायलट ने इशारों-इशारों में फिर सब कुछ कह दिया?

    राजस्थान कांग्रेस में सचिन पायलट सहित उनके कैंप के 18 विधायकों की वापसी के बाद राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने ध्वनिमत से विश्वास मत हासिल कर लिया है. यानी अब अशोक गहलोत सरकार को अब कोई संकट नहीं है.. आज जब 11 बजे राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई तो बैठने की व्यवस्था की गई कि सचिन पायलट विपक्ष के नेताओं के करीब पहुंच गए. दरअसल अब वो कैबिनेट का हिस्सा नही हैं और उनको उप मुख्यमंत्री पद से भी हटा दिया गया था. वो पहले सत्तापक्ष में सीएम गहलोत की कुर्सी के पास बैठते थे. आज सदन के इस नजारे पर  उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने हालिया राजनीतिक व अन्य घटनाक्रम, पुलिस के विशेष कार्यबल द्वारा नोटिस दिए जाने सहित अनेक बातों में पायलट का जिक्र किया. इस पर सचिन पायलट ने उन्हें बीच में टोकते हुए 'वह (राठौड़) बार- बार मेरा नाम ले रहे हैं. मैंने सोचा कि हमारे अध्यक्ष व मुख्य सचेतक ने मेरी सीट यहां क्यों रखी है? मैंने दो मिनट सोचा और फिर देखा कि यह सरहद है एक तरफ पक्ष है और दूसरी तरफ विपक्ष.... तो सरहद पर किसको भेजा जाता है.  सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है.' पायलट ने कहा, 'आज इस विश्वास मत में जो चर्चा हो रही है...उसमें बहुत से बातें बोली गयीं बहुत सी बातें बोली जाएंगी. समय के साथ साथ सब बातों का खुलासा होगा.'

  • राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान कांग्रेस में चली महीने भर की खींचतान के बाद अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार से शुरू हो रही विधानसभा के विशेष सत्र में भारतीय जनता पार्टी की चुनौती का सामना कर रहे हैं. बीजेपी ने गुरुवार को घोषणा की थी कि पार्टी गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगी. यानी अब गहलोत को सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा. गहलोत शुरू से ही दावा करते रहे हैं कि उनके पास बहुमत का आंकड़ा है. यहां तक कि सचिन पायलट सहित 19 विधायकों के बगावत कर देने के बावजूद भी वो गवर्नर से इस दावे के साथ मिले थे कि उनके पास बहुमत है. लेकिन ये तो तय था कि विधानसभा सत्र शुरू होने के बाद उन्हें अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ सकता है.

  • महीनेभर बाद राजस्थान लौट रहे हैं पायलट, 'आसान घर वापसी' से नाराज गहलोत गए जैसलमेर

    महीनेभर बाद राजस्थान लौट रहे हैं पायलट, 'आसान घर वापसी' से नाराज गहलोत गए जैसलमेर

    ठीक महीने भर बाद प्रदेश लौट रहे पायलट के साथ बहुत बड़ा बदलाव हो चुका है. अब न तो वो डिप्टी सीएम हैं, न ही उनके पास राजस्थान कांग्रेस के चीफ का पद है. वहीं इस समझौते से अशोक गहलोत बहुत खुश नहीं हैं.

  • आज आ सकता हाईकोर्ट का फैसला, सचिन पायलट के लिए आज सबसे अहम दिन

    आज आ सकता हाईकोर्ट का फैसला, सचिन पायलट के लिए आज सबसे अहम दिन

    राजस्थान की राजनीति में आज सबसे अहम दिन क्योंकि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हिस्सा न लेने वाले सचिन पायलट सहित 19 विधायकों के खिलाफ विधानसभा अध्यक्षता की ओर से दिए गए नोटिस पर आज हाईकोर्ट फैसला सुना सकता है. इससे पहले हाईकोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए आज के दिन के लिए फैसला टाल दिया था. इसे सचिन पायलट के लिए फौरी राहत माना गया. लेकिन हाईकोर्ट के इस फैसले के खिलाफ विधानसभा अध्यक्ष की ओर से सुप्रीम कोर्ट में अपील की गई जिसमें कहा गया है कि संविधान की 10वीं अनुसूची के अंतर्गत उनके द्वारा की जा रही अयोग्यता की कार्यवाही से हाईकोर्ट रोक नहीं लगा सकता है. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस दलील को खारिज कर दिया है साथ ही कई अहम टिप्पणी भी की हैं. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि हाइकोर्ट इस मामले में अपना निर्णय सुना सकता है.

