NDTV Khabar

Sachin pilot


'Sachin pilot' - 114 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Jind-Ramgarh Election Results: रामगढ़ सीट पर जीत के साथ राजस्थान में कांग्रेस का शतक, जींद में BJP आगे, अब तक की 10 बड़ी बातें

    Jind-Ramgarh Election Results: रामगढ़ सीट पर जीत के साथ राजस्थान में कांग्रेस का शतक, जींद में BJP आगे, अब तक की 10 बड़ी बातें

    सत्तारूढ़ कांग्रेस ने अलवर की रामगढ़ विधानसभा सीट जीत ली है. इसके साथ ही 200 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस के पास 100 सीटों का आंकड़ा हो गया है. रामगढ़ सीट के लिए उपचुनाव सोमवार को हुआ था. गुरुवार को हुई वोटों की गिनती में कांग्रेस प्रत्याशी साफिया जुबैर खान को कुल 83,311 मत मिले हैं. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वदी भाजपा के सुखवंत सिंह को 12,228 मतों से पराजित कर दिया. दूसरे स्थान पर रहे भाजपा के सुखवंत सिंह को 71,083 मत मिले. वहीं बसपा उम्मीदवार जगत सिंह 24,856 मतों के साथ तीसरे स्थान पर रहे. बता दें, सात दिसम्बर को राजस्थान विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पूर्व रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के बसपा प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिये गये थे. यहां दो महिलाओं समेत कुल 20 उम्मीदवार मैदान में थे.

  • कांग्रेसी नेता नटवर सिंह के बेटे जगत सिंह BJP छोड़ BSP से लड़े, रहे तीसरे नंबर पर

    कांग्रेसी नेता नटवर सिंह के बेटे जगत सिंह BJP छोड़ BSP से लड़े, रहे तीसरे नंबर पर

    राजस्थान के अलीगढ़ में रामगढ़ विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने बाजी मार ली है. रामगढ़ विधानसभा सीट जीतते ही राजस्थान में कांग्रेस ने सौ के आंकड़े को छू लिया है.

  • Ramgarh Election Result: राजस्थान में कांग्रेस ने जीती रामगढ़ सीट, भाजपा ने कहा- BSP ने काटे हमारे वोट

    Ramgarh Election Result: राजस्थान में कांग्रेस ने जीती रामगढ़ सीट, भाजपा ने कहा- BSP ने काटे हमारे वोट

    सात दिसम्बर को राजस्थान विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पूर्व रामगढ़ विधानसभा (Ramgarh By Election Results) क्षेत्र के बसपा प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिये गये थे. यहां दो महिलाओं समेत कुल 20 उम्मीदवार मैदान में थे. बहुजन समाजवादी पार्टी ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री नटवर सिंह के पुत्र जगत सिंह को चुनाव मैदान में उतारा था, जबकि सत्ताधारी कांग्रेस ने अलवर की पूर्व जिला प्रमुख शाफिया जुबैर खान को और भाजपा ने पूर्व प्रधान सुखवंत सिंह को मैदान में उतारा था.

  • सचिन पायलट ने केंद्र सरकार से उसके पांच साल के कामकाजों पर श्वेतपत्र लाने की मांग की

    सचिन पायलट ने केंद्र सरकार से उसके पांच साल के कामकाजों पर श्वेतपत्र लाने की मांग की

    पायलट ने यहां संवाददाताओं से बाचतीत में कहा, ‘‘मोदी सरकार को अपने कार्यकाल में देश में किये गये अपने कार्यों पर एक श्वेतपत्र जारी करना चाहिए.’’

