NDTV Khabar

एड गुरु पीयूष पांडे ने बताई अपने करियर के शुरुआत की कहानी

 Share

एड गुरु पीयूष पांडे ने बताया कि 1982 में जब उन्होंने विज्ञापन की दुनिया में कदम रखा तो वो साल कम्युनिकेशन और कलर टीवी का था। उन्होंने बताया कि लोग अंग्रेजी में लिखते थे और वे हिन्दी में लिखते थे। लोगों को उनका काम पसंद आया। बाद में उनके 'चल मेरी लूना' व 'दम लगा के हईशा' कैंपेन हिट हुए।



Advertisement