NDTV Khabar

Slow down


'Slow down' - 20 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • विदेशों में मंदी के रुख से तेल-तिलहन कीमतों में गिरावट

    विदेशों में मंदी के रुख से तेल-तिलहन कीमतों में गिरावट

    सूत्रों ने कहा कि अगले महीने पाम तेल का उत्पादन और बढ़ेगा और हमारा बाजार सस्ते आयात से पट सकता है. ऐसे में सरकार को स्थानीय तिलहन उत्पादक किसानों के हितों की रक्षा के लिए सीपीओ एवं पामोलीन तथा सोयाबीन डीगम जैसे सस्ते आयातित तेलों पर आयात शुल्क में अधिकतम वृद्धि कर देनी चाहिये. वायदा कारोबार में भी सट्टेबाज सोयाबीन तिलहन फसल का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम लगा रहे हैं. ऐसे में सोयाबीन की जल्द ही शुरू होने जा रही बिजाई प्रभावित हो सकती है. 

  • Weight Loss: वजन घटाने के दौरान ये गलतियां करना आपके लिए हो सकता है खतरनाक! बना सकती हैं बीमार

    Weight Loss: वजन घटाने के दौरान ये गलतियां करना आपके लिए हो सकता है खतरनाक! बना सकती हैं बीमार

    Weight Loss: वजन कम करने के दौरान आप कई गलतियां (Weight Loss Mistakes) करते हैं, जिससे आपका वजन (Weight) घटता नहीं है बल्कि आप कई बीमारियों (Disease) की चपेट में आ सकते हैं. वजन कम करने के लिए डाइट (Weight Loss Diet) को सही तरीके से लेना जरूरी है, लेकिन करते हैं ये गलतियां आज ही छोड़े...

  • GOODBYE 2019: पूरे साल मंदी से जूझती रही मोदी सरकार, अब तक उठा चुकी है ये 7 कदम

    GOODBYE 2019: पूरे साल मंदी से जूझती रही मोदी सरकार, अब तक उठा चुकी है ये 7 कदम

    साल 2019 में जब मोदी सरकार प्रचंड बहुमत से आई तो उसके सामने सबसे बड़ी चुनौती देश की अर्थव्यवस्था को उबारने की खड़ी हो गई.आर्थिक वृद्धि दर घटकर 4.5 प्रतिशत पर आ गई है.  सरकार बनते ही मंदी की आहट शुरू हो गई. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में लगातार जारी गिरावट की खबरों की बीच ऑटो सेक्टर में जब यूनिटों में काम बंद होने की खबरें आने शुरू हुईं तो मीडिया ने भी इस पर ध्यान देना शुरू किया और सरकार के भी कान खड़े हो गए.वाहनों की बिक्री में गिरावट की वजह यह भी है कि सरकार बड़े जोर शोर से इलेक्ट्रिक वाहनों और बीएस-6 इंजन लाने का ऐलान कर रही थी.

  • संसद में BJP सांसद का बयान- ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी है तो फिर सड़कों पर ट्रैफिक जाम क्यों?

    संसद में BJP सांसद का बयान- ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी है तो फिर सड़कों पर ट्रैफिक जाम क्यों?

    ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी को लेकर बीजेपी सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त (Virendra Singh Mast) का अजीबोगरीब बयान सामने आया है. बलिया से बीजेपी सांसद ने लोकसभा में कहा कि 'देश और सरकार को बदनाम करने के लिए लोग कह रहे हैं कि ऑटोमोबाइल सेक्टर (Automobile Sector) में मंदी है. उन्होंने दलील दी की अगर गाड़ियों की बिक्री में गिरावट है तो फिर सड़कों पर ट्रैफिक जाम क्यों हैं?' 

  • DBS का अनुमान- दूसरी छमाही में बनी रह सकती है आर्थिक सुस्ती

    DBS का अनुमान- दूसरी छमाही में बनी रह सकती है आर्थिक सुस्ती

    .DBS ने अपनी दैनिक आर्थिक रिपोर्ट में कहा है, "वर्ष 2019 में अप्रैल से जून के पांच प्रतिशत के मुकाबले जुलाई से सितंबर में साल दर साल आधार पर वास्तविक जीडीपी वृद्धि 4.3 प्रतिशत रह सकती है." बैंक ने कहा है कि निजी क्षेत्र में गतिविधियों के कमजोर रहने के साथ साथ आर्थिक वृद्धि के लिहाज से अहम माने जाने वाले खपत क्षेत्र में सुस्ती बढ़ सकती है.

  • RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास बोले, वैश्विक जोखिम बढ़ने के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत

    RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास बोले, वैश्विक जोखिम बढ़ने के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत

    रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने बृहस्पतिवार को कहा कि वैश्विक जोखिम बढ़ा है पर भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत स्थिति में है. उन्होंने कहा कि इसकी एक प्रमुख वजह कुल कर्ज में विदेशी ऋण का हिस्सा केवल 19.7 प्रतिशत है. उन्होंने यह भी कहा कि सब्सिडी और मुद्रास्फीति का स्तर कम होने से सऊदी अरब के वर्तमान तेल संकट का भी भारत के राजकोषीय घाटे पर असर सीमित रहेगा.

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और किरन मजूमदार-शॉ के बीच Twitter पर हुई तीखी बहस...

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और किरन मजूमदार-शॉ के बीच Twitter पर हुई तीखी बहस...

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और दवा कंपनी बायोकॉन की प्रमुख किरन मजूमदार शॉ (Kiran Mazumdar Shaw) के बीच बृहस्पतिवार को ट्विटर पर अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल जबाव हुए. बाद में शॉ ट्वीटर पर इसे बहस बताए जाने को लेकर स्पष्ट किया कि यह कोई बहस नहीं बल्कि एक संवाद जैसा था.

  • प्रियंका गांधी ने अर्थव्यस्था में सुस्ती को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा - आप अपनी जिम्मेदारी से...

    प्रियंका गांधी ने अर्थव्यस्था में सुस्ती को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा - आप अपनी जिम्मेदारी से...

    प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट के साथ एक खबर की साझा की है जिसमें महिंद्रा एंड महिंद्रा के संयंत्र में 17 दिनों तक किसी भी तरह का विनिर्माण नहीं होगा. ऐसे में कई और लोगों की छटनी होने की बात कही गई जा रही है.

  • चुनाव से पहले बोला गया कि ओला-उबर ने रोजगार बढ़ाए, अब बोला जा रहा है इनकी वजह से मंदी आ गई, सरकार इतनी कन्फ्यूज क्यों है : प्रियंका गांधी

    चुनाव से पहले बोला गया कि ओला-उबर ने रोजगार बढ़ाए, अब बोला जा रहा है इनकी वजह से मंदी आ गई, सरकार इतनी कन्फ्यूज क्यों है : प्रियंका गांधी

    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के उस बयान पर निशाना साधा है जिसमें उन्होंने कहा कि ऑटो सेक्टर में मंदी की वजह लोगों का नई कार खरीदने के बाद ओला-उबर का इस्तेमाल करना है. प्रियंका गांधी ने ट्वीटर पर लिखा,  'चुनाव के पहले बोला गया कि Ola-Uber ने रोजगार बढ़ाए हैं. अब बोला जा रहा है कि Ola-Uber की वजह से आटो सेक्टर में मंदी आ गई है.

  • ऑटो सेक्टर में छाई मंदी के बीच बोले नितिन गडकरी- पेट्रोल-डीजल से चलने वाले वाहनों को बंद करने का कोई इरादा नहीं

    ऑटो सेक्टर में छाई मंदी के बीच बोले नितिन गडकरी- पेट्रोल-डीजल से चलने वाले वाहनों को बंद करने का कोई इरादा नहीं

    ऑटो सेक्टर में छाई मंदी पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि नौकरी जाने की समस्या हमें पता है. हम भी मंदी का सामना कर रहे हैं. भारत एक उभरती अर्थव्यवस्था है जिसमें ऑटो सेक्टर ने बड़ी मात्रा में रोजगार दिया है. उन्होंने कहा कि यह गलतफहमी है कि सरकार पेट्रोल और डीजल वाहनों को बंद करने जा रही है. गडकरी ने कहा कि प्रदूषण कम करना हमारी प्राथमिकता है. दिल्ली में भी 20 फीसदी प्रदूषण कम हुआ है.  हमने ऑटो सेक्टर से इंजन बीएस4 से बीएस 6 में जाने के लिए कहा है और इस इंडस्ट्री से जुड़े लोग भी माने हैं. गडकरी ने कहा कि हम चाहते हैं कि आप फाइनेंस कंपनी के विकल्प के तौर पर आएं तो ऑटो सेक्टर में और तेजी आएगी. 

