NDTV Khabar

Shivpal yadav mulayam singh yadav


'Shivpal yadav mulayam singh yadav' - 163 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • लोकसभा चुनाव में हार के बाद क्या सपा का कुनबा दोबारा होगा एकजुट? शिवपाल यादव ने दिया बड़ा बयान

    लोकसभा चुनाव में हार के बाद क्या सपा का कुनबा दोबारा होगा एकजुट? शिवपाल यादव ने दिया बड़ा बयान

    लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद समाजवादी कुनबे के दोबारा एकजुट होने की खबरें आ रही थीं, लेकिन अब सपा से अलग होकर अपनी अलग पार्टी बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने इन खबरों पर विराम लगा दिया है. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने शुक्रवार को यहां कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ अब उनका चैप्टर बंद हो गया है. 

  • दोबारा अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल यादव? कौन बन रहा है राह में रोड़ा

    दोबारा अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल यादव? कौन बन रहा है राह में रोड़ा

    लगातार दो लोकसभा चुनाव और एक विधानसभा चुनाव हारने के बाद अखिलेश पर परिवार को एक करने का दबाव बढ़ा है. खासकर सपा संस्थापक मुलायम सिह यादव चाहते हैं कि पार्टी को खड़ा करने में योगदान देने वाले छोटे भाई शिवपाल सिह यादव को दोबारा साथ लाया जाए. लेकिन अखिलेश राजी नहीं हैं. उन्हें लगता है कि शिवपाल की एन्ट्री से पार्टी में उनके एकाधिकार और वर्चस्व को खतरा पैदा हो जाएगा.

  • मुलायम ने शुरू की यादव परिवार को एकजुट करने की कवायद, अखिलेश और शिवपाल से की बात...

    मुलायम ने शुरू की यादव परिवार को एकजुट करने की कवायद, अखिलेश और शिवपाल से की बात...

    हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने बेटे अखिलेश (Akhilesh Yadav) और भाई शिवपाल (Shivpal Yadav) के बीच सुलह कराने की एक बार फिर कोशिश की.

  • शिवपाल सिंह यादव: मुलायम सिंह की उंगली पकड़कर सीखी राजनीति, अब भतीजे को दे रहे चुनौती

    शिवपाल सिंह यादव: मुलायम सिंह की उंगली पकड़कर सीखी राजनीति, अब भतीजे को दे रहे चुनौती

    यूपी के सियासी गलियारों में शिवपाल सिंह यादव एक बड़ा नाम हैं. वह यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई हैं. भतीजे और पूर्व सीएम अखिलेश यादव से हुए गहरे मतभेद के बाद शिवपाल ने समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी(लोहिया) बनाई और इस लोकसभा चुनाव में वह फिरोजाबाद सीट से अपने भतीजे अक्षय यादव के खिलाफ ताल ठोंक रहे हैं.

  • Lok Sabha Polls 2019: सियासत के 'महाभारत' में यदुवंशियों में आपसी तकरार से BJP को कितना फायदा?

    Lok Sabha Polls 2019: सियासत के 'महाभारत' में यदुवंशियों में आपसी तकरार से BJP को कितना फायदा?

    LoksabhaPolls2019: जहां यूपी में चाचा शिवपाल यादव, भतीजे अखिलेश यादव की सीटों की 'गणित' को बिगाड़ते लग रहे हैं, वहीं बिहार में बड़े भाई तेजप्रताप ने छोटे भाई तेजस्‍वी की सल्‍तनत को चुनौती दे डाली है. स्‍वाभाविक है कि परिवार की इस कलह का बीजेपी (BJP)पूरा मजा ले रही है. उसके लिए यह एक तरह से 'बिल्‍ली के भाग छींका टूटना' जैसा ही है.

  • मुलायम सिंह ने मैनपुरी से भरा पर्चा, साथ में थे अखिलेश और राम गोपाल यादव, नहीं दिखे शिवपाल

    मुलायम सिंह ने मैनपुरी से भरा पर्चा, साथ में थे अखिलेश और राम गोपाल यादव, नहीं दिखे शिवपाल

    मुलायम सिंह यादव मैनपुरी सीट से चार बार सांसद रह चुके हैं. साल 2014 में उन्होंने मैनपुरी के साथ ही आजमगढ़ सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था. मुलायम ने दोनों ही सीटों से जीत हासिल कर ली थी, बाद में उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़ दी. इसके बाद इस सीट पर उपचुनाव हुए, जिसमें समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार तेज प्रताप यादव जीतने में कामयाब रहे. मैनपुरी सीट से मुलायम 1996, 2004 और 2009 से चुनाव जीत चुके हैं. राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि मैनपुरी लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी के लिये काफी सुरक्षित सीट है. इस सीट पर पिछली बार मुलायम साढ़े तीन लाख से अधिक वोटो से जीते थे.

