NDTV Khabar

Researchers News in Hindi


'Researchers' - 391 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कहां से आए थे आर्य? डीएनए रिपोर्ट के बाद कई नए दावे

    कहां से आए थे आर्य? डीएनए रिपोर्ट के बाद कई नए दावे

    राखीगढ़ी प्रोजेक्‍ट के डायरेक्‍टर प्रोफेसर वसंत शिंदे ने कहा, 'आर्य इनवेजन और वैदिक काल की थ्योरी बदलनी पेड़ेगी. अगर आर्यन इनवेजन हुआ तो उसका कारण बताएं.' वहीं डीएनए साइंटिस्‍ट डॉ. नीरज राय ने कहा, 'आर्यन शब्द गलत है. आर्य से समझा जाता है कि वो बाहर से आए. बहुत सारे लोग आए होंगे लेकिन उसके कोई प्रमीण हमें नहीं मिले. आर्य शब्द ही नहीं यूज होना चाहिए.'

  • चंद्रयान-2 मिशन पर नासा ने ISRO से कहा- आपने हमें प्रेरित किया है, मिलकर सौर प्रणाली पर करेंगे खोज

    चंद्रयान-2 मिशन पर नासा ने ISRO  से कहा- आपने हमें प्रेरित किया है, मिलकर सौर प्रणाली पर करेंगे खोज

    पूर्व नासा अंतरिक्ष यात्री जेरी लेनिंगर ने शनिवार को कहा कि चंद्रयान-2 मिशन के तहत विक्रम लैंडर की चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग कराने की भारत की ‘‘साहसिक कोशिश’’ से मिला अनुभव भविष्य के मिशन में सहायक होगा. लिनेंगर ने कहा, ‘हमें इससे हताश नहीं होना चाहिए. भारत कुछ ऐसा करने की कोशिश कर रहा है जो बहुत ही कठिन है. लैंडर से संपर्क टूटने से पहले सब कुछ योजना के तहत था.’

  • Chandrayaan 2: चांद पर कहां है विक्रम लैंडर, ISRO के वैज्ञानिकों ने लगा लिया पता, पर अभी नहीं हुआ कोई संपर्क

    Chandrayaan 2: चांद पर कहां है विक्रम लैंडर, ISRO के वैज्ञानिकों ने लगा लिया पता, पर अभी नहीं हुआ कोई संपर्क

    Chandrayaan 2: न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए इसरो प्रमुख ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, 'ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर का पता लगा लिया है. उसने लैंडर की थर्मल इमेज भी खींची है, लेकिन ऑर्बिटर का उससे कोई संपर्क नहीं हो पाया. हम लोग संपर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. जल्द ही उससे संपर्क स्थापित हो जाएगा.'

  • 'चंद्रयान 2' को लेकर अनुष्का शर्मा ने किया था ट्वीट, अब पीएम मोदी ने यूं दिया जवाब

    'चंद्रयान 2' को लेकर अनुष्का शर्मा ने किया था ट्वीट, अब पीएम मोदी ने यूं दिया जवाब

    भारत के 'चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2)' को उस समय गहरा झटका लगा, जब लैंडर विक्रम (Lander Vikram) से चंद्रमा के सतह से महज दो किलोमीटर पहले इसरो का संपर्क टूट गया. इस घटना से देशवासियों को गहरा दुख हुआ. हाल ही में अनुष्का शर्मा ने भी 'चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2)' को लेकर एक ट्वीट किया था, जिस पर अब पीएम मोदी ने जवाब दिया है.

  • चांद की धरती में छिपा हो सकता है खज़ाना, रिसर्च में हुआ ये खुलासा

    चांद की धरती में छिपा हो सकता है खज़ाना, रिसर्च में हुआ ये खुलासा

    धरती और चांद पर मूल्यवान धातु की मौजूदगी के संबंध में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक, पृथ्वी के इकलौते उपग्रह के गर्भ में मूल्यवान धातुओं का बड़ा भंडार छुपा हो सकता है.

  • Research: रेड वाइन से घटता है वज़न और कम होता है कोलेस्ट्रॉल

    Research: रेड वाइन से घटता है वज़न और कम होता है कोलेस्ट्रॉल

    जो लोग रेड वाइन का सेवन करते हैं उनकी आंत में माइक्रोबायोटा की विविधता बढ़ जाती है और इसके साथ ही खराब कोलेस्ट्रॉल और मोटापे के स्तर में भी कमी आती है.

