Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Rotomac bank fraud


'Rotomac bank fraud' - 4 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • एक और बैंकिंग स्‍कैम आया सामने, CBI की FIR में 11 आरोपियों में कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद का भी नाम

    एक और बैंकिंग स्‍कैम आया सामने, CBI की FIR में 11 आरोपियों में कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद का भी नाम

    पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और रोटोमैक के बाद एक और बड़ा घोटाला सामने आया है. ताज़ा घोटाला देश की सबसे बड़ी चीनी मिलों में से एक हापुड़ की सिम्भाऔली शुगर्स लिमिटेड से जुड़ा है. सीबीआई ने हापुड़ की एक शुगर मिल और उसके अधिकारियों के खिलाफ करीब 110 (109.08cr) करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का केस कर्ज किया है.

  • कोर्ट ने CBI को रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी की एक दिन की ट्रांजिट रिमांड दी

    कोर्ट ने CBI को रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी की एक दिन की ट्रांजिट रिमांड दी

    दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को सीबीआई को रॉटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी एवं उनके बेटे राहुल को 3,695 करोड़ रुपये का ऋण नहीं चुकाने से जुड़े एक मामले में लखनऊ की एक अदालत में पेश करने के लिए उनकी एक दिन की ट्रांजिट रिमांड दे दी. दोनों को अतिरिक्त मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल के सामने पेश किया गया. सीबीआई ने उन्हें लखनऊ ले जाने के लिए अदालत से उनके ट्रांजिट रिमांड की मांग की थी.

  • 3700 करोड़ का गबन: रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी से CBI दिल्‍ली में कर रही है पूछताछ

    3700 करोड़ का गबन: रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी से CBI दिल्‍ली में कर रही है पूछताछ

    बैंकों से 3700 करोड़ के गबन के आरोप में रोटोमैक पेन कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी को सीबीआई दिल्ली लेकर आई है. विक्रम कोठारी के बेटे राहुल कोठारी को भी सीबीआई दिल्ली ले आई है. मंलगवार शाम कानपुर में पूछताछ के लिए सीबीआई दोनों को साथ ले गई थी. लगातार दो दिनों तक सीबीआई ने कानपुर में इनके घर पर छापेमारी की है.

  • रोटोमैक - बैंक स्‍कैम: 3695 करोड़ का एक और घोटाला आया सामने

    रोटोमैक - बैंक स्‍कैम: 3695 करोड़ का एक और घोटाला आया सामने

    नीरव मोदी-पीएनबी घोटाले के बाद बैंक क्षेत्र को एक और झटका लगा है. रोटोमैक ब्रांड नाम से कलम बनाने वाली कंपनी के प्रवर्तक विक्रम कोठारी ने कथित रूप से सात बैंकों के साथ 3,695 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की. इसको देखते हुए केंद्रीय जांच एजेंसियों ने उसके खिलाफ मामले दर्ज किये और कानपुर में उसके परिसरों की तलाशी ली.

Advertisement