NDTV Khabar

Tax slab


'Tax slab' - 39 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बजट 2019: किसको मिला फायदा और किसका हुआ नुकसान

    बजट 2019: किसको मिला फायदा और किसका हुआ नुकसान

    आगामी लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए अंतरिम बजट को विपक्ष की तरफ से चुनावी बजट करार दिया जा रहा है. सरकार ने इस बजट में कई योजनाएं और सौगात दी. नौकरी पेशा लोगों के लिए जहां टैक्स में राहत की घोषण की गई तो वहीं किसानों के लिए भी इस बजट में काफी कुछ रहा.

  • अंतरिम बजट पर बोले अरुण जेटली, 5 लाख तक की आय पर कर छूट से मध्यम वर्ग को लाभ

    अंतरिम बजट पर बोले अरुण जेटली, 5 लाख तक की आय पर कर छूट से मध्यम वर्ग को लाभ

    केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि बजट में पांच लाख रुपये तक की आय पर आयकर माफ करने के सरकार के निर्णय से देश के मध्यम वर्ग को फायदा होगा. जेटली ने फेसुबक पर एक पोस्ट में लिखा कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल द्वारा अंतरिम बजट में की गयी इस महत्वपूर्ण घोषणा से मध्यम वर्ग की क्रय शक्ति बढ़ेगी. 

  • बजट 2019: अखिलेश यादव बोले- एक साल के बजट में दस साल आगे की झूठी बात है

    बजट 2019: अखिलेश यादव बोले- एक साल के बजट में दस साल आगे की झूठी बात है

    Budget 2019: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के इस बजट (Budget) पर तंज कसा है.

  • बजट 2019 : टैक्स में छूट को लेकर न रहें किसी गलतफहमी में, वह नहीं हुआ जो आप सोच रहे हैं

    बजट 2019 : टैक्स में छूट को लेकर न रहें किसी गलतफहमी में, वह नहीं हुआ जो आप सोच रहे हैं

    अंतरिम बजट 2019-20  पेश करते हुए, वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने 5 लाख तक सालाना आय वालों को टैक्स में छूट दे दी है लेकिन जिनकी आय 5 लाख से ज्यादा है उनके लिए पुराने ही टैक्स के नियम जारी रहेंगे. इस ऐलान के बाद शेयर बाजारों में शुक्रवार को जोरदार तेजी दर्ज की गई है.

  • Union Budget 2019: बजट 2019 की Twitter पर फिल्मी अंदाज में समीक्षा, लिखा- कभी-कभी लगता है मिडल क्लास ही भगवान है...

    Union Budget 2019: बजट 2019 की Twitter पर फिल्मी अंदाज में समीक्षा, लिखा- कभी-कभी लगता है मिडल क्लास ही भगवान है...

    बजट 2019 (Budget 2019) के पेश होने के बाद माना जा रहा है कि इससे मध्य वर्ग (Middle Class) को खूब फायदा होने वाला है. ट्वीटर पर मिड्ल क्लास को होने वाले फायदों को बहुत ही बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है.

  • Budget 2019: मोदी सरकार ने दिया मिडिल क्लास को टैक्स छूट का तोहफा, ट्विटर पर लोगों ने ऐसे मनाया जश्न

    Budget 2019: मोदी सरकार ने दिया मिडिल क्लास को टैक्स छूट का तोहफा, ट्विटर पर लोगों ने ऐसे मनाया जश्न

    अंतरिम बजट (Budget 2019) पेश कर दिया है. इस बार के बजट में मोदी सरकार ने मिडिल क्लास को टैक्स छूट (No tax on income up to Rs 5 lakh) का तोहफा दिया है.

  • इंश्योरेंस, रियल, ऑयल एंड एनर्जी समेत इन सेक्टरों को बजट 2019 से क्या है उम्मीदें

    इंश्योरेंस, रियल, ऑयल एंड एनर्जी समेत इन सेक्टरों को बजट 2019 से क्या है उम्मीदें

    वित्त मंत्री पीयूष गोयल आज लोकसभा में अंतरिम बजट पेश करेंगे. इस बजट से कई सेक्टरों की अपनी-अपनी उम्मीदें हैं. पॉलिसीबाजार डॉट कॉम समूह के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी यशीश दहिया ने कहा, "बजट में आयकर अधिनियम (80सी के अतिरिक्त) के अंतर्गत एक अलग सेक्शन की शुरुआत की उम्मीद है.

