NDTV Khabar

Volkswagen Polo 1.0 TSI Petrol Manual Review in Hindi

 Share

लॉन्च के दस साल बाद भी, वोक्सवैगन पोलो की अहमीयत बनी हुई है, अगर चला का मज़ा सबसे ज़रूरी है. भारत में पोलो को अब एक नया 1.0-लीटर टीएसआई इंजन दिया गया है जिसने दुनिया भर में कंपनी की कारों में काफी सफलता देखी है. को गुज़रे वक़्त में फेसलिफ्ट के अलावा भी कई अपडेट्स दिए गए हैं, और इस बार सबसे बड़ा बदलाव इसका इंजन है. यह 999 cc का तीन-सिलेंडर मोटर है जो 5 और 5,500 आरपीएम के बीच 108.6 bhp और 175 एनएम पीक टॉर्क बनाता है. यह 1,750 आरपीएम से मिलना शुरू होता है और 4,000 आरपीएम तक आपके साथ रहता है. पोलो में 6-गियर का टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक वेरिएंट के भी आता है. लेकिन लोकप्रिय डुअल-क्लच ya DSG गियरबॉक्स अब विकल्प नहीं है. वोक्सवैगन का दावा है कि एक लीटर पेट्रोल पर मैनुअल 18.24 किलोमीटर चलती है. हालांकि, शायद ही कोई हो जो पोलो को इस वजह से खरीदता है! गड्ढों और ख़राब सड़कों पर भी इसको कोई परेशानी नहीं होती. कार मुढ़ते वख़्त भी भरोसा कायम रखती है. ब्रेक अपना काम ठीक से करते हैं और गुडयर के टायर तेज़ी से दिशा बदलने को तैयार रहते हैं. हाईवे पर तेज़ रफ्तार में जिस तरह से पोलो सड़क से लग कर चलती है, बात ही अलग है! पोलो को पिछले साल एक डिज़ाइन अपडेट मिला था और नई कार वैसी ही दिखती है. साफ सरल लाइनें, नए जीटीआई ग्राफिक्स और एक छोटा स्पॉइलर. दोनो बंपर पोलो जीटीआई की याद दिलाते हैं और यह कार को ज़्यादा स्पोर्टी बनाता है. पोलो एक सुंदर कार है और इतने सालों के बाद भी इसकी डिज़ाइन पुरानी नहीं लगती. पोलो का कैबिन भी पहले जैसा ही है! यह बुनियादी है, जिसमें ज़्यादा बटन नहीं हैं और क्वॉलिटी बढ़िया है. हां ऑल-ब्लैक कलर स्कीम जिससे हम परिचित है, पुराने वक़्त की ज़रूर लगती है. स्टीयरिंग व्हील पर लगे leather की वजह से इसकी पकड़ अच्छी है और इसको पहुंच और ऊंचाई के लिए सेट किया जा सकता है. कार में Apple CarPlay और Android Auto के साथ 6.5-इंच टचस्क्रीन है जिसका इस्तेमाल करना आसान है. पोलो TSI एडिशन की एक्सशोरूम कीमत 7 लाख 89 हज़ार रुपए है. क्या यह मज़ेदार होने के साथ-साथ अच्छी माइलेज भी देती है? कार को चला रहे हैं किंगशुक दत्ता



Advertisement

 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com