NDTV Khabar

सिटी सेंटर: समलैंगिकता अब अपराध नहीं, सवर्णों के भारत बंद का मिला जुला असर

 Share

समलैंगिकता अब अपराध नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच ने एकमत से ये फ़ैसला सुनाया और धारा 377 को रद्द कर दिया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि LGBT समुदाय को भी समान अधिकार है. वहीं, दूसरी तरफ एससी/एसटी कानून को मूल स्वरूप में बहाल करने के विरोध में सवर्ण संगठनों ने भारत बंद का एलान किया. मध्य प्रदेश, बिहार में बंद का ज़्यादा असर दिखा. कड़े सुरक्षा इंतज़ाम के बीच लोग सड़कों पर उतरे. कई जगह जबरन तो कई जगह हाथ जोड़कर दुकानें बंद कराईं. मध्य प्रदेश के 10 ज़िलों में धारा 144 पहले ही लगा दी गई थी और एहतियातन सभी स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए. साथ ही पेट्रोल पंप मालिकों ने भी सुबह 10 से चार बजे तक पेट्रोल पंप बंद रखा..



Advertisement