NDTV Khabar

Religious discrimination


'Religious discrimination' - 6 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अनुच्छेद 370 लाने का मकसद भ्रष्टाचार और धर्म-जाति भेदभाव खत्म करना- अमेरिकी सांसद

    अनुच्छेद 370 लाने का मकसद भ्रष्टाचार और धर्म-जाति भेदभाव खत्म करना- अमेरिकी सांसद

    अमेरिका के एक प्रभावशाली सांसद ने कहा है कि भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने का फैसला आर्थिक विकास बढ़ाने, भ्रष्टाचार को खत्म करने और धर्म एवं जाति के आधार पर भेदभाव खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों के समर्थन में उठाया था.

  • पीएम मोदी के खिलाफ चर्च की चिट्ठी, BJP ने कहा- देश में मजहब के आधार पर कोई भेदभाव नहीं

    पीएम मोदी के खिलाफ चर्च की चिट्ठी, BJP ने कहा- देश में मजहब के आधार पर कोई भेदभाव नहीं

    एक बार फिर चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चर्च की चिट्ठी आई है. दिल्ली में चर्च के आर्कबिशप ने चिट्ठी लिखकर इशारों में कहा है कि देश में लोकतंत्र खतरे में है और 2019 के लिए ईसाइयों को नई सरकार के लिए वोट करना चाहिए. सवाल उठने के बाद चर्च सफाई दे रहा है कि उन्होंने किसी एक सरकार के खिलाफ चिट्ठी नहीं लिखी. वर्ष 2019 में नरेंद्र मोदी सरकार नहीं बने, इसके लिए दिल्ली के एक आर्कबिशप ने लोगों से दुआ करने की अपील की है.

  • आर्कबिशप के खत पर बोले गृहमंत्री राजनाथ सिंह, देश में किसी भी तरह के भेदभाव की इजाजत नहीं

    आर्कबिशप के खत पर बोले गृहमंत्री राजनाथ सिंह, देश में किसी भी तरह के भेदभाव की इजाजत नहीं

    गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत किसी के भी खिलाफ धर्म या संप्रदाय के आधार पर भेदभाव नहीं करता है और देश में ऐसा करने की कभी भी इजाजत नहीं रही है. उनकी टिप्पणी दिल्ली के आर्कबिशप के उस बयान की पृष्ठभूमि में आई है, जिसमें उन्होंने देश में बने 'उथल-पुथल वाले राजनीतिक माहौल' का जिक्र किया था और 2019 के आम चुनाव से पहले प्रार्थना अभियान शुरू करने की अपील की थी.

  • मुस्लिम ड्राइवर की वजह से कैब की बुकिंग कैंसिल करने वाले शख्स को फॉलो करते हैं कई मंत्री, पढ़ें ओला का जवाब

    मुस्लिम ड्राइवर की वजह से कैब की बुकिंग कैंसिल करने वाले शख्स को फॉलो करते हैं कई मंत्री, पढ़ें ओला का जवाब

    हाल ही में एक युवक ने ओला कैब की बुकिंग को महज इसलिए कैंसिल कर दिया क्योंकि उस ओला कैब का ड्राइवर मुस्लिम था. वह यहां ही नहीं रुका, उसने इस घटना को पोस्ट भी कर दिया, फिर होना क्या था, ट्विटर पर तो इस मुद्दे पर बहस ही छिड़ गई. दरअसल, मुस्लिम ड्राइवर होने की वजह से कैब को कैंसिल करने वाले शख्स का नाम है अभिषेक मिश्रा. अभिषेक मिश्रा खुद को विश्व हिंदू परिषद से जुड़ा हुआ बताते हैं. ट्विटर पर करीब 14 हजार उनके फॉलोअर हैं, जिनमें रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, धर्मेंद्र प्रधान और संस्कृति मंत्री महेश शर्मा जैसे कई बड़े नाम भी शामिल हैं. 

  • ब्रिटेन में मुस्लिम महिला को 'आतंकवादी जैसा दिखने वाला' काला हिजाब हटाने को कहा गया

    ब्रिटेन में मुस्लिम महिला को 'आतंकवादी जैसा दिखने वाला' काला हिजाब हटाने को कहा गया

    ब्रिटेन में एक मुस्लिम महिला ने अपने नियोक्ताओं के खिलाफ ब्रिटेन ट्रिब्यूनल में धार्मिक भेदभाव की शिकायत दर्ज कराई है क्योंकि उन्होंने उसे 'आतंकवादी जैसा दिखने वाला' काला हिजाब हटाने का अदेश दिया था.

  • पाकिस्तानी हिंदू पत्रकार को दफ्तर में अलग गिलास में पानी पीने को मजबूर किया गया

    पाकिस्तानी हिंदू पत्रकार को दफ्तर में अलग गिलास में पानी पीने को मजबूर किया गया

    पाकिस्तान में सरकार संचालित समाचार एजेंसी में एक हिंदू संवाददाता को अलग ग्लास में पानी पीने को मजबूर किया गया और उसकी जाति-धर्म जानने के बाद उनके सहयोगियों ने अपने कार्यस्थल पर दूसरे मुसलमान कर्मचारियों के साथ बरतन साझा करने पर रोक लगा दिया।

Advertisement