NDTV Khabar

Section 370 scrapped


'Section 370 scrapped' - 25 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • विदेश मंत्री ने एस जयशंकर ने पाकिस्तान पर कसा तंज, कहा- जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य शुरू होते ही आपकी सारी योजना धरी...

    विदेश मंत्री ने एस जयशंकर ने पाकिस्तान पर कसा तंज, कहा- जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य शुरू होते ही आपकी सारी योजना धरी...

    विदेश मंत्री का यह बयान जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक की तरफ से पिछले महीने दिए गए बयान से काफी मिलता-जुलता है. मलिक ने कहा था कि अगर हम जम्मू-कश्मीर को विकास के मार्ग पर ले जाने में कामयाब होते हैं, जो कि बहुत संभव है, तो वह दिन दूर नहीं जब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के निवासी जिन्हें पाकिस्तान के दखल का सबसे ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ रहा है, वे खुद ही भारत की हिस्सा बनने के लिए हमारी तरफ दौड़े आएंगे.

  • अनुच्छेद 370 के मुद्दे को लेकर भाजपा ने पाकिस्तान पर साधा निशाना, कहा- इस मुद्दे पर तो उन्हें मुस्लिम देश का भी नहीं मिला...

    अनुच्छेद 370 के मुद्दे को लेकर भाजपा ने पाकिस्तान पर साधा निशाना, कहा- इस मुद्दे पर तो उन्हें मुस्लिम देश का भी नहीं मिला...

    अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधानों को समाप्त करने के निर्णय पर लोगों में जनमत बनाने के भाजपा के महीने भर चले अभियान को लेकर प्रधान ने संवाददाताओं से यह बात कही . उनसे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भारत विरोधी अभियान के बारे में पूछा गया था .

  • गृहमंत्री अमित शाह ने जवाहर लाल नेहरू पर एक बार फिर साधा निशाना, कहा- कश्मीर मुद्दे को UN ले जाना थी सबसे बड़ी भूल 

    गृहमंत्री अमित शाह ने जवाहर लाल नेहरू पर एक बार फिर साधा निशाना, कहा- कश्मीर मुद्दे को UN ले जाना थी सबसे बड़ी भूल 

    गृहमंत्री ने घाटी में पाबंदियों के बारे में ‘दुष्प्रचार’ फैलाने का विपक्ष पर आरोप लगाया, उन्होंने कहा कि प्रतिबंध कहा हैं? यह सिर्फ आपके दिमाग में हैं. कोई प्रतिबंध नहीं हैं. सिर्फ दुष्प्रचार किया जा रहा हैं. कश्मीर में 196 थाना-क्षेत्रों में से हर जगह से कर्फ्यू हटा लिया गया है और सिर्फ आठ थाना-क्षेत्रों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत पाबंदियां लगाई गई हैं. इस धारा के तहत पांच या इससे ज्यादा लोग एक साथ इकट्ठा नहीं हो सकते हैं.

  • कश्मीर में बैंकों को करना पड़ रहा है कर्मचारियों की कमी का सामना

    कश्मीर में बैंकों को करना पड़ रहा है कर्मचारियों की कमी का सामना

    उन्होंने कहा कि आधुनिक बैंकिंग संवाद के साधनों पर काफी निर्भर है. घाटी में इंटरनेट और फोन सेवाएं बंद होने से बैंकों और बैंक कर्मियों को कई बार संवाद के लिये पारंपरिक तरीकों पर निर्भर होना पड़ा. जब स्थिति सामान्य होने लगी, टीम सहकर्मियों के पते पर पहुंचने लगी. कुछ लोग तो मिल गये लेकिन कुछ लोगों से संपर्क नहीं हो सका क्योंकि उन्होंने जगह बदल ली.

