NDTV Khabar

S jaishankar


'S jaishankar' - 79 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • विदेश में हुई भारतीय लड़की की मौत, इस वजह से देश नहीं ला पा रहे शव, सरकार से लगाई गुहार

    विदेश में हुई भारतीय लड़की की मौत, इस वजह से देश नहीं ला पा रहे शव, सरकार से लगाई गुहार

    विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर एवं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर इस मामले में प्रज्ञा के परिवार को हर तरह की मदद करने का आश्वासन दिया है. प्रज्ञा के शिक्षक भाई एस पी पालीवाल ने गुरुवार को छतरपुर में संवाददाताओं को बताया, ‘‘मेरी बहन प्रज्ञा पालीवाल बेंगलुरु की एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थीं. उसकी रूममेट ने बेंगलुरू से बताया कि नौ अक्टूबर को मेरी बहन प्रज्ञा की कार हादसे में थाईलैंड के फुकेत शहर में मौत हो गई है.’’

  • सुषमा स्वराज की राह पर विदेश मंत्री एस जयशंकर, मदद के लिए आया Tweet तो दिया यह जवाब

    सुषमा स्वराज की राह पर विदेश मंत्री एस जयशंकर, मदद के लिए आया Tweet तो दिया यह जवाब

    विदेशों में फंसे भारतीयों की सोशल मीडिया के जरिये मदद करने की विदेश मंत्रालय की परंपरा को जारी रखते हुए कुवैत स्थित भारतीय दूतावास वहां फंसी एक भारतीय महिला को वापस लाने के लिए काम कर रहा है.

  • विदेश मंत्री जयशंकर का पाकिस्‍तान पर निशाना, कहा - एक को छोड़कर सभी पड़ोसियों का...

    विदेश मंत्री जयशंकर का पाकिस्‍तान पर निशाना, कहा - एक को छोड़कर सभी पड़ोसियों का...

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को कहा कि एक को छोड़कर सभी पड़ोसी देशों का क्षेत्रीय सहयोग के मामले में बेहतरीन इतिहास रहा है. जयशंकर ने पाकिस्तान के संदर्भ में कहा, ‘‘मैं कहना चाहूंगा कि एक को छोड़कर सभी पड़ोसियों का क्षेत्रीय सहयोग के मामले में बेहतरीन इतिहास रहा है.’’

  • J&K से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले पर बोले विदेश मंत्री- सारे माहौल को सर्वनाश की ओर बढ़ते दिखाना ही पाकिस्तान का गेम प्लान है

    J&K से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले पर बोले विदेश मंत्री- सारे माहौल को सर्वनाश की ओर बढ़ते दिखाना ही पाकिस्तान का गेम प्लान है

    जयशंकर ने कहा, ‘आप पाकिस्तानियों से क्या अपेक्षा करते हैं कि वे (मौजूदा प्रतिबंध हटने के बाद और हालात पुन: सामान्य होने के बाद) क्या कहेंगे?... कि हम चाहते हैं कि शांति और खुशहाली लौट आए. नहीं, वे (पाकिस्तान) ऐसा नहीं चाहेंगे. वे ऐसा परिदृश्य दिखाने की कोशिश करेंगे कि सब नष्ट हो गया है क्योंकि पहली बात तो यह है कि वे यही चाहते हैं और दूसरी बात यह है कि 70 साल से यही उनकी योजना रही है.’

  • UNSC में भारत का नहीं होना संयुक्त राष्ट्र की विश्वसनीयता को प्रभावित करता है: जयशंकर

    UNSC में भारत का नहीं होना संयुक्त राष्ट्र की विश्वसनीयता को प्रभावित करता है: जयशंकर

    भारत ने जोर देकर कहा है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनाए जाने के लिए उसका ‘‘पक्ष मजबूत’’ है. यूएनएससी (UNSC) में भारत के नहीं होने से संयुक्त राष्ट्र की विश्वसनीयता प्रभावित होती है.

