NDTV Khabar

Unemployment


'Unemployment' - 104 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • #MeToo कैंपेन पर राज ठाकरे का बड़ा बयान, बोले- यह पेट्रोल-डीजल के दाम, बेरोजगारी से ध्यान भटकाने के लिए है

    #MeToo कैंपेन पर राज ठाकरे का बड़ा बयान, बोले- यह पेट्रोल-डीजल के दाम, बेरोजगारी से ध्यान भटकाने के लिए है

    भारत में चल रहे #MeToo कैंपेन की जद में कई ऐसे बड़े-बड़े नाम सामने आए हैं, जिन पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं और इस कैंपेन की वजह से उनके चेहरे पर से नकाब हटा है. मगर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के मुखिया राज ठाकरे ने मीटू अभियान जिस वक्त उठाया गया है, उसे लेकर ठाकरे ने कई सवाल खड़े किये हैं. राज ठाकरे को लगता है कि मीटू कैंपेन गंभीर मुद्दों से ध्यान भटकाने वाला है. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे ने बुधवार को कहा कि ऐसा लगता है कि मीटू की कैंपेन पेट्रोल-डीजल की कीमतों, बेरोजगारी और रुपये की गिरती कीमतों से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है. 

  • देश में बेरोजगारी दर 20 वर्षों में सबसे ज्यादा, उत्तर प्रदेश-बिहार जैसे राज्यों पर सर्वाधिक मार

    देश में बेरोजगारी दर 20 वर्षों में सबसे ज्यादा, उत्तर प्रदेश-बिहार जैसे राज्यों पर सर्वाधिक मार

    केंद्र सरकार तमाम सेक्टरों में रोजगार सृजन के दावे कर रही है, लेकिन इन दावों पर गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में बेरोजदारी दर 20 वर्षों में सबसे अधिक हो गई है. चौंकाने वाली बात यह है कि युवाओं में बेरोजगारी की दर 16 फीसद तक पहुंच गई है. बेरोजगारी दर बढ़ने के पीछे दो वजहें सामने आई हैं.

  • देश में युवाओं को सबसे ज्यादा टेंशन है इन दो चीजों की, फ्यूचर बना खतरा

    देश में युवाओं को सबसे ज्यादा टेंशन है इन दो चीजों की, फ्यूचर बना खतरा

    86 प्रतिशत नौजवान भारत के भविष्य को लेकर आशावादी हैं. उनमें से अधिकतर का मानना है कि राजनीतिक दलों के नेता उनका ख्याल रखते हैं.

  • नौकरियों से परेशान युवा अब मुझे मैसेज भेजना बंद कर दें, प्रधानमंत्री को भेजें

    नौकरियों से परेशान युवा अब मुझे मैसेज भेजना बंद कर दें, प्रधानमंत्री को भेजें

    EPFO ने फिर से नौकरियों को लेकर डेटा जारी किया है. सितंबर 2017 से जुलाई 2018 के बीच नौकरियों के डेटा को EPFO ने कई बार समीक्षा की है. इस बार इनका कहना है कि 11 महीने में 62 लाख लोग पे-रोल से जुड़े हैं. इनमें से 15 लाख वो हैं जिन्होंने EPFO को छोड़ा और फिर कुछ समय के बाद अपना खाता खुलवा लिया. यह दो स्थिति में होता है. या तो आप कोई नई संस्था से जुड़ते हैं या बिजनेस करने लगते हैं जिसे छोड़ कर वापस फिर से नौकरी में आ जाते हैं.

  • सरकारी नौकरियों में ज्वाइनिंग में देरी क्यों?

    सरकारी नौकरियों में ज्वाइनिंग में देरी क्यों?

    मुझे पता है कि आज भी नेताओं ने बड़े-बड़े बयान दिए हैं. बहस के गरमा गरम मुद्दे दिए हैं. लेकिन मैं आज आपको सुमित के बारे में बताना चाहता हूं. इसलिए बता रहा हूं ताकि आप यह समझ सकें कि इस मुद्दे को क्यों देश की प्राथमिकता सूची में पहले नंबर पर लाना ज़रूरी है. सुमित उस भारत के नौजवानों का प्रतिनिधित्व करता है जिसकी संख्या करोड़ों में है. जिन्हें सियासत और सिस्टम सिर्फ उल्लू बनाती है. जिनके लिए पॉलिटिक्स में आए दिन भावुक मुद्दों को गढ़ा जाता है, ताकि ऐसे नौजवानों को बहकाया जा सके. क्योंकि सबको पता है कि जिस दिन सुमित जैसे नौजवानों को इन भावुक मुद्दों का खेल समझ आ गया उस दिन सियासी नेताओं का खेल खत्म हो जाएगा. मगर चिंता मत कीजिए. इस लड़ाई में हमेशा सियासी नेता ही जीतेंगे. उन्हें आप बदल सकते हैं, हरा नहीं सकते हैं. इसलिए सुमित जैसे नौजवानों को हार जाना पड़ता है.

  • वित्त मंत्रालय के आर्थिक सलाहकार बोले : क्या ट्रक ड्राइवरों की नौकरियों को रोजगार नहीं माना जाएगा ?