  • बिक्री, उत्पादन में सुस्ती से विनिर्माण क्षेत्र अगस्त में गिरकर 15 महीने के निम्न स्तर पर: पीएमआई

    बिक्री, उत्पादन में सुस्ती से विनिर्माण क्षेत्र अगस्त में गिरकर 15 महीने के निम्न स्तर पर: पीएमआई

    बिक्री , उत्पादन और रोजगार में धीमी वृद्धि से देश के विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियां अगस्त महीने में गिरकर 15 महीने के निम्नतम स्तर पर आ गई हैं. एक मासिक सर्वेक्षण में सोमवार को यह जानकारी दी गई है.  आईएचएस मार्किट का इंडिया मैन्यूफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर्स सूचकांक (पीएमआई) जुलाई में 52.5 से गिरकर अगस्त में 51.4 पर आ गया. यह मई 2018 के बाद का सबसे निचला स्तर है. यह लगातार 25वां महीना है जब विनिर्माण का पीएमआई 50 से अधिक रहा है. सूचकांक का 50 से अधिक रहना विस्तार दर्शाता है जबकि 50 से नीचे का सूचकांक संकुचन का संकेत देता है. आईएचएस मार्किट की प्रधान अर्थशास्त्री पॉलियाना डी लीमा ने कहा, "अगस्त महीने में भारतीय विनिर्माण उद्योग में सुस्त आर्थिक वृद्धि और अधिक लागत मुद्रास्फीति का दबाव देखा गया. काम के नए ऑर्डरों, उत्पादन और रोजगार को मापने वाले सूचकांकों समेत अधिकांश पीएमआई सूचकांकों में कमजोरी का रुख रहा."

  • कारों के बाजार में तेज गिरावट का सिलसिला अगस्त में भी जारी: मारुति की बिक्री 33 प्रतिशत घटी

    कारों के बाजार में तेज गिरावट का सिलसिला अगस्त में भी जारी: मारुति की बिक्री 33 प्रतिशत घटी

    देश के वाहन उद्योग में गिरावट को सिलसिला जारी है और अगस्त में भी मारुति सुजुकी इंडिया, हुंदै, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स और होंडा सहित सभी प्रमुख वाहन निर्माताओं ने बिक्री में भारी गिरावट की सूचना दी है. देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की बिक्री अगस्त महीने में 32.7 प्रतिशत घटकर 1,06,413 वाहन रह गई. इससे पिछले साल के समान महीने में कंपनी की बिक्री 1,58,189 इकाई रही थी.

  • ग्रामीण क्षेत्रों में मांग घटना चक्रीय नहीं, RBI ने सही आकलन नहीं किया : प्रणव सेन

    ग्रामीण क्षेत्रों में मांग घटना चक्रीय नहीं, RBI ने सही आकलन नहीं किया : प्रणव सेन

    चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के वृद्धि दर के आंकड़े आ चुके हैं। इस दौरान वृद्धि दर पिछले छह साल में सबसे कम पांच प्रतिशत रही है। यदि एक साल पहले के इसी तिमाही के आंकड़े से इसकी तुलना की जाए तो यह तीन प्रतिशत नीचे आ गई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर आठ प्रतिशत थी.