  • विदेश मंत्री ने एस जयशंकर ने पाकिस्तान पर कसा तंज, कहा- जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य शुरू होते ही आपकी सारी योजना धरी...

    विदेश मंत्री ने एस जयशंकर ने पाकिस्तान पर कसा तंज, कहा- जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य शुरू होते ही आपकी सारी योजना धरी...

    विदेश मंत्री का यह बयान जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक की तरफ से पिछले महीने दिए गए बयान से काफी मिलता-जुलता है. मलिक ने कहा था कि अगर हम जम्मू-कश्मीर को विकास के मार्ग पर ले जाने में कामयाब होते हैं, जो कि बहुत संभव है, तो वह दिन दूर नहीं जब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के निवासी जिन्हें पाकिस्तान के दखल का सबसे ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, वे खुद ही भारत की हिस्सा बनने के लिए हमारी तरफ दौड़े आएंगे.

  • रूस के साथ S-400 डील के बारे में एस जयशंकर ने अमेरिका को दी जानकारी, कहा- उम्मीद है लोग समझेंगे कि...

    रूस के साथ S-400 डील के बारे में एस जयशंकर ने अमेरिका को दी जानकारी, कहा- उम्मीद है लोग समझेंगे कि...

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को कहा, 'भारत ने रूस के साथ एस-400 मिसाइल की खरीद के फैसले के बारे में डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन को जानकारी दी.' उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिकी इसके औचित्य की सराहना करेंगे. जयशंकर ने कहा, 'भारत ने एस-400 पर एक फैसला लिया और हमने इस पर यूएस सरकार से चर्चा की. मैं अपने दृढ़ निश्चय की शक्तियों के बारे में यथोचित आश्वस्त हूं.'

  • पीएम मोदी के 'अबकी बार ट्रंप सरकार' बयान को लेकर जयशंकर की सफाई पर राहुल गांधी ने ली चुटकी, कहा - आपका धन्यवाद!

    पीएम मोदी के 'अबकी बार ट्रंप सरकार' बयान को लेकर जयशंकर की सफाई पर राहुल गांधी ने ली चुटकी, कहा - आपका धन्यवाद!

    एस जयशंकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह अमेरिका में अपने 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में जो नारा  'अबकी बार, ट्रंप सरकार' दिया था, उसका इस्तेमाल डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चुनाव प्रचार में किया था.साथ ही उन्होंने कहा कि इस बयान के गलत मायने नहीं निकाले जाने चाहिए. तीन दिन के दौरे पर वाशिंगटन पहुंचे जयशंकर ने कहा कि अमेरिका की राजनीति में भारत किसी का पक्ष नहीं लेता. बता दें, पीएम मोदी के साथ ह्यूस्टन में हुए कार्यक्रम में डोनाल्ड ट्रंप भी शामिल हुए थे.

  • कश्मीर पर ट्रंप की मध्यस्थता की पेशकश पर बोले विदेश मंत्री- आपको जो पसंद है वह ऑफर कीजिए, लेकिन...

    कश्मीर पर ट्रंप की मध्यस्थता की पेशकश पर बोले विदेश मंत्री- आपको जो पसंद है वह ऑफर कीजिए, लेकिन...

    कश्मीर में मध्यस्थता के संबंध में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान के बारे में पूछे जाने पर जयशंकर ने बुधवार को भारतीय संवाददाताओं से कहा, ‘भारत का रूख करीब 40 साल से इस बात को लेकर स्पष्ट है कि हम मध्यस्थता स्वीकार नहीं करेंगे... और जो कुछ भी बातचीत होनी है, वह द्विपक्षीय होगी.’ ट्रंप ने कश्मीर मामले पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की हाल में पेशकश की थी.