  • गृह और वित्त मंत्रालय को लेकर अशोक गहलोत और सचिन पायलट में थी खींचतान, राहुल के घर हुईं कई बैठकें, आधी रात किया विभागों का एलान

    गृह और वित्त मंत्रालय को लेकर अशोक गहलोत और सचिन पायलट में थी खींचतान, राहुल के घर हुईं कई बैठकें, आधी रात किया विभागों का एलान

    गृह और वित्त सहित अशोक गहलोत ने अपने पास नौ मंत्रालय रखे हैं. इसके अलावा उन्होंने अपने पास आबकारी, आयोजना, नीति आयोजन, कार्मिक व सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय भी रखे हैं. उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट को सार्वजनिक निर्माण विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, विज्ञान व प्रौद्योगिकी और सांख्यिकी विभाग की जिम्मेदारी दी गई है. मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री के अलावा 13 कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों को विभागों का बंटवारा किया गया है.

  • विभागों के बंटवारे पर खींचतान खत्म: अशोक गहलोत 9 तो सचिन पायलट 5 विभागों के बॉस, देखें पूरी लिस्ट

    विभागों के बंटवारे पर खींचतान खत्म: अशोक गहलोत 9 तो सचिन पायलट 5 विभागों के बॉस, देखें पूरी लिस्ट

    राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस सरकार (Rajasthan Cabinet) में विभागों के बंटवारे से जुड़ी खींचतान की खबरें थीं, मगर अब उस पर सहमति बनती दिख रही है. राजस्थान सरकार के विभागों का बंटवारा हो गया है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 9 विभाग अपने पास रखे हैं, वहीं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) को पांच विभाग मिले हैं. बता दें कि राजस्थान में  कांग्रेस ने बीजेपी को हराकर सत्ता हासिल की है. इससे पहले वसुंधरा राजे के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार थी.

  • राजस्‍थान में किसानों की कर्जमाफी के बाद अब युवाओं की बारी, उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट ने कहा यह...

    राजस्‍थान में किसानों की कर्जमाफी के बाद अब युवाओं की बारी, उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट ने कहा यह...

    तीन राज्‍यों में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद कर्जमाफी का ऐलान हो चुका है. अब राजस्‍थान सरकार ने किसानों के बाद युवाओं पर ध्‍यान देने की बात कही है. राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि किसानों के लिए कर्जमाफी की घोषणा के बाद राज्य सरकार जल्द ही युवाओं की रोजगार की जरूरतों को पूरा करने के लिए भी कदम उठाएगी.

  • सचिन पायलट को 2019 में UPA सरकार बनने की उम्मीद, कहा- दबाव में है BJP, कारण भी बताया...

    सचिन पायलट को 2019 में UPA सरकार बनने की उम्मीद, कहा- दबाव में है BJP, कारण भी बताया...

    राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) को पूरा भरोसा है कि केंद्र में अगली सरकार कांग्रेस की अगुवाई वाले यूपीए (UPA) की बनेगी. इसके साथ ही उन्होंने बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर BJP पर भी निशाना साधा. उन्होंने इसे दबाव में उठाया गया कदम बताया है जो NDA सरकार की कमजोरी को दिखाता है.

  • राजस्थान: कैबिनेट का हुआ गठन, 23 MLAs ने ली मंत्री पद की शपथ, 2019 को ध्यान में रख तय किए गए मंत्री

    राजस्थान: कैबिनेट का हुआ गठन, 23 MLAs ने ली मंत्री पद की शपथ, 2019 को ध्यान में रख तय किए गए मंत्री

    कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 99 सीटों पर जीत हासिल की थी. अजीत सिंह के पार्टी राष्ट्रीय लोकदल के इकलौते विधायक सुभाष गर्ग के समर्थन से बहुमत तक पहुंची थी. गर्ग को कैबिनेट मंत्री का पद दिया गया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की रायशुमारी से बनाए गए मंत्रीमंडल में अनुभवी और नए चेहरे दोनों देखने को मिले. कुछ पूर्व मंत्रीयों को भी शामिल किया गया है लेकिन पहली बार बने विधयकों को इसमें नहीं रखा गया.

