NDTV Khabar

Vivek rastogi


'Vivek rastogi' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • क्या है पीएफ - जानें पीएफ से जुड़े सभी सवालों के जवाब

    क्या है पीएफ - जानें पीएफ से जुड़े सभी सवालों के जवाब

    बहुत-से नौकरीपेशा साथी इस बात से कन्फ्यूज़ रहते हैं कि असल में पीएफ कितना कटना चाहिए, उनके पीएफ खाते में कितनी रकम जमा हो रही है, कितनी सालाना बचत इस पीएफ की रकम की बदौलत हो पाएगी, यानी इस रकम पर उन्हें कितना ब्याज हासिल होगा, और पीएफ के मद में होने वाली कटौती से उन्हें इनकम टैक्स के संदर्भ में कुल कितना फायदा होगा.

  • जानिए, कौन हैं दाऊद इब्राहीम के भाई को दबोचने वाले 'एन्काउंटर स्पेशलिस्ट' प्रदीप शर्मा

    जानिए, कौन हैं दाऊद इब्राहीम के भाई को दबोचने वाले 'एन्काउंटर स्पेशलिस्ट' प्रदीप शर्मा

    हिन्दुस्तान में 'मोस्ट वॉन्टेड' अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम के भाई इकबाल कासकर को डॉन की बहन हसीना पारकर के घर से गिरफ्तार करने वाले 'एन्काउंटर स्पेशलिस्ट' इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा वह नाम हैं, जिनसे अंडरवर्ल्ड आज भी थर्राता है...

  • क्रिकेट क्विज़ : सचिन तेंदुलकर के बारे में कितना जानते हैं आप...?

    क्रिकेट क्विज़ : सचिन तेंदुलकर के बारे में कितना जानते हैं आप...?

    आज हम आपसे टीम इंडिया के धुरंधर सचिन तेंदुलकर के बारे में ही पांच सवाल पूछने जा रहे हैं, जिनके जवाब देकर आप न सिर्फ हमें बता पाएंगे कि आप उनके बारे में सचमुच कितना जानते हैं, बल्कि खुद के ज्ञान को भी जांच पाएंगे...

  • इंडिया क्विज़ : क्या आप अपने भारत को जानते हैं...?

    इंडिया क्विज़ : क्या आप अपने भारत को जानते हैं...?

    एक-दूसरे से अलग-अलग होते हुए भी बहुत-सी बातें और चीज़ें ऐसी भी हैं, जो हर हिन्दुस्तानी के लिए यकसां हैं, और उन्हीं से हमारी एकता और एकजुटता का पता चलता है... यही एक-सी चीज़ें हमें जोड़ती हैं, और इन्हीं की बदौलत हम सब हिन्दुस्तानी कहलाते हैं... तो आइए, आज हम आपके लिए ऐसी ही पांच चीज़ों के बारे में एक क्विज़ लेकर आए हैं, जिसकी मदद से आप अपने प्यारे मुल्क के बारे में कुछ खास बातें जान पाएंगे...

  • दिल्ली पर भूकंप का भारी खतरा : भूकंप आने पर क्या करें, क्या न करें

    दिल्ली पर भूकंप का भारी खतरा : भूकंप आने पर क्या करें, क्या न करें

    विशेषज्ञ बीच-बीच में ऐसे उपाय सुझाते रहे हैं, जिनसे भूकंप के बाद होने वाले खतरों को काफी हद तक कम किया जा सकता है. विशेषज्ञों के अनुसार नुकसान को कम करने और जान बचाने के लिए कुछ तरकीबें हैं, जिनसे काफी मदद मिल सकती है, सो आइए, आप भी यह उपाय जान लीजिए...

  • मौसम क्विज़ : बारिश और तापमान के बारे में कितना जानते हैं आप...

    मौसम क्विज़ : बारिश और तापमान के बारे में कितना जानते हैं आप...

    मौसम से जुड़ी ख़बरें हम अक्सर पढ़ते हैं, लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि हम उनमें छपे कुछ शब्दों का अर्थ ही नहीं समझ पाते, या कुछ ऐसी जानकारियां उन ख़बरों में होती हैं, जो हमारे लिए कतई नई और अनोखी होती हैं. आइए, आज हम मौसम से जुड़ी इसी तरह की जानकारियों के बारे में एक क्विज़ लेकर आए हैं, ताकि आप जांच सकें, मौसम को आप कितना समझते हैं.