  • कश्मीर घाटी में मोबाइल सेवाएं बंद होने के बावजूद भी लोगों का आ रहा है बिल 

    कश्मीर घाटी में मोबाइल सेवाएं बंद होने के बावजूद भी लोगों का आ रहा है बिल 

    सफाकदल के निवासी ओबैद नबी ने कहा कि पांच अगस्त से कश्मीर में मोबाइल फोन और इंटरनेट सेवाएं काम नहीं कर रही हैं , लेकिन फिर भी एयरटेल की ओर से 779 रुपये का बिल दिया गया है.

  • जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बोले पीएम मोदी, कहा- यह निर्णय तो सरदार पटेल से...

    जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बोले पीएम मोदी, कहा- यह निर्णय तो सरदार पटेल से...

    बता दें कि मोदी सरकार ने पिछले महीने 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म कर दिया था, जिनके आधार पर राज्य को विशेष दर्जा मिला था. इसके साथ ही राज्य को दो हिस्सों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट कर उन्हें केंद्र शासित राज्य बनाने का निर्णय भी लिया गया है.

  • कश्मीर की मौजूदा स्थिति ने बढ़ाई पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों की मुश्किलें, रोज़ी-रोटी पर भी खड़ा हुआ संकट

    कश्मीर की मौजूदा स्थिति ने बढ़ाई पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों की मुश्किलें, रोज़ी-रोटी पर भी खड़ा हुआ संकट

    श्रीनगर के एक प्रतिष्ठित होटल कारोबारी ने बताया कि अगर मौजूदा स्थिति लंबी खिंचती है तो नौकरियों में कटौती करनी पड़ेगी. उन्होंने कहा कि अगर स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो हमारे पास कोई और विकल्प नहीं होगा. हम यह नहीं करना चाहते हैं. नुकसान सिर्फ होटल कारोबारियों को नहीं हो रहा है बल्कि टूर ट्रैवल्स एजेंट, हाउसबोट के मालिक, शिकारावाला, टैक्सी ऑपरेटर और टूरिस्ट गाइडों को भी नुकसान हो रहा है.

  • सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- उनका बर्ताव 'पॉलिटिकल जुवेनाइल' की तरह

    सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- उनका बर्ताव 'पॉलिटिकल जुवेनाइल' की तरह

    सत्यपाल मिलक जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद वहां मौजूद हालात की जानकारी देने के लिए एक प्रेस वार्ता कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि वहां के मौजूदा हालात को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि सरकार ने यह फैसला कश्मीर (Kashmir) और लद्दाख (Ladakh) के लोगों की बेहतरी के लिए लिया है.

  • अनुच्छेद 370 को लेकर BJP ने लिया बड़ा फैसला, अब देश भर में...

    अनुच्छेद 370 को लेकर BJP ने लिया बड़ा फैसला, अब देश भर में...

    चुने गए प्रबद्ध लोगों से पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मिलेंगे. इस कार्यक्रम के दौरान देश भर में छोटी-छोटी सभाओं का भी आयोजन होगा. यह सभी कार्यक्रम 1 सितंबर से 30 सितंबर के बीच आयोजित किए जाएंगे. 

  • श्रीनगर में 190 स्कूल खुले, जानें- अनुच्छेद 370 हटने के दो हफ्ते बाद कैसे हैं घाटी में हालात

    श्रीनगर में 190 स्कूल खुले, जानें- अनुच्छेद 370 हटने के दो हफ्ते बाद कैसे हैं घाटी में हालात

    कश्मीर घाटी के 50 पुलिस थाना क्षेत्रों में रविवार को प्रतिबंधों में ढील दी गयी. हालांकि, श्रीनगर के कुछ हिस्सों में हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बाद प्रतिबंधों को और कड़ा कर दिया गया है. इस बीच, जम्मू क्षेत्र के पांच जिलों में इंटरनेट सेवाओं की बहाली के एक दिन बाद इसे फिर से बंद कर दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि 300 हज जायरीनों का पहला जत्था रविवार को सउदी अरब से कश्मीर वापस लौटा.

  • घाटी में 50 हजार लैंडलाइन सेवाएं बहाल, 2जी मोबाइल नेटवर्क भी शुरू, पढ़ें 10 बड़ी बातें...