  • गहलोत का कैबिनेट: जातीय समीकरण साधने की कोशिश, 18 पहली बार बने मंत्री, नए और अनुभवी दोनों को तवज्जो

    गहलोत का कैबिनेट: जातीय समीकरण साधने की कोशिश, 18 पहली बार बने मंत्री, नए और अनुभवी दोनों को तवज्जो

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से रायशुमारी के बाद राजस्थान में मंत्रिमंडल के नाम तय किए गए हैं. सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल के गठन के लिए आयोजित बैठकों में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अविनाश पांडे, कांग्रेस के पर्यवेक्षक के सी वेणुगोपाल और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी भी शामिल थे. साथ ही बताया गया कि अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य के मंत्रिमंडल गठन में ज्यादातर नए चेहरों को शामिल करने पर ध्यान केन्द्रित किया. मंत्रिमंडल में पुराने और ऐसे नए लोगों को शामिल किया गया है, जिनके पास पूर्व में मंत्री पद का कोई अनुभव नहीं है.

  • राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार आज, 23 मंत्रियों को दिलाई जा सकती है शपथ

    राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार आज, 23 मंत्रियों को दिलाई जा सकती है शपथ

    राजस्थान में सोमवार को मंत्रिमंडल का विस्तार होगा. इसमें 23 मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी. मंत्रिपरिषद में 22 कांग्रेसी विधायक और राष्ट्रीय लोकदल के एक विधायक को जगह दी जा रही है, मंत्रिमंडल में 13 कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है.

  • आखिर राहुल गांधी ने क्यों कहा- इट्स डन...

    आखिर राहुल गांधी ने क्यों कहा- इट्स डन...

    पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था, जिसे तीन राज्यों में जीत के बाद पूरा कर दिखाया है. मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के बाद राजस्थान की कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों की कर्जमाफी की घोषणा किए जाने की तारीफ करते हुए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि उन्होंने सरकार बनने के दस दिनों के भीतर यह वादा पूरा करने की बात की थी, लेकिन इसे दो दिन में ही कर दिया गया.

  • राजस्थान में किसानों की कर्जमाफी के बाद सचिन पायलट ने कहा, कांग्रेस जो कहती है वह करती है

    राजस्थान में किसानों की कर्जमाफी के बाद सचिन पायलट ने कहा, कांग्रेस जो कहती है वह करती है

    पायलट ने कहा कि कांग्रेस की कथनी और करनी में कभी अंतर नहीं रहा और कांग्रेस जो कहती है वह करती है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकारों ने दो लाख तक की ऋण माफी पहले ही कर दी थी और आज हमारी सरकार ने भी यह कदम उठाकर अपने संकल्प को पूरा किया है. 

  • युवाओं की बात करने वाले राहुल गांधी ने आखिर क्यों 'अनुभवी चेहरों' को चुना?

    युवाओं की बात करने वाले राहुल गांधी ने आखिर क्यों 'अनुभवी चेहरों' को चुना?

    राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में क्रमश: अशोक गहलोत, कमलनाथ और भूपेश बघेल मुख्यमंत्री बने. हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के फैसले पर सवाल भी उठे कि आखिर उन्होंने खासकर राजस्थान और मध्यप्रदेश में युवा चेहरों- सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया को मौका क्यों नहीं दिया? 

  • राजस्थान : शपथ समारोह में विपक्ष एकजुट, लेकिन अखिलेश और मायावती नदारद; जानिए- क्या हैं इसके मायने

    राजस्थान : शपथ समारोह में विपक्ष एकजुट, लेकिन अखिलेश और मायावती नदारद; जानिए- क्या हैं इसके मायने

    कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष को एकजुट करने की कवायद काफी दिनों से चल रही है लेकिन कुछ दल एक झंडे के तले आने में परहेज करते दिख रहे हैं. हालिया विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को तीन राज्यों में मिली फतह से एकजुटता का रास्ता प्रबल तो हुआ लेकिन जब स्टालिन ने लोकसभा चुनाव में विपक्ष के नेतृत्व के लिए राहुल गांधी का नाम लिया तो कुछ दलों की भौंहें टेढ़ी हो गईं. इसका असर सोमवार को राजस्थान में नए मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के शपथ समारोह में दिखाई दिया.