  • Ground Report: ऑटोमोबाइल सेक्टर की मंदी ने ले ली लाखों नौकरियां, फरीदाबाद और गुरुग्राम में हालत खस्ता

    Ground Report: ऑटोमोबाइल सेक्टर की मंदी ने ले ली लाखों नौकरियां, फरीदाबाद और गुरुग्राम में हालत खस्ता

    मंदी का सबसे ज्यादा असर पैसेंजर गड़ियों के बिक्री पर पड़ा है. जुलाई में करीब 31 प्रतिशत पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री कम हुई है. पिछले साल जुलाई में कुल-मिलाकर 2,90,391 पैसेंजर गाड़ियां बिकी थीं. जबकि इस साल यह संख्या 2,00,790 रह गई है. सियाम के रिपोर्ट के हिसाब से जुलाई में हौंडा के पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री लगभग 49 प्रतिशत कम हो गई

  • ऑटोमोबाइल उद्योग में मंदी की मार का असर ऑटो एंसिलरी सेक्टर पर भी

    ऑटोमोबाइल उद्योग में मंदी की मार का असर ऑटो एंसिलरी सेक्टर पर भी

    दुनिया भर में ऑटोमोबाइल उद्योग में जारी सुस्ती की मार देश के ऑटो एंसिलरी सेक्टर भी पड़ा है. उद्योग संगठन की मानें तो घरेलू और वैश्विक मंदी के साथ-साथ सरकारी नीति की अनिश्चितता और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चीन की आक्रामक चाल से भारत ऑटो एंसिलरी सेक्टर प्रभावित है.  ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसीएमए) के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि भारत की एंसिलरी इंडस्ट्री 57 अरब डॉलर की है जिस पर सुस्ती की जबरदस्त मार पड़ी है. उन्होंने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार से भारत में कारोबार बढ़ना चाहिए लेकिन अब तक ऐसा नहीं हो पाया. एसीएमए के प्रेसिडेंट राम वेंकटरमानी ने आईएएनएस से कहा, "भारतीय ऑटो कंपोनेंट उद्योग देश में वाहन विनिर्माताओं की बिक्री, रिप्लेसमेंट और निर्यात की तिपाई पर निर्भर है. सभी सेगमेंट पर दबाव देखा जा रहा है." उन्होंने कहा, "घरेलू ओईएम (ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चर्स) मार्केट और सभी वाहन विनिर्माता भारी दबाव में है. पिछले 10-12 महीनों से उनकी बिक्री घटती जा रही है."

  • वाहन उद्योग की चाल हुई सुस्त, जुलाई की बिक्री में भारी गिरावट

    वाहन उद्योग की चाल हुई सुस्त, जुलाई की बिक्री में भारी गिरावट

    वाहन उद्योग क्षेत्र में मंदी का रुख बरकरार है. देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी समेत हुंदै, महिंद्रा, होंडा कार्स और टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स जैसी प्रमुख वाहन कंपनियों की बिक्री में जुलाई में दहाई अंक की गिरावट दर्ज की गयी है.

  • जी-20 के वित्तमंत्रियों की बैठक में 'वैश्विक मंदी' और आईटी कंपनियों के नए टैक्स सिस्टम पर चर्चा

    जी-20 के वित्तमंत्रियों की बैठक में 'वैश्विक मंदी' और आईटी कंपनियों के नए टैक्स सिस्टम पर चर्चा

    जी-20 में शामिल देशों के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों ने रविवार को जापान के फुकुओका शहर में व्यापार और डिजिटल अर्थव्यवस्था पर आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन के बाद एक संयुक्त बयान जारी किया. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बयान में कहा गया कि वैश्विक आर्थिक विकास में स्थिरता देखी जा रही है और आमतौर पर माना जाता है कि इस साल के आखिर में व 2020 में विकास की दर मंद रहने वाली है. 

  • Anti-Ageing Herbs: ये 3 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां कम करेंगी बढ़ती उम्र का असर...

    Anti-Ageing Herbs: ये 3 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां कम करेंगी बढ़ती उम्र का असर...

    Slow Down Ageing: सफेद बाद (Grey hair) और चेहरे पर झुर्रियां (Wrinkled Skin) बढ़ती उम्र के दो सबसे बड़े लक्षण हैं. आयुर्वेद (Ayurveda) में ऐसी बहुत सी चीजें और नुस्खे हैं जो उम्र के साथ होते बदलावों को कम करते हैं या उनका प्रभाव कम करते हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com