Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Todays in history


'Todays in history' - 90 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 25 मार्च का इतिहास: आज ही के दिन भारतीय भाषा में छपा था पहला विज्ञापन

    25 मार्च का इतिहास: आज ही के दिन भारतीय भाषा में छपा था पहला विज्ञापन

    आजकल अगर अखबारों को देखें तो उनमें हर तरफ विज्ञापनों की भरमार रहती है और यह विज्ञापन अखबार मालिकों के लिए राजस्व का एक बड़ा जरिया होते हैं. अब सवाल यह पैदा होता है कि पहला विज्ञापन कब और कहां प्रकाशित हुआ होगा. भारत में वह 25 अप्रैल 1788 का दिन था जब कलकत्ता गजट में भारतीय भाषा में पहला विज्ञापन प्रकाशित हुआ.

  • 5 मार्च का इतिहास: कई अच्छी बुरी घटनाओं के नाम दर्ज है आज का दिन

    5 मार्च का इतिहास: कई अच्छी बुरी घटनाओं के नाम दर्ज है आज का दिन

    5 मार्च का दिन ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार वर्ष का 64वां दिन है. लीप वर्ष होने पर यह साल का 65वां दिन होगा. अभी साल में 301 दिन बाकी हैं. यह दिन भी साल के बाकी दिनों की तरह ही कई अच्छी बुरी घटनाओं के साथ इतिहास के पन्नों में दर्ज है.

  • 2 मार्च का इतिहास: आज है द नाइटिंगेल ऑफ इंडिया के नाम से प्रसिद्ध सरोजिनी नायडू की पुण्यतिथि

    2 मार्च का इतिहास: आज है द नाइटिंगेल ऑफ इंडिया के नाम से प्रसिद्ध सरोजिनी नायडू की पुण्यतिथि

    इतिहास में दो मार्च 1949 का दिन सरोजिनी नायडू की पुण्यतिथि के रूप में दर्ज है. राजनीतिक कार्यकर्ता, महिला अधिकारों की समर्थक, स्वतंत्रता सेनानी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष सरोजिनी नायडू को उनकी प्रभावी वाणी और ओजपूर्ण लेखनी के कारण ‘‘नाइटिंगेल ऑफ इंडिया'' कहा जाता था. today in history sarojini naidu death anniversary check other important events

  • 1 मार्च का इतिहास: आज ही के दिन पहली बार हुआ थ हाइड्रोजन बम का परीक्षण

    1 मार्च का इतिहास: आज ही के दिन पहली बार हुआ थ हाइड्रोजन बम का परीक्षण

    इतिहास में साल का हर दिन किसी अच्छी या बुरी घटना के साथ दर्ज है. एक मार्च साल के तीसरे महीने का पहला दिन है और यह दुनिया में पहले हाइड्रोजन बम के परीक्षण के दिन के तौर पर इतिहास में दर्ज है. एक मार्च 1954 को अमेरिका ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया और यह मानव इतिहास में उस समय तक का सबसे बड़ा विस्फोट था.

  • 26 फरवरी का इतिहास: आज की तारीख पर दर्ज हैं देश और दुनिया की ये महत्वपूर्ण घटनाएं

    26 फरवरी का इतिहास: आज की तारीख पर दर्ज हैं देश और दुनिया की ये महत्वपूर्ण घटनाएं

    व्यापारी के रूप में भारत में आए अंग्रेजों ने धीरे धीरे जिस बर्बर और घृणित तरीके से अपनी साम्राज्यवादी चालों को आकार देना शुरू किया, उसका समाज के प्रत्येक वर्ग ने अपने अपने तरीके से विरोध किया. अंतत: यही असंतोष 1857 के जन विद्रोह के रूप में सामने आया, जिसने अंग्रेजी शासन की जड़ों पर प्रहार किया.

  • 24 फरवरी का इतिहास: आज है एप्पल की नींव रखने वाले स्टीव जॉब्स की बर्थ एनिवर्सरी

    24 फरवरी का इतिहास: आज है एप्पल की नींव रखने वाले स्टीव जॉब्स की बर्थ एनिवर्सरी

    इतिहास में 24 फरवरी की तारीख स्टीव जॉब्स के जन्मदिन के रूप में दर्ज है, जिन्होंने एप्पल के सह संस्थापक के तौर पर इतिहास में अपना नाम दर्ज कराया. अपनी मिनी बस और दोस्त का कुछ सामान बेचकर एक गैराज में अपने दो दोस्तों के साथ कंपनी शुरू करने वाले जॉब्स ने कंप्यूटर से लेकर मोबाइल फोन तक का निर्माण शुरू किया और इन दोनों उत्पादों को देखने का पूरी दुनिया का नजरिया बदलकर रख दिया.