  • अशोक गहलोत तीसरी बार बने राजस्थान के सीएम, शपथ ग्रहण समारोह में दिखी विपक्ष की एकजुटता

    अशोक गहलोत तीसरी बार बने राजस्थान के सीएम, शपथ ग्रहण समारोह में दिखी विपक्ष की एकजुटता

    गहलोत तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने हैं. राज्य में तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने वाले वह चौथे नेता हैं. गहलोत से पहले भैंरो सिंह शेखावत और हरिदेव जोशी तीन-तीन बार मुख्यमंत्री रहे. हालांकि मोहन लाल सुखाड़िया सबसे अधिक चार बार इस पद पर रहे. गहलोत 1998 में पहली बार और 2008 में दूसरी बार मुख्यमंत्री बने थे. इंदिरा गांधी के समय से राजनीति में सक्रिय गहलोत केंद्र में मंत्री भी रहे हैं. राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी में कई अहम पदों पर रह चुके गहलोत तीन बार कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष रहे हैं. गहलोत ने राजनीति के अलावा 1971 में बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के दौरान पश्चिम बंगाल में बांग्लादेशी शरणार्थियों के शिविरों में काम किया और कई सामाजिक गतिविधियों में शामिल रहे.

  • कर्नाटक के बाद एक बार फिर दिखेगी विपक्षी एकता, जानें- राजस्थान, MP और छत्तीसगढ़ में शपथ ग्रहण में कौन-कौन होगा शामिल

    कर्नाटक के बाद एक बार फिर दिखेगी विपक्षी एकता, जानें- राजस्थान, MP और छत्तीसगढ़ में शपथ ग्रहण में कौन-कौन होगा शामिल

    कांग्रेस ने शुक्रवार को एलान किया था कि अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री और सचिन पायलट बतौर डिप्टी सीएम शपथ लेंगे. दोनों ही सोमवार को जयपुर के अल्बर्ट हॉल परिसर में शपथ लेंगे. मध्य प्रदेश में कमलनाथ बतौर सीएम दोपहर करीब 1.30 बजे लाल परेड ग्राउंड में शपथ ग्रहण करेंगे. इसके अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री का एलान रविवार दोपहर किया जाएगा, यहां शपथ ग्रहण समारोह सोमवार शाम करीब 4.30 होगा.

  • राजस्थान के उप मुख्यमंत्री बने सचिन पायलट के बारे में 5 अहम बातें

    राजस्थान के उप मुख्यमंत्री बने सचिन पायलट के बारे में 5 अहम बातें

    राजस्थान में अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है उनके साथ सचिन पायलट ने भी शपथ लिया है. उनको उप मुख्यमंत्री बनाया गया है. राजस्थान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीच का रास्ता निकालते हुए तय किया है कि अशोक गहलोत को सीएम और सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री बनाया. हालांकि दोनों के समर्थकों के बीच जमकर नारेबाजी हुई. सचिन पायलट के एक समर्थक ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा है कि अगर पायलट को सीएम नहीं बनाया गया तो लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है. आपको बता दें कि सचिन पायलट ने उमर अब्दुल्ला की बेटी सारा से प्रेम विवाह किया था. बताया जाता है कि सारा ने अपने परिवार के खिलाफ जाकर सचिन से शादी की थी. दोनों की मुलाकात विदेश में हुई थी. सचिन पायलट ने इस बार टोंक विधनासभा सीट से चुनाव जीता है. चार साल पहले राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष का पद संभाला था. उनके सामने पस्त पड़ी कांग्रेस में फिर से जान फूंकने की बड़ी चुनौती थी. पायलट ने इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस को दो सीटें जिताकर अपने तेवर दिखा दिए.