  • PM मोदी के 'अबकी बार, ट्रंप सरकार' के नारे पर बोले विदेश मंत्री जयशंकर- इसके गलत मायने न निकालें

    PM मोदी के 'अबकी बार, ट्रंप सरकार' के नारे पर बोले विदेश मंत्री जयशंकर- इसके गलत मायने न निकालें

    उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है, कृपया, प्रधानमंत्री ने जो कहा, उसे बहुत ध्यान से देखें. प्रधानमंत्री ने जो कहा, जहां तक मुझे याद है, उसका इस्तेमाल ट्रंप ने खुद प्रचार में किया था. इसलिए प्रधानमंत्री मोदी पहले की बात कर रहे थे. मुझे नहीं लगता कि हमें ईमानदारी से, जो कहा गया था, उसका गलत अर्थ निकालना चाहिए. मेरा मतलब है कि वह (पीएम मोदी) काफी स्पष्ट थे कि वह किस बारे में बात कर रहे थे.'

  • SAARC: विदेश मंत्रियों की बैठक में पाक विदेश मंत्री ने किया एस जयशंकर के संबोधन का बहिष्कार, कश्मीर मामले पर दिया यह बयान

    SAARC: विदेश मंत्रियों की बैठक में पाक विदेश मंत्री ने किया एस जयशंकर के संबोधन का बहिष्कार, कश्मीर मामले पर दिया यह बयान

    SAARC में S Jaishankar के उद्घाटन संबोधन का पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बहिष्कार किया. उन्होंने कहा कि उनका देश भारत के साथ तब तक कोई सम्पर्क नहीं करेगा जब तक कि वह कश्मीर में पाबंदी समाप्त नहीं करता. संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र के इतर यह बैठक कुरैशी की अनुपस्थिति में शुरू हुई. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने ट्वीट किया कि कुरैशी ने दक्षेस मंत्रियों की परिषद की बैठक में भारतीय विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर के शुरूआती संबोधन के समय शामिल होने से इनकार कर दिया.

  • अनुच्छेद 370 हटने से पहले कश्मीर का 'बहुत बुरा हाल' था : विदेशमंत्री एस. जयशंकर

    अनुच्छेद 370 हटने से पहले कश्मीर का 'बहुत बुरा हाल' था : विदेशमंत्री एस. जयशंकर

    भारत में अमेरिका के राजदूत रह चुके फ्रैंक जी, विस्नर के साथ एक इंटरएक्टिव सत्र में विदेशमंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने कहा, "हमें 2016 का तजुर्बा याद था, जब एक स्वयंभू आतंकवादी बुरहान वानी मारा गया था, और उसके बाद हिंसा भड़क उठी थी... हमारा इरादा (अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के बाद) जानी नुकसान नहीं होने देते हुए हालात को काबू में रखने का था, इसीलिए पाबंदियां लागू की गई थीं..."

  • विदेश मंत्री जयशंकर बोले- पाकिस्तान से नहीं लेकिन ‘टेररिस्तान’ से बात करने में समस्या है

    विदेश मंत्री जयशंकर बोले- पाकिस्तान से नहीं लेकिन ‘टेररिस्तान’ से बात करने में समस्या है

    जम्मू कश्मीर को मिले विशेष दर्जे को पांच अगस्त को हटाये जाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम कर दिया था और भारतीय उच्चायुक्त को भी निष्कासित कर दिया था. चीन ने कश्मीर में स्थिति को लेकर इसे ‘गंभीर चिंता का विषय’ बताया और कहा, ‘संबंधित पक्षों को संयम बरतना चाहिए और सावधानी से काम करना चाहिए खासकर ऐसी कार्रवाइयों से बचना चाहिए जो एकतरफा यथास्थिति को बदलता हो और तनाव को बढ़ाता हो.’