  • ग्रेच्युटी क्या है, कैसे की जाती है कैलकुलेट – सब कुछ जानें

    ग्रेच्युटी क्या है, कैसे की जाती है कैलकुलेट – सब कुछ जानें

    ग्रेच्युटी आपके वेतन, यानी आपकी सैलरी का वह हिस्सा है, जो कंपनी या आपका नियोक्ता, यानी एम्प्लॉयर आपकी सालों की सेवाओं के बदले देता है. ग्रेच्युटी वह लाभकारी योजना है, जो रिटायरमेंट लाभों का हिस्सा है, और नौकरी छोड़ने या खत्म हो जाने पर कर्मचारी को नियोक्ता द्वारा दिया जाता है.

  • क्या आप बता सकते हैं, संयुक्त राष्ट्र के इन अंतरराष्ट्रीय दिवसों के बारे में...?

    क्या आप बता सकते हैं, संयुक्त राष्ट्र के इन अंतरराष्ट्रीय दिवसों के बारे में...?

    आज हम दुनिया के देशों की समस्याओं को नहीं, संयुक्त राष्ट्र की कोशिशों को याद दिलाने के लिए यह क्विज़ लेकर आए हैं, जिसमें आपसे हम पूछने जा रहे हैं पांच सवाल उन दिवसों के बारे में, जो संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय सद्भाव बनाए रखने के लिए वार्षिक रूप से मनाता है.

  • 82 फीसदी भारतीय इंटरनेट के बिना जीवन की कल्पना नहीं कर सकते...

    82 फीसदी भारतीय इंटरनेट के बिना जीवन की कल्पना नहीं कर सकते...

    Statista द्वारा 23 देशों के 18,180 लोगों के बीच करवाए गए इस सर्वे के मुताबिक, सिर्फ 18 फीसदी भारतीयों का काम इंटरनेट के बिना चल पाता है, जबकि 82 फीसदी इंटरनेट के अभाव में ज़िन्दगी की कल्पना ही नहीं कर पाते हैं. इंटरनेट यूज़रों के मामले में दुनिया में दूसरे स्थान पर मौजूद चीन की 77 प्रतिशत आबादी इंटरनेट के बिना गुज़ारा करने में अक्षम है, जबकि यूके में यह प्रतिशत 78 है.

  • मार्शल अर्जन सिंह सहित सिर्फ तीन भारतीय सेनाधिकारी पहुंचे पांच-सितारा रैंक तक

    मार्शल अर्जन सिंह सहित सिर्फ तीन भारतीय सेनाधिकारी पहुंचे पांच-सितारा रैंक तक

    भारतीय सेनाओं के इतिहास में पूर्व थलसेनाप्रमुखों फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ तथा फील्ड मार्शल केएम करिअप्पा के बाद अर्जन सिंह मात्र ऐसे तीसरे अधिकारी थे, जो पांच सितारा रैंक तक पहुंचे, जबकि वायुसेना के इतिहास में वह पांच सितारा रैंक तक पहुंचने वाले पहले और एकमात्र अधिकारी रहे.

  • बॉलीवुड क्विज़ : बचपन की इन अनदेखी तस्वीरों से पहचानिए इन सितारों को...

    बॉलीवुड क्विज़ : बचपन की इन अनदेखी तस्वीरों से पहचानिए इन सितारों को...

    अगर हमारे चहेते सितारों के बचपन की तस्वीरें हमारे सामने आ जाएं, तो क्या हम उन्हें पहचान पाएंगे, यही जानने के लिए हम आपके सामने लाए हैं यह क्विज़, जिसे खेलकर आप साबित कर सकते हैं कि आप अपने चहेते सितारों को बहुत अच्छी तरह जानते और पहचानते हैं...

  • अभी से हार्दिक पंड्या की तुलना महान कपिल देव से न करें

    अभी से हार्दिक पंड्या की तुलना महान कपिल देव से न करें

    आज की तारीख में टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या हर जगह छाए हुए हैं, अख़बारों में लगातार उनकी तारीफों के पुल बांधे जा रहे हैं, और कहीं-कहीं तो उन्हें 'भविष्य का कपिल देव' बताया जा रहा है. निश्चित रूप से हार्दिक पंड्या ने सही मौकों पर सटीक खेल दिखाया है, और बल्ले और बॉल, दोनों से ही टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई है, लेकिन हमारे विचार से हार्दिक की तुलना कपिल देव से करना काफी जल्दबाज़ी है.