    घाटी में 50 हजार लैंडलाइन सेवाएं बहाल, 2जी मोबाइल नेटवर्क भी शुरू, पढ़ें 10 बड़ी बातें...

    जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पहली बार कुछ इलाकों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल की गई है. केंद्र सरकार ने जिन इलाकों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल की गई है उनमें जम्मू, रियासी, सांबा, कठुआ और उधमपुर जैसे इलाके शामिल हैं. साथ ही कश्मीर घाटी के 50 हजार लैंडलाइन कनेक्शन भी शुरू किया गया है.अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद घाटी में हिंसा की आशंकाओं के बीच केंद्र सरकार ने मोबाइल इंटरनेट और मोबाइल सेवा बंद करने का फैसला किया था.जिन 17 इलाकों एक्सचेंज में लैंडलाइन सेवाएं शुरू की गई हैं उनमें सिविल लाइन्स क्षेत्र, छावनी क्षेत्र, श्रीनगर जिले के हवाई अड्डे के पास के हैं. मध्य कश्मीर में बडगाम, सोनमर्ग और मनिगम में लैंडलाइन सेवाएं बहाल की गई हैं. वहीं, उत्तर कश्मीर में गुरेज, तंगमार्ग, उरी केरन करनाह और तंगधार इलाकों में सेवाएं बहाल हुई हैं.

  • रजनीकांत ने प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की प्रशंसा से जुड़े अपने बयान का बचाव किया

    रजनीकांत ने प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की प्रशंसा से जुड़े अपने बयान का बचाव किया

    कश्मीर बड़ा मुद्दा है और यह राष्ट्र की सुरक्षा से जुड़ा है. यह क्षेत्र आतंकवादियों और चरमपंथियों का अड्डा जैसा बन गया है. उन्होंने कहा कि देश में उनके घुसपैठ के लिए यह गेटवे ऑफ इंडिया की तरह है. नेताओं से अपील करते हुए उन्होंने  कहा कि उन्हें यह फर्क समझना चाहिए कि किस मुद्दे का राजनीतिकरण किया जा सकता है और किसका नहीं. अगले साल 14 अप्रैल को अपनी प्रस्तावित राजनीतिक पार्टी के गठन के बारे में आयी खबरों पर उन्होंने कहा कि मैं आपको बताऊंगा. मैं निश्चित तौर पर आपको बताऊंगा.

  • स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी कश्मीर में लागू रहेंगी पाबंदियां, प्रशासन ने जारी किया दिशा-निर्देश 

    स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी कश्मीर में लागू रहेंगी पाबंदियां, प्रशासन ने जारी किया दिशा-निर्देश 

    उन्होंने कहा कि कल कुछ प्रतिबंध लगे रहेंगे. सामान्य नजरिया यही है कि हालात शांतिपूर्ण बने हुये हैं. स्थानीय आकलन के आधार पर छूट दी जायेगी. उन्होंने कहा कि नागरिक आपूर्ति, सामान्य और आपात चिकित्सा सुविधाएं और बिजली आपूर्ति सामान्य बनी हुई हैं.

  • मुस्लिम बहुल होने के कारण जम्मू कश्मीर से हटा अनुच्छेद 370 : चिदंबरम 

    मुस्लिम बहुल होने के कारण जम्मू कश्मीर से हटा अनुच्छेद 370 : चिदंबरम 

    उन्होंने सात राज्यों में सत्तारूढ़ सात क्षेत्रीय दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्होंने राज्यसभा में भाजपा के कदम के खिलाफ भय के कारण सहयोग नहीं किया. विपक्षी पार्टियों के असहयोग पर असंतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हमें पता है कि लोकसभा में हमारे पास बहुमत नहीं है लेकिन सात पार्टियों अन्नाद्रमुक, वाईएसआरसीपी, टीआरएस, बीजद, आप, टीएमसी, जद(यू) ने सहयोग किया होता तो विपक्ष राज्यसभा में बहुमत में होता.

