NDTV Khabar

Rajya sabha


'Rajya sabha' - 628 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मुस्लिम महिलाओं के लिए नहीं, पतियों के छोड़ी विवाहित महिलाओं के लिए कानून लाएं प्रधानमंत्री: असदुद्दीन ओवैसी

    मुस्लिम महिलाओं के लिए नहीं, पतियों के छोड़ी विवाहित महिलाओं के लिए कानून लाएं प्रधानमंत्री: असदुद्दीन ओवैसी

    मोदी कैबिनेट ने तीन तलाक यानी ट्रिपल तलाक पर अध्यादेश को मंजूरी दे दी, मगर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस अध्यादेश पर अपनी नाराजगी जाहिर की है और इसे मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ बताया है. ओवैसी का मानना है कि इंस्टेंट ट्रिपल तलाक के खिलाफ लाए गये अध्यादेश से मुस्लिम महिलाओं को इंसाफ नहीं मिलेगा. बता दें कि आज पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट ने तीन तलाक पर अध्यादेश को मंजूरी दी और अब इसे 6 महीने के भीतर लागू करवाना होगा. 

  • रविशंकर प्रसाद बोले- तीन तलाक के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश से आए, जानें किन राज्यों में कितने मामले

    रविशंकर प्रसाद बोले- तीन तलाक के सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश से आए, जानें किन राज्यों में कितने मामले

    ट्रिपल तलाक अब अपराध की श्रेणी में आएगा, क्योंकि अब केंद्र की मोदी सरकार ने तीन तलाक बिल को पास कराने के लिए अध्यादेश का रास्ता अख्तियार किया है और मोदी कैबिनेट ने बुधवार को तीन तलाक पर अध्‍यादेश को मंजूरी दे दी. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कैबिनेट ने आज तीन तलाक पर अध्यादेश को मंजूरी दी है

  • अब ट्रिपल तलाक होगा अपराध, मोदी कैबिनेट ने दी अध्यादेश को मंजूरी: 10 बड़ी बातें

    अब ट्रिपल तलाक होगा अपराध, मोदी कैबिनेट ने दी अध्यादेश को मंजूरी: 10 बड़ी बातें

    ट्रिपल तलाक बिल संसद में न पास होने के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने तीन तलाक बिल को पास कराने के लिए अध्यादेश का रास्ता अख्तियार किया है और मोदी कैबिनेट ने बुधवार को तीन तलाक पर अध्‍यादेश को मंजूरी दे दी. यानी अब मुस्लिम महिलाओं को ट्रिपल तलाक से राहत मिलने वाली है. हालांकि, इसके लिए मोदी सरकार को ट्रिपल तलाक अध्यादेश को 6 महीने के अंदर पास करवाना होगा. यानी सरकार को इसी शीतकालीन सत्र में अध्यादेश पास कराना होगा. मसौदा कानून के तहत, किसी भी तरह का तीन तलाक (बोलकर, लिखकर या ईमेल, एसएमएस और व्हाट्सएप जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से) गैरकानूनी होगा.

  • सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, राज्‍यसभा चुनाव में नहीं होगा NOTA का इस्तेमाल

    सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, राज्‍यसभा चुनाव में नहीं होगा NOTA का इस्तेमाल

    30 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात कांग्रेस की याचिका पर सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रख लिया था. इस मामले की सुनवाई के दौरान कांग्रेस के साथ NDA ने भी राज्यसभा चुनाव में NOTA का विरोध किया.

  • इस वजह से BJD ने उपसभापति चुनाव में JDU उम्मीदवार को समर्थन दिया, बीजेपी को नहीं...  

    इस वजह से BJD ने उपसभापति चुनाव में JDU उम्मीदवार को समर्थन दिया, बीजेपी को नहीं...  

    राज्यसभा के उपसभापति चुनाव में राजग उम्मीदवार का समर्थन करने के लिए विपक्ष के निशाने पर आए बीजद ने कहा कि उसने 'वैचारिक समानता' के कारण जेडीयू का समर्थन किया और भाजपा तथा कांग्रेस से समान दूरी बना रखी है. ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) ने भारतीय जनता पार्टी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह का समर्थन किया था जो जनता दल (यूनाइटेड) से पहली बार राज्यसभा सदस्य बने थे.

