NDTV Khabar

कारवां-ए -मोहब्बत : कट्टरपंथ के शिकार लोगों का दर्द बांटने की कोशिश

146 Shares

इसी साल 16 साल का हनीफ और उसका 18 साल का रिश्ते का भाई रियाज्जुदीन अपने गांव के नजदीक के तालाव में मछलियां पकड़ने गए थे. जहां एक भीड़ ने उन्हें गाय चुराने का झूठा आरोप लगा कर उन्हें मार डाला.



Advertisement