  • राजस्थान हाईकोर्ट का फैसला 24 जुलाई को : सचिन पायलट नहीं अब बाजी CM गहलोत के हाथ में?

    राजस्थान हाईकोर्ट का फैसला 24 जुलाई को : सचिन पायलट नहीं अब बाजी CM गहलोत के हाथ में?

    पार्टी के व्हिप का उल्लंघन करने के मामले में सचिन पायलट और 18 बागी विधायकों के खिलाफ विधानसभा अध्यक्ष के नोटिस पर राजस्थान हाईकोर्ट अब 24 जुलाई फैसला सुनाएगा. हाईकोर्ट ने यह भी कहा है कि तब तक यानी 24 जुलाई तक विधानसभा अध्यक्ष इस मामले में कोई फैसला न करे. इसे फौरी तौर पर सचिन पायलट के लिए राहत के लिए माना जा रहा है. क्योंकि इससे उनको जहां कानूनी तैयारी करने का समय मिलेगा तो वहीं राजनीतिक दांवपेंच का भी वक्त मिल गया है. लेकिन ऐसा भी नहीं है कि राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत 24 जुलाई तक हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेंगे.

  • Rajasthan News: क्या पूर्व सीएम वसुंधरा राजे स्वीकार करेंगी सचिन पायलट और BJP का साथ, 10 बड़ी बातें

    Rajasthan News: क्या पूर्व सीएम वसुंधरा राजे स्वीकार करेंगी सचिन पायलट और BJP का साथ, 10 बड़ी बातें

    Rajasthan News Today: 24 घंटे में बदली राजनीति की चाल बदल गई है. सोमवार को मजबूत नजर आ रहे अशोक गहलोत अब बड़ी मुश्किल की ओर नजर आ रहे हैं. लेकिन अभी तक जो जानकारी मिल रही है कि सचिन पायलट के पास इतने भी विधायक नहीं है कि वह अकेले दम पर सरकार गिरा सकते हैं. खबर है कि अशोक गहलोत के पास 104 विधायकों का समर्थन है और वह राज्यपाल से मिलने गए हैं. लेकिन इसी बीच खबर आ गई कि बीटीपी के दो विधायक जो कि कांग्रेस समर्थन का समर्थन कर रहे थे उन्होंने कह दिया कि उनको यहां पर बंधक बनाकर रखा गया है. इस बयान को आधार मानें तो अशोक गहलोत के पास 102 नंबर पर जाएंगे. राजस्थान विधानसभा में बहुमत के लिए 101 विधायकों की जरूरत होगी. लेकिन इन सबके बीच कई नए समीकरण नजर आ रहे हैं.

  • राजस्थान : सचिन के साथ सरकार बनाने के लिए BJP को लगाने पड़ेंगे 'एक ओवर में 6 सिक्स', एमपी से एकदम अलग हैं हालात

    राजस्थान : सचिन के साथ सरकार बनाने के लिए BJP को लगाने पड़ेंगे 'एक ओवर में 6 सिक्स',  एमपी से एकदम अलग हैं हालात

    राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के संकट में आते ही राज्य में बीजेपी सरकार की सुगबुगाहट तेज हो गई है. लेकिन सबसे बड़ा सवाल अभी यही बना हुआ है कि क्या राजस्थान में बीजेपी के लिए राह मध्य प्रदेश की तरह ही आसान है या फिर वह महाराष्ट्र की तरह गच्चा न खा जाए. दरअसल बीजेपी इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम कर रख रही है. रविवार को सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि सचिन पायलट बीजेपी के संपर्क में हैं और उन्होंने मुख्यमंत्री बनने की इच्छा जाहिर की है लेकिन पार्टी ने ऐसा आश्वासन देने से इनकार कर दिया है. साथ में यह भी कहा गया है कि पहले गहलोत सरकार को गिराओ. जैसा की पायलट कैंप का दावा है कि उनके पास 30 विधायकों का समर्थन है, अगर इसमें सच्चाई तभी गहलोत सरकार को गिराया जा सकता है. कांग्रेस के पास 107 खुद के विधायक हैं, 10 निर्दलीय, 2 बीटेपी, 2 सीपीएम विधायकों का समर्थन है.वहीं बीजेपी के पास 73, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के पास 3, और निर्दलीय जो कांग्रेस के खिलाफ हैं ऐसे विधायकों की संख्या 3 का समर्थन है. विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं और बहुमत के लिए 100 सीटें होना जरूरी है. इस हिसाब से कांग्रेस के अपने पास 107 विधायक हैं.

  • मध्य प्रदेश और कर्नाटक की तरह राजस्थान में BJP के लिए राह नहीं आसान, लेकिन मायावती जरूर खुश होंगी

    मध्य प्रदेश और कर्नाटक की तरह राजस्थान में BJP के लिए राह नहीं आसान, लेकिन मायावती जरूर खुश होंगी

    राजस्थान में अशोक गहलोत की अगुवाई में चल रही कांग्रेस की सरकार अपने ही उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की वजह से संकट में दिखाई दे रही है. मध्य प्रदेश के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया तरह सचिन पायलट ने बगावत कर दी है और उनकी ओर से दावा किया जा रहा है कि उनके समर्थन में 30 विधायक हैं और उन्होंने साफ ऐलान कर दिया है कि आज होने वाली कैबिनेट की बैठक में वह हिस्सा नहीं लेंगे. दरअसल राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही सचिन पायलट के मन में एक तरह से कुलबुलाहट चल रही थी जो बीच-बीच में सबके सामने भी आई. एक समय खुद को राजस्थान के सीएम पद के लिए खुद को प्रबल दावेदार मान रहे सचिन पायलट को कांग्रेस आलाकमान ने झटका देते हुए अशोक गहलोत को सीएम बना दिया. बात यहीं से बिगड़ने शुरू हो गई. 

  • कैबिनेट की बैठक छोड़ सचिन पायलट दिल्ली में, राजस्थान में राजनीतिक उठा-पटक की 'क्रोनोलॉजी समझिए' 8 प्वाइंट में

    कैबिनेट की बैठक छोड़ सचिन पायलट दिल्ली में, राजस्थान में राजनीतिक उठा-पटक की 'क्रोनोलॉजी समझिए' 8 प्वाइंट में

    राजस्थान में राजनीतिक माहौल गरमा रहा है. ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी मध्य प्रदेश के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह जाते दिखाई दे रहे हैं. दरअसल यह मामला उस समय गरमा गया है जब सीएम अशोक गहलोत ने आरोप लगाया कि उनकी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है. एसओजी और भ्रष्टाचार निरोधक टीम ने 3 निर्दलीय विधायकों को पूछताछ के लिए बुलाया है. इसके बाद से ये हलचल तेज हो गई है. इस बीच खबर आई है कि सचिन पायलट कैबिनेट की बैठक में हिस्सा न लेते हुए दिल्ली पहुंच गए हैं और उनके साथ कुछ विधायक भी हैं. बताया जा रहा है कि अब वह आलाकमान से मिलकर मामले को निपटाने के मूड में हैं.