  • राज्यसभा में तीन तलाक़ बिल अटका, अब सरकार अध्यादेश की तैयारी में

    राज्यसभा में तीन तलाक़ बिल अटका, अब सरकार अध्यादेश की तैयारी में

    तीन तलाक पर संशोधन बिल राज्यसभा में हंगामे और राजनीतिक सहमति न बन पाने की वजह से आखिरकार पेश नहीं किया जा सका. अब सरकार इसे अगले सत्र में ही पेश कर पाएगी. इस बीच सरकार ने संकेत दिया है कि वह संशोधित तीन तलाक बिल को लागू करने के लिए अध्यादेश लाने पर विचार कर रही है. 

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद पर की गई टिप्पणी को राज्‍यसभा की कार्यवाही रिकॉर्ड से हटाया गया

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद पर की गई टिप्पणी को राज्‍यसभा की कार्यवाही रिकॉर्ड से हटाया गया

    यह दुर्लभ अवसर है, परन्तु यह पहला मौका नहीं है, जब प्रधानमंत्री की टिप्पणी को सदन की कार्यवाही के रिकॉर्ड में से हटाया गया हो. वर्ष 2013 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह तथा विपक्ष के नेता अरुण जेटली के बीच तीखी नोकझोंक हुई थी, जिसके बाद दोनों ही नेताओं के कहे कुछ शब्दों को रिकॉर्ड में से हटाया गया था.

  • मोदी सरकार के प्रयासों के बाद भी अगले सत्र तक टला ट्रिपल तलाक बिल, अब सरकार लाएगी अध्यादेश

    मोदी सरकार के प्रयासों के बाद भी अगले सत्र तक टला ट्रिपल तलाक बिल, अब सरकार लाएगी अध्यादेश

    मोदी कैबिनेट की मंज़ूरी के बाद तीन तलाक बिल को तीन संशोधनों के साथ आज राज्यसभा में पेश किया जाना था. मगर अब सूत्रों के हवाले से खबर है कि तीन तलाक बिल अब टल गया है. यानी अब शरद सत्र में ही तीन तलाक बिल लाया जाएगा. बताया जा रहा है कि सरकार तीन तलाक पर अध्यादेश लाएगी. दरअसल, मोदी कैबिनेट ने जो तीन तलाक संशोधन बिल को मंजूरी दी है, उसके मुताबिक ये तय किया गया है कि संशोधित बिल में दोषी को ज़मानत देने का अधिकार मेजिस्ट्रेट के पास होगा और कोर्ट की इजाज़त से समझौते का प्रावधान भी होगा. बता दें कि संसद का मॉनसून सत्र आज यानी शुक्रवार को ख़त्म हो रहा है.

  • आज राज्यसभा में पेश होगा ट्रिपल तलाक बिल, पास न होने पर यह है BJP का प्लान-B, 10 बातें

    आज राज्यसभा में पेश होगा ट्रिपल तलाक बिल, पास न होने पर यह है BJP का प्लान-B, 10 बातें

    मोदी कैबिनेट ने ट्रिपल तलाक बिल (triple talaq bill) में संशोधन को मंजूरी दे दी है और आज मोदी सरकार ट्रिपल तलाक संशोधन बिल संसद के मॉनसून सत्र के आखिरी दिन राज्यसभा में पेश करेगी. अगर विधेयक ऊपरी सदन में पारित हो जाता है तो इसे संशोधन पर मंजूरी के लिए वापस लोकसभा में पेश करना होगा. सूत्रों की मानें तो ट्रिपल तलाक संशोधन बिल को आज राज्यसभा की कार्यवाही में टॉप एजेंडे के तौर पर शामिल कर लिया गया है. मोदी कैबिनेट की इस ट्रिपल तलाक संशोधन बिल में जमानत जैसे कुछ संरक्षणात्मक प्रावधानों को मंजूरी दी गई है. यानी अब ये तय किया गया है कि संशोधित बिल में दोषी को ज़मानत देने का अधिकार मेजिस्ट्रेट के पास होगा.

  • हरिवंश जी राजनीति में आपका इस तरह बढ़ना हम पत्रकारों को अच्छा नहीं लगता..

    हरिवंश जी राजनीति में आपका इस तरह बढ़ना हम पत्रकारों को अच्छा नहीं लगता..