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर बोले- PoK भारत का हिस्सा है और एक दिन भारत का हिस्सा होगा

    विदेश मंत्री एस जयशंकर बोले- PoK भारत का हिस्सा है और एक दिन भारत का हिस्सा होगा

    अपने 75 मिनट के संवाददाता सम्मेलन में जयशंकर ने भारत के दूसरे देशों के साथ संबंध, अमेरिका के साथ रणनीतिक संबंधों और चीन के साथ रिश्तों और वैश्विक मंच पर भारत की हैसियत समेत विभिन्न मुद्दों पर बात रखी. विदेश मंत्री ने पाकिस्तान को साफ कर दिया कि मुद्दा अनुच्छेद 370 का नहीं है बल्कि मुद्दा सीमा पार आतंकवाद का है और किसी तरह की बातचीत के लिये वार्ता की मेज पर पहला विषय आतंकवाद का होगा. 

  • दुनिया को ये समझना चाहिए कि पाकिस्तान का मुद्दा आतंक का मुद्दा है : विदेश मंत्री एस जयशंकर

    दुनिया को ये समझना चाहिए कि पाकिस्तान का मुद्दा आतंक का मुद्दा है : विदेश मंत्री एस जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस सरकार के 100 दिन पूरे होने पर प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की और मंत्रालय की उपलब्धियों का ब्यौरा दिया. इस दौरान उनसे अमेरिका, पाकिस्तान और कश्मीर से जुड़े सवाल पूछे गए. अमेरिका से तनाव के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत-अमेरिका रिश्तों ने लंबा रास्ता तय किया है. पिछले बीस सालों में सुरक्षा, व्यापार और लोगों की आवाजाही में अलग- अलग, सरकारों के तहत रिश्ते बेहतर ही हुए हैं. रिश्ते बढ़ि‍या हैं, संतोषजनक हैं और बेहतर ही होंगे. जहां तक व्यापार के मुद्दों को लेकर तनाव की बात है तो तनाव बिल्कुल नहीं तभी हो सकता है जब व्यापार ही ना हो. व्यापार है तो थोड़ा बहुत तनाव तो होगा. पिछले 10 दिनों में भी हम उनसे बात करते रहे हैं और उम्मीद ये है कि ऐसा हल निकालेंगे जो दोनों के लिए कारगर हो.

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर का PoK को लेकर बड़ा बयान, कहा- 'हमें उम्मीद है कि एक दिन...'

    विदेश मंत्री एस जयशंकर का PoK को लेकर बड़ा बयान, कहा- 'हमें उम्मीद है कि एक दिन...'

    विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) को लेकर बड़ा बयान दिया है. न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, 'विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि पीओके भारत का हिस्सा है और हमें उम्मीद है कि एक दिन वह हमारे अधिकार क्षेत्र में होगा.' विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry) के 100 दिन के कामकाज का ब्योरा देते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यह बात कही.

  • विदेश मंत्रालय ने 100 दिन के कामकाज का दिया ब्योरा, भारत-अमेरिका संबंधों के बारे में कही यह बड़ी बात

    विदेश मंत्रालय ने 100 दिन के कामकाज का दिया ब्योरा, भारत-अमेरिका संबंधों के बारे में कही यह बड़ी बात

    विदेश मंत्री ने कहा कि भारत-अमेरिका संबंध (India-US relationship) काफी आगे बढ़ चुके हैं. उन्होंने कहा कि मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि दोनों देशों के बीच संबंध बहुत अच्छी स्थिति में है.

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ASEAN देशों के 1 हजार छात्रों के लिए आईआईटी में पीएचडी फेलोशिप शुरू की

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ASEAN देशों के 1 हजार छात्रों के लिए आईआईटी में पीएचडी फेलोशिप शुरू की

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को आसियान देशों के छात्रों के लिए आईआईटी में एक ‘‘पीएचडी फेलोशिप’’ कार्यक्रम शुरू किया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. यह कार्यक्रम अपनी तरह का सबसे बड़ा कार्यक्रम है, जिसमें तीन बैच में 1,000 छात्रों का चयन किया जाएगा. जयशंकर ने यहां जवाहरलाल नेहरू भवन में इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया और छात्रों से आवेदन प्राप्त करने के लिए एक पोर्टल भी शुरू किया.