    वित्त मंत्रालय के आर्थिक सलाहकार बोले : क्या ट्रक ड्राइवरों की नौकरियों को रोजगार नहीं माना जाएगा ?

    संजीव सान्याल ने कहा कि आंकड़ों की कमी के कारण देश में बेरोजगारी बढ़ने की बात कही जा रही है. बोले कि इस साल ट्रकों की बिक्री में भारी वृद्धि हुई थी. अब उन ट्रकों को कोई न कोई चला रहा होगा. क्या यह रोजगार नहीं है.

  • सरकारी नौकरियों की भर्ती में सालों क्यों लगते हैं?

    सरकारी नौकरियों की भर्ती में सालों क्यों लगते हैं?

    हर दिन सोचता हूं कि अब नौकरी सीरीज़ बंद कर दें. क्योंकि देश भर में चयन आयोग किसी गिरोह की तरह काम कर रहे हैं. उन्होंने नौजवानों को इस कदर लूटा है कि आफ चाह कर भी सबकी कहानी नहीं दिखा सकते हैं. नौजवानों से फॉर्म भरने कई करोड़ लिए जाते हैं, मगर परीक्षा का पता ही नहीं चलता है. देश में कोई भी खबर होती है, ये नौजवान दिन रात अपनी नौकरी को लेकर ही मैसेज करते रहते हैं. मेरी नौकरी, मेरी परीक्षा का कब दिखाएंगे. परीक्षा देकर नौजवान एक साल से लेकर तीन साल तक इंतज़ार कर रहे हैं तो कई बार फॉर्म भरने के बाद चार तक परीक्षा का पता ही नहीं चलता है. यह सीरीज़ इसलिए बंद करना ज़रूरी है क्योंकि समस्या विकराल हो चुकी है. जब भी बंद करने की सोचता हूं किसी नौजवान की कहानी सुनकर कांप जाता हूं. तब लगता है कि आज एक और बार के लिए दिखा देते हैं और फिर सीरीज़ बंद नहीं कर पाता. 

  • देश में रोज़गार के दावों पर गंभीर सवाल

    देश में रोज़गार के दावों पर गंभीर सवाल

    सरकार ईपीएफओ यानी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के आंकड़ों को इस तरह पेश करती है कि रोज़गार बढ़ा है. 20 जुलाई को लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बोलते हुए प्रधानमंत्री ने रोज़गार के कई आंकड़े दिए जिसमें ईपीएफओ का भी आंकड़ा था. अब प्रधानमंत्री ने लोकसभा में तो बोल दिया कि संगठित क्षेत्र में 45 लाख नौकरियां बनी हैं, लेकिन जब ईपीएफओ ने समीक्षा की तो इसमें 6 लाख नौकरियां कम हो गईं.

  • रामविलास पासवान ऊंची जाति के युवाओं को दिखा रहे हैं आरक्षण का सब्जबाग : शिवानंद तिवारी

    रामविलास पासवान ऊंची जाति के युवाओं को दिखा रहे हैं आरक्षण का सब्जबाग : शिवानंद तिवारी

    राष्‍ट्रीय जनता दल के उपाध्‍यक्ष और बिहार के वरिष्‍ठ नेता शि‍वानंद तिवारी ने कहा है कि रामविलास पासवान तथा सत्ताधारी गठबंधन के अन्य नेता ऊंची जाति के नौजवानों को फुसलाने के लिए उन्हें सरकारी नौकरियों में आरक्षण का सब्ज़बाग दिखा रहे हैं. सबको मालूम है कि आरक्षण का संवैधानिक आधार आर्थिक नहीं बल्कि सामाजिक और शैक्षणिक पिछड़ापन है.

  • करते रहें हिन्दू मुस्लिम डिबेट, SAIL, IOC, BSNL में 55000 नौकरियां घटीं

    करते रहें हिन्दू मुस्लिम डिबेट, SAIL, IOC, BSNL में 55000 नौकरियां घटीं

    आज की राजनीति नौजवानों आपको चुपके से एक नारा थमा रही है. तुम हमें वोट दो, हम तुम्हें हिन्दू मुस्लिम डिबेट देंगे. इस डिबेट में तुम्हारे जीवन के दस-बीस साल टीवी के सामने और चाय की दुकानों पर आराम से कट जाएंगे.

  • मॉब लिंचिंग पर बोले PM मोदी - ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण, हर किसी को राजनीति से ऊपर उठना चाहिए

    मॉब लिंचिंग पर बोले PM मोदी - ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण, हर किसी को राजनीति से ऊपर उठना चाहिए

    महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाओं और मॉब लिंचिंग (MOb lynching) की घटनाओं पर पीएम मोदी ने कहा, इस तरह की एक भी घटना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. हमारे समाज में शांति और एकता सुनिश्चित करने के लिए हर किसी को राजनीति से ऊपर उठना चाहिए. उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी और मैंने कई मौकों पर ऐसी घटनाओं और ऐसी मानसिकता वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात साफ तौर पर कही है.