    इस शीर्षक को देखकर आप सब लोग चकित हो रहे होंगे, लेकिन मुझे ये स्वीकार करने में कोई हिचक नहीं कि पहले हरिवंश जी का राजनीति में जाना, राज्यसभा सदस्य बनना और राज्यसभा का उप सभापति वह भी पहले टर्म में ही बन जाना, मुझे बहुत ख़ुशी नहीं हो रही.

  • राज्यसभा के नवनिर्वाचित उपसभापति हरिवंश को सभापति वेंकैया नायडू ने दिया यह सुझाव 

    राज्यसभा के नवनिर्वाचित उपसभापति हरिवंश को सभापति वेंकैया नायडू ने दिया यह सुझाव 

    राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने नवनिर्वाचित उप सभापति हरिवंश को सुझाव दिया कि वह अपने दाहिनी ओर (सत्ता पक्ष) और बाईं ओर (विपक्ष) न देखें बल्कि छोटे दलों सहित सबकी ओर ध्यान दें. नायडू ने हरिवंश को बधाई देते हुए कहा, 'अलग-अलग सदस्यों ने दाहिनी ओर (सत्ता पक्ष) और बाईं ओर (विपक्ष) देखने का सुझाव दिया है लेकिन मैं सभापति होने के नाते उन्हें (हरिवंश) यह कह सकता हूं कि हमें दाहिने या बाईं ओर नहीं देखना चाहिए बल्कि हमें नियम के अनुसार, सीधे देखना चाहिए और सदन में सबकी ओर ध्यान देना चाहिए चाहे वह यहां बैठे हों या वहां बैठे हों या सामने बैठे हों.'

  • नवीन पटनायक ने राज्यसभा में क्यों किया NDA उम्मीदवार का समर्थन, कांग्रेस ने बताई वजह...

    नवीन पटनायक ने राज्यसभा में क्यों किया NDA उम्मीदवार का समर्थन, कांग्रेस ने बताई वजह...

    ओडिशा प्रदेश कांग्रेस समिति (ओपीसीसी) ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर राज्यसभा के उपसभापति के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार का समर्थन करने पर जमकर निशाना साधा. ओडिशा प्रदेश कांग्रेस समिति ने आरोप लगाया कि नवीन पटनायक ने पार्टी के 'गलत कार्यों' का खुलासा करने से सीबीआई को रोकने के लिए चुनाव में राजग के प्रत्याशी हरिवंश का समर्थन कर लोगों के साथ विश्वासघात किया है.

  • 'हरि बनाम हरि' की लड़ाई में NDA के हरिवंश ने मारी बाजी, बीके हरिप्रसाद को हरा बने उपसभापति

    'हरि बनाम हरि' की लड़ाई में NDA के हरिवंश ने मारी बाजी, बीके हरिप्रसाद को हरा बने उपसभापति

    Rajya Sabha Deputy Chairman Election : राज्यसभा के उपसभापति (Rajya Sabha Deputy Chairman Election) के लिए आज वोट डाले गये. मुकाबला एनडीए उम्मीदवार हरिवंश और विपक्ष के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद के बीच हुआ, जिसमें बाजी मारी एनडीए के उम्मीदवार हरिवंश ने. जनता दल यूनाइटेड से राज्यसभा सांसद ने कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद को हरा दिया. एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को सदन में 125 वोट मिले, जबकि विपक्ष के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को 105 वोट ही मिले. वोटिंग प्रक्रिया शुरू होने से पहले राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए नौ नामांकन सदन में प्रस्तुत किए गए.

  • हरिवंश नारायण सिंह बने राज्‍यसभा के उपसभापति, जानें पत्रकार से उनके यहां तक के सफर के बारे में

    हरिवंश नारायण सिंह बने राज्‍यसभा के उपसभापति, जानें पत्रकार से उनके यहां तक के सफर के बारे में

    एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को 125 वोट मिले जबकि विपक्षी उम्मीदवार बी के हरिप्रसाद को 105 वोट मिले.

  • जब कांग्रेस से नाराज AAP ने कहा- 'राहुल PM से गले मिल सकते हैं, हमें फोन नहीं कर सकते'

    जब कांग्रेस से नाराज AAP ने कहा- 'राहुल PM से गले मिल सकते हैं, हमें फोन नहीं कर सकते'

    Rajya Sabha Deputy Chairman Election 2018: आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए आज होने वाले चुनाव का ‘बहिष्कार’ करने का फैसला लिया है. साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की है. आम आदमी पार्टी के सांसद और आप नेता संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने राजग गठबंधन के उम्मीदवार हरिवंश का समर्थन करने के बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अनुरोध को ठुकरा दिया है क्योंकि उन्हें भाजपा का समर्थन प्राप्त है. 