  • यूपी से कांग्रेस की विधायक ने धारा 370 हटाए जाने का किया समर्थन, कहा- इसकी जरूरत बहुत पहले से थी...

    यूपी से कांग्रेस की विधायक ने धारा 370 हटाए जाने का किया समर्थन, कहा- इसकी जरूरत बहुत पहले से थी...

    अदिति सिंह ने एएनआई से बातचीत में कहा कि मैं धारा 370 को हटाए जाने का पूरी तरह से समर्थन करती हूं. मेरे हिसाब से यह एक ऐतिहासिक क्षण है. हमें इसे लेकर कोई राजनीति नहीं करनी चाहिए. इस फैसले से कश्मीर के लोगों का विकास होगा. 

  • जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 को हटाए जाने पर लाल कृष्‍ण आडवाणी ने कहा...

    जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 को हटाए जाने पर लाल कृष्‍ण आडवाणी ने कहा...

    भारतीय जनसंघ के समय से ही जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त किया जाना पार्टी का एजेंडा रहा है. जब भारतीय जनता पार्टी की स्‍थापना हुई तो उसमें भी जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍ति एक प्रमुख मुद्दा था. बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अपने भाषणों में भी धारा 370 की समाप्‍ति का वादा दोहराते रहे हैं. हाल ही में समाप्‍त हुए लोकसभा चुनाव में तत्‍कालीन बीजेपी अध्‍यक्ष जम्‍मू-कश्‍मीर में अपने चुनावी भाषण में कहा था कि सरकार बनने के 100 दिनों के अंदर कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त कर देंगे. राजसभा में जब गृहमंत्री अमित शाह ने जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 समाप्‍त करने की घोषणा की तो देश के कई प्रमुख दनों ने इसका स्‍वागत किया.

  • जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद दिल्ली मेट्रो में हाई अलर्ट जारी, चाक-चौबंद की गई सुरक्षा व्यवस्था

    जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद दिल्ली मेट्रो में हाई अलर्ट जारी, चाक-चौबंद की गई सुरक्षा व्यवस्था

    अधिकारियों ने बताया कि कई स्टेशनों पर यात्रियों को सीआईएसएफ कर्मियों द्वारा अतिरिक्त जांच से गुजरना पड़ेगा. अधिकारियों के अनुसार इसे संसद में जम्मू-कश्मीर पर हालिया घटनाक्रम और 15 अगस्त को होने वाले स्वतंत्रता दिवस जश्न के संदर्भ में जारी किया गया है. बता दें कि दिल्ली मेट्रो रेल नेटवर्क (डीएमआरसी) के 220 से अधिक स्टेशन हैं, जिनमें रोजाना करीब 28 लाख लोग यात्रा करते हैं.

  • धारा 370 को समाप्‍त किए जाने पर कांग्रेस ने कहा- भाजपा सरकार ने देश का सिर काटा, भारत से गद्दारी की

    धारा 370 को समाप्‍त किए जाने पर कांग्रेस ने कहा- भाजपा सरकार ने देश का सिर काटा, भारत से गद्दारी की

    कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘1927 के बाद ऐसी अनहोनी संसद के द्वारा की जा रही है. जम्मू-कश्मीर को भारत के साथ बनाए रखने के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी है. जब भी आतंकवाद हुआ उसका मुकाबला कश्मीर की जनता, वहां की मुख्यधारा की पार्टियां और हमारे सुरक्षा बलों ने किया.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर को एक सूत्र में बांधकर 370 ने रखा था लेकिन भाजपा की सरकार ने सत्ता के नशे में और वोट हासिल करने के लिए राजनीति, संस्कृति और भूगोल से भिन्न तरह के राज्य जम्मू-कश्मीर में एक झटके में तीन-चार चीजों को खत्म कर दिया. यह हिंदुस्तान की तारीख में काले शब्दों में लिखा जाएगा.’’