  • 23 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन मधुबाला ने दुनिया को कहा था अलविदा

    23 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन मधुबाला ने दुनिया को कहा था अलविदा

    किसी खूबसूरत चेहरे को देखते ही बेसाख्ता मुंह से निकल पड़ता है कि इसे ऊपर वाले ने फुरसत में बनाया है. हिंदी फिल्मों की सबसे हसीन अदाकारा मधुबाला के बारे में बेशक यह बात कही जा सकती है. मधुबाला ने हर तरह की फिल्मों में अपनी खूबसूरती और अदाकारी का जलवा बिखेरा. फिर चाहे वह मुगलिया सजधज वाली ‘मुगले आजम' हो या फिर किशोर कुमार और बंधुओं के हास्य से भरी ‘चलती का नाम गाड़ी', मधुबाला के दिलकश और शोख अंदाज ने इन्हें यादगार बना दिया.

  • 20 फरवरी का इतिहास: रेलवे ने आज ही दिन शुरू की थी कंप्यूटर से टिकट आरक्षण प्रणाली की शुरूआत

    20 फरवरी का इतिहास: रेलवे ने आज ही दिन शुरू की थी कंप्यूटर से टिकट आरक्षण प्रणाली की शुरूआत

    कंप्यूटर को मानव इतिहास के चंद सबसे महत्वपूर्ण अविष्कारों में शुमार किया जाता है. इसके होने से हजारों लाखों आंकड़ों का संकलन और संचालन बड़ी सहजता से हो जाता है. भारतीय रेलवे ने 20 फरवरी 1986 को कंप्यूटर से रेलवे टिकट आरक्षण प्रणाली की शुरूआत की.

  • 19 फरवरी का इतिहास: आज की तारीख पर दर्ज हैं ये महत्वपूर्ण घटनाएं, बढ़ाएं अपनी नॉलेज

    19 फरवरी का इतिहास: आज की तारीख पर दर्ज हैं ये महत्वपूर्ण घटनाएं, बढ़ाएं अपनी नॉलेज

    कुछ लोगों में कुछ ऐसी विलक्षण प्रतिभा होती है, जो उन्हें बाकी सबसे अलहदा और खास बना देती है. अपनी सधी उंगलियों से पत्थर और मिट्टी में प्राण फूंकने वाले देश के महान शिल्पकार राम वी सुतार भी एक ऐसी ही शख्सियत हैं. वह ऐसी खूबसूरत प्रतिमाएं गढ़ते हैं कि डीलडौल से लेकर चेहरे के भाव तक सब मानो सजीव सा जान पड़ता है. गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की विशाल प्रतिमा का मूल स्वरूप भी इस महान शिल्पकार ने तैयार किया है.

  • 18 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन हुई थी प्लूटो ग्रह की खोज, 11वीं की स्टूडेंट ने दिया था नाम

    18 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन हुई थी प्लूटो ग्रह की खोज, 11वीं की स्टूडेंट ने दिया था नाम

    हर दिन कुछ नया करने और कुछ अनोखा खोजने के इच्छुक लोगों की दुनिया में कमी नहीं है. 18 फरवरी 1930 को ऐसे ही एक जिज्ञासु अमेरिकी वैज्ञानिक क्लाइड टॉमबा ने एक बौने ग्रह की खोज की थी. पहले इसे ग्रह मान लिया गया था, लेकिन बाद में इसे ग्रहों के परिवार से बाहर कर दिया गया. इस ग्रह का नाम रखने के लिए सुझाव मांगे गए तो 11वीं में पढ़ने वाली एक लड़की ने इसे प्लूटो नाम दिया.

  • आज का इतिहास: आज की तारीख पर दर्ज हैं कई महत्वपूर्ण घटनाएं, बढ़ाएं अपनी जनरल नॉलेज

    आज का इतिहास: आज की तारीख पर दर्ज हैं कई महत्वपूर्ण घटनाएं, बढ़ाएं अपनी जनरल नॉलेज

    साल के दूसरे महीने के दो पखवाड़े गुजर चुके हैं और तीसरे पखवाड़े का पहला दिन इतिहास में कई बड़ी हस्तियों के नाम के साथ दर्ज है. यही वह दिन है जब 1959 में फिदेल कास्त्रो ने क्यूबा का शासन अपने हाथ में लिया. हिंदी सिनेमा के पितामह दादा साहब फाल्के का निधन 1944 में आज ही के दिन हुआ. हिंदी के प्रख्यात लेखक सूर्यकांत त्रिपाठी निराला और बांग्ला साहित्य के प्रतिष्ठित नाम शरत चंद्र चट्टोपाध्याय का जन्मदिन भी 16 फरवरी ही है.

  • आज का इतिहास: आज ही के दिन महात्मा गांधी की अस्थियों को गंगा में प्रवाहित किया गया

    आज का इतिहास: आज ही के दिन महात्मा गांधी की अस्थियों को गंगा में प्रवाहित किया गया

    हर गुजरता दिन इतिहास में कुछ घटनाएं जोड़कर जाता है. 12 फरवरी (12 February) का दिन भी इसका अपवाद नहीं है और इतिहास में 12 फरवरी के नाम पर भी बहुत सी घटनाएं दर्ज हैं. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 30 जनवरी 1948 को हत्या की गई थी और उनकी मृत्यु के 13वें दिन 12 फरवरी 1948 को उनकी अस्थियों को देश के विभिन्न भागों में अलग-अलग पवित्र सरोवरों में विसर्जित कर दिया गया.