  • NDA के हरिवंश नारायण सिंह बने उपसभापति, पीएम मोदी बोले- सदन अब हरि भरोसे

    NDA के हरिवंश नारायण सिंह बने उपसभापति, पीएम मोदी बोले- सदन अब हरि भरोसे

    Rajya Sabha Deputy Chairman Election : राज्यसभा के उपसभापति पद (Rajya Sabha Deputy Chairman Election) के लिए आज होने वाले चुनाव की तैयारी हो चुकी है और यह चुनाव भी सियासी नजरिये से काफी अहम था, मगर इस सियासी जंग में जीत एक बार फिर से एनडीए की हुई है और विपक्ष को हार का मुंह देखना पड़ा है. एनडीए उम्मीदवार और जेडीयू के राज्यसभा सांसद  हरिवंश नारायण सिंह उपसभापति का चुनाव जीत गये हैं और उन्होंने विपक्ष के बीके हरिप्रसाद को हरा दिया है.  हालांकि, आज होने वाले चुनाव में एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह (Harivansh Narayan Singh) को उच्च सदन में संख्या बल के आधार पर आधे से अधिक सदस्यों का समर्थन मिलने की उम्मीद को देखते हुए विपक्ष के प्रत्याशी बी के हरिप्रसाद की तुलना में उनका पलड़ा भारी दिख रहा था. मगर कांग्रेस नीत विपक्ष भी अपनी जीत का दावा कर रहा था. बता दें कि एनडीए ने उपसभापति (Rajya Sabha Deputy Chairman Election) के इस चुनावी जंग में जहां जनता दल यूनाइटेड के सांसद हरिवंश को उतारा था, वहीं विपक्ष ने कांग्रेस के बीके प्रसाद को साझा उम्मीदवार के रूप में उतारा. 

  • राज्यसभा के उपसभापति चुनावः हरिवंश बनाम हरिप्रसाद मुकाबला दिलचस्प, जानें किसका पलड़ा है भारी

    राज्यसभा के उपसभापति चुनावः हरिवंश बनाम हरिप्रसाद मुकाबला दिलचस्प, जानें किसका पलड़ा है भारी

    राज्यसभा में उपसभापति पद के लिए चुनावी बिगुल बज चुका है. सरकार और विपक्ष ने अपनी-अपनी ओर से मैदान में उतार दिया है. राज्यसभा यानी उच्च सदन में आज उपसभापति पद के लिए चुनाव होंगे, जिसमें मोदी सरकार यानी एनडीए की ओर से जनता दल यूनाइटेड के सांसद हरिवंश हैं, तो वहीं विपक्ष की ओर से साझा उम्मीदवार के तौर पर बीके हरिप्रसाद हैं. यानी अब मुकाबला हरिवंश बनाम हरिप्रसाद है. विपक्ष का नेतृत्व कर रही कांग्रेस और एनडीए की कमान संभालने वाली भारतीय जनता पार्टी दोनों को अपने उम्मीदवार की जीत की उम्मीद है. यानी दोनों दावा कर रही है कि जीत उन्हीं की होगी. मगर यह सब आज तय तब होगा जब विभिन्न पार्टियां वोटिंग में हिस्सा लेगी और अपने-अपने पत्ते खोलेगी. 

  • राज्यसभा उपसभापति चुनाव: बीजद ने पत्ते खोले, राजग उम्मीदवार का करेगा समर्थन 

    राज्यसभा उपसभापति चुनाव: बीजद ने पत्ते खोले, राजग उम्मीदवार का करेगा समर्थन 

    पटनायक ने संवाददाताओं से कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुझसे बात की है और राज्यसभा के उपसभापति पद के चुनाव में हम जदयू उम्मीदवार का समर्थन करेंगे.पटनायक ने कहा कि बीजद इसलिए जदयू का समर्थन करेगी क्योंकि दोनों जय प्रकाश नारायण आंदोलन की पैदाइश हैं.

Advertisement