  • दिमाग की ये नस बताती है आपके शरीर में कहां हो रही है खुजली

    दिमाग की ये नस बताती है आपके शरीर में कहां हो रही है खुजली

    ये न्यूरॉन्स न्यूरोट्रांसमिटर न्यूरोपेपटाइड वाई (एनपीवाई) का उत्पादन करते हैं, यह खुजली की संवेदना को मस्तिष्क तक पहुंचाने के मार्ग का निर्माण करते हैं, जो पुरानी खुजली के मामले में रास्ते को हमेशा खुला रखते हैं.

  • Research: स्मार्टफोन दिमाग को भी बनाता है स्मार्ट, दूर रखता है स्ट्रेस

    Research: स्मार्टफोन दिमाग को भी बनाता है स्मार्ट, दूर रखता है स्ट्रेस

    टीवी, इंटरनेट, सोशल मीडिया का इस्तेमाल लिमिट में किया जाना आवश्यक है और यह कभी भी दोस्तों से बातचीत, फैमिली टाइम, खेल या पढ़ाई पर भारी नहीं पड़ना चाहिए. इनमें संतुलन होना चाहिए. दोस्तों से बात करने के लिए फोन का इस्तेमाल करना अच्छा है, लेकिन छात्रों को सामने से मिलकर दोस्तों से बात करने को भी महत्व देना चाहिए.

  • IIT गुवाहाटी के स्टूडेंट्स की बड़ी सफलता, लैब में बनाया मांस

    IIT गुवाहाटी के स्टूडेंट्स की बड़ी सफलता, लैब में बनाया मांस

    भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) गुवाहाटी में रिसरचर्स ने लैब में मांस तैयार किया है जो कि पोषक होने के साथ ही क्रूरता मुक्त भोजन की दिशा में एक कदम होगा. आईआईटी गुवाहाटी के डा. बिमान बी. मंडल ने कहा कि लैब में विकसित मांस क्रूरता मुक्त भोजन की दिशा में एक नयी संभावना खोलेगा, साथ ही पर्यावरण एवं पशुओं को भी बचाएगा. 

  • ऊष्मा को बिजली में बदलने की तकनीक विकसित कर रहा आईआईटी-मंडी

    ऊष्मा को बिजली में बदलने की तकनीक विकसित कर रहा आईआईटी-मंडी

    हिमाचल प्रदेश के मंडी स्थित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) के शोधकर्ता एक थर्मोइलेक्ट्रिक मटीरियल विकसित कर रहे हैं, जो ऊष्मा को प्रभावी रूप से बिजली में परिवर्तित कर सकता है. सौर ऊर्जा पर जहां काफी ध्यान दिया जा रहा है, वहीं अन्य वैकल्पिक स्त्रोत भी समान रूप से महत्वपूर्ण हैं, भले ही वे अज्ञात हों.

  • दो साल पहले डिलीट कर दी थी बीफ पर लिखी FB पोस्ट, स्कॉलर के लिए अब बनी परेशानी, पुलिस ने दर्ज किया मामला

    दो साल पहले डिलीट कर दी थी बीफ पर लिखी FB पोस्ट, स्कॉलर के लिए अब बनी परेशानी, पुलिस ने दर्ज किया मामला

    पुलिस का कहना है कि एक स्थानीय न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के बाद उन्हें रेहना सुल्ताना की पोस्ट के बारे में जानकारी मिली. इसके बाद उसके खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया. वेबसाइट ने दावा किया है कि उसने बकरीद के मौके पर यह पोस्ट की थी. पोस्ट में सुल्ताना ने लिखा था, 'पाकिस्तान के जश्न का समर्थन करने के लिए आज बीफ का सेवन किया. मैं जो खाती हूं, वह मेरी टेस्टीबुड्स पर निर्भर करता है.'

  • IIT Kharagpur के शोधकर्ताओं ने बनाई कम खर्च में खून की जांच करने वाली मशीन

    IIT Kharagpur के शोधकर्ताओं ने बनाई कम खर्च में खून की जांच करने वाली मशीन

    आईआईटी खड़गपुर (IIT Kharagpur) के शोधकर्ताओं ने कम लागत वाला एक नैदानिक उपकरण बनाया है जिसमें अंगुली से लिए गए खून भर से अनेक जाचें की जा सकती हैं. आईआईटी खड़गपुर के एक बयान में कहा गया है कि इस उपकरण में पेपर स्ट्रिप आधारित किट है जो एक स्मार्टफोन से जुड़ी होती है.

