NDTV Khabar

Rss event


'Rss event' - 12 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • आजम खां बोले-आरएसएस की दावत कुबूलने पर प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न का इनाम

    आजम खां बोले-आरएसएस की दावत कुबूलने पर प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न का इनाम

    पूर्व कांग्रेसी नेता व देश के राष्ट्रपति रहे प्रणब मुखर्जी को भारतरत्न सम्मान के लिए नामित किए जाने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां ने तंज कसा है. उन्होंने कहा कि आरएसएस की दावत कुबूलने के लिए उन्हें (पूर्व राष्ट्रपति) यह इनाम मिला है.

  • उत्तर प्रदेश : आरएसएस के 'शस्त्र पूजन' में फटा राइफल का बट, विधायक का बेटा घायल

    उत्तर प्रदेश : आरएसएस के 'शस्त्र पूजन' में फटा राइफल का बट, विधायक का बेटा घायल

    विजया दशमी पर्व के मौके पर शनिवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) द्वारा बागला इंटर कॉलेज के प्रांगण में शुक्रवार की सुबह आयोजित संघ का स्थापना दिवस एवं शस्त्र पूजन समारोह के रंग में भंग पड़ गया और विजया दशमी पर्व की खुशी में की गई हर्ष फायरिंग के दौरान राइफल की बट व हैंडिल फटने से उसकी प्लास्टिक का टुकड़े एक समाचार पत्र के फोटोग्राफर व सदर विधायक पुत्र के लग गए, जिससे गंभीर रूप से वह घायल हो गए.

  • मोहन भागवत बोले- नागपुर से सरकार को नहीं करते कॉल, कई नेता हमसे वरिष्ठ और अनुभवी

    मोहन भागवत बोले- नागपुर से सरकार को नहीं करते कॉल, कई नेता हमसे वरिष्ठ और अनुभवी

    नागपुर के संघ मुख्यालय से बीजेपी की केंद्र सरकार चलने के आरोपों पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने सफाई दी है. उन्होने  विज्ञान भवन में आयोजित 'भविष्य का भारत' कार्यक्रम में कहा कि उनका संगठन बीजेपी की राजनीति या उसकी सरकार की नीतियों में दखलंदाजी नहीं करता.

  • धन्यवाद, डॉ. प्रणब दा...

    धन्यवाद, डॉ. प्रणब दा...

    अपने ही लोगों के तीव्र विरोध के बाद भी पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर प्रणब मुखर्जी संघ के कार्यक्रम में नागपुर आए और पूर्ण सहभागी हुए, इसलिए उनका विशेष अभिनंदन एवं धन्यवाद. वह डॉक्टर केशवराव बलिराम हेडगेवार के घर भी गए और वहां अपना भाव एकदम स्पष्ट शब्दों में लिखकर व्यक्त किया. स्मृति मंदिर में जाकर डॉक्टर हेडगेवार और श्री गुरुजी का स्मरण और अभिवादन किया और कार्यक्रम में अपने मन की बात खुलकर की.

  • 'प्रणब के नागपुर दौरे से बढ़ी RSS की स्वीकार्यता, आगबबूला हुई कांग्रेस'

    'प्रणब के नागपुर दौरे से बढ़ी RSS की स्वीकार्यता, आगबबूला हुई कांग्रेस'

    पूर्व राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी के गुरुवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, यानी RSS के तृतीय वर्ष प्रशिक्षण शिविर के नागपुर में आयोजित समापन समारोह में शिरकत करने और उनके दिए भाषण से ज़्यादा चर्चा में फिलहाल कुछ नहीं है, और अलग-अलग राजनैतिक वर्गों द्वारा उसे लेकर अलग-अलग अर्थ निकाले जा रहे हैं. इन्हीं विभिन्न तर्कों के बीच यह भी कहा जा रहा है कि डॉ मुखर्जी के कार्यक्रम में शामिल होने तथा उनके दिए भाषण से RSS को लाभ होगा, भारतीय जनता पार्टी (BJP) को खुशी हो रही है, और कांग्रेस गुस्से से आगबबूला हो रही है.

  • प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    प्रणब मुखर्जी ने दी नसीहत, नहीं चलेगी हिंदू राष्ट्र की अवधारणा, 10 बड़ी बातें

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नागपुर में संघ के मुख्यालय में जाने और वहां पर संघ के प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को भाषण देने के फैसले पर हर जगह चर्चा हो रही है. गुरुवार की शाम को उन्होंने जो भाषण दिया उसका हर कोई अपने-अपने हिसाब से मायने निकाल रहा है. इससे पहले पूरी कांग्रेस असहज नजर आ रही थी. यहां तक कि उनकी बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनका (डॉ.मुखर्जी) भाषण किसी को याद नहीं रहेगा हां, उनकी तस्वीर का इस्तेमाल जरूर किया जाएगा. लेकिन कुशल राजनेता मुखर्जी बिना किसी दबाव में आए संघ के कार्यक्रम में गए और अपने 'उच्चस्तरीय' भाषण के जरिये संघ को उसी के मच पर कई नसीहतें दें डालीं. प्रणब मुखर्जी अपना भाषण अंग्रेजी में दे रहे थे, मगर बीच-बीच में वह अपनी मातृभाषा बांग्ला के मुहावरों का इस्तेमाल भी कर रहे थे. इससे पहले डॉ. नुखर्जी ने संघ के संस्थापक डॉ. हेडगेवार को भारत माता का सच्चा सपूत भी कहा. यह बात उन्होंने विजिटर डायरी में लिखी है.

