'Triple talaq bill 2019' - 15 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | गुरुवार सितम्बर 12, 2019 08:32 PM IST
    लोकसभा चुनाव के दौरान 'कामदार' और 'दामदार' सरकार मुहैया कराने के अपने वादे को याद करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि यह नई सरकार के केवल 100 दिनों में ही दिख गया. पीएम मोदी ने कहा कि यह केवल एक 'ट्रेलर' है और 'पूरी फिल्म' आनी अभी बाकी है.
  • India | शुक्रवार अगस्त 16, 2019 01:02 PM IST
    शिवसेना ने अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के सरकार के फैसले को ‘ऐतिहासिक’ करार देते हुए पूरे सदन से एक स्वर में इसका समर्थन करने की अपील की जिससे राज्य के लोगों का विकास सुनिश्चित हो और प्रदेश मुख्यधारा से सही अर्थों में जुड़ सके. लोकसभा में जम्मू कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 पर चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए केंद्रीय मंत्री एवं शिवसेना नेता अरविंद सावंत ने कहा था कि बाला साहब ठाकरे ने अपनी वाणी, लेखनी और पेंटिंग ब्रश (कंचुला) से हर जगह कश्मीर को स्थान दिया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पांच अगस्त 2019 को उसे साकार किया है.
  • India | गुरुवार अगस्त 15, 2019 09:17 AM IST
    पीएम मोदी ने इस दौरान बढ़ती जनसंख्या को लेकर चिंता जताई और कहा,   "हमारे यहां जो जनसंख्या विस्फोट हो रहा है, ये आने वाली पीढ़ी के लिए अनेक संकट पैदा करता है."
  • India | शुक्रवार अगस्त 2, 2019 03:18 PM IST
    भारी हंगामे और विरोध के बीच मंगलवार को ट्रिपल तलाक बिल बहुमत से पारित हो गया लेकिन अब सवाल उठ रहे हैं कि मतदान के दौरान कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और एनसीपी जैसी पार्टियों के नेता कहां नदारद हो गए. इसको लेकर विपक्षी खेमे में ब्लेम-गेम शुरू हो गया है.
  • India | बुधवार जुलाई 31, 2019 02:54 PM IST
    सूत्रों ने बताया कि विपक्ष के सदस्य अगर सदन में मौजूद होते तो वह विधेयक को प्रवर समिति के पास भिजवा सकता था. कांग्रेस के जो पांच सदस्य गैर हाजिर रहे उनमें विवेक तनखा, प्रताप सिंह बाजवा, मुकुट मिथी और रंजीब बिस्वाल के अलावा संजय सिंह भी हैं. संजय सिंह ने इससे पहले आज ही कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. कांग्रेस और सपा सदस्यों के अलावा राकांपा के वरिष्ठ नेता शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल भी सदन में अनुपस्थित रहे.
  • India | बुधवार जुलाई 31, 2019 08:34 AM IST
    इस वजह से बहुमत का आंकड़ा और कम हो गया. खास बात यह है कि पीडीपी पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने सदन में बिल पेश होने से पहले कहा था कि वह इस बिल को लेकर किसी भी तरह से सरकार का साथ नहीं देंगी. लेकिन उनकी पार्टी के दो सांसदों द्वारा वोटिंग में हिस्सा न लेने से अप्रत्यक्ष तौर पर फायदा मोदी सरकार को ही हुआ. 
  • Bihar | मंगलवार जुलाई 30, 2019 06:53 PM IST
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अगले साल विधानसभा चुनाव बीजेपी (BJP) के साथ गठबंधन में ही लड़ेंगे. इसका संकेत मंगलवार को तीन तलाक (Teen Talaq Bill) के मुद्दे पर राज्यसभा (Rajya Sabha) में जनता दल यूनाइटेड (JDU) के रुख से मिला. जनता दल यूनाइटेड के राज्यसभा सांसदों के बिल के खिलाफ मतदान से यह बिल खतरे में पड़ सकता था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर ही पार्टी के सभी सांसदों ने बजाय मतदान में बाग लेने के सदन का बहिष्कार कर दिया. इससे केंद्र सरकार को न केवल राहत मिली बल्कि इस बिल के राज्यसभा में पारित होने का रास्ता भी आसान हो गया.
  • India | मंगलवार जुलाई 30, 2019 09:42 PM IST
    लोकसभा के बाद तीन तलाक़ बिल (Triple Talaq Bill) राज्यसभा से भी पास हो गया. बिल के समर्थन में 99, जबकि विरोध में 84 वोट पड़े. इससे पहले विपक्ष की बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने की मांग भी सदन में गिर गई. राज्यसभा से तीन तलाक बिल पास होने के बाद कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आज एक ऐतिहासिक दिन है.
  • India | मंगलवार जुलाई 30, 2019 01:43 PM IST