  • चाचा शिवपाल का भतीजे पर हमला: मायावती न नेता जी की और न मेरी बहन, फिर अखिलेश की बुआ कैसे?

    चाचा शिवपाल का भतीजे पर हमला: मायावती न नेता जी की और न मेरी बहन, फिर अखिलेश की बुआ कैसे?

    लोकसभा चुनाव से ठीक पहले एक बार फिर से यूपी की सियासत गरमा गई है और इस बार फिर से इसके केंद्र में मुलायम सिंह यादव का परिवार ही है.

  • शिवपाल सिंह यादव बोले- पीएम मोदी का सीना अब 56 से 57 हो गया होगा, मगर दम नहीं है

    शिवपाल सिंह यादव बोले- पीएम मोदी का सीना अब 56 से 57 हो गया होगा, मगर दम नहीं है

    शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि पीएम कहते हैं कि उनका 56 इंच का सीना है. अब एकाध इंच बढ़कर 57 इंच हो गया होगा, लेकिन उनके सीने में दम नहीं है.

  • शिवपाल के मंच पर मुलायम सिंह यादव, क्या 2019 में अखिलेश यादव को लग सकता है झटका?

    शिवपाल के मंच पर मुलायम सिंह यादव, क्या 2019 में अखिलेश यादव को लग सकता है झटका?

    अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए प्रस्तावित महागठबंधन में अहम भूमिका निभाने का मंसूबा पाले सपा नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बड़ा झटका लग सकता है. यह झटका कोई और नहीं बल्कि उनके 'अपने' ही देने की तैयारी में है.

  • अखिलेश के साथ मुलायम के जाने पर शिवपाल यादव का बड़ा बयान, बोले-अब मुझे साथ की चिंता नहीं

    अखिलेश के साथ मुलायम के जाने पर शिवपाल यादव का बड़ा बयान, बोले-अब मुझे साथ की चिंता नहीं

    अपने बड़े भाई और सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव को अपने साथ जोड़ने की कोशिश कर रहे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (प्रसपा-लो) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने बड़ा बयान दिया है.

  • यूपी की सियासत में बेटे पर भारी पड़ेगा भाई? शिवपाल यादव की पार्टी के कार्यक्रम में फिर दिखे मुलायम सिंह यादव

    यूपी की सियासत में बेटे पर भारी पड़ेगा भाई? शिवपाल यादव की पार्टी के कार्यक्रम में फिर दिखे मुलायम सिंह यादव

    उत्तर प्रदेश की सियासत में बड़ी हैसियत रखने वाला यादव परिवार सत्ता में न होने के बाद भी मीडिया की सुर्खियों में है. दरअसल, मुलायम सिंह के परिवार में राजनीतिक खींचतान अब भी जारी है. मंगलवार को एक बार फिर से समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह अपने भाई शिवपाल यादव के कार्यक्रम में पहुंचे और एक ही मंच पर साथ दिखे. समाजवादी पार्टी से अलग होने वाले शिवपाल सिंह की पार्टी का कार्यक्रम था. 

  • 'नेताजी' को अपनी पार्टी से प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाएंगे भाई शिवपाल, अध्यक्ष पद की भी पेशकश

    'नेताजी' को अपनी पार्टी से प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाएंगे भाई शिवपाल, अध्यक्ष पद की भी पेशकश

    यूपी के पूर्व मंत्री और नवगठित प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उनकी पार्टी पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव को आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद के चेहरे के तौर पर पेश करेगी. शिवपाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए कहा, 'अभी हमारा एक सपना अधूरा है. वह है नेताजी (मुलायम) को प्रधानमंत्री के रूप में देखना. नेताजी हमारी पार्टी की तरफ से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे.'

  • क्या फिर से यादव परिवार में सब कुछ ठीक नहीं? मुलायम के बाद छोटी बहू अपर्णा भी दिखीं चाचा शिवपाल के साथ

    क्या फिर से यादव परिवार में सब कुछ ठीक नहीं? मुलायम के बाद छोटी बहू अपर्णा भी दिखीं चाचा शिवपाल के साथ

    उत्तर प्रदेश की सियासत में बड़े राजनीतिक परिवार के तौर पर मशहूर मुलायम सिंह के परिवार में अभी सियासी रोमांच का दौर चल रहा है. मुलायम सिंह यादव के ठीक एक दिन बाद ही उनकी छोटी बहू अपर्णा यादव भी चाचा शिवपाल सिंह यादव के साथ मंच साझा करतीं नजर आईं. दरअसल, मुलायाम के साथ मंच साझा करने के ठीक एक दिन बाद शनिवार को राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के स्थापना दिवस के कार्यक्रम में चाचा शिवपाल यादव और अपर्णा यादव को एक साथ एक ही मंच पर देखा गया.  मुलायम और अपर्णा की शिवपाल के साथ मंच साझा करने के बाद उत्तर प्रदेश के सियासी गलियारों में अटकलों का दौर शुरू हो गया है.