  • UGC पैनल ने एक बार फिर की ‘चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम’ की वकालत

    UGC पैनल ने एक बार फिर की ‘चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम’ की वकालत

    विवादास्पद ‘चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम' (एफवाययूपी) को रद्द किए जाने के पांच साल बाद एक बार फिर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) समिति ने कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में बेहतर अनुसंधान के लिए चार साल के स्नातक कार्यक्रम को शुरू किए जाने का सुझाव दिया है.

  • अब दिमाग के जरिए खेला जाएगा वीडियो गेम, ऐसे इशारों पर दौड़ेगी कार

    अब दिमाग के जरिए खेला जाएगा वीडियो गेम, ऐसे इशारों पर दौड़ेगी कार

    स्विट्जरलैंड में वैज्ञानिकों ने ऐसी टेक्नोलॉजी तैयार की, जिससे लोग वीडियो गेम को दिमाग के जरिए भी नियंत्रित कर सकते हैं.

  • पढ़ाई में अंग्रेज बच्चों से बहुत आगे रहते हैं भारतीय मूल के बच्चे : रिसर्च

    पढ़ाई में अंग्रेज बच्चों से बहुत आगे रहते हैं भारतीय मूल के बच्चे : रिसर्च

    पूरे इंग्लैण्ड में भारतीय मूल के बच्चे अपने साथ पढ़ने वाले अंग्रेज बच्चों से पढ़ाई में बहुत आगे रहते हैं. नए शोध की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई हैं. 

  • सेब के साथ कहीं आप लाखों बैक्टीरिया तो नहीं निगल रहे? ऐसे करें पहचान

    सेब के साथ कहीं आप लाखों बैक्टीरिया तो नहीं निगल रहे? ऐसे करें पहचान

    अगली बार जब आप अतिरिक्त फाइबर के लिए सेब खाएं तो यह याद रखिए कि आप करीब 10 करोड़ बैक्टीरिया निगलने जा रहे हैं. और ये बैक्टीरिया हानिकारक या लाभदायक हैं, यह इस बात पर र्निभर करेगा कि सेब की पैदावार किस तरह से हुई है. 

  • चंद्रयान 2 से क्या मिलेगा भारत को, क्या होंगे तीन सबसे बड़े फायदे...

    चंद्रयान 2 से क्या मिलेगा भारत को, क्या होंगे तीन सबसे बड़े फायदे...

    पृथ्वी के एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह चंद्रमा, यानी चांद पर भारत अपना दूसरा महत्वाकांक्षी मिशन 'चंद्रयान-2' आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में अपने सबसे शक्तिशाली रॉकेट लॉन्चर - GSLV Mk III - के ज़रिये प्रक्षेपित कर दिया गया है. 'चंद्रयान-2' चांद पर पानी की मौजूदगी तलाशने के अलावा भविष्य में यहां मनुष्य के रहने की संभावना भी तलाशेगा.

  • ISRO आज दोपहर लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, मिशन पर खर्च हुआ है 978 करोड़ रुपये, जानें- 8 बड़ी बातें

    ISRO आज दोपहर लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, मिशन पर खर्च हुआ है 978 करोड़ रुपये, जानें- 8 बड़ी बातें

    चांद पर भारत के दूसरे महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 को सोमवार को श्रीहरिकोटा से सबसे शक्तिशाली रॉकेट जीएसएलवी-मार्क III-एम1 के जरिए प्रक्षेपित किया जायेगा. चेन्नई से लगभग 100 किलोमीटर दूर सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र में दूसरे लांच पैड से चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण अपराह्न दो बजकर 43 मिनट पर किया जायेगा. इस मिशन की लागत 978 करोड़ रुपये है. एक सप्ताह पहले तकनीकी गड़बड़ी आने के बाद चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण रोक दिया गया था. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने 15 जुलाई को मिशन के प्रक्षेपण से 56 मिनट 24 सेकंड पहले मिशन नियंत्रण कक्ष से घोषणा के बाद रात 1.55 बजे इसे रोक दिया था. कई दिग्गज वैज्ञानिकों ने इस कदम के लिए इसरो की प्रशंसा भी की थी. उनका कहना था कि जल्दबाजी में कदम उठाने से बड़ा हादसा हो सकता था.

12345»