NDTV Khabar

Vajpayee govt


'Vajpayee govt' - 4 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • इंटरनेशनल मैच से पहले योगी सरकार ने बदला लखनऊ के स्टेडियम का नाम, अब 'इकाना' नहीं इस नाम से जाना जाएगा...

    इंटरनेशनल मैच से पहले योगी सरकार ने बदला लखनऊ के स्टेडियम का नाम, अब 'इकाना' नहीं इस नाम से जाना जाएगा...

    उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इकाना स्टेडियम (Ekana Stadium) में मंगलवार (06 नवंबर) को 24 साल के इंतजार के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जाएगा. इससे पहले ही इस स्टेडियम का नाम बदल गया है. अब यह 'इकाना' नहीं बल्कि, अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल स्टेडियम (Atal Bihari Vajpayee International Stadium) के नाम से जाना जाएगा. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल ने राम नाईक ने स्टेडियम के नाम बदले जाने की स्वीकृति दे दी है. बता दें कि अभी हाल ही यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया है.  

  • रमन सिंह के बाद योगी ने भी वाजपेयी को दी श्रद्धांजलि, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का नाम होगा 'अटल पथ'

    रमन सिंह के बाद योगी ने भी वाजपेयी को दी श्रद्धांजलि, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का नाम होगा 'अटल पथ'

    पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में उत्तर प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का नाम 'अटल पथ' रखने का फैसला किया है. राज्य की योगी सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में कई योजनाओं का ऐलान किया है. प्रदेश के परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि अटल बिहारी वाजपेयी की कर्मभूमि उत्तर प्रदेश में कई योजनाओं का नाम वाजपेयी के नाम पर रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि इस संबंध में राज्य सरकार अधिसूचना जारी करेगी.

  • संसद में जूझ रही मोदी सरकार को यशवंत सिन्‍हा ने याद दिलाया 'वाजपेयी फॉर्मूला'

    संसद में जूझ रही मोदी सरकार को यशवंत सिन्‍हा ने याद दिलाया 'वाजपेयी फॉर्मूला'

    एक फरवरी को पेश किए गए बजट पर कोई चर्चा नहीं हो सकी है. इतना ही नहीं अनुमोदन बिल और वित्त विधेयक बिना चर्चा के पास हो गया. वहीं कई बिल हंगामे के चलते लटके पड़े हैं.

  • जब वाजपेयी सरकार गिराकर पहली बार राष्ट्रीय राजनीति में जयललिता ने दी थी दस्तक...

    जब वाजपेयी सरकार गिराकर पहली बार राष्ट्रीय राजनीति में जयललिता ने दी थी दस्तक...

    तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री रहीं जे जयललिता का सोमवार रात चेन्नई के अपोलो अस्पताल में निधन हो गया. वर्ष 1990 में जयललिता ने ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एआईएडीएमके) को एकजुट कर 1991 में जबरदस्त बहुमत दिलाया था, और तमिलनाडु की राजनीति में वर्चस्व स्थापित करने में सफल रहीं. वर्ष 1999 आते-आते उन्होंने राष्ट्रीय राजनीति में भी दस्तक दे दी थी.