    मंगलवार को राज्यसभा में तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) पेश किया गया. इस बिल को पास कराने के लिए बीजेपी ने अपने सभी सांसदों को व्हिप जारी किया है. बता दें कि तीन तलाक बिल को राज्यसभा में संशोधित कार्यसूची में डाला गया है. राज्यसभा में एनडीए (NDA) को बहुमत नहीं  है. जनता दल यूनाईटेड (JDU) बिल के के खिलाफ है. सरकार को बीजेडी (BJD) के समर्थन की उम्मीद है. तीन तलाक बिल 25 जुलाई को लोकसभा में विपक्ष के भारी विरोध के बीच पारित हो चुका है. कांग्रेस (Congress) ने तीन तलाक को निषेध करने वाले विधेयक को स्थायी समिति को भेजने की मांग करते हुए कहा है कि तीन तलाक को फौजदारी का मामला बनाना उचित नहीं है. अब मोदी सरकार के सामने तीन तलाक बिल को राज्यसभा में पारित कराने की चुनौती है. लोकसभा में पारित तीन तलाक बिल को राज्यसभा में पारित कराना आसान नहीं है. राज्यसभा में एनडीए को बहुमत हासिल नहीं है और इसके अलावा उसका सहयोगी दल जेडीयू भी इस बिल पर उसके साथ नहीं है. आइये पढ़ते हैं इसके प्रावधान और बिल से जुड़ी 10 बातें...
  • India | मंगलवार जुलाई 30, 2019 12:02 AM IST
    राज्यसभा में मंगलवार को तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill) आने की संभावना है. बीजेपी ने अपने सांसदों के लिए व्हिप जारी कर दिया है. तीन तलाक बिल को राज्यसभा में संशोधित कार्यसूची में डाला गया है. राज्यसभा में एनडीए (NDA) को बहुमत नहीं है. इसके अलावा जनता दल यूनाईटेड (JDU) बिल के खिलाफ है. सरकार को बीजेडी (BJD) के समर्थन की उम्मीद है. तीन तलाक बिल 25 जुलाई को लोकसभा में विपक्ष के भारी विरोध के बीच पारित हो चुका है. कांग्रेस (Congress) ने तीन तलाक को निषेध करने वाले विधेयक को स्थायी समिति को भेजने की मांग करते हुए कहा है कि तीन तलाक को फौजदारी का मामला बनाना उचित नहीं है. अब मोदी सरकार के सामने तीन तलाक बिल को राज्यसभा में पारित कराने की चुनौती है.
  • India | गुरुवार जुलाई 25, 2019 08:29 PM IST
    ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर गुरुवार को जनता दल यूनाइटेड ने अपने पुराने स्टैंड पर कायम रहते हुए विरोध किया और सदन का बहिष्कार किया. इससे पूर्व सदन में पार्टी के नेता राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने अपने भाषण में इस बिल को जनहित में नहीं बताते हुए कहा कि इससे समाज के एक वर्ग में अविश्वास पैदा होगा.
  • India | शुक्रवार जून 21, 2019 01:45 PM IST
    इन्स्टैंट ट्रिपल तलाक को गैरकानूनी घोषित करने के लिए पिछली बार राज्यसभा में पारित नहीं हो पाए और अब लैप्स हो चुके बिल को शुक्रवार को लोकसभा में नए सिरे से पेश किया गया. मुस्लिम महिला (वैवाहिक अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2019 उस अध्यादेश की जगह लाया गया, जो फरवरी में BJP-नीत नरेंद्र मोदी सरकार ने जारी किया था. बिल पिछली बार राज्यसभा में पारित नहीं हो पाया था. अब चंद्रबाबू नायडू की तेलुगूदेशम पार्टी (TDP) के छह में से चार सांसदों के गुरुवार को BJP में शामिल हो जाने की वजह से संसद के उच्च सदन में NDA की संख्या कुछ बढ़ गई है, जिनके पास कुल 245 में 102 सदस्य हैं.
  • India | शुक्रवार जनवरी 4, 2019 06:15 PM IST
    संसद का शीतकालीन सत्र लगातार हंगामे की वजह से बाधित हो रहा है. लोकसभा में जहां राफेल पर बहस जारी है, वहीं राज्यसभा में तीन तलाक विधेयक पेश होना है.
  • India | गुरुवार नवम्बर 15, 2018 12:18 AM IST
    संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से 8 जनवरी, 2019 के बीच होगा. संसदीय कार्य मंत्रालय के मुताबिक इस सत्र के दौरान लोकसभा और राज्यसभा की 20 बैठकें होंगी.
  • Breaking News | शनिवार अगस्त 11, 2018 01:31 AM IST
    शुक्रवार को संसद के मानसून सत्र का आखिरी दिन था. ट्रिपल तलाक विधेयक के राज्‍यसभा से पारित होने की उम्‍मीद थी लेकिन यह अगले सत्र के लिए टल गया. उधर ऐसी खबरें हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 का लोकसभा चुनाव बनारस के साथ-साथ ओडिशा के पुरी से भी लड़ेंगे.
और पढ़ें »

Triple talaq bill 2019 वीडियो

Triple talaq bill 2019 से जुड़े अन्य वीडियो »

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com