  • बहुलतावाद और सहिष्णुता है भारत की आत्मा : संघ मुख्‍यालय में प्रणब मुखर्जी के भाषण की 10 बड़ी बातें

    बहुलतावाद और सहिष्णुता है भारत की आत्मा : संघ मुख्‍यालय में प्रणब मुखर्जी के भाषण की 10 बड़ी बातें

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बहुलतावाद एवं सहिष्णुता को भारत की 'आत्मा’ करार देते हुए गुरुवार को आरएसएस को परोक्ष तौर पर आगाह किया कि ‘धार्मिक मत और असहिष्णुता’ के माध्यम से भारत को परिभाषित करने का कोई भी प्रयास देश के अस्तित्व को कमजोर करेगा. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे मुखर्जी ने कांग्रेस के तमाम नेताओं के विरोध के बावजूद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयं सेवकों के प्रशिक्षण वर्ग के समापन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात नागपुर में रेशमबाग स्थित आरएसएस मुख्यालय में कही.

  • बेटी शर्मिष्ठा की नाराजगी के बीच RSS मुख्यालय में संबोधित करेंगे प्रणब मुखर्जी, ये है पूरा कार्यक्रम

    बेटी शर्मिष्ठा की नाराजगी के बीच RSS मुख्यालय में संबोधित करेंगे प्रणब मुखर्जी, ये है पूरा कार्यक्रम

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज आयोजित होने वाले आरएसएस यानी राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए संघ के मुख्यालय नागपुर पहुंच गये हैं. जब से पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आरएसएस के कार्यक्रम के में शामिल होने के लिए अपनी हामी भरी है, तभी से इस कार्यक्रम पर सबकी नजरें बनी हुई हैं. कार्यक्रम में शामिल होने के लिए हामी भरने के बाद से ही यह चर्चा और विवाद के केन्द्र में है. कांग्रेस के नेता के तौर पर आरएसएस की लगातार आलोचना करने वाले मुखर्जी संघ के मुख्यालय में आयोजित होने वाले ‘ संघ शिक्षा वर्ग ’ के समापन समारोह में हिस्सा लेंगे. इस कार्यक्रम में शामिल होने के निमंत्रण पर मुखर्जी की सहमति के बाद से ही कई कांग्रेस नेता उनसे ‘धर्मनिरपेक्षता के हित में ’ इसमें शिरकत नहीं करने का आग्रह कर चुके हैं. हालांकि, कांग्रेस नेता व्यक्तिगत तौर पर प्रणब  मुखर्जी के कार्यक्रम में शामिल होने की आलोचना कर चुके हैं, मगर कांग्रेस पार्टी ने अभी तक आधिकारिक तौर पर उन्हें कार्यक्रम में जाने से मना नहीं किया है. 

  • प्रणब मुखर्जी को बेटी शर्मिष्ठा की नसीहत, 'भाषण को भुला दिया जाएगा, तस्वीरें हमेशा याद रहेंगी'

    प्रणब मुखर्जी को बेटी शर्मिष्ठा की नसीहत, 'भाषण को भुला दिया जाएगा, तस्वीरें हमेशा याद रहेंगी'

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर कई कांग्रेस नेताओं के बयान के बाद अब उनके परिजनों ने ही इस पर सवाल उठा दिए हैं. प्रणब मुखर्जी की पुत्री शर्मिष्ठा ने कहा कि वह नागपुर जाकर 'भाजपा एवं आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने और अफवाहें फैलाने' की सुविधा मुहैया करा रहे हैं.

  • आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के फैसले पर कांग्रेस के नेताओं ने उठाए सवाल, प्रणब मुखर्जी ने दिया ये जवाब

    आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के फैसले पर कांग्रेस के नेताओं ने उठाए सवाल, प्रणब मुखर्जी ने दिया ये जवाब

    पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी  ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यक्रम में जाने के फैसले पर कांग्रेस नेताओं की ओर से उठाए जा रहे सवालों के बीच एक 'रहस्यमयी' जवाब दिया है. उनके इस बयान के बाद से अब इस बात को लेकर चर्चा और बढ़ गई है कि आखिर पूर्व राष्ट्रपति 7 जून को नागपुर में क्या बोलेंगे.

  • प्रणब दा और आरएसएस का अनूठा रिश्ता

    प्रणब दा और आरएसएस का अनूठा रिश्ता

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी सात जून को वो करने जा रहे हैं जिसके बारे में कोई कांग्रेसी सोच भी नहीं सकता. वे नागपुर के रेशीमबाग में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय पर संघ शिक्षा वर्ग यानी ओटीसी के तृतीय वर्ष के समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहेंगे. यह खबर सुनकर कांग्रेस को सांप सूंघ गया है.

  • पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी का आरएसएस के कार्यक्रम में जाना तय, कांग्रेस में छाई चुप्पी

    पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी का आरएसएस के कार्यक्रम में जाना तय, कांग्रेस में छाई चुप्पी

    अगर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अगले माह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के एक कार्यक्रम में शामिल होने की उम्मीद है. संघ के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरूण कुमार ने बताया, ‘‘हमने भारत के पूर्व राष्ट्रपति को इसके लिए आमंत्रित किया था और यह उनकी महानता है कि उन्होंने कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अपनी सम्मति दे दी है.’’

Advertisement