  • क्या राजस्थान सरकार संकट में है? इस सवाल ने कहां से और कैसे पकड़ा तूल

    क्या राजस्थान सरकार संकट में है? इस सवाल ने कहां से और कैसे पकड़ा तूल

    मध्य प्रदेश में सरकार गंवाने के बाद अब राजस्थान में उथल-पुथल मची हुई है. सीएम अशोक गहलोत ने आरोप लगाया है कि बीजेपी उनकी सरकार गिराने की कोशिश कर रही है. मुख्यमंत्री गहलोत का दावा है कि विधायकों को 'अपनी निष्ठा बदलने के लिए' 10 से 15 करोड़ रुपये तक की पेशकश की जा रही है. राजस्थान के सीएम ने कहा, "मैं चाहता हूं कि पूरा देश जाने की बीजेपी अब अपनी सारी सीमाएं पार कर रही है. वह मेरी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है." गहलोत ने आगे कहा, "हम विधायकों को पाला बदलने के लिए ऑफर देने की बात सुनते रहे हैं. कुछ लोगों को 15 करोड़ रुपये तक देने का वादा किया गया है और कुछ को अन्य प्रलोभन देने की बात कही गई है. यह लगातार हो रहा है'.  

  • Coronavirus: दिल्ली में कोरोना ने ली सवा महीने के बच्चे की जान, भोपाल में 12 दिन की बच्ची संक्रमित, राजस्थान में भी नवजात को कोविड-19

    Coronavirus: दिल्ली में कोरोना ने ली सवा महीने के बच्चे की जान, भोपाल में 12 दिन की बच्ची संक्रमित, राजस्थान में भी नवजात को कोविड-19

    Coronavirus India Updates: दिल्ली में कोरोना वायरस (Covid-19) संक्रमण ने रविवार को डेढ़ महीने के एक बच्चे की जान (New Born Death) ले ली. देश में कोविड-19 से मरने वाला यह संभवत: सबसे कम उम्र का मरीज है. नवजात की मौत लेडी हार्डिंग अस्पताल (Lady Harding Hospital) से संबद्ध कलावती सरन बाल चिकित्सालय (Kalawati Saran Hospital) में हुई है. वहीं राजस्थान (Rajasthan) से भी एक नवजात बच्चे (New Born) के कोरोना पॉजिटीव (Corona Positive) होने का मामला सामने आया है.

  • बाहर घूमते दिखे लोग तो गुस्सा गए SP साहब, बोले- '4-5 दिन सब्जी नहीं खाओगे तो मरोगे नहीं...' देखें Video

    बाहर घूमते दिखे लोग तो गुस्सा गए SP साहब, बोले- '4-5 दिन सब्जी नहीं खाओगे तो मरोगे नहीं...' देखें Video

    CoronaVirus के चलते देश के 32 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में पूरी तरह से लॉकडाउन (CoronaVirus Lockdown) का ऐलान कर दिया गया है. राजस्थान (Rajasthan) के करौली (Karauli) के एसपी अनिल बेनीवाल (SP Anil Beniwal) बाहर घूम रहे लोगों को देख गुस्सा गए.

  • इस राज्य में बुधवार सुबह 6 बजे से अगले 24 घंटों के लिए बंद रहेंगे सभी पेट्रोल पंप, जानिये वजह

    इस राज्य में बुधवार सुबह 6 बजे से अगले 24 घंटों के लिए बंद रहेंगे सभी पेट्रोल पंप, जानिये वजह

    राजस्थान (Rajasthan) के सभी पेट्रोल पंप (Petrol Pump) बुधवार सुबह 6 बजे से अगले 24 घंटों के लिए बंद रहेंगे. राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स ऐसोसिएशन ने राज्य में पेट्रोलियम उत्पादों पर बढ़े वैट के विरोध में इस बंद का घोषणा की है.

  • राजस्थान के Bikaner में महसूस किये गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.5 आंकी गई तीव्रता

    राजस्थान के Bikaner में महसूस किये गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.5 आंकी गई तीव्रता

    बीकानेर (Bikaner) के शहरी और ग्रामीण इलाके में रविवार सुबह भूकंप के झटके (Bikaner News) महसूस किए गए. मौसम विभाग के अनुसार रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.5 आंकी गई.