  • Budget 2019: गोयल के बजट में बढ़ सकती है आयकर छूट सीमा, किसानों के लिये हो सकती है राहत पैकेज की घोषणा

    Budget 2019: गोयल के बजट में बढ़ सकती है आयकर छूट सीमा, किसानों के लिये हो सकती है राहत पैकेज की घोषणा

    ह अंतरिम बजट (Interim budget 2019) होगा लेकिन उद्योग सूत्रों और विशेषज्ञों का कहना है कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल (piyush goyal) इससे आगे बढ़कर कुछ नई घोषणायें कर सकते हैं. अंतरिम बजट (Interim budget 2019) में अगले वित्त वर्ष के चार महीने के खर्च के लिये संसद की अनुमति ली जायेगी. पूर्ण बजट आम चुनाव के बाद बनने वाली नई सरकार जुलाई में पेश करेगी. कांग्रेस के उभार को देखते हुये गोयल किसानों को राहत पहुंचाने के लिये प्रत्यक्ष नकद हस्तांतरण जैसे किसी योजना की घोषणा कर सकते हैं.

  • जब बजट पेश करते हुए अरुण जेटली के साथ हुआ ऐसा, पहले दिया आराम फिर बैठकर पढ़ा था बजट

    जब बजट पेश करते हुए अरुण जेटली के साथ हुआ ऐसा, पहले दिया आराम फिर बैठकर पढ़ा था बजट

    मोदी सरकार अपने कार्यकाल का पांचवा और आखिरी बजट पेश करेगी. केंद्र सरकार 1 फरवरी को अंतिम बजट पेश करेगी. बजट को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

  • Interim Budget 2019: जानें कब, कहां और कैसे पेश होगा 2019 का बजट, यहां देख सकेंगे LIVE

    Interim Budget 2019: जानें कब, कहां और कैसे पेश होगा 2019 का बजट, यहां देख सकेंगे LIVE

    मोदी सरकार पांचवा और आखिरी बजट (Interim Budget 2019) पेश करने जा रही है. 1 फरवरी 2019 को बजट पेश (Union Budget 2019) किया जाएगा.

  • Budget: जब मनमोहन सिंह ने सुनाई शायरी, बजट के दौरान ऐसे दिखे वित्त मंत्रियों के अंदाज

    Budget: जब मनमोहन सिंह ने सुनाई शायरी, बजट के दौरान ऐसे दिखे वित्त मंत्रियों के अंदाज

    2019 Budget: बजट सत्र 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चलेगा. बजट में वित्त मंत्री का भाषण काफी लंबा होता है. ऐसे में वित्त मंत्री भाषण को कविता और शेर-ओ-शायरी के जरिए रंगीन बनाने की कोशिश करते हैं.

  • अरुण जेटली को कैसे समझ आ गया एक GST रेट, क्या आप समझ पाए...?

    अरुण जेटली को कैसे समझ आ गया एक GST रेट, क्या आप समझ पाए...?

    4 अगस्त, 2016 को हमने एक लेख लिखा था. उस हफ्ते राज्यसभा में GST को लेकर बहस हुई थी. कांग्रेस और BJP के नेताओं की बहस को सुनते हुए मैंने लिखा था, "राज्यसभा में वित्तमंत्री अरुण जेटली और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम की भाषा और देहभाषा ऐसी थी, जैसे दोनों एक चैप्टर पढ़कर आए हों और उसे अपना पर्चा बताने का प्रयास कर रहे हों...

  • अब सबसे ऊंचे जीएसटी स्लैब में सिर्फ 35 उत्पाद

    अब सबसे ऊंचे जीएसटी स्लैब में सिर्फ 35 उत्पाद

    माल एवं सेवा कर (जीएसटीGST) परिषद ने सबसे ऊंचे 28 प्रतिशत के कर स्लैब में उत्पादों की सूची को घटाकर 35 कर दिया है. अब इस सूची में एसी, डिजिटल कैमरा, वीडियो रिकॉर्डर, डिशवॉशिंग मशीन और वाहन जैसे 35 उत्पाद रह गए हैं. पिछले एक साल के दौरान जीएसटी परिषद ने सबसे ऊंचे कर स्लैब वाले 191 उत्पादों पर कर घटाया है. 

  • ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    ITR 2018-19 या कहें वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इनकम टैक्स स्लैब

    आयकर रिटर्न भरने का समय चल रहा है. सभी करदाताओं को को 31 जुलाई तक अपने अपने रिटर्न फाइल करने हैं. वित्त वर्ष 2017-18 या कहें आकलन वर्ष 2018-19 (एसेसमेंट ईयर Assesment Year 2018-19) के लिए आयकर (इनकम टैक्स) रिटर्न भरने में कई लोग लग गए हैं. अकसर देखा गया है कि लोगों को ऐसे समय लोगों को इनकम टैक्स स्लैब की जानकारी की जरूरत पड़ती है. उस यह देखना होता है कि वह किस स्लैब या कहें कि आयकर के दायरे में आता है जिसके हिसाब से उसे सरकार को कर देना होगा. 

  • राहुल गांधी का जीएसटी की एक दर रखने का विचार त्रुटिपूर्ण : अरुण जेटली

    राहुल गांधी का जीएसटी की एक दर रखने का विचार त्रुटिपूर्ण : अरुण जेटली

    माल एवं सेवाकर (जीएसटी) की एक दर की पैरवी करने के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विचार को दरकिनार करते हुए केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को कहा कि यह व्यवस्था उन देशों में लागू हो सकती है जहां पूरी आबादी की व्यय क्षमता एक जैसी और बेहतर हो.

  • आयकर नियमों में 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं बदलाव, अब कहां करें निवेश

    आयकर नियमों में 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं बदलाव, अब कहां करें निवेश

    नया वित्त वर्ष 1 अप्रैल से शुरू हो चुका है और इस साल से सरकार ने इसमें कुछ बदलाव किए हैं. हालांकि इनकम टैक्स के स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है, लेकिन कुछ कटौतियां किसी व्यक्ति की टैक्स लगने योग्य कमाई पर प्रभाव डालेगी. इसलिए, नए वित्त वर्ष में निवेश की सही योजना अभी से ही बना लेनी चाहिए, क्योंकि अगर सही तरीके से निवेश किया जाएगा तो कम इनकम टैक्स चुकाना पड़ेगा. एस्सेल वेल्थ सर्विसेज के कार्यकारी निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी बृजेश परनामी से जानते हैं कि क्या हुआ है बदलाव और कहां करनी चाहिए निवेश. 

  • आयकर नियमों में 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं बदलाव, अब कहां करें निवेश

    आयकर नियमों में 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं बदलाव, अब कहां करें निवेश

    नया वित्त वर्ष 1 अप्रैल से शुरू हो चुका है और इस साल से सरकार ने इसमें कुछ बदलाव किए हैं. हालांकि इनकम टैक्स के स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है, लेकिन कुछ कटौतियां किसी व्यक्ति की टैक्स लगने योग्य कमाई पर प्रभाव डालेगी. इसलिए, नए वित्त वर्ष में निवेश की सही योजना अभी से ही बना लेनी चाहिए, क्योंकि अगर सही तरीके से निवेश किया जाएगा तो कम इनकम टैक्स चुकाना पड़ेगा. एस्सेल वेल्थ सर्विसेज के कार्यकारी निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी बृजेश परनामी से जानते हैं कि क्या हुआ है बदलाव और कहां करनी चाहिए निवेश. 

  • मोदी सरकार के बजट को लेकर बीजेपी के बागी नेता यशवंत सिन्हा ने कही यह बड़ी बात

    मोदी सरकार के बजट को लेकर बीजेपी के बागी नेता यशवंत सिन्हा ने कही यह बड़ी बात

    भाजपा के बागी नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने गुरुवार को पेश किये गये केन्द्र सरकार के बजट को निराशाजनक बताया है. यशवंत सिन्हा ने कहा कि ‘उम्मीद थी कि यह बजट कृषि और ग्रामीण क्षेत्र के लिये महत्वपूर्ण और शुभ समाचार लेकर आयेगा. लेकिन कृषि क्षेत्र के साथ-साथ यह बजट शिक्षा, स्वास्थ और रोजगार की दृष्टि से निराशाजनक रहा.’