  • बेरोजगारी दर 2015-16 में 3.7 फीसदी रही : संतोष गंगवार

    बेरोजगारी दर 2015-16 में 3.7 फीसदी रही : संतोष गंगवार

    केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के श्रम ब्यूरो द्वारा रोजगार-बेरोजगारी पर कराए गए श्रम बल सर्वेक्षण के निष्कर्षों के अनुसार, देश में सामान्य स्थिति के आधार पर 15 साल एवं उससे ज्यादा उम्र के लोगों के लिए अनुमानित बेरोजगारी दर वर्ष 2011-12, 2012-13, 2013-14 और 2015-16 में क्रमश: 3.3, 4.0, 3.4 और 3.7 प्रतिशत आंकी गई.

  • बाबा रामदेव का बड़ा बयान- पूरे देश में बेरोजगारी एक बड़ा सवाल, यह भारत माता के माथे पर कलंक

    बाबा रामदेव का बड़ा बयान- पूरे देश में बेरोजगारी एक बड़ा सवाल, यह भारत माता के माथे पर कलंक

    मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बाबा रामदेव ने एक बड़ा बयान दिया है. चुनावी राज्य मध्य प्रदेश में बाबा रामदेव ने कहा कि पूरे देश में बेरोजगारी एक बड़ा सवाल बन गया है. एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने आए बाबा रामदेव ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर उस दिशा में जितने काम करने चाहिए, उतनी नहीं कर पा रही हैं.  बता दें कि इस साल के अंत में मध्य प्रदेश में चुनाव होने हैं. 

  • मोदी सरकार में कितने लोगों को मिला रोजगार, दो महीनों में हो जाएगा साफ

    मोदी सरकार में कितने लोगों को मिला रोजगार, दो महीनों में हो जाएगा साफ

    देश में रोजगार सृजन के प्रति सरकार के गंभीर होने का दावा करते हुए श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने राज्यसभा में कहा कि 2016 से बेरोजगारी के संबंध में रिपोर्ट अगले दो महीने में सामने आ जाएगी. गंगवार ने उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी. उन्होंने इस बात से इनकार कि देश में रोजगार के अवसरों में कमी आयी है. उन्होंने कहा कि वैश्विक आंकड़े भी दिखाते हैं कि भारत में बेरोजगारी की दर कम है.

  • मॉनसून सत्र: संसद में सरकार ने कहा, दुनिया में सबसे कम बेरोजगारी भारत में

    मॉनसून सत्र: संसद में सरकार ने कहा, दुनिया में सबसे कम बेरोजगारी भारत में

    आनंद शर्मा ने पूछा कि नोटबंदी के बाद कितने एमएसएमई बंद हुए और उसकी वजह से कितने बेरोज़गार हुए? इस पर मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि 2 महीने में डेटा आ जाएगा कि नवम्बर 2016 के बाद एमएसएमई सेक्टर में रोजगार पर कितना असर पड़ा है. 

  • मुद्रा लोन से 7 करोड़ स्वरोज़गार पैदा हुआ, अमित शाह को ये डेटा कहां से मिला मोदी जी...

    मुद्रा लोन से 7 करोड़ स्वरोज़गार पैदा हुआ, अमित शाह को ये डेटा कहां से मिला मोदी जी...

    यह न तंज है और न व्यंग्य है. न ही स्लोगन बाज़ी के लिए बनाया गया सियासी व्यंजन है. रोज़गार के डेटा को लेकर काम करने वाले बहुत पहले से एक ठोस सिस्टम की मांग करते रहे हैं जहां रोज़गार से संबंधित डेटा का संग्रह होता रहा हो. लेकिन ऐसा नहीं है कि रोज़गार का कोई डेटा ही नहीं है.

  • नौकरी की जंग लड़ते जवान-नौजवान, सरकार से मिला भरोसा कब पूरा होगा?

    नौकरी की जंग लड़ते जवान-नौजवान, सरकार से मिला भरोसा कब पूरा होगा?

    लाखों अर्धसैनिक बल सेना की तरह समान पेंशन और वेतन की मांग को लेकर सड़क पर हैं, यूपी के 8000 बीटीसी शिक्षक नियुक्ति पत्र मिलने के इंतज़ार में धरने पर बैठे हैं, इन्हीं के साथ 4000 उर्दू शिक्षक नियुक्ति पत्र के इंतज़ार में सड़क पर हैं, पौने दो लाख शिक्षा मित्र समय से वेतन मिलने और 10,000 से 40,000 होने की मांग को लेकर दर दर भटक रहे हैं.

  • सरकार दिखा रही है अदृश्य रोज़गार के अप्रत्यक्ष आंकड़े...

    सरकार दिखा रही है अदृश्य रोज़गार के अप्रत्यक्ष आंकड़े...

    अपनी केंद्र सरकार बेरोज़गारी के मोर्चे पर बुरी तरह फंसी है. अब तक तो यह कहकर काम चल जाया करता था कि रोज़गार पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अब सरकार के कार्यकाल का लगभग सारा समय ही गुज़र गया है, सो, अचानक ये दावे किए जाने लगे हैं कि सरकार ने कितने करोड़ लोगों को रोज़गार दे दिया.

Advertisement