  • राजस्थान के सरकारी स्कूलों के नाम और पते से 'हरिजन' शब्द हटाया जाएगा

    राजस्थान के सरकारी स्कूलों के नाम और पते से 'हरिजन' शब्द हटाया जाएगा

    राजस्थान के सरकारी स्कूलों के नाम और पते से 'हरिजन' शब्द हटाया जाएगा. राज्य के शिक्षा विभाग ने इसकी कवायद शुरू कर दी है और उन स्कूलों की सूची मांगी है जिनके नाम में 'हरिजन' शब्द आता है. राज्य के माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने सभी मुख्य जिला शिक्षा अधिकारियों और समग्र शिक्षा अभियान के पदेन जिला परियोजना समन्वयकों को इस बारे में एक पत्र भेजा गया है. इसमें अधिकारियों से कहा गया है कि वे अपने अधीनस्थ संचालित ऐसे राजकीय विद्यालयों के नाम संशोधन के प्रस्ताव जिलेवार समेकित कर भेजें ताकि समेकित प्रस्ताव स्वीकृति के लिए आगे सरकार को भिजवाए जा सकें. 

  • Rajasthan BSTC Result राजस्थान बीएसटीसी रिजल्ट जारी, bstc2019.org पर यूं करें चेक

    Rajasthan BSTC Result राजस्थान बीएसटीसी रिजल्ट जारी, bstc2019.org पर यूं करें चेक

    राजस्थान बीएसटीसी (प्री डिएलएड) परीक्षा का रिजल्ट (BSTC Result 2019) जारी कर दिया गया है. राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने ्प्री डी. एल. एड. यानी बीएसटीसी परीक्षा का रिजल्ट (BSTC 2019 Result Rajasthan) जारी कर दिया है. उम्मीदवारों के रिजल्ट (Rajasthan BSTC Result) का इंतजार खत्म हो गया है.  उम्मीदवार अपना रिजल्ट (BSTC Result 2019) बीएसटीसी की ऑफिशियल वेबसाइट bstc2019.org पर जाकर आसानी से चेक कर सकते हैं.

  • Phase 5 Voting: क्या BJP दोहरा पाएगी 2014 जैसा प्रदर्शन, 51 में से जीती थी 39 सीटें, 2 पर सिमटी थी कांग्रेस, 10 बड़ी बातें

    Phase 5 Voting: क्या BJP दोहरा पाएगी 2014 जैसा प्रदर्शन, 51 में से जीती थी 39 सीटें, 2 पर सिमटी थी कांग्रेस, 10 बड़ी बातें

    केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) सहित 674 उम्मीदवारों के भविष्य का फैसला आज सात राज्यों में 51 सीटों पर होने वाले चुनावों में करीब नौ करोड़ मतदाता करेंगे. सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) और इसके सहयोगियों के लिए काफी कुछ दांव पर लगा हुआ है क्योंकि 2014 के चुनावों में इसने इनमें से 40 सीटों पर जीत दर्ज की थी और दो सीटों पर कांग्रेस (Congress) ने जीत हासिल की थी जबकि शेष पर अन्य विपक्षी दलों ने जीत हासिल की. उत्तरप्रदेश में 14 सीटों, राजस्थान में 12 सीटों, पश्चिम बंगाल और मध्यप्रदेश में सात- सात सीटों पर चुनाव होंगे जबकि बिहार में पांच और झारखंड में चार सीटों के लिए चुनाव होना है. जम्मू-कश्मीर के लद्दाख सीट और अनंतनाग सीट के लिए पुलवामा और शोपियां जिलों में चुनाव होना है. चुनाव आयोग (Election Commission) ने 94 हजार मतदान केंद्रों का निर्माण किया है और सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं. पांचवें और सबसे छोटे चरण में 8.75 करोड़ मतदाता 674 उम्मीदवारों के भविष्य तय करेंगे. इस चरण के साथ ही 424 सीटों पर चुनाव खत्म हो जाएंगे और शेष 118 सीटों पर 12 मई और 19 मई को चुनाव होंगे.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com