  • 'चाचा की चाल' : बेटे के बाद अब भाई के साथ मंच पर दिखे मुलायम सिंह, शिवपाल यादव ने नेता जी को दिया यह ऑफर

    'चाचा की चाल' : बेटे के बाद अब भाई के साथ मंच पर दिखे मुलायम सिंह, शिवपाल यादव ने नेता जी को दिया यह ऑफर

    उत्तर प्रदेश के सियासत में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह के परिवार में हर दिन एक अलग नजारा देखने को मिलता है. भले ही समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल यादव के बीच में मनमुटाव और दूरियां हों, मगर इससे मुलायम सिंह पर कोई फर्क नहीं पड़ता दिख रहा है. मुलायम सिंह शायद बेटे और भाई के बीच में किसी तरह के अंतर नहीं रखना चाहते यही वजह है कि पिछले महीने अखिलेश यादव के साथ मंच साझा करने के बाद अब वह  समाजवादी पार्टी से अलग होकर सेक्युलर मोर्चा बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव के साथ पहली बार शुक्रवार को मंच पर नजर आए. बता दें कि शिवपाल सिंह ने इसी साल अगस्त में समाजवादी पार्टी से अलग होकर अपनी नई पार्टी बनाया है. 

  • सपा हमारे खिलाफ प्रत्याशी उतारेगी तो 'जंग' होगी: शिवपाल यादव

    सपा हमारे खिलाफ प्रत्याशी उतारेगी तो 'जंग' होगी: शिवपाल यादव

    समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संयोजक व पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वह चाहते हैं कि 'नेताजी' (मुलायम सिंह यादव) हमारी पार्टी से मैनपुरी से चुनाव लड़ें. यदि वह हमारी पार्टी की ओर से नहीं लड़ना चाहेंगे, तब उन्हें मोर्चे का पूरा समर्थन और सहयोग रहेगा. लेकिन अगर मोर्चे के खिलाफ सपा प्रत्याशी उतरती है तो जंग होगी, और जंग मोर्चा जीतेगा.

  • BJP में शामिल होने के सवाल पर शिवपाल ने कही ये बात...

    BJP में शामिल होने के सवाल पर शिवपाल ने कही ये बात...

    उन्होंने कहा कि उनका मोर्चा बड़े भाई एवं सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का समर्थन करेगा, भले ही अगले संसदीय चुनाव में वह किसी भी अन्य दल से चुनाव लड़ें.

  • जानिये कितनी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी शिवपाल यादव की नई पार्टी, कहा - 'नेताजी' का आशीर्वाद हमारे साथ

    जानिये कितनी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी शिवपाल यादव की नई पार्टी, कहा - 'नेताजी' का आशीर्वाद हमारे साथ

    समाजवादी पार्टी (सपा) में हाशिये पर रहने के बाद हाल में 'समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा' (Samajwadi Secular Morcha) का गठन करने वाले शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) ने सोमवार को कहा कि उन्हें 'नेताजी' यानी अपने बड़े भाई मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद प्राप्त है. उन्होंने यह भी कहा कि सपा में मुलायम और अपने साथ हुए 'अपमान' के बाद उन्हें मजबूरन अलग पार्टी बनानी पड़ी. अगला लोकसभा चुनाव लड़ने की अपनी पार्टी की तैयारियों पर शिवपाल ने बताया, 'हम समान विचारधारा वाली छोटी पार्टियों के साथ मिलकर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. हम समाजवादी और सेक्यूलर मूल्यों के साथ चुनाव में उतरेंगे और सामाजिक न्याय की लड़ाई को आगे बढ़ाएंगे.'

  • शिवपाल और अखिलेश के बीच जानिये मुलायम सिंह यादव देंगे किसका साथ...

    शिवपाल और अखिलेश के बीच जानिये मुलायम सिंह यादव देंगे किसका साथ...

    शिवपाल और अखिलेश के बीच झगड़े में मुलायम भी शिवपाल के साथ नहीं बल्कि बेटे अखिलेश के साथ रहेंगे. ऐसा संकेत उन्होंने खुद दिया है. शिवपाल यादव के अखिलेश से बगावत कर 'समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा' बनाने के बाद अखिलेश यादव के करीबी एक बड़े नेता मुलायम सिंह से मिले तो उन्होंने उनसे कहा कि वह पार्टी को मजबूत करने के लिए यूपी के हर मंडल में सभा करना चाहते हैं, जिसका इंतजाम किया जाए. बहुत लंबे अर्से बाद अब पार्टी दफ्तर भी आने-जाने लगे हैं.