  • आज का इतिहास: देश और दुनिया के इतिहास में 11 फरवरी की तारीख में दर्ज हैं ये महत्वपूर्ण घटनाएं

    आज का इतिहास: देश और दुनिया के इतिहास में 11 फरवरी की तारीख में दर्ज हैं ये महत्वपूर्ण घटनाएं

    साल के दूसरे महीने का 11वां दिन कई अच्छी-बुरी घटनाओं के साथ इतिहास के पन्नों में दर्ज है. यह दिन कई बड़ी अंतरराष्ट्रीय घटनाओं का साक्षी रहा. यह दिन विश्व की महान हस्तियों के जीवन में बड़ा बदलाव लेकर आया. दक्षिण अफ़्रीका में रंग-भेद की नीतियों के ख़िलाफ़ आंदोलन चला रहे नेल्सन मंडेला को 27 साल की क़ैद के बाद 11 फरवरी 1990 को ही रिहाई मिली थी. उन्हें जून 1964 में राजद्रोह और साजिश का दोषी ठहराते हुए उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई थी.

  • आज का इतिहास: जब पंडित नेहरू के नेतृत्व में कांग्रेस ने जीता देश का पहला लोकसभा चुनाव

    आज का इतिहास: जब पंडित नेहरू के नेतृत्व में कांग्रेस ने जीता देश का पहला लोकसभा चुनाव

    दुनिया का सबसे विशाल लोकतंत्र होने का गौरव हासिल करने वाले भारत के नागरिक हर पांच साल में वोट के जरिए अपनी पसंद की सरकार चुनते हैं, लेकिन लोकतंत्र का रास्ता चुनने वाले देश के सामने 1952 में लोकसभा के पहले चुनाव एक बड़ी चुनौती थे. पंडित जवाहरलाल नेहरू 1947 में आजादी के बाद से ही देश की अंतरिम सरकार का नेतृत्व कर रहे थे. 

  • 9 फरवरी का इतिहास: देश की आजादी के बाद आज ही के दिन शुरू हुई थी पहली जनगणना की तैयारी

    9 फरवरी का इतिहास: देश की आजादी के बाद आज ही के दिन शुरू हुई थी पहली जनगणना की तैयारी

    जनगणना हर दस वर्ष में मनाया जाने वाला एक ऐसा राष्ट्रीय उत्सव है, जिसमें देश के हर हिस्से में रहने वाले हर नागरिक को शामिल किया जाता है. देश में 1871 के बाद से हर दसवें बरस जनगणना होती थी. इस लिहाज से 1947 में बंटवारा और देश आजाद होने के बाद 1951 में हुई जनगणना कहने को तो अपने आप में नौवीं जनगणना थी, लेकिन यह आजादी के बाद की पहली जनगणना थी और बंटवारे के कारण इसमें बहुत से बदलाव आए.

  • 6 जनवरी का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    6 जनवरी का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या में शामिल सतवंत सिंह और केहर सिंह को छह जनवरी के दिन ही फांसी दी गई थी. सतवंत सिंह और बेअंत सिंह इंदिरा गांधी के सुरक्षा कर्मी थे, जिन्होंने 31 अक्टूबर, 1984 को सरकारी आवास पर उन्हें गोली मार दी थी. इस षड्यंत्र में केहर सिंह भी शामिल था.

  • आज का इतिहास: आज ही के दिन आया था फेसबुक, मार्क जुकरबर्ग ने अपने तीन दोस्तों के साथ किया था लॉन्च

    आज का इतिहास: आज ही के दिन आया था फेसबुक, मार्क जुकरबर्ग ने अपने तीन दोस्तों के साथ किया था लॉन्च

    पिछले दो दशक में टैक्नोलॉजी ने जिस रफ्तार से तरक्की की है, उसने लोगों की जीवनशैली को एकदम बदल दिया. फोन, कंप्यूटर और इंटरनेट जैसी व्यस्तताओं ने दुनिया को आपके टेबल से होते हुए आपके हाथ तक पहुंचा दिया. सोशल मीडिया के जरिए लोगों की सोशल लाइफ में आए इस बदलाव में 4 फरवरी का एक खास महत्व है.

  • 31 जनवरी का इतिहास: साल के पहले महीने का आखिरी दिन अंतरिक्ष गतिविधियों के नाम

    31 जनवरी का इतिहास: साल के पहले महीने का आखिरी दिन अंतरिक्ष गतिविधियों के नाम

    अंतरिक्ष की अथाह ऊंचाइयों ने हमेशा से इंसान को आकर्षित किया है और सोवियत संघ द्वारा इस दिशा में शुरुआत किए जाने के बाद अमेरिका इस होड़ में शामिल हुआ. इसके बाद दुनिया के कई बड़े देशों ने अंतरिक्ष के अन्वेषण की दिशा में काम किया. इस क्षेत्र में भारत ने भी उल्लेखनीय प्रगति की है. 31 जनवरी के दिन का अंतरिक्ष अन्वेषण के क्षेत्र में विशेष महत्व है.

Advertisement