NDTV Khabar

Rohingya crisis myanmar


'Rohingya crisis myanmar' - 7 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Flashback 2018: दुनिया भर में अपनी जमीन से जुदा होने को मजबूर हुई बड़ी आबादी

    Flashback 2018: दुनिया भर में अपनी जमीन से जुदा होने को मजबूर हुई बड़ी आबादी

    साल 2018 में पलायन (Migration) दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में बड़ी समस्या बना रहा. कहीं युद्ध की विभीषिका ने लोगों को घर-बार छोड़कर भागने पर मजबूर किया तो कहीं प्राकृतिक विभीषिकाओं ने लोगों से उनका घर-द्वार छीन लिया. कहीं राजनीतिक कारणों से लोगों को नया आसरा तलाशना पड़ा तो कहीं विकास के नाम पर लोगों को अपनी पैतृक भूमि से जुदा होना पड़ा. यह समस्याएं दुनिया के कई देशों में अलग-अलग रूपों में सामने आईं.

  • यूएन बांग्लादेश में रोहिंग्या संकट समाप्त करने के लिए करेगा कड़ी मेहनत

    यूएन बांग्लादेश में रोहिंग्या संकट समाप्त करने के लिए करेगा कड़ी मेहनत

    बांग्लादेश का दौरा कर रहे संयुक्त राष्ट्र के एक दल ने पड़ोसी देश म्यांमार में सेना नीत हिंसा से बचने के लिए भागकर इस देश में आ गए हजारों रोहिंग्या मुसलमानों से जुड़े संकट के हल के लिए कड़ी मेहनत करने का आज वादा किया.

  • रोहिंग्या के दर्द की हकीकत को जानने म्यांमार, बांग्लादेश जाएगा संयुक्त राष्ट्र परिषद का प्रतिनिधि मंडल

    रोहिंग्या के दर्द की हकीकत को जानने म्यांमार, बांग्लादेश जाएगा संयुक्त राष्ट्र परिषद का प्रतिनिधि मंडल

    संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रतिनिधि मंडल म्यामां की सेना के क्रूर अभियान के कारण देश छोड़कर बांग्लादेश पहुंचे रोहिंग्या मुस्लमानों और रखाइन प्रांत में पीछे रह गए लोगों की व्यथा जानने के लिए दोनों देशों के दौरे पर रवाना होंगे.

  • रोहिंग्याओं को वापस लेने को तैयार है म्यांमार

    रोहिंग्याओं को वापस लेने को तैयार है म्यांमार

    बांग्लादेश के दौरे पर आए म्यांमार के एक मंत्री ने देश के राष्ट्रपति से कहा है कि उनका देश रोहिंग्या मुसलमानों को वापस लेने को तैयार है. म्यांमार में हिंसा के बाद रोहिंग्या वहां से जान बचाकर भाग आए थे. यह जानकारी बांग्लादेश के एक अधिकारी ने दी. राष्ट्रपति के प्रवक्ता जैनुल आबदीन ने शुक्रवार को कहा कि म्यांमा के गृह मंत्री क्याव स्वे ने राष्ट्रपति अब्दुल हामिद से यहां कहा कि वह देशों के बीच पिछले साल हुए समझौते के तहत रोहिंग्या को वापस लेने को तैयार हैं.

  • आंग सान सू ची ने रोहिंग्या संकट पर चुप्पी साधे रहने का आरोप खारिज किया

    आंग सान सू ची ने रोहिंग्या संकट पर चुप्पी साधे रहने का आरोप खारिज किया

    रोहिंग्या समुदाय पर म्यांमार की सेना के कथित जुल्मों को लेकर विश्व भर में आलोचना झेल चुकीं म्यांमार की नेता आंग सान सू ची ने रोहिंग्या संकट पर चुप्पी साधे रहने के आरोपों को खारिज कर दिया है. सू ची ने आज कहा कि उन्होंने इस तरह से अपनी बात रखी है जिससे कि तनाव नहीं भड़केगा.

  • ‘विस्थापितों’ की वापसी से म्यांमार में सामान्य स्थिति बहाल हो सकती है : सुषमा स्वराज

    ‘विस्थापितों’ की वापसी से म्यांमार में सामान्य स्थिति बहाल हो सकती है : सुषमा स्वराज

    विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गहराते रोहिंग्या संकट के बीच रविवार को कहा कि भारत म्यांमार के रखाइन प्रांत में बेतहाशा हिंसा पर ‘बहुत चिंतित’ है और म्यांमार में विस्थापित लोगों की वापसी से ही सामान्य स्थिति बहाल हो सकती है.

  • रोहिंग्या समुदाय की त्रासदी : कैसा लगेगा, यदि आपके पैरों तले से जमीन खींच ली जाए?

    रोहिंग्या समुदाय की त्रासदी : कैसा लगेगा, यदि आपके पैरों तले से जमीन खींच ली जाए?

    क्या अभागे रोहिंग्या मुसलमानों को कोई ऐसा टापू मिल पाएगा जहां बाढ़ न आती हो, जहां वे इंसानों की तरह जी सकें, जहां फिर कोई उनके घर न जला सके, हैलिकॉप्टरों से हमले करके उनका संहार न कर सके, जहां उनको उनके जीने के अधिकार से वंचित न किया जा सकता हो, जहां उनकी अपनी पहचान हो, अपनी जमीन हो और भविष्य भी हो?