  • क्या हार से बचने के लिए बांग्लादेशी 'हीरो' शाकिब अल हसन ने की थी बॉल-टैम्परिंग...?

    क्या हार से बचने के लिए बांग्लादेशी 'हीरो' शाकिब अल हसन ने की थी बॉल-टैम्परिंग...?

    चटगांव टेस्ट मैच के बाद जब ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर से इस बारे में सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा, "मैंने वह वीडियो क्लिप नहीं देखा है, लेकिन इस मामले में मैदान पर मौजूद रहे अम्पायर ही आखिरी फैसला ले सकते हैं..."

  • शिक्षक दिवस पर विशेष : सीखा उनसे भी जा सकता है, जिन्हें हम बुरा कहते हैं...

    शिक्षक दिवस पर विशेष : सीखा उनसे भी जा सकता है, जिन्हें हम बुरा कहते हैं...

    आजकल हम देख रहे हैं कि लोग किसी के बारे में भी बेहद आसानी से राय बना लिया करते हैं, और फिर उसी आधार पर अपना व्यवहार तय किया करते हैं, लेकिन मेरे अनुभव के अनुसार यहां सबसे ज़्यादा ज़रूरी बात यह है कि किसी के लिए भी राय बनाने से पहले काफी कुछ सोचा जाना आवश्यक है, वरना किसी को भी परखने में भूल हो सकती है, और उस परिस्थिति में हम वह सब नहीं सीख पाएंगे, जो उस शख्स से सीखा जा सकता है...

  • ब्लू व्हेल गेम से अपने बच्चों को इन तरीकों से रख सकते हैं दूर, जानें सेटिंग्स

    ब्लू व्हेल गेम से अपने बच्चों को इन तरीकों से रख सकते हैं दूर, जानें सेटिंग्स

    ब्लू व्हेल गेम की वजह से दुनिया के कई देशों से मिल रही बच्चों के आत्महत्या कर लेने की ख़बरें पिछले कई दिनों से हमें विचलित कर रही हैं, और रह-रहकर हर शख्स के दिमाग में अपने बच्चे कौंध जाते हैं.

  • विशाल सिक्का ने ब्लॉग पर बांटा दर्द - 'व्यक्तिगत' हमलों से बचते-बचते CEO नहीं बना रह सकता था

    विशाल सिक्का ने ब्लॉग पर बांटा दर्द - 'व्यक्तिगत' हमलों से बचते-बचते CEO नहीं बना रह सकता था

    खत में विशाल सिक्का ने लिखा, "कई दिन से, या कहें कई हफ्तों से, मैं इस फैसले के बारे में सोचता रहा हूं... मैंने फायदे-नुकसानों, उठ सकने वाले मुद्दों और अलग-अलग तर्कों के बारे में सोचा... लेकिन अब, बहुत सोच-विचार के बाद, और पिछली कुछ तिमाहियों से बने हुए माहौल को ध्यान में रखते हुए मैं अपने फैसले पर बिल्कुल साफ हूं..."

  • विशाल सिक्का ने इन्फोसिस के CEO-MD पद से दिया इस्तीफा, शेयर लुढ़के

    विशाल सिक्का ने इन्फोसिस के CEO-MD पद से दिया इस्तीफा, शेयर लुढ़के

    देश की सबसे बड़ी आई कंपनियों में से एक इन्फोसिस के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर विशाल सिक्का ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, तथा कंपनी ने चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर यूपी प्रवीण राव को अंतरिम मैनेजिंग डायरेक्टर तथा सीईओ नियुक्त कर दिया है.

  • 'भारत छोड़ो आंदोलन' के 75 वर्ष पर पीएम नरेंद्र मोदी : गांधी का मंत्र था - करो या मरो, हमारा मंत्र है - करेंगे, और करके रहेंगे

    'भारत छोड़ो आंदोलन' के 75 वर्ष पर पीएम नरेंद्र मोदी : गांधी का मंत्र था - करो या मरो, हमारा मंत्र है - करेंगे, और करके रहेंगे

    प्रधानमंत्री ने कहा, 1947 में देश आजाद हुआ. इस दौरान आजादी के आंदोलन के दौरान अलग-अलग पड़ाव आए. लेकिन 47 की आजादी से पहले 1942 की घटना एक प्रकार से अंतिम व्यापक जनसंघर्ष था.