NDTV Khabar

गुस्ताखी माफ : 18 रु. में प्याज खरीदा 30 में किया व्यापार, आम आदमी वालों की कैसी बनी सरकार

 Share

अमित शाह और कुमार विश्वास एक ही स्टेज पर कविता सुना रहे हैं। पहले अमित शाह कहते हैं कि फुल पेज ऐड पर खर्च किए जो गए थे पैसे बच, मीडिया को करते हैं ब्लेम जब एक्पोज हो गया सच। वहीं, कुमार विश्वास कहते हैं कि कोई आंसू टपकाता है, कोई सचमुच में रोता है, दिस इज पॉलिटिक्स भईया, इसमें ये भी होता है...



Advertisement